शनिवार, 29 अगस्त 2020

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार हाथीदह में गंगा जल उद्वह योजना के तहत गंगा वाटर लिफ्ट प्रोजेक्ट के साइट का निरीक्षण किया...

संवाददाता : पटना बिहार



              मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार हाथीदह में गंगा जल उद्वह योजना के तहत गंगा वाटर लिफ्ट प्रोजेक्ट के साइट का निरीक्षण किया। गौरतलब हो कि हाथीदह से पाइपलाइन के जरिये गंगा का पानी नालंदा, नवादा और गया शहरों के लिए पेयजल के रूप में सप्लाई की जाएगी।

 



माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घोषणा करते हुए कहा कि वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समितियों द्वारा कार्यान्वित एवं अनुरक्षित योजनाओं के लिए वार्षिक अनुरक्षण अनुदान 12 हजार रुपए से बढ़ाकर 24 हजार रुपए कर दिया गया है। अब वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समितियों को दिया जाने वाला अनुरक्षण अनुदान 1 हजार से बढ़ाकर 2 हजार रुपए प्रतिमाह हो गया। वहीं पेयजल के अनुरक्षण कार्य में संबद्ध अनुरक्षकों को 500 रुपए प्रतिमाह की दर से दिए जाने वाले रिटेनर शुल्क को बढ़ाकर 1 हजार रुपये कर दिया गया है।

 



वहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा 89 लाख घरों में नल का जल पहुंचाने के लक्ष्य के तहत 51 लाख 88 हजार घरों में नल का जल पहुंचा दिया गया है। शेष बचे हुए काम अक्टूबर तक पूर्ण हो जाएंगे।

 


 



मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायती राज विभाग द्वारा कुल 8386 ग्राम पंचायतों के 1 लाख 14 हजार 691 वार्डों में 1 लाख 15 हजार 902 वार्डों में पक्की नाली गली का निर्माण पूर्ण हो गया है। इस पर 12 हजार 700 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। पक्की गली नाली के निर्माण में पेवर ब्लॉक्स का भी उपयोग किया जा रहा है इससे वर्षा के दौरान पानी जमीन के अंदर जाने से भू-जल का स्तर हमेशा बना रहेगा।

 



मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायतों में पंचायत सरकार भवन का निर्माण कराया जा रहा है। इसे छह हिस्सों में बांटा गया है, इसका एक हिस्सा पूरा हो गया है। बाकी पंचायत सरकार भवनों के निर्माण के लिए मुखिया जी को अधिकृत किया गया है, जिन्हें राशि आवंटित की जाएगी और निर्माण कार्य की जिम्मेवारी भी उन्हीं की होगी।

 



राज्य में हर घर शौचालय का काम पूरा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने अपील करते हुये कहा कि लोग शौचालय का उपयोग करें, खुले में शौच न जाएं। अगर खुले में शौच से मुक्ति मिल जाए और पीने के लिए स्वच्छ पानी उपलब्ध हो तो होने वाली 90 प्रतिशत बीमारियों से मुक्ति मिल जाएगी।

 



कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार द्वारा लगातार सभी आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। कोरोना संक्रमण की दर घट रही है और स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। रिकवरी रेट में भी लगातार वृद्धि हो रही है। बिहार की रिकवरी रेट 85.94 प्रतिशत है जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 9.5 प्रतिशत से अधिक है।

 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व मंत्री एवं बछवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से वर्तमान विधायक रामदेव राय के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि रामदेव राय एक कुशल राजनेता एवं प्रसिद्ध समाजसेवी थे। उनका बिहार की राजनीति में अहम योगदान रहा है, जिसे भुलाया नहीं जा सकता। उनके निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है।

 



अररिया जिलाधिकारी की अध्यक्षता में किसानों की आय में वृद्धि हेतु समेकित कृषि प्रणाली अंतर्गत एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में को-ऑपरेटिव सोसाईटी के अध्यक्ष, सचिव, मत्स्य पालक एवं किसानों ने भाग लिया गया। जिलाधिकारी ने कहा तकनीकी ढंग से कृषि करने से आय में वृद्धि होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि मछली पालन, बत्तख पालन तथा मखाना की खेती के लिए अररिया जिला उपयुक्त है।

 



बेतिया जिलाधिकारी ने कृषि विभाग द्वारा किये जा रहे विभिन्न कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा उर्वरकों की कालाबाजारी करने वालों पर विधि सम्मत कार्रवाई की जाय। जिला प्रशासन के विशेष आग्रह पर 3999 एमटी यूरिया उपलब्ध करा दिया गया है। जिला कृषि पदाधिकारी सभी अनुज्ञप्तिधारी विक्रेताओं के माध्यम से निर्धारित दर पर बिक्री करवाना सुनिश्चित करें। साथ ही सभी अनुज्ञप्तिधारी विक्रेताओं के प्रतिष्ठानों पर एक-एक कृषि कर्मियों की प्रतिनियुक्ति भी किया जाय।

 



विधानसभा निर्वाचन को लेकर सहरसा जिला प्रशासन की तैयारी शुरू। जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी ने प्रेक्षागृह के सभागार में आयोजित जिलास्तरीय स्वीप प्रशिक्षण सह कार्यशाला का दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन किया। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि स्वीप गतिविधियों के माध्यम से मतदाता जागरूकता अभियान चलाते हुए सभी योग्य मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में पंजीकृत कराएं। सभी पंजीकृत मतदाताओं की मतदान में भागीदारी के लिए सघन एवं व्यापक मतदाता जागरूकता अभियान भी चलाएं।

 



मोतिहारी जिलाधिकारी ने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। साथ ही डॉक्टरों, नव पदस्थापित ए ग्रेड नर्सों को स्वास्थ्य सेवा संहिता के बारे में जानकारी दी। उन्होंने प्रबंधक को आवश्यक दवा, उपकरण क्रय करने का निर्देश दिया।

 



मुहर्रम शांतिपूर्ण एवं सुरक्षित वातावरण में संपन्न कराने हेतु गया जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक ने प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी के साथ बैठक की। जिले में 230 स्थलों को चयनित कर दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। साथ ही जिला नियंत्रण कक्ष में अपर समाहर्ता, निदेशक डीआरडीए सहित अन्य पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। पब्लिक एड्रेस सिस्टम, सीसीटीवी, एंबुलेंस, प्राथमिक चिकित्सा, दवा की व्यवस्था, अग्निशामक यंत्र इत्यादि की व्यवस्था की गई है।


लेबल: