रविवार, 12 जुलाई 2020

खेलों के विकास और खिलाडिय़ों के भविष्य को लेकर सरकार पूरी तरह गंभीर : संदीप सिंह

संवाददाता चंडीगढ़ हरियाणा 


      हरियाणा के खेल एवं युवा मामलें राज्यमंत्री संदीप सिंह ने कहा कि खेलों के विकास और खिलाडिय़ों के भविष्य को लेकर सरकार पूरी तरह गंभीर है। खिलाडिय़ों को वे सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी, जो उनके कैरियर को आगे बढ़ाने में मददगार साबित होंगी।


संदीप सिंह रविवार सोनीपत जिले की बरोदा विधानसभा के गांव छतहेरा, महमूदपुर मान, रिंढाना, मदीना, कथूरा, भैंसवाल कलां सहित कई गांवों का दौरे पर थे।



संदीप सिंह ने दौरे के दौरान गांव बली ब्रह्मणान स्थित राजीव गांधी खेल परिसर एवं खेल नर्सरी में पहुंच कर खिलाडिय़ों की समस्याएं सुनीं और खिलाडिय़ों को आश्वासन दिया कि उनकी तरफ से जो मांगें रखी गई हैं उनको पूरा करने का प्रयास जल्द शुरू किया जायेगा। उन्होंने कहा कि खिलाडिय़ों को अपनी प्रेक्टिस निरन्तर जारी रखनी चाहिए। वैश्विक महामारी ने खेलों की रफ्तार को कम जरूर किया है फिर भी खिलाडिय़ों का मनोबल चट्टान की तरह मजबूत है। देश व प्रदेश द्वारा धीरे-धीरे इस संकट से बाहर निकलने का प्रयास किये जा रहे है ऐसे में खिलाडिय़ों को भी सरकार द्वारा जारी नियमों का पालन करते हुए अपनी प्रैक्टिस को गति देनी चाहिए।


संदीप सिंह ने बताया कि प्रदेश में नए बड़े स्टेडियम बनाने की बजाय ग्रामीण स्तर पर छोटे खेल परिसर तैयार किए जाएंगे जिन पर लागत भी कम आएगी और ज्यादा से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्र के खिलाडिय़ों को फायदा मिलेगा। उन्होने कहा कि स्थिति सामान्य होने पर प्रदेश के हर जिले का दौरा करके खिलाडिय़ों व खेलों से जुड़े व्यक्तियों के सुझाव आमंत्रित किए जाएंगे। खेल राज्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का प्रयास है कि हरियाणा के खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना कर देश का नाम रोशन करें। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयास से खेल नीति को और अधिक सुदृढ़ बनाने का प्रयास निरंतर जारी है। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि ग्रामीण क्षेत्र पर खेलों में करियर बनाने की क्षमता रखने वाले युवाओं को उनके घर द्वार पर ही बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करा कर खेलों के प्रति मोटिवेट किया जाए।


खेल राज्यमंत्री ने कहा कि सरकार का प्रयास है कि ग्रामीण क्षेत्र से बेटियां खेलों में अधिक से अधिक हिस्सा लें, इसके लिए अभिभावकों का सहयोग बेहद जरूरी है। महिला खिलाडिय़ों की सुविधा और सुरक्षा को देखते हुए प्रदेश सरकार ने महिला टीम के साथ कोच व मैनेजर दोनों महिला नियुक्त करने का निर्णय कुछ समय पूर्व लिया गया है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द खेलों में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे। खेल राज्यमंत्री ने सभी जिला खेल अधिकारियों व प्रशिक्षकों को निर्देश देते हुए कहा कि खिलाडिय़ों की समस्याओं को गंभीरता से लें और सरकार से जो भी मदद चाहिए उसे पूरा करने के प्रयास किये जायेंगे।


उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि सुविधाओं के अभाव में कोई प्रतिभा अपना मुकाम हासिल करने से पीछे ना रहे।


लेबल: