गुरुवार, 17 सितंबर 2020

आम जनता को अत्याधिक परेशान न करे त्रिवेद्र सरकार भुगतने होगें दूरगामी परिणाम: रविन्द्र सिंह आनंद

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड


      उत्तराखण्ड में बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को पहले 2400 रूपये का कोरोना टेस्ट करवाना होगा उसके बाद ही उसे उत्तराखण्ड की सीमा में घुसने दिया जाएगा। यह फरमान टीएसआर सरकार ने कुछ दिनों पूर्व ही निकाला जिसकी मार अब लोगों को झेलनी पड़ रही है। आम आदमी पार्टी इसका विरोध करती है और आम जनता को राहत देने के लिए मुफ्त टेस्ट करवाए सरकार। पार्टी का कहना है कि इसके दूरगामी परिणाम सरकार को भुगतनेे पड़ेंगे।


यह कहना है आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रविन्द्र सिंह आनंद का। उन्होंने कहा कि जब से लाॅकडाउन हुआ था उसी दिन से लोग प्रदेश के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा लिए जा रहेे निर्णयों से परेशान है। एक दिन एक निर्णया लिया जाता है और शाम का उसे खुद ही वापस ले लिया जाता है। ऐसे कई निर्णय उनके द्वारा लिए गए। हाल ही में एक निर्णया अब यह लिया गया है कि प्रदेश की सीमा में जो भी आएगा उसे कोविड टेस्ट करवाना होेगा जो 2400 रूपये का है।



यह टेस्ट तीन दिन तक ही वैलिड होगा। यह तुगलकी फरमान जारी करने से पहले यह नहीं सोचा गया कि यदि कोई पांच से उससे अधिक लोग आ रहे है तो वे कितने रूपये टेस्ट में खर्चा करेंगे और यदि कोई टेस्ट अफोर्ड नही ंकर सकता तो वह क्या करेगा। सरकार ने एक फरमान निकाल दिया बिना यह सोचे। पहले ही लोग कोरोना की मार झेल रहे है, इस वक्त लोगों की आर्थिकी प्र्रभावित है और उस पर यह खर्च।आनंद ने कहा कि यदि सरकार को इतनी ही चिंता है तो बाहर से आने वालों का कोेविड टेस्ट सरकार अपने खर्च पर करवाए।


इस टेस्ट को बाहर से आने वालों के लिए मुुुफ्त कर देेना चाहिए। रविन्द्र आनंद ने कहा कि यदि सरकार का यही तानाशाही रवैया रहा तो आने वाले समय में उनको इसके परिणाम भुुगतने होंगे। आम आदमी पार्टी आम जनता की आवाज बन कर उनके खिलाफ आंनदोलनरत होगी।


लेबल: