गुरुवार, 28 मई 2020

मुख्यमंत्री के आदेशानुसार व 6 जांचें चौकसी विभाग के आदेशानुसार दर्ज की गई...

संवाददाता चंडीगढ़ हरियाणा 


      हरियाणा राज्य चौकसी ब्यूरो ने फरवरी माह, 2020 में 8 जांचें दर्ज की है इनमें एक जांच उच्च न्यायालय के आदेशानुसार, एक जांच मुख्यमंत्री के आदेशानुसार व 6 जांचें चौकसी विभाग के आदेशानुसार दर्ज की गई हैं। इसके अलावा, 13 जांचे पूर्ण की है, जिसकी अन्तिम रिपोर्ट चौकसी विभाग, हरियाणा को भेज दी गई है।


इस संबंध में जानकारी देते हुए ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि इस माह के दौरान पूर्ण की गई 13 जांचों में से 3 जांचों में आरोप सिद्ध नहीं रहे। वहीं 6 जांचों में, 8 राजपत्रित अधिकारियों व 11 अराजपत्रित अधिकारियों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही करने व 3 प्राईवेट व्यक्तियों से 3,01,790/- रुपयेे की वसूली करने, 1 जांच में 3 प्राईवेट व्यक्तियों से 83,602/- रुपये की वसूली करने,  2 जांचों में 4 प्राईवेट व्यक्तियों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज करने व 7 राजपत्रित अधिकारियों और 3 अराजपत्रित अधिकारियों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही करने तथा एक मामले की जांच सीबीआई से करवाने बारे सुझाव दिया गया है।



इसके अतिरिक्त, पहले 10 जिलों से संबंधित जांच की अन्तिम रिपोर्ट पहले भेजी गई थी और अब करनाल जिला से संबंधित जांच की अंतिम रिपोर्ट सरकार को भेजी गई है, जिसमें 4 राजपत्रित अधिकारियों, 2 अराजपत्रित अधिकारियों तथा 2 प्राइवेट व्यक्तियों के विरूद्ध आपराधिक मुकदमा दर्ज करने बारे सुझाव दिया गया है।


उन्होंने बताया कि माह फरवरी 2020 के दौरान, शहरी स्थानीय निकाय विभाग में कार्यरत राजपाल, सुपरवाईजर, नगर निगम, फरीदाबाद को गत 5 फरवरी को 3 हजार रुपये तथा 7 फरवरी को राजस्व विभाग के जिला कैथल उप-तहसील कार्यालय सिवानी में लिपिक के पद पर कार्यरत जसबीर सिंह को भी 3 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया है।


लेबल: