बुधवार, 29 जुलाई 2020

ब्रिटेन में फसे मध्यप्रदेश प्रवासियों की मदद के लिए आगे आये एफओएमपी और एएफबीडी ग्रुप...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश 


       कोरोना काल के दौरान ब्रिटेन मे फसे मध्यप्रदेश निवासियों को फ्रेंड्स ऑफ़ मध्यप्रदेश यूके चैप्टर और एयरकनेक्टिविटी फॉर भोपाल डेवलपमेंट ग्रुप द्वारा हर संभव मदद मुहैया करवाई जा रही है। इस मुहिम की शुरुआत अप्रैल माह में की गयी, जिसका उद्देश्य ब्रिटेन में फसे तमाम ज़रूरतमंद भारतीयों को सुरक्षित मध्यप्रदेश पहुँचाने में मदद की, जो इस महामारी के चलते अपने देश नहीं लौट पा रहे थे। अभी तक तक़रीबन 150 मध्यप्रदेश भारतीय प्रवासी ब्रिटेन से वापस स्वदेश आ चुके हैं।


अप्रैल माह से लगतार एफओएमपी द्वारा लॉकडाउन के दौरान ब्रिटेन मे फसे मध्यप्रदेश के प्रवासी भारतीयों को वापस स्वदेश भेजने के हर संभव प्रयास किये गए है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एफओएमपी यूके द्वारा चलायी गई इस मुहिम और प्रयासों की सराहना की है।



संस्था के आबिद फारूकी ने बताया कि मिशन वन्दे-भारत के तहत अभी तक कुल 5255 प्रवासी भारतीयों को ब्रिटेन, दुबई, अमेरिका, मलेशिया, पेरिस, दोहा, जेद्दाह से वापस लाया गया है। कोरोना वायरस से संक्रमण के चलते अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक की वजह से ब्रिटेन में फसे भारतीयों को वन्दे-भारत मिशन एयर इंडिया रेपटरिएशन फ्लाइट्स से स्वदेश लाया जा रहा है। उन्होंने बताया की मिशन वन्दे-भारत के आलावा गो-एयर चार्टेड फ्लाइट्स से भारतीय वापस स्वदेश लौट रहे है। इनमें ज्यादातर भारतीय प्रवासी ऐसे है, जिनके वीज़ा की अवधि समाप्त हो गई, जॉब्स चले गए या फिर अधिकतर एग्जिट केस है।


संस्था द्वारा हाल ही में संभागायुक्त कार्यालय भोपाल और एयरपोर्ट पर हेण्ड-सेनिटाइजर्स मशीन मुहैया करवाई गयी। इसके साथ ही लॉकडाउन के दौरान 'कोई भूखा नहीं सोएगा' की मुहिम में 60 दिनों तक एएफबीडी सदस्यों द्वारा जरूरतमंदों को खाना, राहत सामग्री, मास्क और हेण्ड-सेनिटाइजर्स आदि का वितरण भी किया गया। कोरोना महामारी के चलते अंतर्राष्ट्रीय यात्री, जो विदेशों से भारत लौट रहे हैं संस्था द्वारा, उन्हें कोरोना से बचाव की गाइड लाइन की जानकारी के साथ आवश्यक सुझाव भी दिये जा रहे हैं।


लेबल: