बुधवार, 2 सितंबर 2020

मुख्यमंत्री के निर्देश पर कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा आवश्यक कार्रवाई...

संवाददाता : पटना बिहार


बिहार एक झलक में, बिहार की प्रमुख खबरें  :


      मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार सभी आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। कोरोना संक्रमितों की स्थिति में उतरोत्तर सुधार हो रहा है। बिहार की रिकवरी रेट बढ़कर लगभग 88 प्रतिशत हो गयी है, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 11 प्रतिशत अधिक है। चिकित्सकीय गुणवत्ता भी काफी बेहतर हुई है, इसके लिए प्रोटोकॉल्स बने हैं तथा नियमित रूप से वरीय पदाधिकारीगण अस्पतालों में विजिट कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव में मास्क का उपयोग काफी प्रभावी सिद्ध हुआ है। इसे लेकर मुख्यमंत्री के द्वारा सभी लोगों से मास्क पहनने की अपील की गई है।

बिहार की विभिन्न नदियों के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए मुख्यमंत्री के निर्देश पर आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है। नदियों के बढ़ते जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,333 पंचायतें प्रभावित हुई हैं। जहां आवश्यकतानुसार राहत शिविर चलायी जा रही है। स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है। प्रभावित इलाकों में 34 कम्युनिटी किचेन चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन 31,652 लोग भोजन कर रहे हैं। अब तक सभी बाढ़ प्रभावित इलाकों से NDRF/SDRF और बोट्स के माध्यम से 5,50,792 लोगों को निष्क्रमित किया गया है।

वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर अभी तक बाढ़ प्रभावित 14,58,190 परिवारों के बैंक खाते में प्रति परिवार 6,000 रुपये की दर से कुल 874.91 करोड़ रुपये जी.आर. की राशि भेजी जा चुकी है। सभी लाभान्वित परिवारों को एस.एम.एस. के माध्यम से सूचित भी किया जा रहा है। आपदा प्रबंधन विभाग संपूर्ण स्थिति पर लगातार निगरानी रख रहा है।

राज्य में यातायात को और सुगम बनाने की कवायद लगातार जारी है। इसी क्रम में बिहार के पहले एक्सप्रे-वे बनने का रास्ता साफ हो गया है। यह एक्सप्रेस-वे मगध क्षेत्र के औरंगाबाद से मिथिला के जयनगर तक बनेगा। औरंगाबाद से नेपाल सीमा पर स्थित जयनगर तक बनने वाली 271 किमी. लम्बी सड़क को NHAI की भू-अर्जन समिति ने मंजूरी दे दी है। पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री अमृत लाल मीणा ने जानकारी देते हुए बताया कि औरंगाबाद-जयनगर सड़क बिहार के लिए काफी उपयोगी होगी। यह सड़क पटना सहित बिहार के 6 जिलों से होकर गुजरेगी। इस सड़क का पटना, गया और दरंभगा एयरपोर्ट से सीधा संपर्क हो जाएगा। साथ ही इसका सम्पर्क जीटी रोड से भी होगा।




सीतामढ़ी सूबे के 16वां धूम्रपान मुक्त जिला घोषित किया गया। जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित धूम्रपान मुक्त घोषणा समारोह में जिले के सभी वरीय पदाधिकारियों द्वारा धूम्रपान मुक्त घोषणापत्र पर हस्ताक्षर किया गया। साथ ही जिलाधिकारी द्वारा सम्पूर्ण जिले को धूम्रपान/तम्बाकू मुक्त बनाए रखने की शपथ दिलाई गई। उन्होंने जिलेवासियों से सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान नहीं करने की अपील की।

आगामी बिहार विधानसभा आम चुनाव को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण संपन्न कराने के उद्देश्य से अररिया जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी ने रानीगंज एवं अररिया प्रखंड मुख्यालय में सभी सेक्टर पदाधिकारी एवं बीएलओ के साथ बैठक की। संबंधित प्रतिनियुक्त सेक्टर पदाधिकारी को मतदाता के आधार पर सभी मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन एवं सभी आवश्यक सुविधाओं की अद्यतन स्थिति का सत्यापन प्रतिवेदन समर्पित करने का निर्देश दिया।

जहानाबाद जिला पदाधिकारी ने जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत सभी विभागों के पदाधिकारियों के साथ बैठक की और आवश्यक निर्देश दिया। लघु जल संसाधन विभाग द्वारा 56 संरचनाओं में कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है, जिसमें 47 में कार्य पूर्ण कर लिया गया है। ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 45 तालाब/पोखर का जीर्णोद्धार किया गया है।

मोतिहारी जिलाधिकारी ने विधानसभा चुनाव को लेकर जिला स्कूल एवं एमएस कॉलेज के मतगणना केंद्र व वज्रगृह का निरीक्षण किया। उन्होंने मतगणना व वज्रगृह के संबंध में महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने ट्रैफिक प्लान बनाने का भी निर्देश दिया।

बिहार विधानसभा आम निर्वाचन के मद्देनजर गया जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी ने प्रस्तावित वज्रगृह एवं मतगणना कक्ष के निर्माण हेतु मानपुर के जगजीवन कॉलेज का निरीक्षण किया। उन्होंने मूलभूत सुविधाओं का भी जायजा लिया। इस दौरान जिला पदाधिकारी ने संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।

कोविड-19 की रोकथाम को लेकर बेगूसराय जिला प्रशासन हर स्तर पर काम कर रहा है। जिला पदाधिकारी के नेतृत्व में शहर के सार्वजनिक स्थानों पर मास्क के शत-प्रतिशत उपयोग सुनिश्चित कराने हेतु विशेष अभियान चलाया गया। साथ ही लोगों से मास्क पहने के लिए प्रेरित किया गया।

आगामी बिहार विधानसभा आम निर्वाचन को सफलतापूर्वक एवं शांतिपूर्ण मतदान कराने हेतु गया जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी ने गठित कोषांगों के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने ससमय कोषांग से संबंधित कार्य/प्रतिवेदन तैयार करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने चुनाव में कोविड-19 के प्रोटोकॉल तथा भारत निर्वाचन आयोग एवं समय-समय पर सरकार द्वारा दिये जा रहे मार्गदर्शन का पूरी तरह अनुपालन करने का निर्देश दिया।

बेतिया जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना अंतर्गत मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण गली-नाली पक्कीकरण निश्चय योजना की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।


लेबल: