शुक्रवार, 5 जून 2020

मृत्यु दर में कमी लाने के लिए एंबुलेंस सेवाओं के रेस्पॉन्स टाइम को कम करने की जरूरत : परिवहन आयुक्त

संवाददाता  : जयपुर राजस्थान


      परिवहन विभाग के शासन सचिव एवं आयुक्त रवि जैन ने परिवहन मुख्यालय में शुक्रवार को राज्य सड़क सुरक्षा प्रकोष्ठ के अधिकारियों के साथ बैठक कर राज्य में किए जा रहे सड़क सुरक्षा कार्यों की समीक्षा की।

 

जैन ने बैठक में माननीय उच्चतम न्यायालय की सड़क सुरक्षा समिति द्वारा प्रदान किए गए आदेशों एवं दिशा-निर्देशों की विभिन्न हितधारक विभागों द्वारा की जा रही अनुपालना के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की। साथ ही उन्होंने सड़क सुरक्षा लीड एजेंसी के जरिए समर्पित सड़क सुरक्षा कोष के माध्यम से प्रदेश में की जा रही सड़क गतिविधियों के बारे में भी विस्तार पूर्वक चर्चा की।

 


 

परिवहन आयुक्त ने मुख्यतः सड़क अभियांत्रिकी के क्षेत्र में किए जा रहे सुधार कार्यों जैसे गति नियंत्रण, पहाड़ी रास्तों व जल निकासों के निकट क्रैश बैरियर्स निर्माण, ब्लैक स्पॉट्स का दुरूस्तीकरण, गंभीर सड़क दुर्घटनाओं की समयबद्ध तथ्यात्मक, संयुक्त जांच रिपोर्ट प्राप्त करने के बारे में संबधित अधिकारियों को निर्देशित किया।

 

साथ ही राज्य में सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मृत्यु में कमी लाने के लिए तमिलनाडु राज्य की तर्ज पर एंबुलेंस सुविधाओं का एकीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कर रेस्पोंस टाइम में कमी लाने पर भी बल दिया।

 

उन्होंने विभिन्न सड़क सुरक्षा हितधारक विभागों के साथ आयोजित की जाने वाली बैठकों, सड़क सुरक्षा हेतु संचालन समिति की बैठक एवं राज्य सड़क सुरक्षा प्रकोष्ठ की नियमित समीक्षा बैठक आयोजित किए जाने हेतु रोड मैप बनाने के निर्देश प्रदान किए।


बैठक में अपर परिवहन आयुक्त (प्रशासन) महेंद्र खींची, अपर परिवहन आयुक्त (स.सु.) हरीश शर्मा, उप परिवहन आयुक्त (स.सु.) निधि सिंह, अधीक्षण अभियंता महेश कुमार शर्मा, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. एल. एन. पाण्डे, उपायुक्त पुलिस भोपाल सिंह भाटी, जिला परिवहन अधिकारी पी. आर. जाट एवं सलाहकार अश्विनी बग्गा उपस्थित रहे।

लेबल: