शुक्रवार, 7 अगस्त 2020

फरीदाबाद के ईएसआईसी चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के प्लाज्मा बैंक का शुभारंभ...

संवाददाता चंडीगढ़ हरियाणा 


      हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल व केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष कुमार गंगवार ने फरीदाबाद के ईएसआईसी चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के प्लाज्मा बैंक का शुभारंभ किया। उल्लेखनीय है कि हरियाणा में रोहतक, गुरुग्राम व पंचकूला में भी प्लाज्मा बैंक प्रारंभ किए जा चुके हैं। कोविड-19 के स्थायी उपचार की दिशा में पंडित भगवत दयाल शर्मा चिकित्सा विश्वविद्यालय, रोहतक में वैक्सीन का परीक्षण भी जारी है।


हरियाणा के मुख्यमंत्री व केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने नई दिल्ली में हरियाणा भवन से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से फरीदाबाद के ईएसआईसी चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के प्लाज्मा बैंक का शुभारंभ किया। प्लाज्मा बैंक के शुभारंभ अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री व केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने कोविड-19 के संक्रमण से स्वस्थ हो चुके व्यक्तियों  से अपील करते हुए कहा कि वे कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों को प्लाज्मा दान कर मानवीय कार्य करें। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में लगभग 350 लोगों द्वारा प्लाज्मा का दान किया जा चुका है।



उल्लेखनीय है कि हरियाणा सरकार द्वारा प्लाज्मा दान के लिए ऑनलाइन पोर्टल भी प्रारंभ किया हुआ है। प्लाज्मा बैंक के शुभारंभ अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि विश्वव्यापी कोरोना महामारी के अनुभवों से सीखते हुए हरियाणा में नई व्यवस्थाओं का प्रबंधन किया गया है। हरियाणा प्रदेश में लगभग 39,500 कोविड-19 संक्रमितों में से लगभग 32,500 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं और प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के लगभग 6200 सक्रिय मामले हैं। प्रदेश में प्रतिदिन 20,000 टेस्टिंग की जा रही है। अब तक लगभग सात लाख टेस्टिंग की जा चुकी है। कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों के उपचार में ईएसआईसी अस्पतालों की प्रशंसनीय भूमिका है। हरियाणा में रोग प्रतिरोध क्षमता के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का नि:शुल्क वितरण भी किया जा रहा है।


शुभारंभ अवसर पर केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों  के उपचार के लिए हरियाणा सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों एवं प्रबंधों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद के ईएसआईसी चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल में प्रारंभ की गई प्लाज्मा बैंक इकाई से कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों के उपचार में काफी सहायता हो सकेगी। इस महामारी को नियंत्रित करने के लिए संतनगर व बसई दारापुर के अतिरिक्त  फरीदाबाद के ईएसआईसी अस्पताल में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद द्वारा कोविड-19 की टेस्टिंग सुविधाएं उपल्ब्ध कराई गई है।


हरियाणा भवन में आयोजित शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्ययमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य, मुख्यमंत्री के विशेष अधिकारी सुमित कुमार, केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के सचिव हीरा लाल, कर्मचारी राज्य बीमा निगम की महानिदेशक अनुराधा प्रसाद, कर्मचारी राज्य बीमा निगम की वित्तायुक्त संध्या शुक्ला, केंद्रीय श्रम एवं रोजगार  संयुक्त  सचिव विभा भल्ला, कर्मचारी राज्य बीमा निगम के आयुक्त पीबी मणि व कर्मचारी राज्य बीमा निगम की चिकित्सा आयुक्त पीएल चौधरी मौजूद रहे।


लेबल: