शुक्रवार, 25 सितंबर 2020

प्रदेश में नहीं हो सका हवाई सेवा का विस्तार...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड


       प्रदेशवासियों को एक सपना दिखाया गया, सस्ती हवाई सेवा का सपना। घंटों का सफर कुछ ही मिनटों में करने की योजना। बीमारों को राहत मिलेगी, तो पर्यटकों को प्रकृति से जुड़ने का मौका। बाकायदा केंद्र से इस योजना को स्वीकृति मिली। कहा गया कि हर जिले में हेलीपैड बनेंगे और यहां से हेली सेवाएं शुरू की जाएंगी। शुरुआत में इस पर काम भी हुआ।



बावजूद इसके स्थिति यह है कि अभी तक केवल नई टिहरी, चिन्यालीसौड़, गौचर, श्रीनगर व देहरादून से ही हेली सेवा शुरू हो पाई हैं। पिथौरागढ़, धारचूला, हल्द्वानी, हरिद्वार, जोशीमठ, मसूरी आदि के लिए हेली सेवा का संचालन ही नहीं हो पाया है। इसका मुख्य कारण इनमें से अधिकांश स्थानों पर हेलीपैड न होना है। कुछ जगह हेलीपैड बनाने को जमीन चिह्नित की गई है तो कहीं जमीन ही नहीं है। ऐसे में प्रदेश में सस्ती हवाई सेवाओं का सपना अभी तक पूरा नहीं हो पाया है।


लेबल: