सोमवार, 31 अगस्त 2020

मुख्यमंत्री के निर्दश पर बाढ़ से निपटने को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क...

संवाददाता : पटना बिहार


बिहार एक झलक में, बिहार की प्रमुख खबरें  :


      मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्दश पर बाढ़ से निपटने को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है। नदियों के बढ़े जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,333 पंचायतें प्रभावित हुई हैं। खगड़िया में 01 और समस्तीपुर में 04 राहत शिविर चलायी जा रही है। इन सभी 06 राहत शिविरों में कुल 4,759 लोग आवासित हैं। 57 कम्युनिटी किचेन चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन 51.207 लोग भोजन कर रहे हैं। सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में NDRF और SDRF की टीमें प्रतिनियुक्त है। अब तक प्रभावित इलाकों से NDRF, SDRF और बोट्स के माध्यम से 5,50,792 लोगों को निष्क्रमित किया गया है।

वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर बाढ़ प्रभावित 13,22,891 परिवारों को जी.आर. की राशि 6,000 रुपये की दर से कुल 793.61 करोड़ रुपये का भुगतान उनके बैंक खाते में किया जा चुका है। ऐसे परिवारों को एस.एम.एस. के माध्यम से सूचित भी किया गया है। आपदा प्रबंधन विभाग संपूर्ण स्थिति पर लगातार निगरानी रख रहा है।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर कोराना संक्रमण की जांच और इसके इलाज से संबंधित सभी बिन्दुओं पर सरकार लगातार आवश्यक कार्रवाई कर रही है। कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी रेट में लगातार कमी हो रही है, जबकि रिकवरी रेट में उत्तरोत्तर सुधार हो रहा है। बिहार की रिकवरी रेट 80 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 10 प्रतिशत अधिक है।




वहीं वापस लौटे श्रमिकों एवं कामगारों के लिए रोजगार सृजन पर सरकार का पूरा ध्यान है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 5 लाख 7 हजार 201 योजनाओं के अंतर्गत 14 करोड़ 25 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ओणम के शुभ अवसर पर सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार स्टेट बार काउंसिल के पूर्व अध्यक्ष और वरीय अधिवक्ता बालेश्वर प्रसाद शर्मा के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे कानुन के अच्छे जानकार थे। वे अधिवक्ताओं के हक एवं उनके अधिकार के लिए लगातार संघर्षशील रहे उनके निधन से विधि के क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

कोविड-19 की रोकथाम को लेकर शेखपुरा जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। जिलाधिकारी ने कोविड-19 सैम्पल जांच की संख्या बढ़ाने का निर्देश सभी एमओआईसी को दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि सभी प्रखंडों के लिए सैम्पल जांच की अलग-अलग संख्या निर्धारित की गयी है। विशेष मेडिकल टीम बनाकर होम आइसोलेशन में रहने वाले वयोवृद्ध व्यक्तियों के स्वास्थ्य की जांच कर आवश्यक परामर्श एवं दवाई देना सुनिश्चित करें। कोविड से बचने के लिए मास्क, सेनिटाइजर का उपयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन जरूरी है।

कोविड-19 से बचाव को लेकर सीतामढ़ी जिला प्रशासन हर स्तर पर काम कर रहा है। जिलाधिकारी ने एसपी, डीडीसी तथा अन्य अधिकारियों के साथ परिहार प्रखंड के सोनापट्टी चौक, एकडण्डी, लहेरिया आदि स्थलों पर मास्क पहनने हेतु मास्क फोर्स अभियान के तहत व्यापक जांच अभियान चलाया। जिलाधिकारी ने मास्क पहनने एवं सामाजिक दूरी का पालन हेतु लोगों को जागरूक भी किया। साथ ही उन्होंने मास्क नहीं पहनने वालों से जुर्माने की राशि वसूलने का निर्देश दिया।

जहानाबाद जिला पदाधिकारी ने अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जन जाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम एवं संशोधित नियम के कार्यान्वयन हेतु जिलास्तरीय सतर्कता एवं अनुश्रवण समिति की बैठक की। वित्तीय वर्ष 2020-21 में अनुसूचित जाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत अनुदान मद में प्राप्त आवंटन/व्यय, उपरोक्त अधिनियम के तहत दर्ज मामलों में दोषसिद्धि, मृतक के आश्रित को देय पेंशन इत्यादि की समीक्षा की गई।

बेतिया जिलाधिकारी ने जिले के सब्जी उत्पादकों को उत्पाद का उचित मूल्य दिलाने तथा खरीददारों को सस्ती एवं हरी-ताजी सब्जियां उपलब्ध कराने के उद्देश्य से समाहरणालय परिसर से सब्जी वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। जिलाधिकारी ने कहा कि सब्जी प्रसंस्करण एवं विपणन संघ द्वारा उपलब्ध करायी गयी सब्जियों को वाहनों के माध्यम से जिले के विभिन्न हाट बाजारों में भेजा जा रहा है, जहां आम नागरिकों को निर्धारित एवं सस्ती दर पर ताजी सब्जियां उपलब्ध होगी। इसका मुख्य उद्देश्य सब्जी उत्पादकों को उचित मूल्य दिलाना तथा खरीददारों को सस्ती एवं ताजी सब्जियां उपलब्ध कराना है।

अरवल जिला को धूम्रपान मुक्त घोषित किया गया है। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समहराणालय सभाकक्ष में राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण के तहत धूम्रपान मुक्त जिला घोषणा समारोह का आयोजन किया गया। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक, अनुमंडल पदाधिकारी, सिविल सर्जन सहित जिले के सभी पदाधिकारी पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।

आगामी बिहार विधानसभा निर्वाचन 2020 के मद्देनजर समस्तीपुर जिला पदाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने स्ट्रांग रूम एवं मतगणना हॉल हेतु समस्तीपुर कॉलेज, समस्तीपुर के भवन और कैंपस का निरीक्षण किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।


लेबल: