गुरुवार, 27 अगस्त 2020

अब दिल्ली में प्रतिदिन पहले से दोगुना कोरोना टेस्ट होंगे, मौतें शून्य करने का लक्ष्य : अरविंद केजरीवाल

संवाददाता : नई दिल्ली


      मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से कोरोना मरीजों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए मौजूदा जांच की संख्या बढ़ा कर दोगुना करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी तक प्रतिदिन करीब 20 हजार टेस्ट हो रहे हैं, जिसे एक सप्ताह के अंदर बढ़ा कर 40 हजार किया जाएगा। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 17 अगस्त से केस थोड़े बढ़े हैं, लेकिन स्थिति नियंत्रण में है। अगस्त में मौत की दर 1.4 प्रतिशत पहुंच गई है, जो पूरे देश में सबसे बेहतरीन है, इसे शून्य पर लाने का प्रयास जारी है।

 

आज की तारीख में दिल्ली के अस्पतालों में कुल 3700 बेड पर मरीज हैं, इसमें 2900 दिल्ली के मरीज हैं, जबकि 800 मरीज बाहर के हैं। हमारे पास कुल 14130 बेड हैं, जिसमें आज की तारीख में 10 हजार 448 बेड खाली हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी मरीज में सांस की तकलीफ बनी रहती है, तो उसे आॅक्सीमीटर देंगे और जरूरत पड़ने पर आॅक्सीजन कंसंट्रेटर देंगे, ताकि वह घर पर ही आॅक्सीजन ले सके और अस्पताल जाने की जरूरत न पड़े।

 


 

दिल्ली में थोड़े से केस बढ़े हैं, लेकिन कोरोना तेजी से बढ़ रहा है, ऐसा नहीं नजर आ रहा- अरविंद केजरीवाल

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लगभग पिछले डेढ़ महीने से दिल्ली के अंदर कोरोना की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। कोरोना के केस में कमी आ रही है, मौतों में भी कमी आ रही है, रिकवरी दर भी काफी ठीक हो गया है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से कोरोना के केस में थोड़ी बढ़ोत्तरी नजर आ रही है। हमें स्थिति को ज्यादा खराब नहीं होने देना है। हम देख रहे हैं कि 17 अगस्त के बाद से कोरोना के केस 1200, 1300 और 1400 के आसपास घूम रहे हैं। बीच में कई दिन केस एक हजार या इससे कम भी हो गए थे, लेकिन अब 1200, 1300 और 1400 के आसपास केस आ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि कल शाम को जो रिपोर्ट जारी की गई थी, वह रिपोर्ट परसों के केस थी, उसमें 1544 केस थे और आज शाम को रिपोर्ट जारी की जाएगी, जो कल के केस हैं, उसने 1693 केस हैं। इस तरह देखा जाए तो दिल्ली में थोड़े से केस बढ़ें हैं। दिल्ली में बाकी सभी में पैरामीटर ठीक हैं। कोरोना तेजी से बढ़ रहा है, ऐसा नहीं नजर आ रहा है। 

 

अस्पतालों में मरीजों की संख्या नहीं बढ़ी है, मौत के आंकड़े भी नहीं बढ़े हैं और कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही- अरविंद केजरीवाल

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में आज की तारीख में रिकवरी रेट 90 प्रतिशत से ज्यादा है, मौत के आंकड़ा देखा जाए, तो दिल्ली में कोरोना से होने वाली मौत में लगातार कमी आ रही है। अगर केवल अगस्त के आंकड़े देखें, तो मौत की दर 1.4 प्रतिशत पहुंच गया है, जो पूरे देश के अंदर सबसे बेहतरीन हैं और प्रतिदिन जो मौत हो रही हैं, वह भी 20 से कम है, कई दिन तो 10 से भी कम है। इसे जीरो करना है और इस पर हम लोग काम कर रहे हैं। हम काफी मेहनत कर रहे हैं कि एक भी मौत नहीं होनी चाहिए, लेकिन एक वक्त ऐसा था, जब 100 से भी ज्यादा मौत हो रही थी, लेकिन आज से 20 से कम हो रही है और कई बार 10 से भी कम मौत हो रही है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अस्पतालों के अंदर बेड पर नजर डालें, तो आज सुबह तक 3700 के आसपास अस्पतालों में बेड भरे हुए थे। जिनमें 2900 के करीब बेड पर दिल्ली के मरीज भर्ती थे और करीब 800 बेड पर दिल्ली के बाहर के मरीज थे। अगर 2900 बेड पर दिल्ली के मरीज थे, तो मरीजों की संख्या भी अस्पतालों में नहीं बढ़ रहे हैं। इस तरह, हम देखें, तो मौत के आंकड़े भी नहीं बढ़ रहे हैं। कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है, अस्पतालों के अंदर भर्ती होने वाले मरीज भी नहीं बढ़ रहे हैं, लेकिन थोड़ी सी कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ी है।

 

हमारी रणनीति टेस्ट और आइसोलेट की ही रहेगी, जो पहले थी- अरविंद केजरीवाल

 

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना को लेकर हमारी तैयारियां पूरी हैं। आज हम अस्पतालों के अंदर उपलब्ध बेड की संख्या पर नजर डालें, तो हमारे अस्पतालों में 14130 बेड हैं, उनमें से आज की तारीख में 10 हजार 448 यानि करीब 10500 बेड खाली हैं। हमारे पास एंबुलेंस की भी पर्याप्त संख्या उपलब्ध है, एंबुलेंस के लिए आने वाले एक भी अनुरोध को मना नहीं किया जाता है। इसको मद्देनजर रखते हुए आज हमने बैठक की थी। कोरोना से निपटने के लिए मैने जांच की संख्या दोगुना करने के आदेश दिए हैं। अभी तक हमने दिल्ली में कोरोना पर जो नियंत्रण पाया है, उसमें जांच की अहम भूमिका रही है और हमने जांच की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ा दी थी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब हम दिल्ली में मौजूदा कोविड-19 जांच की संख्या को बढ़ा कर दोगुना करने जा रहे हैं। दिल्ली में आज की तारीख में करीब 20 हजार जांच प्रतिदिन होती है, इसको हम एक सप्ताह के अंदर बढ़ा कर 40 हजार जांच प्रतिदिन करेंगे। हमारी रणनीति टेस्ट और आइसोलेट की ही रणनीति रहेगी, जो पहले थी। जितने भी लोग हैं उनको अक्रामक तरीके से चिन्हित करके जांच की जाएगी और आवश्यतानुसार उनको आइसोलेट किया जाएगा। 

 

पिछले कुछ दिनों से नई प्रवृत्ति देखने को मिल रही है, कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी सभी लक्षण दूर नहीं हो रहे- अरविंद केजरीवाल

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से एक नई प्रवृत्ति देखने को मिल रही है कि लोग अस्पताल से ठीक हो कर घर आ जाते हैं, उनमें कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आ जाता है, लेकिन उनमें कई सारे लक्षण दूर नहीं हो रही है, उनकी सांस की तकलीफ बनी रहती है, ऑक्सीजन की कमी बनी रहती है और ऐसे कुछ मरीजों की कोरोना से ठीक होने के बाद भी मौत हो गई है। हम अपने स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन को ही उदाहरण के तौर पर ले सकते हैं, हालांकि वो ठीक होकर घर आ गए थे, लेकिन घर आने के बाद भी उनको पूरी तरह से ठीक होने में काफी दिन लग गए। इसलिए सरकार ने यह निर्णय लिया है कि जो भी लोग अस्पताल से ठीक हो कर घर आ जाते हैं, उनमें अगर लक्षण हैं, डॉक्टर कहते हैं तो उनको घर पर इस्तेमाल करने के लिए आॅक्सीमीटर कुछ दिन के लिए और दे देंगे। यदि आॅक्सीमीटर पर मापने पर उनका आॅक्सीजन स्तर कम हो जाता है और जरूरत पड़ती है, तो उनको ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दे देंगे, ताकि उन्हें अस्पताल जाने की जरूरत न पड़े और वो घर पर ही आॅक्सीजन ले सकेंगे। ऐसे लोगों के लिए सरकार घर पर ही आॅक्सीजन का इंतजाम कर देगी, ताकि उनको दोबारा अस्पताल जाने की जरूरत न पड़े।

 

होम आइसोलेशन, एक तरह से पूरे देश और पूरी दुनिया को दिल्ली की देन है- सीएम अरविंद केजरीवाल

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि होम आइसोलेशन, एक तरह से पूरे देश और पूरी दुनिया को दिल्ली की देन है। बीते 14 जुलाई के बाद से आज तक होम आइसोलेशन के दौरान एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है और बहुत अच्छे तरीके से होम आइसोलेशन की प्रक्रिया चल रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि आज मैंने इसको लागू कराने की प्रक्रिया को थोड़ा और सख्त करने का आदेश दिया है। अगर कोई भी मास्क पहने हुए नहीं मिलता है, तो उस पर जुर्माने की कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने सभी से अनुरोध किया है कि आप सभी लोग मास्क पहन कर ही घर से निकलें और सब लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें। मुझे खुशी है कि पिछले कुछ दिनों में दिल्ली की जनता ने विश्वास आया है और विश्वास आना सामाजिक और आर्थिक गतिविधि के लिए बहुत ही जरूरी है।

 

लोगों ने विश्वास आना चाहिए, लेकिन उस विश्वास की वजह से हम अनदेखी न करते जाएं। इसलिए मेरी दिल्ली की जनता से अपील है कि आप लोग मास्क जरूर पहन कर रखें, आप लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें, यह बहुत जरूरी है। बड़ी मुश्किल से हम सब लोगों ने मिलकर कोरोना को नियंत्रित किया है और अब इसे किसी भी हालत में बढ़ने नहीं देना है। अगर आप शासन के दिए गए निर्देशों का पालन नहीं करते हैं, तो यह आपकी सेहत के लिए भी हानिकारक है और दूसरों की सेहत के लिए भी हानिकारक है। इसलिए अगर पुलिस या अन्य अथाॅरिटी आपको जुर्माना करती है, तो आप बुरा न मानिएगा, क्योंकि यह सभी की सेहत के लिए जरूरी है। 

 

दिल्ली के लोगों से अपील, अधिक से अधिक जांच कराएं, माॅस्क पहन कर रखें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें- अरविंद केजरीवाल

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अति आत्मविश्वास की वजह से कुछ लोगों में कोरोना का लक्षण होता है, तो उन्हें लगता है कि ठीक तो हो ही जाएंगे। यह अच्छी बात हैं कि आप ठीक हो जाएंगे, लेकिन अगर आप समय पर जांच नहीं कराते हैं, तो आप पता नहीं कितने लोगों में और कोरोना फैला देते हैं। इसलिए यदि जरा सा भी लगे कि आपको कोरोना हो सकता है, तो आप तुरंत किसी भी सरकारी अस्पताल में चले जाइए, वहां पर निशुल्क जांच की जाती है। अब तो हम जांच की संख्या भी दोगुना करने जा रहे हैं।

 

इस समय दिनों में केस ऐसे आ रहे हैं कि एक ही परिवार में 7 से 8 लोगों को कोरोना हो रहा है। जांच करने पर पता चला रहा है कि परिवार में एक व्यक्ति को कोरोना हुआ और उसने चार दिनों तक जांच ही नहीं कराया। उसे लगा कि कोई खास लक्षण नहीं है। इसलिए आप खूब जांच कराइए। जांच के बाद पता चला जाएगा और इसके बाद आप अपने घर में थोड़े दिन के लिए आइसोलेट हो जाइए। इसलिए जांच बहुत जरूरी है, सभी लोग मास्क जरूर पहन कर रखें और सभी लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करिए।

लेबल: