मंगलवार, 28 अप्रैल 2020

प्रवासी मजदूर, छात्र एवं आमजन की दूसरे राज्यों से गृह राज्य में वापसी की मॉनिटरिंग केन्द्र के स्तर पर...

संवाददाता  : जयपुर राजस्थान


       परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने केन्द्र सरकार से मांग की है कि पूरे देश में अलग-अलग राज्यों में लॉकडाउन के कारण अटके जो लाखों प्रवासी मजदूर, छात्र एवं आमजन अपने गृह राज्यों में आने के इच्छुक हैं, उनके आवागमन की प्रक्रिया की मॉनिटरिंग केन्द्र के स्तर पर की जाए। इस प्रक्रिया के दौरान आने वाली समस्याओं को दूर करने के भी प्रयास किए जाएं।

 


 

खाचरियावास मंगलवार को शासन सचिवालय में हुई एक वीडियो कांफे्रंसिंग में केन्द्रीय परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के समक्ष इस विषय पर अपनी बात रख रहे थे। खाचरियावास ने कहा कि अभी विभिन्न राज्य सरकारें ही एक दूसरे की मदद से प्रवासी मजदूरों एवं अन्य की घर वापसी के लिए प्रयास कर रही हैं, लेकिन यह संख्या इतनी बड़ी है कि इसके लिए एक केन्द्रीय व्यवस्था की आवश्यकता है। पूरे देश में प्रवासी मजदूर, विद्यार्थी एवं आम आदमी लॉकडाउन के कारण अटके होने से परेशान है।

 

उन्हाेंंने कहा कि अलग-अलग राज्यों में प्रवासी मजदूरों एवं अन्य वगोर्ं के ट्रांसपोर्टेशन के लिए देशभर में समस्या आ रही है। भारत सरकार इसकी मॉनिटरिंग के साथ ही उनकी समस्याएं दूर करने के लिए केन्द्रीयकृत व्यवस्था करे। इस पर केन्द्रीय परिवहन मंत्री गडकरी ने सहमति जताते हुए घोषणा की कि आज-कल में ही इसके लिए एक हैल्पलाइन केन्द्र सरकार द्वारा प्रारम्भ कर दी जाएगी।

 

खाचरियावास ने लॉकडाउन समाप्त किए जाने की स्थिति में सार्वजनिक परिवहन के लिए अतिरिक्त धनराशि जारी जारी करने की भी मांग की क्योंकि सभी लोग टेक्सियों का खर्च नहीं उठा सकते। श्री खाचरियावास ने बताया कि केन्द्र ने सभी मांगों पर सकारात्मक रूख दिखाया है।