शनिवार, 10 अक्तूबर 2020

राज्य में खाद्य पदार्थों के मानकों की जांच हेतु चल रही दोनों ‘खाद्य परीक्षण प्रयोगशालाओं’ को एनएबीएल स्तर पर अपग्रेड किया जाएगा...

 संवाददाता चंडीगढ़ हरियाणा 

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के कहा कि राज्य में खाद्य पदार्थों के मानकों की जांच हेतु चल रही दोनों ‘खाद्य परीक्षण प्रयोगशालाओं’ को एनएबीएल स्तर पर अपग्रेड किया जाएगा। इसके लिए सरकार ने 16.15 करोड़ रुपए की राशि जारी की है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में खाद्य पदार्थों के परीक्षण के लिए राज्य खाद्य प्रयोगशाला, चंडीगढ़ तथा जिला खाद्य प्रयोगशाला करनाल में काम कर रही है। इन प्रयोगशालाओं के नवीनकरण तथा उपकरणों की खरीद के लिए एफएसएसएआई द्वारा करीब 14.55 करोड़ रुपए जारी किए हैं।

राज्य सरकार द्वारा चंडीगढ़ प्रयोगशाला के आधारभूत संरचना के नवीनकरण पर 1.6 करोड़ खर्च किए जाएंगे जबकि इसके लिए 9.55 करोड़ रुपए के आधुनिक उपकरण खरीदे जा रहे हैं। प्रयोगशाला में नवीनकरण का कार्य चल रहा है, जिसे शीघ्र पूरा किया जाएगा। इस प्रयोगशाला ने एनएबीएल प्रमाण पत्र के लिए आवेदन भी कर दिया है, जो जल्द  प्राप्त होने की सम्भावना है।

विज ने बताया कि जिला खाद्य प्रयोगशाला करनाल के उन्नयन के लिए भी एफएसएसएआई द्वारा 5 करोड़ रुपए की राशि दी गई है। इस प्रयोगशाला में नवीनीकरण का कार्य एफएसएसएआई की अनुमति पर जल्द आरम्भ कर दिया जाएगा। इसकी ले-आऊट प्लान भी एफएसएसएआई के विशेषज्ञों की स्वीकृति के लिए प्रक्रियाधीन है।

लेबल: