शुक्रवार, 29 मई 2020

लेह -लद्दाख से हवाई मार्ग के जरिए वापस लाए गए हैं प्रवासी मजदूर,अब अंडमान से हवाई जहाज से वापस आएंगे प्रवासी मजदूर ...

संवाददाता : रांची झारखंड


      मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने शुक्रवार रात बिरसा मुंडा एयरपोर्ट रांची में लेह  लद्दाख से हवाई जहाज से लौटने वाले प्रवासी मजदूरों का स्वागत किया। इस मौके पर  उन्होंने प्रवासी मजदूरों से बातचीत कर उनका हालचाल भी जाना। उन्होंने कहा कि हवाई जहाज से  प्रवासी मजदूरों को  विधिवत तरीके से  लाने का सिलसिला शुरू हो चुका है  अब अंडमान में  फंसे हुए प्रवासी मजदूरों को भी हवाई मार्ग से झारखंड लाने की पहल की जा रही है । मुख्यमंत्री ने कहा कि वैसे इलाकों  जहां  ट्रेन अथवा अन्य परिवहन  साधनों के विकल्प सीमित है, वहां से प्रवासी मजदूरों को हवाई जहाज से वापस लाया जाएगा । इस सिलसिले में राज्य के अधिकारी केंद्र सरकार के साथ लगातार संपर्क बनाए हुए हैं ।



हवाई मार्ग से मजदूरों को वापस लाने की झारखंड ने सबसे पहले की थी मांग


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रवासी मजदूरों को हवाई जहाज से लाने  के लिए लगातार प्रयासरत थी । इस सिलसिले में केंद्रीय गृह मंत्रालय को अनुमति देने के लिए कई बार पत्र लिखा गया था । मुझे खुशी है कि झारखंड में प्रवासी मजदूरों को हवाई जहाज से वापस लाने का सिलसिला शुरू हुआ है । मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि झारखंड देश का ऐसा पहला राज्य है जिसने सबसे पहले हवाई जहाज से मजदूरों को वापस लाने की मांग केंद्र सरकार से की थी ।


सभी प्रवासी मजदूरों को वापस लाएंगे


 मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रवासी मजदूरों को  सकुशल और सुरक्षित लाने का सिलसिला तब तक जारी रहेगा , जब तक सभी वापस नहीं आ जाते ।अब तक राज्य में विशेष ट्रेनों और  बसों के माध्यम से लगभग 4.5 लाख मजदूरों को वापस लाया जा चुका है । इसके अलावा अपने राज्य वापस  आगे के इच्छुक मजदूरों को हर हाल में जल्द से जल्द वापस लाएंगे । मुख्यमंत्री ने बताया कि उन राज्यों से हमारी सरकार लगातार संपर्क में हैं जहां प्रवासी मजदूर फंसे हुए हैं । उन राज्यों से आग्रह किया गया है कि वे इन मजदूरों को वापस भेजने में सहयोग करें ।


इस मौके पर विधायक नवीन जयसवाल मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद रांची के उपायुक्त राय महिमापत रे और वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता मौजूद थे


लेबल: