शुक्रवार, 4 सितंबर 2020

औद्योगिक क्षेत्रों में व्यावहारिक प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने हुनर के मुताबिक रोजगार हासिल...

संवाददाता चंडीगढ़ हरियाणा 


       हरियाणा में आईटीआई के विद्यार्थी अब शिक्षा के साथ-साथ औद्योगिक क्षेत्रों में व्यावहारिक प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने हुनर के मुताबिक रोजगार हासिल कर सकेंगे।


इसके लिए कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग द्वारा दोहरी प्रशिक्षण प्रणाली (डीएसटी) शुरू की गई है जिसके तहत आईटीआई के विद्यार्थियों को शिक्षा के साथ-साथ औद्योगिक क्षेत्रों में उनकी ट्रेड के अनुसार व्यावहारिक प्रशिक्षण भी दिलवाया जाएगा।


विभाग के एक प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार का प्रयास है कि छात्रों को उच्च शिक्षा के साथ-साथ रोजगारपरक शिक्षा भी मुहैया करवाई जाए जिससे न केवल छात्र स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकें बल्कि दूसरों को भी रोजगार मुहैया करवा सकें। इसके लिए राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों द्वारा विभिन्न औद्योगिक इकाइयों के साथ एमओयू साइन किए जा रहे हैं।



उन्होंने बताया कि जो विद्यार्थी आईटीआई में एक साल का कोर्स कर रहे हैं उन्हें कम से कम 3 माह का व्यावहारिक प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा।


इसी तरह दो वर्ष के कोर्स में कम से कम 6 माह का प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। इसके लिए संस्थान और उद्योग प्रबंधन आपस में तालमेल स्थापित करेंगे। इससे जहां उद्योगों में कामगारों की मांग अनुसार पूर्ति होगी वहीं छात्रों को भी अपने आसपास ही रोजगार मिल सकेगा। इससे प्रशिक्षण प्रशिक्षु तथा औद्योगिक क्षेत्रों में स्किल गैप को कम करने में भी मदद मिलेगी।


लेबल: