शनिवार, 10 अक्तूबर 2020

अन्तर्राष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस के अवसर पर जागरूकता अभियान ‘समर्थ’ का होगा आयोजन...

 संवाददाता : शिमला हिमाचल

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी दी कि वैश्विक प्रयासों के एकजुटता के प्रतीक के रूप में प्रत्येक वर्ष 13 अक्तूबर को अन्तर्राष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस का आयोजन किया जाता है। हिमाचल प्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा इस अवसर पर वार्षिक जन जागरूकता अभियान आपदा जोखिम न्यूनीकरण ‘समर्थ’ का आयोजन किया जाएगा। वर्ष 2011 में शुरू किए गए राज्य व्यापी अभियान ‘समर्थ’ का आयोजन प्रत्येक वर्ष अक्तूबर माह में दो सप्ताह तक किया जाता है, जिसके अन्तर्गत राज्य, जिला और सामुदायिक स्तर पर विभिन्न प्रकार के आयोजन और गतिविधियां आयोजित की जाती हैं। हिमाचल प्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन द्वारा इस वर्ष समर्थ का 10वां संस्करण आयोजित करवाया जाएगा, जो अक्तूबर के दूसरे सप्ताह से शुरू होगा।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष का केन्द्र आपदा जोखिम न्यूनीकरण के सेन्डाई फ्रेमवर्क के अनुरूप समाचार, तस्वीरे, प्रश्नोतरी, वीडियो, सोशल मीडिया कार्ड जैसी सामग्री विकसित करना है, जो बेहतर आपदा जोखिम और राष्ट्रीय और स्थानीय स्तर पर आपदा जोखिम न्यूनीकरण रणनीति पर प्रकाश डालेगी। इस वर्ष राज्य में आपदा प्रबंधन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए आॅनलाइन और डिजिटल साधनों का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाएगा। इसके अतिरिक्त इस अभियान के अन्तर्गत प्रदेश के औद्योगिक क्षेत्रों में औद्योगिक आपदाओं से निपटने के लिए सभी हितधारकों की तैयारियों के आंकलन और समीक्षा करने के लिए 15 अक्तूबर 2020 को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ रसायनिक (औद्योगिक) आपदाओं पर एक माॅक ड्रिल की कार्य योजना तैयार की गई है। इस अभ्यास के लिए जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों और सभी विभागों के नोडल अधिकारियों को 12 अक्तूबर, 2020 को आॅनलाइन प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश राज्य आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण द्वारा राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन संस्थान के समन्वय से 21 से 23 अक्तूबर तक पहाड़ी क्षेत्र पर्यावरण पर तीन दिवसीय आॅनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसी प्रकार हिमाचल प्रदेश में पारम्परिक निर्माण परम्पराओं और स्कूल सुरक्षा पर एक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस अभियान में आपदा प्रबंधन के लिए सामुदायिक और व्यक्तिगत भूमिका पर बल दिया गया है। लोगों को उनके ईद-गिर्द मौजूद सामान्य जोखिम, अपने परिवार और समुदाय के लिए आपदा प्रबन्धन योजना बनाने और आपात स्थिति में खुद को आवश्यक आपूर्ति जैसे सूखा राशन, पीने का पानी, दवाइयां, टाॅर्च, रेडियो, अतिरिक्त बैटरी इत्यादि के प्रबन्धन के बारे में जागरूक किया जाएगा। लोगों को उनके क्षेत्रों में मौजूद खतरों से संबंधित दिशा-निर्देशों से जागरूक करने के उद्देश्य से एक रोचक आॅनलाइन क्विज का आयोजन किया जा रहा है, जो हिमाचल प्रदेश राज्य आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण की वैबसाइट www.hpsdma.nic.in पर उपलब्ध है।

हिमाचल प्रदेश राज्य आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण द्वारा वैबसाइट, ट्विटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक के माध्यम से आमजन और विभिन्न हितधारकों की भागीदारी सुनिश्चित की गई है ताकि समाज में जन-जागरूकता पैदा की जा सके।

लेबल: