रविवार, 30 जून 2019

आरओ जल बनाम षडयंत्र का जाल...

रेनू डबराल : नई दिल्ली


        भारत में पानी की शुद्धता प्राचीन काल से ही जगजाहिर है। पर, आज हालात ऐसी पैदा कर दी गई है कि अब भूगर्भ जल पीने योग्य नहीं है। यह देश में षडयंत्र का जाल रचा गया है कि लोगों में  विटामिन बी 12 लेवल कम हो और लोग माँसाहारी बनें तथा उनके बनाये हुए साइनाइड युक्त दवाओं का सेवन करते हुए लोगों को मारा जाय।



RO WATER का षड़यंत्र 


विदेशी कंपनियों का ऐसा षड्यंत्र जिससे आज गाँव भी नहीं बचा। जिस देश में पानी बेचना पाप माना जाता है, आज उस देश में पानी 20 रूपये लीटर बेचा जा रहा है। मशीनों के लिए प्रयोग होने वाला RO वाटर आज प्रत्येक घरों में पहुँच चुका है। एक फैशन सा होता जा रहा है कि हम भी RO WATER पीते हैं, इसलिए बीमार नहीं पड़ेंगे।


पानी के अन्दर बहुत सारे मिनरल्स होते हैं, लेकिन जब इनको काटरेज फ़िल्टर से पास किया जाता है तो बहुत सारे मिनरल्स ख़त्म हो जाते हैं जैसे - बी-12 ख़त्म हो गया तो आपको पता भी नहीं चलेगा। 1 लीटर RO WATER बनाने के लिए 2 लीटर पानी प्रयोग किया जाता है। 50% पानी WASTE हो जाता है।


सामान्यतः मानव के लिए 7 से 7.5 Ph, 200 से 250 TDS, 50 Hardness Value का पानी पीना चाहिए। लेकिन जहाँ पर सप्लाई का पानी ही 200 TDS, 10 HARDNESS का आ रहा हो वहां RO का क्या काम है।


कोई भी RO वाटर की क्वालिटी मेन्टेन नहीं करता है, सिर्फ आपको साफ़ पानी देता है और जो बोतलों में पानी मिलता है उनकी TDS लगभग 10 के आसपास होती है, तथा उसमें पानी की PH बढ़ाने के लिए व मिनरल्स को मेन्टेन रखने के लिए केमिकल मिलाया जाता है।


जब भी आप बाहर का या नल का पानी पीते हैं, कुछ ही दिनों में आपके पेट में दर्द रहने लग जाता है? क्योंकि आपके सिस्टम को RO पानी की आदत पड़ी हुई है !


आप 90 % लोगों से पूछिये, यहाँ तक कि जो RO बेचते हैं उन्हें भी पूर्ण जानकारी नहीं होती है कि पानी की गुणवत्ता क्या होती है। पडोसी के यहाँ RO है तो हमारे यहाँ क्यों नहीं ! आजकल झूठे विज्ञापनों के प्रचार व भेड़चाल में पड़कर बिना सोचे समझे RO प्रयोग करते जा रहे हैं ?


शहर की बात जाने दीजिये, अब तो गाँव में भी RO पहुँच गया है और हम पूरी तरह RO पर निर्भर होते जा रहें हैं। उनसे उसकी क्वालिटी पूछो तो जबाब नहीं है। अब प्रश्न है.. कौन सा पानी पियें..? 


देश में कितने प्रतिशत गरीब व झुग्गी में रहने वाले लोग RO का पानी पीते हैं..?


१. सबसे बेहतरीन पानी बारिश का होता है। आप अपने घर में पानी का टैंक बनवाएं और बारिस के दिनों में अपनी छत पर लकड़ी का कोयला व चूने को डाल दें जिससे पानी, कोयले व चूने से छनकर आप के टैंक में आये। यह पानी साल भर ख़राब नहीं होगा। इस पानी को आप साल भर पीजिये पेट की बिमारी नहीं होगी। आवशयकता होने पर कभी-कभी थोड़ी मात्रा में लाल दवा (पोटेशियम परमैग्नेट) या फिटकरी का प्रयोग कर लें अन्यथा उसकी भी जरुरत नहीं है। राजस्थान में जहाँ पर पानी की बहुत अधिक कमी है, इसी तरह जल के भंडार को सुरक्षित रखकर प्रयोग किया जाता है। कोई RO का पानी नहीं पीता है।


२. बारिश के पानी के बाद ग्लेशियर से निकली हुई नदियों का पानी है, जिसमें अधिकतम खनिज तत्व व गुणवत्ता को पूर्ण करते हैं।


३. नदियों के जल के बाद तालाब का पानी, जिसमें साफ़ बारिश का जल एकत्रित होता हो, जिसमें गंदगी या जानवर ना नहाते हों।


४. फिर कुएँ का पानी, जिसका सम्बन्ध बारिश के दिनों में पानी के जलस्तर बढ़ने व घटने से होता है। कुएं की सफाई बारिश से पहले          गर्मियों के दिनों में बहुत जरुरी है।


५. कुएं के पानी के बाद सप्लाई का पानी जिसे साफ़ करके, गुणवत्ता की जाँच-पड़ताल के बाद भेजा जाता है।


६. सप्लाई के पानी के बाद सबसे ख़राब पानी RO का है, जिसमें कभी भी शरीर के लिए आवश्यक खनिज तत्व नहीं मिलते हैं।


 कुतर्क :- कुछ लोग कहेंगे कि हम तो लगातार कई वर्षों से RO का पानी पी रहे हैं, हम तो ठीक हैं। तो भाई जी आप ज़रा एक माह गाँव               का या झुग्गी वालों की तरह खा-पीकर देखिये और अपनी आँतों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता की जांच कीजिये।


जल की कठोरता :- 


अस्थाई कठोरता (Temporary Hardness):- 


कैल्शियम और मैग्नीशियम के वाईकर्वोनेट के जल में रहने के कारण होती है। इस जल को उबालकर या सोडियम कार्बोनेट मिलाकर अथवा Clark's Process द्वारा कठोरता दूर की जाती है।


स्थाई कठोरता (Permanent Hardness):- 


इस जल को उबाल कर शुद्ध नहीं किया जा सकता है, इस जल में मैग्नीशियम और कैल्शियम के क्लोराइड और सल्फेट घुले होने के कारण इसे सोडियम कार्बोनेट मिलाने से या Permutit Process द्वारा कैलगन विधि से दूर किया जाता है।


दिल्ली पुलिस ने मुठभेड़ में हथियार समेत बदमाश गिरफ्तार किया...

प्रदीप महाजन : आईएनएस मीडिया


       दिल्ली पुलिस अब आक्रमक ढंग से अपराधियों से निपटने का काम कर रही हैं,शुक्रवार देर रात,दिल्ली के अक्षरधाम रिहायशी इलाके में लूट के इरादे से आये बदमाश की खबर जैसे ही दिल्ली पुलिस को मिली पुलिस ने घेराबंदी कर बदमाश को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा तो बदमाश ने पुलिस पर फायरिंग कर दी जवाबी फायरिंग में पुलिस ने बदमाश की टांगो में गोली मारकर पकड़ लिया।



इस तरह दिल्ली में लूट की एक बड़ी साजिश पुलिस की मुस्तैदी से विफल हो गई।गिरफ्तार बदमाश की पहचान रेहान भजनपुरा के तौर पर हुई रेहान के पास से 7.65 MM पिस्टल, दो खाली और तीन जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं।


पुलिस की गोली से घायल रेहान को लाल बहादुर अस्पताल ले गए जहाँ से उसे इलाज के बाद डिस्चार्ज कर दिया है पुलिस गिरफ्तार बदमाश रेहान से अन्य वारदातों में उसकी संलिप्तता की जांच कर रही है


6 जुलाई से भाजपा का सदस्यता अभियान शुरू : गामा

आशुतोष ममगाई : देहरादून


      श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती (छह जुलाई) से भाजपा का सदस्यता अभियान शुरू करेगी। अभियान के तहत हर बूथ पर 100 नए सदस्यों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। परेड ग्राउंड स्थित महानगर कार्यालय में शनिवार को हुई कार्यकारिणी बैठक में प्रदेश सदस्यता प्रमुख एवं राजपुर विधायक खजानदास ने कहा कि छह जुलाई से हर बूथ पर सदस्यता अभियान शुरू होगा।



इस चरण में 912 बूथों पर 100 सदस्य बनाए जाएंगे। मेयर सुनील उनियाल गामा ने कहा कि ने 50 नए सदस्य बनाने वाले को ही सक्रिय कार्यकर्ता माना जाएगा। महानगर सदस्यता प्रमुख रविंद्र कटारिया ने कहा कि सक्रिय सदस्यों को भाजपा की पत्रिका का सदस्यता शुल्क 120 रुपये भी देना होगा। यह व्यवस्था नए बनने वाले सदस्यों के लिए है। इसके अलावा मोबाइल नंबर 8980808080 पर मिस कॉल देकर भी सदस्यता ली जा सकेगी। इस दौरान भाजपा नवनियुक्त प्रदेश महामंत्री अनिल गोयल ने कहा कि अभियान से जुड़े लोग अधिक से अधिक संख्या में लोगों को भाजपा से जोड़कर पार्टी को मजबूत बनाएं।


बैठक में महानगर अध्यक्ष विनय गोयल, विधायक विनोद चमोली, उमेश शर्मा काऊ, हरबंस कपूर, सहदेव सिंह पुंडीर, भाजयुमो महानगर अध्यक्ष श्याम पंत, पुनीत मित्तल, राजीव उनियाल के साथ ही महानगर पदाधिकारी, मंडल अध्यक्ष, पार्षद सतीश कश्यप, महिपाल धीमान, अजय सिंघल आदि मौजूद रहे। बैठक से पहले नवनियुक्त प्रदेश महामंत्री अनिल गोयल का जोरदार स्वागत किया गया।


उत्तराखंड कैडर के आईएएस बने कठुवा के डीएम...

संदीप शर्मा : देहरादून उत्तराखंड


     उत्तराखंड कैडर के 2009 बैच के आईएएस अधिकारी डॉ. राघव लंगर को पाकिस्तान सीमा पर स्थित संवेदनशील कठुवा का जिलाधिकारी नियुक्त किया गया है।डॉ. लंगर प्रतिनियुक्त पर जम्मू कश्मीर में इकोनॉमिक रिकंस्ट्रक्शन एजेंसी और एडिशनल चीफ एक्जीक्यूटिव अथॉरिटी के अभी तक मुख्य कार्यकारी अधिकारी थे।



कठुवा जिले की संवेदनशीलता को देखते हुए डॉ. लंगर को दी गई जिम्मेदारी को बेहद अहम माना जा रहा है। डॉ. लंगर 2013 के बाद सर्वाधिक आपदा प्रभावित  रुद्रप्रयाग जिले के जिलाधिकारी के तौर पर काम कर चुके हैं। प्रदेश में अपर सचिव पेयजल रहते हुए नमामि गंगे परियोजना के क्रियान्वयन में भी उन्होंने योगदान किया है।


पुलिस का व्यवहार ऐसा हो कि समाज भय नहीं,सम्मान की नजर से देखे...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


         मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि पुलिस की छवि जनता के बीच ऐसी हो कि वह उसे भय की नजर से नहीं, सम्मान के भाव से देखे। इसके लिए जरूरी है कि पुलिस लोगों से भावनात्मक संबंध बनाए। मुख्यमंत्री आज इंदौर में मध्यप्रदेश पुलिस आवास एवं अधोसंरचना विकास निगम द्वारा बनाये गए आवास गृहों का लोकार्पण कर रहे थे। इंदौर में पुलिसकर्मियों के लिए 155 करोड़ से अधिक लागत के 944 आवास बनाए जा रहे हैं। इनमें से 236 बहु-मंजिला आवास गृहों का मुख्यमंत्री ने आज लोकार्पण किया।


मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस का जनता से सतत् सम्पर्क और संवाद होता है। पुलिस की भूमिका जनता के साथ सहयोगात्मक होने के साथ ही उसे न्याय मिले, इसके लिए तत्परता के साथ काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पुलिस अपने आचार-व्यवहार से आम जनता में विश्वास पैदा करें।



मुख्यमंत्री ने कहा कि निरंतर 24 घण्टे सेवा देने वाले पुलिस के जवानों के हित संरक्षण के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। तनाव कम हो और वे अगले दिन के काम के लिये तरोताजा रहें, इसके लिए सरकार ने उन्हें सप्ताह में एक दिन अवकाश देने का निर्णय लिया। इस फैसले से पुलिसकर्मी अब अपने परिवार के साथ समय बिताते हैं। उन्होंने कहा कि नई तकनीक से बने आवास पुलिसकर्मियों को सुविधा देने की दिशा में एक कदम है। यह काम आगे भी जारी रहेगा।


पुलिस महानिदेशक व्ही.के. सिंह ने कहा कि प्रदेश में अपराधियों और अपराधों पर नियंत्रण के लिए मध्यप्रदेश पुलिस अत्याधुनिक संसाधनों और टेक्नालॉजी के साथ काम कर रही है। इसी कड़ी में पुलिसकर्मियों के लिए बनाए जा रहे आवासों में भी नई तकनीक का इस्तेमाल किया है। दो कमरों के इस आवास गृह में पहली बार शेयर वर्ल्ड टेक्नालॉजी का उपयोग किया गया। इसमें गैस कनेक्शन, फायर फाइटिंग सिस्टम, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, नर्मदा कनेक्शन, ट्यूबवेल, पॉवर सिस्टम और फोर स्टार की सुविधा उपलब्ध रहेगी।


लोकार्पण समारोह में लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट, गृह मंत्री बाला बच्चन, उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी, इंदौर नगर निगम की महापौर मालिनी गौड़, सांसद शंकर लालवानी एवं विधायक उपस्थित थे।


सरकार 30 जून 2020 तक पूरे भारत में ‘एक राष्‍ट्र एक राशन कार्ड’ योजना लागू करेगी : रामविलास पासवान

संवाददाता : नई दिल्ली


      केन्‍द्रीय उपभोक्‍ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने आज कहा कि सरकार 30 जून 2020 तक पूरे भारत में 'एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड' योजना लागू करेगी। दिल्‍ली में मीडिया से बातचीत करते हुए श्री पासवान ने कहा कि सभी राशन कार्डों को आधार कार्ड से जोड़ने और फ्वांट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन के माध्‍यम से खाद्यान्‍न वितरण की व्‍यवस्‍था अपने अंतिम चरण में है।



वर्तमान में आंध्र प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान, तेलंगाना और त्रिपुरा ऐसे 10 राज्‍य हैं, जहां खाद्यान्‍न वितरण का 100 प्रतिशत कार्य पीओएस मशीनों के जरिए हो रहा है और इन राज्‍यों में सार्वजनिक वितरण की सभी दुकानों को इंटरनेट से जोड़ा जा चुका है।


इन राज्‍यों में लाभार्थी सार्वजनिक वितरण की किसी भी दुकान से अनाज प्राप्‍त कर सकता है। आशा है कि 15 अगस्‍त, 2019 से आंध्र प्रदेश और तेलंगाना, गुजरात एवं महाराष्‍ट्र राज्‍यों के लाभार्थी दोनों राज्‍यों में स्थि‍त किसी भी दुकान से अनाज प्राप्‍त कर सकेंगे।


पासवान ने कहा कि एक राष्‍ट्र एक राशन कार्ड योजना को पूरे देश में कार्यान्वित करने के लिए युद्धस्‍तर पर कार्य जारी है। इसके लिए सभी राशन कार्डों के आंकड़ों को एक सर्वर से जोड़ा जाएगा। 30 जून, 2020 के बाद लाभार्थी देश के किसी भी हिस्‍से में और किसी भी सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत अनाज प्राप्‍त कर सकेगा।


केन्‍द्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने 27 जून, 2019 को राज्‍य खाद्य सचिवों, राज्‍य सरकार के अधिकारियों तथा भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई), केन्‍द्रीय भंडारण निगम (सीडब्‍ल्‍यूसी) और राज्‍य भंडारण निगम (एसडब्‍ल्‍यूसी) के साथ बैठक की थी। इस बैठक में एक राष्‍ट्र एक राशन कार्ड योजना में हुई प्रगति की समीक्षा की गई।पासवान ने राज्‍य सरकार के अधिकारियों से कहा है कि वे खाद्यान्‍न वितरण के लिए विशेष व्‍यवस्‍था करें, ताकि दिल्‍ली, मुंबई, हैदराबाद जैसे बड़े शहरों में दो महीने के अंदर प्रवासी लोगों को सार्वजनिक वितरण की दुकानों से अनाज मिल सके।    


पासवान ने कहा कि पूरी सार्वजनिक वितरण प्रणाली को डिपो ऑनलाइन प्रणाली (डीओएस) के साथ जोड़ा जा रहा है, ताकि राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के लाभों को लोगों तक पहुंचाने में कोई अवरोध न हो। चार महीनों के अंदर एफसीआई राज्‍य सरकारों को डीओएस के साथ जोड़ने के लिए इंटरनेट गेट-वे उपलब्‍ध कराएगा। इसके दो महीनों के अंदर राज्‍य सरकारें अपनी भंडारण प्रणाली को डीओएस के साथ जोड़ सकेंगी।


रामविलास पासवान ने यह भी कहा कि खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग द्वारा किया गया कार्य बहुत महत्‍वपूर्ण है और लाभार्थियों के लिए यह लगभग एक जीवन रेखा है जिसमें एफसीआई, सीडब्‍ल्‍यूसी, एसडब्‍ल्‍यूसी एवं निजी गोदामों में भंडारित  612 लाख टन खाद्यान्‍न सालाना 81 करोड़ लाभार्थियों को वितरित किया जाता है। 


पासवान ने जोर देकर कहा कि खाद्यानों की खरीद के समय से लेकर इसके वितरण तक सूचना प्रौद्योगिकी के इस्‍तेमाल पर फोकस किया गया है जो इसकी पारदर्शिता को बनाए रखते हुए एवं भ्रष्‍टाचार पर अंकुश लगाकर पूरी प्रक्रिया की समग्र दक्षता को बढ़ाने में मदद करेगा।


एफसीआई ने अपने सभी 563 गोदामों में डिपो ऑनलाइन सिस्‍टम (डीओएस) कार्यान्वित किया है एवं सीडब्‍ल्‍यूसी ने अपने 144 डिपो में इसे कार्यान्वित किया है। इसके अतिरिक्‍त एफसीआई द्वारा खाद्यानों की खरीद भी ऑन लाइन कर दी गई है जबकि अधिकांश राज्‍यों में खरीद, भण्‍डारण एवं वितरण प्रणाली को किसी न किसी रूप में ऑन लाइन कर दिया गया है।


पासवान ने जोर देकर कहा कि यह आवश्‍यक है कि एफसीआई और राज्‍यों के बीच ऑन लाइन सूचना का निर्बाधित प्रवाह हो और इसलिए उन्‍हें समेकित किए जाने की आवश्‍यकता है जिससे कि पूरे देश में खरीद एवं वितरण पर सटीक सूचना उपलब्‍ध हो। केन्‍द्रीय मंत्री ने जोर देकर कहा कि ऐसी सभी गुणात्‍मक एवं मात्रात्‍मक सूचना के भण्‍डारण के लिए एक प्रणाली बनाई जानी चाहिए, जिसे 'अन्‍नवितरण' पोर्टल एवं विशेष रूप से डिजाइन किए गए डैश बोर्डों के जरिए ए‍क्‍सेस किया जा सके जिनकी वह व्‍यक्तिगत रूप से मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारियों के साथ सुबह की बैठकों के दौरान निगरानी कर सकें।


एक अन्‍य प्रमुख घोषणा कुपोषण की समस्‍या के समाधान से संबंधित थी। खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग 'सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत चावल का सुदृढीकरण और इसका वितरण', जिसे 14 फरवरी 2019 को प्रशासनिक अनुमोदन दिया गया था,  के लिए एक नई केन्‍द्रीय प्रायोजित पायलट स्‍कीम का कार्यान्‍वयन करेगा। पायलट स्‍कीम को 2019-20 से आरंभ तीन वर्ष की अवधि के लिए 147.61 करोड़ रुपए के कुल बजट परिव्‍यय के साथ स्‍वीकृति दी गई है। पायलट स्‍कीम का वित्‍त पोषण भारत सरकार द्वारा पूर्वोत्‍तर, पहाड़ी एवं द्वीपीय राज्‍यों के संबंध में 90:10 के अनुपात में एवं शेष अन्‍य राज्‍यों के लिए 75:25 के अनुपात में किया जाएगा।


पायलट स्‍कीम का फोकस 15 जिलों (प्रति राज्‍य एक जिला) पर होगा। वर्तमान में, नौ राज्‍यों ने स्‍कीम को आरंभ करने के प्रति सहमति जताई है एवं जिलों की पहचान की है। ये राज्‍य हैं आंध्र प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक, केरल, महाराष्‍ट्र, उत्‍तर प्रदेश, ओडिशा, तमिलनाडु  एवं असम। शेष राज्‍यों से जिलों को चुनने और चावल में पोषक तत्‍वों के मिश्रण के लिए एजेंसी/मिलों को चुनने के लिए आग्रह किया गया है। इसे सरकार के 100 दिनों के एजेंडा में रखा गया है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय तथा मानव संसाधन विकास मंत्रालय पहले ही आंगनवाड़ी केन्‍द्रों एवं मिड डे मील स्‍कीम में पोषक तत्‍वों के साथ चावल उपलब्‍ध करा रहे हैं।              


अभिनेत्री अमीषा पटेल पर 2.5 करोड़ रुपये का ठगी करने का आरोप...

संवाददाता : मुंबई महाराष्ट्र


      बॉलीवुड अभिनेत्री अमीषा पटेल पर फिल्‍म फैमिली ऑफ ठाकुरगंज के निर्माता अजय सिंह ने 2.5 करोड़ रुपये की ठगी का आरोप लगाया था. निर्माता का आरोप है कि अभिनेत्री उनसे नवंबर 2016 में डिजीटल इंडिया के एक कार्यक्रम के दौरान रांची में मिली थी और अपने प्रोडक्‍शन हाउस के पहले प्रोजेक्‍ट के लिए निर्माता से 2.5 करोड़ ले लिये. उनका दावा है कि यह पैसा अमीषा पटेल ने अपने प्रोडक्‍शन की पहली फिल्‍म के लिए लगवाया था और प्रॉफिट के साथ इस पैसे के इंट्रेस्‍ट देने की भी बात हुई थी। 

 


 

एनबीटी से हुई खास बातचीत में निर्माता अजय सिंह ने बताया, अमीषा पटेल को हमारा पैसा जून 2018 में वापस करना था लेकिन तय समय पर उन्‍होंने पैसा वापस नहीं किया. कई बार पैसा मांगने पर अभिनेत्री ने हमे ढाई करोड़ का चेक दिया जो बाउंस हो गया। 

 

उन्‍होंने आगे बताया, चेक बाउंस होने के बाद जब हमने अमीषा पटेल और उनके बिजनेस पार्टनर कुणाल गूमर से अपने पैसों की मांग की तो उन्‍होंने हमें डराना-धमकाना शुरू कर दिया.' इसके बाद अजय सिंह ने कोर्ट का सहारा लिया और अक्‍टूबर 2018 को कोर्ट ने अमीषा पटेल को लीगल नोटिस भेजा. कोर्ट ने उन्‍हें 17 जून 2019 को रांची कोर्ट में हाजिर होने का समन भेजा  लेकिन अमीषा ने पहली बार समन रिसीव नहीं किया। 

 

जिसके बाद अब इस मामले में फिर रांची कोर्ट ने अमीषा पटेल को समन भेजकर 8 जुलाई को रांची कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया है. अजय सिंह ने बताया,' अमीषा पटेल और कमल गूमर के खिलाफ कोर्ट ने धोखाधड़ी, विश्वासघात और एनआई एक्ट की धारा 138, धारा 420, धारा 406 और धारा 34 के तहत मामला दर्ज किया है. अगर अमीषा पटेल कोर्ट द्वारा दी गई तारीख में हाजिर नहीं होंगी तो उनके खिलाफ अरेस्‍ट वारंट जारी किया जा सकता है। 

 

बता दें कि अजय सिंह इनदिनों 'फैमिली ऑफ ठाकुरगंज' के प्रमोशन में जुटे हैं. फिल्‍म 19 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज होगी. इस फिल्‍म में जिमी शेरगिल, माही गिल, सौरभ शुक्‍ला, नंदीश संधू और मनोज पाहवा जैसे कई कलाकार है. हाल ही में फिल्‍म का ट्रेलर रिलीज हुआ है। 

आज के क्रिकेट मैच में इंग्लैंड के लिए करो या मरो की स्थिति, भारत अजेय बढ़त के लिए खेलेगा...

संवाददाता : नई दिल्ली


         आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 का 38वां मैच रविवार को मेजबान इंग्लैंड और भारत के बीच खेला जाएगा. बर्मिंघम के एजबेस्टन मैदान में होने वाला यह मुकाबला इंग्लैंड के लिए करो या मरो वाला है क्योंकि उसे अंतिम-4 में जगह बनाने के लिए जीत दरकार है. वहीं, टीम इंडिया इस वर्ल्ड कप में अपने अजेय क्रम को बरकरार रखने के लिए उतरेगी। 

 


 

साथ ही इस मैच में भारत के खिलाड़ी भगवा रंग की जर्सी में मैदान में दिखेंगे तय होगा इंग्लैंड के आगे का सफर इंग्लैंड को श्रीलंका और पाकिस्तान से अप्रत्याशित हार मिली है, जिसके कारण उसकी सेमीफाइनल में पहुंचने की स्थिति डगमगाई हुई है. इंग्लैंड को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए किसी भी सूरत में भारत को हराना होगा, तभी वह अंतिम-4 की रेस में बनी रहेगी. ऐसे में इंग्लिश कप्तान इयोन मॉर्गन की टीम से उम्मीद की जाती है कि वह इस मैच में अपनी पूरी ताकत झोकेगी. इसके बाद उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ भी मैच जीतना होगा तभी वह सेमीफाइनल में पहुंचेगी। 

 


 

कार्तिक या पंत को मिल सकता है मौका

 

बेहतरीन फॉर्म में चल रही भारतीय टीम को इस मैच में जीत सेमीफाइनल में पहुंचा देगी. उसे सेमीफाइनल में जाने के लिए 3 मैचों में एक अंक की जरूरत है. इंग्लैंड को बीते मैचों में मिली हार का भूत सता रहा है तो वहीं भारत को बीते मैचों में लचर प्रदर्शन करने वाली बल्लेबाजी का खासकर नंबर-4 के बल्लेबाज का. नंबर-4 पर विजय शंकर को मौके मिले, लेकिन वह मौकों को भुना नहीं पाए. अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में उनके पास समय भी था, लेकिन शंकर पूरी तरह से नाकाम रहे. शंकर की विफलता टीम प्रबंधन के लिए चिंता का विषय है. ऐसे में इंग्लैंड के खिलाफ अहम मैच में दिनेश कार्तिक या ऋषभ पंत को मौका मिल सकता है। 

 

मध्य क्रम से अच्छी पारी नहीं देखने को मिली

 

भारत के शीर्ष क्रम ने तो बढ़िया किया है, लेकिन मध्य क्रम से अभी तक कोई बेहतरीन पारी देखने को नहीं मिली है. महेंद्र सिंह धोनी रन तो कर रहे हैं, लेकिन जिस गति से वह रन बना रहे हैं वो ज्यादा अच्छी नहीं है. केदार जाधव ने भी खासा प्रदर्शन नहीं किया है. हार्दिक ने पिछले मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ धोनी के साथ अच्छी बल्लेबाजी की थी, लेकिन जिस आक्रामकता से वह रन करते हैं वो दिखी नहीं थी। 

उप-मुख्यमंत्री व वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन से की मुलाकात...

संवाददाता : नई दिल्ली


        दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप-मुख्यमंत्री व वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन जी से मुलाकात की। मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, हमने उनको चुनावों में जीत की बधाई की। उनको बहुत महत्वपूर्ण मंत्रालय मिला है, इसके लिए भी उनको शुभकामनाएं दी। मैंने वित्त मंत्री को ये भी आश्वासन दिया कि दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार और वित्त मंत्रालय के साथ मिलकर काम करेगी। हमारा मकसद है कि दिल्ली का विकास हो। दिल्ली देश की राजधानी है, दिल्ली के विकास के लिए केंद्र और दिल्ली सरकार को मिलकर काम करने की जरूरत है। दिल्ली सरकार ऐसा करना चाहती है।



वित्त मंत्री के साथ बजट से संबंधित कुछ मुद्दों पर चर्चा हुई। हमने उन्हें बताया कि दिल्ली हर साल 1.5 लाख करोड़ रुपये का इनकम टैक्स इकट्टा करके केंद्र सरकार को देती है। लेकिन बदले में केवल 325 करोड़ रुपये दिल्ली को वापस मिलता है। बाकी राज्यों को काफी पैसा मिलता है। किसी राज्य को 30 हजार करोड़ रुपये, किसी को 40 हजार करोड़ मिलता है। हमने वित्त मंत्री से कहा कि दिल्ली में केंद्र सरकार इन्वेस्ट करे। इससे दिल्ली की इकनॉमी बूम करेगी। दिल्ली और टैक्स इकट्टा करके केंद्र सरकार को देगी।

 

वित्त मंत्री को हमने ये भी बताया कि केंद्र सरकार, पूरे देश में हर राज्य के नगर निगमों को ग्रांट देती है। लेकिन केंद्र सरकार की तरफ से दिल्ली में नगर निगमों को ग्रांट नहीं दी जाती। हमने उनसे अनुरोध किया कि जैसे दूसरे राज्यों के नगर निगमों को ग्रांट दी जाती है, वैसे ही दिल्ली में भी नगर निगमों को ग्रांट दी जाए। इसके अलावा, वित्त मंत्री से ये भी अनुरोध किया कि इंटीग्रेटेड गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (आईजीएसटी) का 3000 करोड़ रुपये केंद्र सरकार के पास दिल्ली का पड़ा हुआ है, उसे दिया जाए।

हर हफ्ते यूपी में बैठक करेंगी प्रियंका गांधी...

संवाददाता : नई दिल्ली


               लोकसभा चुनाव से आधिकारिक तौर पर राजनीति में आई प्रियंका गांधी अब यूपी के विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई हैं। नैशनल कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी के पास यूपी पूर्वी का चार्ज है। वह मिशन 2022 की तैयारी के लिए अब यूपी कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ हर हफ्ते बैठक सूत्रों की मानें तो प्रियंका गांधी अपने भाई और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के दिल्ली में तुगलक लेन स्थित कैंप ऑफिस पर कई लोगों के साथ लगातार बैठक कर रही हैं। इसके साथ ही वह उत्तर प्रदेश में साप्ताहिक बैठकें करेंगी। बताया जा रहा है कि अगली कुछ तीन चार हफ्तों की बैठकें नई दिल्ली में ही होंगे।



उसके बाद यूपी के विभिन्न हिस्सों में ये बैठकें आयोजित की जाएंगी। इन बैठकों का उद्देश्य करेंगी।होगा कि पार्टी के हर बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से मुलाकात करके बूथ स्तर पर पार्टी का ढांचा मजबूत किया जा सके। पिछले हफ्ते प्रियंका ने इस मिशन के लिए पार्टी की समीक्षा बैठक के दौरान तैयारी कर ली थी।


प्रियंका गांधी ने अपनी मां सोनिया गांधी की जीत पर आयोजित धन्यवाद समारोह में कहा था, जो समझौता करना चाहता है...जिसका दिल इस संघर्ष में नहीं है... उसके लिए कांग्रेस में कोई जगह नहीं है.. अपना मन बना लीजिए. पार्टी के लिए काम करना है तो दिल से काम करना पड़ेगा। इसके साथ ही प्रियंका ने सलाह दी थी कि कांग्रेस में रहना है तो संघर्ष करो या पाटी छोड़ दो। प्रियंका गांधी की समीक्षा बैठक में पार्टी के महासचिव और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इंचार्ज ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे।


प्रियंका गांधी बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत बनाने के लिए आंकड़े जुटा रही हैं। प्रियंका गांधी के लॉन्चिंग रोड शो में राहुल गांधी ने भी कहा था कि वह यूपी में मिशन 2022 के लिए प्रियंका गांधी को लाए हैं। उन्होंने कहा था कि यपी में अगली सरकार कांग्रेस बनाने जा रही है। उन्होंने प्रियंका गांधी को यपी में फिर से कांग्रेस को खड़ा करने की जिम्मेदारी दी है।


निशंक के पीएस बने बीवीआरसी पुरुषोत्तम...

संवाददाता : नई दिल्ली


         उत्तराखंड में गढ़वाल मंडल आयुक्त बीवीआरसी पुरुषोत्तम को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक का निजी सचिव (पीएस) बनाया गया है।



वे 28 एवं 29 जून को आयोजित होने वाले मंडल मुख्यालय के स्वर्ण जयंती समारोह के बाद दिल्ली के लिए रवाना होंगे। आयुक्त पुरुषोत्तम ने कहा कि दिल्ली में रहते हुए भी पहाड़ की सेवा लगातार की जाएगी। माह में एक बार यहां चल रही योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण भी किया जाएगा।


बता दें आयुक्त पुरुषोत्तम इससे पूर्व तत्कालीन शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू और डा. महेश शर्मा के निजी सचिव का दायित्व भी संभाल चुके हैं।


भारतीय तम्बाकू निर्यातकों के प्रतिनिधिमंडल का चीन दौरा...

संवाददाता : नई दिल्ली


        भारत सरकार के वाणिज्य विभाग के तहत भारतीय तम्बाकू बोर्ड की चेयरपर्सन के. सुनीता के नेतृत्‍व में देश के छह प्रमुख तम्बाकू निर्यातकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने 24 से 28 जून 2019 तक चीन की यात्रा की। छह प्रमुख निर्यातक हैं – आईटीसी लिमिटेड, पोलिशेट्टी सोमासुन्‍दरम, डेक्‍कन टोबैको कंपनी, गोडफ्रे फिलिप्‍स इंडिया लिमिटेड, प्रीमियर टोबैको पैकर्स लिमिटेड और एमएल एक्‍सपोर्ट्स। देश के कुल तंबाकू निर्यात की 70 प्रतिशत हिस्‍सेदारी इन छह कंपनियों के पास है। 



प्रतिनिधिमंडल ने 28 जून को एसटीएमए के मुख्य आयुक्त (राज्य तंबाकू एकाधिकार प्रशासन) झांग जियानमिन के साथ एक बैठक की। बैठक में सुनीता ने भारतीय तंबाकू की विशेषताओं पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि भारतीय तम्बाकू उच्च गुणवत्ता वाला है। इसकी खेती जैविक तरीके से होती है और यह कीटनाशकों से मुक्‍त होता है। पूरी दुनिया में भारत एकमात्र ऐसा देश है, जहां दो मौसमों में तंबाकू का उत्पादन होता है। उन्‍होंने कहा कि चीन भारत का पड़ोसी देश है,  इसलिए तम्‍बाकू के परिवहन पर होने वाला खर्च कम होगा। भारत अनिर्मित तंबाकू का दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा उत्‍पादक और निर्यातक है। भारत लगभग 5000 करोड़ रुपये मूल्‍य के तंबाकू का निर्यात 115 देशों को करता है। इनमें जापान और यूरोप जैसे गुणवत्ता के प्रति जागरूक बाजार भी शामिल हैं।


भारतीय तंबाकू बोर्ड की चेयरपर्सन ने कहा कि भारत उच्‍च गुणवत्‍ता वाले तंबाकू का निर्यात करने में सक्षम है। मूल्य,  मात्रा, गुणवत्ता आदि मामलों में भी एकरूपता बनाए रखी जाएगी। हालांकि, भारत का चीन को तंबाकू निर्यात नगण्य है। वाणिज्य सचिव डॉ. अनूप वधावन ने जनवरी, 2019 में चीन की यात्रा की थी। इस यात्रा के दौरान चीन को भारतीय तंबाकू पत्तियों के निर्यात से संबंधित एक निष्क्रिय कानून को पांच वर्षों का विस्‍तार दिया गया। इससे चीन को तंबाकू निर्यात करने से संबंधित एक बड़ा तकनीकी अवरोध खत्‍म हुआ। भारतीय तंबाकू को बढ़ावा देने के लिए बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास चीन के सरकारी विभागों जैसे राज्‍य तंबाकू एकाधिकार प्रशासन, वाणिज्य मंत्रालय और अन्य संबंधित संगठनों के साथ लगातार कार्य कर रहा है।


झांग जियानमिन ने प्रतिनिधिमंडल का स्वागत किया और भारतीय तंबाकू को बढ़ावा देने के लिए उनके प्रयासों की सराहना की। उन्‍होंने कहा कि भारतीय तम्बाकू वर्तमान में चीन के बाजार के लिए उपयुक्त नहीं है, लेकिन भारत और चीन के बढ़ते द्विपक्षीय संबंधों की पृष्ठभूमि में एसटीएमए को भारतीय तंबाकू बोर्ड के साथ मिलकर कार्य करने में प्रसन्‍नता होगी। तम्बाकू बोर्ड ने कहा कि भारत में तंबाकू उत्‍पादन की प्रक्रियाएं विश्‍वस्‍तर की हैं और चीन की उपयुक्‍तता के अनुसार तंबाकू की किस्‍मों का उत्‍पादन करने में सक्षम है। मुख्य आयुक्त ने कहा कि वे सरकारी और उद्योग जगत के प्रतिनिधिमंडल को भारत जाने का सुझाव देंगे।


वाणिज्यिक परामर्शदाता प्रशांत लोखंडे ने कहा कि दोनों देशों के बीच वाणिज्यिक और आर्थिक संबंध मजबूत हो रहे हैं। द्विपक्षीय व्‍यापार 100 बिलियन डॉलर पहुंच गया है। व्‍यापार घटे को कम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि एसटीएमए के सहयोग से तथा भारतीय तंबाकू की गुणवत्‍ता और कीमत को ध्‍यान में रखते हुए यह उम्‍मीद की जानी चाहिए कि भारतीय तंबाकू चीन के बाजार में अपनी प्रभावी उपस्थिति दर्ज करेगा।


चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिश्री ने प्रतिनिधिमंडल को बड़े पैमाने पर आपसी बातचीत करने की जरूरत का सुझाव दिया।


प्रतिनिधिमंडल ने युन्नान के युक्सियानहे काउंटी और झेजियांग के तोंगज़ियांग का दौरा किया तथा स्थानीय तंबाकू उत्पादन और व्यापार एजेंसियों के साथ बातचीत की।


दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने पकड़े 4 क्रिकेट मैच के बुकी...

प्रदीप महाजन : आईएनएस मीडिया


       दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने वर्ल्ड कप क्रिकेट मैचों में सट्टा लगाने वाले चार सटोरियों को रोहिणी इलाके में गिरफ्तार किया।इनके पास से 23 मोबाइल, तीन लैपटॉप, सात रजिस्‍टर और टीवी बरामद करके जब्त किए है,ये बुकी वर्ल्ड कप में हो रहे क्रिकेट मैच की एक एक बोल पर सट्टा खिलाते थे।



दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को एक टिप मिली कि रोहिणी इलाके में बुकी क्रिकेट मैच में बुक लगा रहे हैं,जानकारी के बाद पुलिस ने छापेमारी कर इनको गिरफ्तार कर लिया है।


महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए हर संभव कदम उठाएंगे : कमल नाथ

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


       मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि हर वर्ग की महिलाओं को आगे बढ़ने के अवसर सुलभ कराने के लिए राज्य सरकार प्रदेश में उन्हें बेहतर वातावरण देने और उनकी प्रतिभा को निखारने के हर संभव कदम उठा रही है।  मुख्यमंत्री आज इंदौर के असरावद खुर्द में पिछड़ा वर्ग की छात्राओं के लिए निर्मित 500 सीटर छात्रावास भवन का लोकार्पण कर रहे थे।



मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि हम मध्यप्रदेश को पूरे देश में अग्रणी राज्य बनाने के लिए पहले दिन से सुनियोजित प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बदलते हुए मध्यप्रदेश में आर्थिक निवेश बढ़े, इस दिशा में ठोस कदम उठाए गए हैं। विकास के मामले में हम केन्द्र के सहयोग से प्रदेश को विकसित राज्यों की श्रेणी में खड़ा कर पाएंगे। केन्द्र की योजनाओं के क्रियान्वयन और उनका लाभ जनता तक पहुँचाने में राज्य सरकार पूरा सहयोग देगी। श्री नाथ ने कहा कि किसानों के साथ ही प्रदेश के युवा वर्ग, जिसमें महिला, पुरुष दोनों शामिल हैं, का सर्वांगीण विकास सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है।


केन्द्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत ने बताया कि राज्य सरकार से प्राप्त भूमि पर सभी संभागीय मुख्यालयों पर कमजोर वर्गों के लिए छात्रावास बनाने का प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश के सामाजिक न्याय मंत्री आरिफ अकील ने केन्द्रीय मंत्री से अनुरोध किया कि वे समाज के कमजोर वर्गों के उन प्रस्तावों, को केन्द्र से शीघ्र अनुमति दिलवाएँ, जो लम्बे समय से लंबित हैं।


समारोह को लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट, गृह मंत्री बाला बच्चन और उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने भी संबोधित किया।


शनिवार, 29 जून 2019

751 गैंगस्टर की संपतियां होगी अटैच, सभी जिलाधिकारियों को लिखा पत्र...

सुरेश चौरसिया : नोएडा


         जिलाधिकारी बी एन सिंह ने आज कैम्प कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि जनपद के 751 गैंगस्टर की संपत्ति अटैच करने के संदर्भ में उत्तर प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को पत्र भेजा है। यदि संबंधित गैंगस्टर की किसी भी जनपद में चल अचल संपत्ति हो अटैच करने के लिए अनुरोध किया गया। इसी प्रकार जनपद के यातायात को सुदृढ़ करने के लिए जिला प्रशासन ने नया निर्णय लेते हुए 10 कैमरा टीम यातायात नियमों को उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध 8 जुलाई से कार्यवाही करेंगी।



संबंधित टीम गोपनीय तरीके से विभिन्न स्थानों पर यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों एवं वाहनों का वीडियो तैयार करेंगी। जिसके आधार पर शमन शुल्क लगाने की कार्यवाही जिला प्रशासन करेगा। इसी प्रकार जनपद में पर्यावरण बनाए रखने के उद्देश्य से प्रदूषण करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करने के संदर्भ में जिला प्रशासन द्वारा एक टीम तैयार की गयी है। जिसके द्वारा प्रदूषण करने वालों की वीडियो एवं अन्य जानकारी के आधार पर कार्यवाही की जाएगी। जिला मजिस्ट्रेट बी एन सिंह ने प्रेस वार्ता के दौरान सभी पत्रकारों को अवगत कराया।


उन्होंने जनसामान्य का आह्वान किया है कि 8 जुलाई के बाद जनपद गौतमबुधनगर में सभी वाहन चालक यातायात नियमों का पालन करें। अन्यथा की स्थिति में उन्हें दंड का भागी बनना पड़ेगा। प्रेस वार्ता के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण, पुलिस अधीक्षक यातायात एके झा,सहायक परिवहन अधिकारी हिमेश तिवारी तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।


सी रविशंकर ने देहरादून के 61 वें जिलाधिकारी के रूप मे डबल लॉक का चार्ज लिया...

प्रजा दत्त डबराल : देहरादून उत्तराखंड


          जनपद के 61 वें जिलाधिकारी के रूप में 2009 बैच के आई.ए.एस अधिकारी सी रविशंकर द्वारा आज पूर्वान्ह में अपने पद का कार्यभार ग्रहण कर लिया है। जिलाधिकारी सी रविशंकर इससे पूर्व अपर सचिव उत्तराखण्ड सचिवालय के अलावा संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत, लैंसीडाउन, कोटद्वार के साथ ही मुख्य विकास अधिकारी अल्मोड़ा एवं चमोली के उपरान्त जिलाधिकारी उत्तरकाशी एवं पिथौरागढ के पद पर भी कार्यरत रहे हैं।



नवआंगतुक जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कलेक्ट्रेट परिसर में जिलाधिकारी के रूप में तथा कोषागार के डबल लॉक का कार्यभार भी ग्रहण कर लिया है।


बिना एमओयू बांट दिए हजारों लैपटॉपः जन संघर्ष मोर्चा

संदीप शर्मा : विकासनगर/देहरादून उत्तराखंड


            जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि खाद्य विभाग ने वर्ष 2018-19 में प्रदेश की सरकारी सस्ता गल्ला की दुकानों के ऑटोमेशन हेतु सिस्टम इंटीग्रेटर मॉडल लागू किए जाने की दिशा में प्रत्येक दुकान हेतु लैपटॉप-प्रिंटर-बायोमैट्रिक डिवाइस-डोंगल आदि की व्यवस्था के तहत बिना एमओयू (करार) के 4389 लैपटॉप आदि का वितरण कर दिया था।



यहां आयोजित एक पत्रकार वार्ता में नेगी ने कहा कि बड़ी हैरानी की बात है कि सरकारी कार्यप्रणाली के तहत जहां हर किसी योजना अथवा कार्य को लागू करने से पहले सभी औपचारिकताएं पूर्ण की जाती हैं वहीं लैपटॉप बांटने में इतनी जल्दबाजी, वो भी बिना एमओयू। उक्त मामला बहुत ही गंभीर है।


नेगी ने कहा कि प्रदेश के खाद्य मंत्री मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के विभाग में ही अगर ऐसा खेल खेला जा रहा है तो अन्य विभागों का क्या हाल होगा। नेगी ने कहा की कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के तहत प्रदेश की 9304 दुकानों को लैपटॉप प्रिंटर आदि से लैस कर प्रति कुंटल घ्17 सेवा दाता कंपनी को दिया जाता है। पत्रकार वार्ता में मोहम्मद असद, प्रवीण शर्मा पिन्नी आदि उपस्थित रहे।


दिल्ली में अपशिष्ट मानकों के नियमो का उल्लंघन करने वाले 12 अस्पताल बन्द होंगे..

प्रदीप महाजन : नई दिल्ली


          दिल्ली केअस्पतालों में दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति ने छापे मारकर जांच की तो कई अस्पतालों में बॉयोमेडिकल अपशिष्ट मानकों का अस्पताल के संचालन उल्लंघन कर रहे थे जिसपर बड़ी कार्यवाही करते हुए प्रदूषण समिति ने 12 अस्पतालों को बंद करने का आदेश जारी किया।



 गौरतलब है कि अस्पतालों से हर कई टन कूड़ा-कचरा निकलता है।ये कचरा अधिक नुकसान दायक होता है। अस्पतालों से निकलने वाला ये कचरा अस्पताल के मरीजो से सम्बंधित होता है,औसतन अस्पताल में भर्ती हर रोगी से प्रतिदिन डेढ़ किलोग्राम कचरा निकलता है। अस्पताल से निकलने वाले कुल कचरे में से 47 प्रतिशत जीव-चिकित्सा सम्बन्धी होता है। यह खतरनाक होता है क्योंकि इसमें रोग फैलाने वाले कीटाणु होते हैं।


मनुष्यों और पशुओं के अवशेष, खून और मानव शरीर के द्रव से तर-बतर अन्य सामग्री, रद्दी चिकित्सा उपकरण, दूषित रुई, प्लास्टर, ड्रेसिंग एवं शल्य-चिकित्सा और शव परीक्षा का कचरा स्वास्थ्य के लिए गम्भीर खतरा हो सकता है क्योंकि ये वस्तुएँ जीवाणु, वायरस और अन्य सूक्ष्म जीवों के विकास के लिए अनुकूल वातावरण पेश करती हैं। रोगों को जन्म देने वाले एसचेरीचिया, सेलमोनीला, विबरियो हेपेटाइटिस के कीटाणु तब तक सक्रिय रहते हैं जब तक उन्हें जलाकर नष्ट नहीं कर दिया जाता।


इन रोगों के कीटाणु विभिन्न एजेंटों के जरिए दूर-दूर तक ले जाए जा सकते हैं। शल्य चिकित्सा और शव परीक्षा का कचरा, अगर वह अनुपचारित है तो बहुत संक्रामक होता है।इन कचरे की वजह से जो स्वास्थ्य व्यक्ति होता है वह भी इस बीमारी की चपेट में आ जाता है, इससे एड्स,कैंसर आदि जैसी घातक बीमारियां भी जन्म ले सकती है।इसलिए बॉयोमेडिकल कचरे के लिए कई कड़े नियम और मानक तय किये गए हैं, लेकिन अस्पताल संचालक इन नियमो का उल्लंघन करने से बाज़ नही आते।


शीला दीक्षित ने राहुल गांधी से बात करके 280 सदस्यों की ब्लॉक कमेटी भंग की...

प्रजा दत्त डबराल : नई दिल्ली


          आज शीला दीक्षित ने राहुल गांधी से मुलाकात करके दिल्ली में 280 सदस्यों की ब्लॉक कमेटी भंग कर दी है।प्रदेश कांग्रेस ने आगामी होने वाले विधानसभा के चुनावों के लिए अभी से रणनीति बनानी शुरू कर दी है। राहुल के साथ शीला दीक्षित ने एक बैठक बुलाई जिसमे कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे।कमेटी भंग के बाद कई सदस्यों ने इस्तीफा दिया।



दिल्ली में बढ़ते हुए क्राइम की रोकथाम के लिए शीला दीक्षित, डॉ वालिया,हारून यूसुफ उपराज्यपाल से मिले...

प्रदीप महाजन : आईएनएस मीडिया


   राजधानी दिल्ली क्राइम कैपिटल बनती जा रही है हत्याओं का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है।इसी के मद्देनजर दिल्ली में बढ़ते क्राइम और ना सम्भली कानून व्यवस्था के मुद्दे पर दिल्ली प्रदेश की मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित अपने कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल के साथ दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से मिली और एक ज्ञापन दिया। 



गौरतलब है कि दिल्ली में 1 महीने में दर्जनो हत्याए हो गई है ,गोलीबारी तो आम बात है जिसके लिए कांग्रेस के नेताओं ने इस मुद्दे को दिल्ली के एलजी के सामने उठाया। LG अनिल बैजल ने प्रतिनिधि मंडल को भरोसा दिया कि दिल्ली की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लगाम लगाएंगे और अपराधियों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।प्रतिनिधि मंडल में अध्यक्ष शीला दीक्षित,डॉ ऐके वालिया, कार्यकारी अध्यक्ष हारून युसूफ, राजेश लिलोठिया, किरणवालिया,डॉ नरेन्द्र नाथ आदि शामिल थे। 


शुक्रवार, 28 जून 2019

बरामद मादक पदार्थ की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत लगभग 75 लाख रुपए...

हरि सिंह रावत : नई दिल्ली


नारकोटिक्स सेल क्राइम ब्रांच ने मादक पदार्थ आधा किलो हेरोइन के साथ 1 व्यक्ति को गिरफ्तार किया। 


बरामद मादक पदार्थ की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत लगभग 75 लाख रुपए। 
आरोपी दिन में आफिस बॉय व रात को ड्रग्स बेचने का काम करता था। 
आरोपी अपनी पहचान छुपाने के लिए अपने कस्टमर्स को अलग अलग नाम बताता था। 


दिल्ली पुलिस की नारकोटिक्स सेल, क्राइम ब्रांच एक तरफ जहाँ समाज के अलग अलग वर्गों को 'इंडिया बोले नो टू ड्रग्स' के स्लोगन के साथ ड्रग्स के प्रति जागरूक कर रही है वहीं दूसरी तरफ राजधानी दिल्ली व आसपास चल रहे नशे के कारोबार के खिलाफ भी बराबर कार्यवाही कर रही है।



इसी कड़ी में डीसीपी क्राइम जॉय टिर्की व एसीपी नारकोटिक्स आर. के.ओझा के निर्देशन में इन्स्पेक्टर राम मनोहर की टीम ने सफदरजंग अस्पताल के पास से हुसैन नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया व आधा किलो नशीला पदार्थ हेरोइन पाउडर बरामद किया जिसकी गुप्त सूचना इंस्पेक्टर राम मनोहर की टीम में एएसआई जय सिंह को मिली थी जिसपर टीम के अन्य सदस्यों हेड कांस्टेबल योगेंद्र व मनोज के साथ ट्रैप लगा कर हुसैन नाम के लड़के को आधा किलो हेरोइन पाउडर के साथ पकड़ा व क्राइम ब्रांच में मुकद्दमा दर्ज किया गया। क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि हुसैन तैमूर नगर में रहता है और उसी इलाके में रहने वाले एक हेरोइन सप्लायर के संपर्क में आ कर कुछ साल पहले हेरोईन बेचने लगा।


कुछ समय बाद हुसैन ने अपना काम अलग कर लिया और खुद अपने कस्टमर्स ढूँढ लिए। सन 2018 में हुसैन हेरोईन सप्लाई करने के केस में थाना न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में गिरफ्तार हुआ था व अक्टूबर 2018 में बेल पर बाहर आया था। बाहर आने के बाद भी आरोपी खुद को हेरोईन के अवैध व्यापार में जल्दी पैसा कमाने के लोभ से खुद को अलग नही कर सका और खुद को पुलिस की नज़र से बचाने के लिए दिन में सफ़दरजंग एनक्लेव में एक आफिस में आफिस बॉय की नौकरी करने लगा औऱ रात में चोरी छिपे हेरोईन की सप्लाई करने लगा। आरोपी हेरोईन के काम में पूरी सावधानी बरतने लगा और किसी भी अन्जान व्यक्ति को नशीला पदार्थ नही देता था साथ ही वो अपने अलग अलग कस्टमर्स को अपना अलग अलग नाम बताता था। आरोपी का असल नाम हुसैन है परंतु लोगों को कन्हैया, मुन्ना, रबीउल, कटप्पा इत्यादि बताता था ताकि किसी को उसकी सही पहचान ना हो सके। 


पुलिस आरोपियों से जुड़े अन्य लोगों की तलाश कर रही है नशे के कारोबार से जुड़े लोगों पर शिकंजा कसने में लगी हुई है।


राज्य के युवाओं को तटरक्षक बल में जाने का मिलेगा सुनहरा अवसर : मुख्यमंत्री

संदीप शर्मा : देहरादून उत्तराखंड


      मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को कुंआवाला (हर्रावाला) में कोस्ट गार्ड भर्ती सेंटर का शिलान्यास व भूमि पूजन किया। इस भर्ती केन्द्र के लिए भारत सरकार से 17 करोड़ रूपये भूमि के लिए व 25 करोड़ रूपये भवन निर्माण के लिए स्वीकृति मिल चुकी है। इस भर्ती केन्द्र के लिए पूरा खर्चा भारत सरकार वहन करेगी। यह भर्ती केन्द्र ड़ेढ़ वर्ष में बनकर तैयार हो जायेगा। यह भर्ती केन्द्र केन्द्र चार राज्यों उत्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश, हिमांचल प्रदेश और हरियाणा के लिए बनाया जा रहा है।



मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड में कोस्टगार्ड भर्ती केन्द्र खुलने से प्रदेश के युवाओं को कोस्टगार्ड में रोजगार के अच्छे अवसर मिलेंगे। थलसेना, वायुसेना व नौसेना के भर्ती केन्द्र उत्तराखण्ड में पहले से ही हैं। कोस्टगार्ड भर्ती केन्द्र खुलने से राज्य के युवाओं को तटरक्षक बल में करियर बनाने का सुनहरा अवसर मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि यह रैबार कार्यक्रम का प्रतिफल है कि उत्तराखण्ड में कोस्टगार्ड का भर्ती सेंटर खुलने जा रहा है, जबकि देहरादून में देश का पहला ड्रोन एप्लिकेशन रिसर्च सेंटर खुल चुका है।


उत्तराखण्ड में पांचवे धाम के रूप में सैन्यधाम को विकसित करने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प की दिशा में यह एक बड़ी पहल है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि देहरादून में जल्द ही भव्य शौर्य स्थल (सैन्यधाम) बनाया जायेगा। इसके लिए देहरादून में 70 बीघा जमीन का चयन कर लिया गया है। यह शौर्य स्थल सबके लिए प्रेरणा का केन्द्र बनेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि रानीपोखरी में नेशनल लॉ युनिवर्सिटी बन रही है। इससे प्रदेश के युवाओं को विधि की पढ़ाई के साथ-साथ कानून के क्षेत्र में कार्य करने का सुनहरा अवसर मिलेगा। पर्यटन को बढ़ावा देने राज्य सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में है। राज्य में अधिक से अधिक पर्यटक आयें इसके लिए हवाई सेवाओं को विस्तार दिया जा रहा है। जॉलीग्रांट एयरपोर्ट का विस्तार किया जा रहा है।


उन्होंने कहा कि पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार के अनेक अवसर हैं। देश का 23वां सीपैट संस्थान डोईवाला में खोला गया है। सीपैट एक ऐसा संस्थान हैं, जिसमें कोर्स करने से रोजगार की बहुत प्रबल संभावनाएं हैं। इसमें जल्द ही डिप्लोमा व डिग्री कोर्स भी शुरू किये जायेंगे। महानिदेशक कोस्टगार्ड राजेन्द्र सिंह ने कहा कि गत वर्ष मुख्यमंत्री आवास में रैबार कार्यक्रम में प्रदेश की बड़ी हस्तियों का जो मंथन हुआ। उसके सुखद परिणाम आज हम सबके सामने हैं। डीजी कोस्टगार्ड ने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड का वासी होने के नाते मेरे मन में उत्तराखण्ड के युवाओं के लिए कुछ करने की तमन्ना थी। उत्तराखण्ड में कोस्टगार्ड का भर्ती सेंटर हो यह मुख्यमंत्री जी का ख्वाब था और मेरी ख्वाईश थी जिसका परिणाम है कि आज मंजिल हमारे सामने है।


उन्होंने कहा कि यह भर्ती केन्द्र लगभग डेढ़ साल में बनकर तैयार हो जायेगा। कोस्टगार्ड द्वारा एस.डी.आर.एफ को आपदा से बचाव राहत कार्यों का प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि भारत की कोस्टगार्ड विश्व की चौथी सबसे बड़ी कोस्टगार्ड है। काम के मामले में आज भी सबसे आगे है। उन्होंने इस भर्ती केन्द्र के लिए अपेक्षित भूमि आवंटन करने पर मुख्यमंत्री का आभार भी जताया। इस अवसर पर मेयर सुनील उनियाल गामा, अनीता ममगाइंर्, सचिव कौशल विकास एवं सेवायोजन रणजीत सिन्हा, अपर सचिव डॉ अहमद इकबाल, निदेशक सेवायोजन जीवन सिंह नगन्याल आदि उपस्थित थे।


एसएमई दिवस पर अपने लघु एवं कुटीर उद्योग को दें नई उचाइयां...

संवाददाता : पुणे महाराष्ट्र


            लघु एवं कुटीर उद्योग देश की अर्थव्यवस्था की प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। देश के कुल मैन्युफैक्चरिंग आउटपुट का 45 % और एक्सपोर्ट का 40 % में एसएमई यानि लघु एवं कुटीर उद्योग का ही योगदान होता है। यहाँ तक की डिजिटल कॉमर्स इंडस्ट्री के साथ ही देश की कुल जीडीपी में भी एसएमई का बड़ा हिस्सा है।

 



जैसा कि आप जानते है एसएमई फर्म के लिए उन्नति और अवसरों की अनंत संभानाएं है परन्तु, टेक्नोलॉजी, स्किल्ड वर्कफोर्स और पैसों की कमी के कारण आपको अपने प्रतिस्पर्धियों से बराबरी करने और समय पर डिमांड के अनुरूप सप्लाई करने में परेशानी होती होगी। इन सभी समस्यों से निपटने और आपके बिज़नेस को सही ग्रोथ दिलाने में सही फंडिंग आपकी काफी मदद कर सकती है।

 

27 जून को एसएमई डे के रूप में मनाया जाता है और इससे अच्छा भला और कौन सा दिन हो सकता है अपने बिज़नेस को फिनांशियल सपोर्ट के जरिए नई उचाईयों तक पहुंचने के लिए। इस काम में आपकी मदद कर सकता है बजाज फिनसर्व का बजाज फाइनेंस लिमिटेड, जो देश की सबसे ज्यादा डाइवर्सिफाइड एनबीएफसी है। यहाँ आपको मिलेंगे एसएमई लोन्स, जो आपकी जरूरत के मुताबिक कंपनी की आर्थिक जरूरतों को पूरा कर ग्रोथ करने में मदद करेंगे।


आइये आपको बताते है किस तरह बजाज बिनसर्व आपके लिए एक स्मार्ट फाइनेंसिंग ऑप्शन उपलब्ध करवाता है।


आपकी बिज़नेस की जरूरत के मुताबिक ज्यादा बड़ा लोन अमाउंट

 

आपको चाहे अपने बिज़नेस के लिए वर्किंग कैपिटल की जरूरत हो या नई मशीने और कर्मचारी रखने की, बजाज फिनसर्व एसएमई लोन्स आपके बिज़नेस की हर जरूरत के मुताबिक आपको फिनांशियल सोल्युशन देता है। इसके जरिए आप बिना जमानत दिए 30 लाख रुपए तक का लोन ले सकते हैं, जिसके जरिए आप अपने बिज़नेस को मनचाहे मुकाम तक पंहुचा सकते हैं।


हर प्रकार की एसएमई के लिए कस्टमाइज़्ड लोन सुविधा


आप चाहे मैन्युफैक्चरर हो या ट्रेडर, आपकी कंपनी सर्विसेज देती हो या लोजिस्टिक्स, बजाज फिनसर्व के कस्टमाइज़्ड लोन हर तरह की एसएमई के लिए सुविधाजनक और उपयोगी है। इससे आपके लिए लोन के एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया में आना आसान हो जाता है। चुंकीं इन लोन्स के उपयोग करने को लेकर किसी तरह की बाध्यता नहीं है इसलिए आप डिजिटल सेल्स शुरू करने, ऑफिस के रेनोवेशन के लिए या फिर डिलीवरी के वाहन लेने जैसी अपनी किसी भी जरूरत के मुताबिक लोन से प्राप्त राशि का अपने बिज़नेस की ग्रोथ के लिए उपयोग कर सकते हैं। आप अपनी जरूरत के मुताबिक “टेलर्ड बिज़नेस लोन्स” जैसे वर्किंग कैपिटल लोन या मशीनरी लोन भी ले सकते हैं।


सीजनल बिज़नेस के लिए फ्लेक्सिबल फाइनेंस


चाहे आपका बिज़नेस एवरग्रीन हो या फिर सीजनल, कई बार क्लाइंट्स से पैसे मिलने में देरी हो जाती है जबकि आपको अपने वेंडर्स और सप्लायर्स को समय पर भुगतान करना होता है। इससे आपकी वर्किंग कैपिटल कम हो जाती है और बिज़नेस भी प्रभावित होता है। इसके अलावा अचानक से किसी मशीन के ख़राब होने या फिर कोई बड़ा आर्डर मिलने पर भी आपको अचानक ज्यादा पैसों की जरूरत पड़ सकती है। ऐसी आकस्मिक आर्थिक जरूरतों के लिए आप बजाज फिनसर्व के फ्लेक्सी फैसिलिटी एसएमई लोन्स की मदद ले सकते हैं।


एक खास सुविधा जो बजाज फिनसर्व एसएमई लोन्स देता है, वह यह है कि आप अपनी सम्पूर्ण लोन राशि में से जरूरत के मुताबिक अलग-अलग हिस्सों में एक से अधिक बार पैसे निकाल सकते है और आपको सिर्फ उतने ही पैसों पर ब्याज देना होगा, जितना अपने निकाला। इसके साथ ही लोन का भुगतान करते वक्त आप “इंटरेस्ट ओनली ईएमआई” विकल्प के जरिए अपनी ईएमआई को 45 % तक कम कर सकते हैं और मूल राशि का भुगतान लोन की समयसीमा समाप्त होने से पहले कर सकते हैं। इस सुविधा से आपको अपने बिज़नेस के लिए कैश फ्लो को बनाये रखने में आसानी होगी।


आवेदन करने की आसान प्रक्रिया, तेज़ प्रोसेसिंग और ऑनलाइन मॉनिटरिंग सुविधा बजाज फिनसर्व के साथ आपको लोन के लिए आवेदन देते वक्त सिर्फ दो दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। यह लोन खास एसएमईस के लिए बनाया गया है इसलिए आप आसानी से सारी अहर्ताएं पूरी कर लेंगे। बिज़नेस लोन एप्लीकेशन फॉर्म, ऑनलाइन भरने के बाद आपको तुरंत अप्रूवल मिल जाता है और 24 घंटे के अंदर पैसे आपके बैंक खाते में जमा हो जाते हैं। अतिरिक्त सुविधा के रूप में हम सारे दस्तावेज भी आपके पास से खुद लेने आते हैं और आप सारी प्रक्रिया की ऑनलाइन मॉनिटरिंग भी कर सकते हैं।

चौथे भारत समुद्री पुरस्काीर में जेएनपीटी को वर्ष के सर्वश्रेष्ठ् पोर्ट (कंटेनर) पुरस्कानर प्रदान किया गया...

संवाददाता : नई दिल्ली


         जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्‍ट (जेएनपीटी) को चौथे भारत समुद्री पुरस्‍कार 2019 के अंतर्गत वर्ष के सर्वश्रेष्‍ठ पोर्ट (कंटेनर) पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया। देश के सबसे अच्‍छे पोर्टों को इस श्रेणी में नामांकित किया गया था। समुद्री क्षेत्र में 30 वर्षों की अपनी स्‍वर्णिम सेवाओं के लिए जेएनपीटी को एक विशेष सम्‍मान भी दिया गया।


सर्वश्रेष्‍ठ पोर्ट श्रेणी के अंतर्गत विभिन्‍न मानकों पर विचार किया जाता है, जैसे- पिछले वर्ष के आधार पर विकास, पिछले वर्ष के आधार पर विकास, माल की कुल मात्रा, विस्‍तार की योजनाएं, नई पहल, उपकरणों का संचालन व रख-रखाव, ई-व्‍यापार और उपभोक्‍ता संतुष्टि। इन सभी मानकों पर जेएनपीटी ने वृद्धि दर्ज की। कंटेनर संचालन में पांच मिलियन टीईयू की सीमा को स्‍तर को प्राप्‍त किया। चौथे टर्मिनल के विकास का कार्य हो रहा है। जेएनपीटी की अन्‍य विकास योजनाएं हैं- सड़क अवसंरचना विकास परियोजना, नेवीगेशन चैनल की ड्रेजिंग, ड्राई पोर्ट का विकास, जेएनपीटी-एसईजेड परियोजना, सेवाओं का डिजिटलीकरण और स्‍वत: संचालन आदि।    



21वीं सदी को मानव-केन्द्रित सदी बनाने के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करना चाहिए : डॉ. हर्षवर्धन

संवाददाता : नई दिल्ली


     केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज ओसाका, जापान में जी20 स्‍वास्‍थ्‍य व वित्‍त मंत्रियों के संयुक्‍त सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि 21वीं सदी को मानव-केन्द्रित सदी बनाने के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करना चाहिए, जहां शक्ति और आवश्यकताओं के अनुरूप स्‍वास्‍थ्‍य प्रणाली हो। मजबूत व स्वस्थ लोग और समुदाय हों। डॉ. हर्षवर्धन ने आगे कहा कि दूरदर्शी प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में भारत सरकार 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्‍वास' की भावना में विश्‍वास करती है। इसका अर्थ है- प्रत्‍येक व्‍यक्ति की भागीदारी और विश्‍वास के साथ समावेशी विकास। सार्वभौमिक स्‍वास्‍थ्‍य कवरेज़ के लिए वित्‍त की उपलब्‍धता एक चुनौती है। अधिकांश विकसित देश भी इस चुनौती का सामना कर रहे हैं। डॉ. हर्षवर्धन ने उल्‍लेख किया कि भारत जी20 'आपसी समझ दस्‍तावेज़' को समर्थन प्रदान करता है।    


   


सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने कहा कि इस विषय पर चर्चा करते समय संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य कवरेज उद्देश्‍य को हासिल करने की दिशा में बहुआयामी और मार्गों की बहुलता जैसे दोनों पहलुओं को हमें ध्‍यान में रखना चाहिए। भारत में इस ज्ञान के साथ, वित्‍त और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र के परिणाम हासिल करने के लिए काफी घनिष्‍ठता से एकसाथ कार्य कर रहे हैं।


संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य कवरेज की दिशा में भारत के बढ़ते कदमों के बारे में डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि ऊर्जावान प्रधानमंत्री के प्रबंधन में, भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य कवरेज कार्यक्रम, आयुष्‍मान भारत शुरू किया है, जिसमें देखभाल के संबंध में निरंतर दृष्टिकोण अपनाया गया है और इसमें दो अंतर संबंधी घटक शामिल हैं। उन्‍होंने कहा कि आयुष्‍मान भारत का पहला घटक 1,50,000 स्‍वास्‍थ्‍य और तंदुरुस्‍ती केन्‍द्रों की स्‍थापना के जरिए रोग निरोधी, तत्‍पर, उपचारात्‍मक, दर्द निवारक औषधि और स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बाद पहले जैसी स्थिति हासिल करने पर केन्द्रित है। तंदुरुस्‍ती में जिन बातों पर विशेष ध्‍यान है, उनमें भारत में योग की परम्‍परागत जानकारी, सही खान-पान, शराब और तम्‍बाकू छोड़ना और जीवन शैली में बदलावों के बारे में सामुदायिक जागरूकता पैदा करना है। उन्‍होंने कहा कि भारत में तंदुरुस्‍ती के बारे में जन आंदोलन शुरू हो चुका है।  


डॉ. हर्षवर्धन ने आयोजन में भाग ले रहे दुनियाभर के स्‍वास्‍थ्‍य एवं वित्‍त मंत्रियों को बताया, ''प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना 107.4 मिलियन गरीब और असहाय परिवारों को द्वितीय और तृतीय स्‍तर की सेवाओं के लिए स्‍वास्‍थ्‍य रक्षा कवर का प्रावधान करती है, प्रतिवर्ष प्रति परिवार अस्‍पताल में भर्ती होने पर 5,00,000 रुपये का कवर प्रदान करने का आश्‍वासन देती है।''


केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि टिकाऊ संसाधनों का सृजन करने के लिए भारत में नया 4 प्रतिशत स्‍वास्‍थ्‍य एवं शिक्षा उपकर लगाया गया है। इसके अलावा तंबाकू उत्‍पादों और मीठे कॉर्बोरेटेड पेय पदार्थों पर बहुत ऊंची दरों पर सर्वोच्‍च कर लगाया गया है।


डॉ. हर्षवर्धन ने संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य सेवा के वित्‍त पोषण को प्राथमिक एजेंडे के रूप में चिन्हित करने के लिए जापान की अध्‍यक्षता वाले जी-20 की सराहना की।  उन्‍होंने संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य कवरेज के एजेंडे को आगे बढ़ाने में विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन-डब्‍ल्‍यूएचओ और विश्‍व बैंक के कार्यों के प्रति आभार व्‍यक्‍त किया। उन्‍होंने कहा, 'हम कार्यनीतिक खरीद, सेवा प्रदान करने और स्‍वास्‍थ्‍य के वित्‍त पोषण के लिए नवीन एवं दक्ष तरीकों के प्रति उनकी सहायता का हम स्‍वागत करते हैं।'


डॉ. हर्षवर्धन ने आज ओसाका, जापान में सुइता अस्‍पताल का दौरा किया और चिकित्‍सा पद्धतियों के क्षेत्र में सेंट्रिफ्यिूगल ब्‍लड पम्‍प और पोर्टेबल हार्ट लंग मशीन जैसे नवीनतम अनुसंधान और विकास के बारे में अस्‍पताल के अधिकारियों के साथ चर्चा की।


युवा दिलों के चहेते गायक अमरदीप जल्द लेकर आ रहें गीत फूल सी मुखड़ी...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड


फूल सी मुड़ी मां,कैकू होलू भाग

स्वाणी सी मुखड़ी मां कैकु होलू भाग

कू होलू भग्यान यनु जैकि तू मायादार

जैकि तु मायादार

फूल सी मुखड़ी मां कैकुत भोलू भाग

मेरी ईं मुखड़ी मा कैकुत भोलूभाग

क्वीत भोलू भग्यान जु करलू मैथैं प्यार

करलू मैथैं प्यार

चूड़ी बिंदी सुरमा लाली लगींचा

गम्मकै चूडि़योल हाथी भरींचा

कै भागी का सिरैणी राला गोरा गोरा हाथ

कू होलू भग्यान…

नजर ना लगैतु म्यारा रूप रंग मां

मै देखिए सरमांदू पुर्णमाषी चंद्रमा

गोरी गोरी गाय मेरी बासमती सी भात

क्वीत भोलू भग्यान…

 

युवा दिलों के चहेते गायक अमरदीप नेगी व गीतकार विजयलक्ष्मी गोसाईं की जोड़ी इस बार सुप्रसिद्ध गायिका संगीता ढौंडियाल के साथ मिलकर श्रींगार रस पर आधारित बहुत ही लयपुर्ण प्रेम प्रसंग भरा गीत फूल सी मुखड़ी ले कर आ रहें है जिसके गीतकार धुनसृजन करता विजयलक्ष्मी गोसाईं और संगीतकार रवि थपलियाल रिदम राकेश भट्ट व गीटार वैभव थपलियाल द्रोणा रिकार्ड कर रहें हैं ! गाना सूट हो कर srigopaljimusicalcreation चैनल पर रिलीज होगा यह चैनल गायक अमरदीप व चंदना नेगी तथा विजयलक्ष्मी गोसाईं द्वारा दिब्यांग हेमलता के लिए धनागमन हेतू चलाया जा रहा है।

 


मध्यप्रदेश सरकार सोलर पम्प के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ राष्ट्र को देगी अंतर्राष्ट्रीय विनोबा भावे पुरस्कार...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


    मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि मध्यप्रदेश सरकार सोलर पंप के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ काम करने वाले राष्ट्र को विनोबा भावे अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार देगी। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने आज केन्द्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी में 650 किलोवाट क्षमता के सौर संयंत्र का शिलान्यास करते हुए यह घोषणा की।


मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि 27 साल पहले रियो में ग्लोबल वार्मिंग पर अंतर्राष्ट्रीय अर्थ समिट में जब वे केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री के रूप में शामिल हुए थे, तब उन्होंने अपने वक्तव्य में बढ़ते तापमान पर चिंता व्यक्त करते हुए गैर पारंपरिक ऊर्जा को बढ़ावा देने की बात कही थी। साथ ही इसके लिए एक कोष बनाने की भी मांग की थी। उस वक्त इस सबसे बड़े शिखर सम्मेलन में, जहाँ 127 देश के राष्ट्र प्रमुख भाग ले रहे थे किन्तु इस मुद्दे पर कोई पहल नहीं हुई थी। उस वक्त कोई भी इस विषय पर बात करने को तैयार नहीं था।



मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2002 तक लोगों में सौर ऊर्जा के प्रति कोई दिलचस्पी नहीं थी। । उस समय सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन महँगा था। उन्होंने कहा कि आज स्थिति बदली है। आज जिस संयंत्र की स्थापना पुलिस अकादमी में होने जा रही है उसकी बिजली मात्र 1 रुपये 38 पैसे में उपलब्ध होगी। अब सौर ऊर्जा के क्षेत्र में क्रांति आई है। हमारे सामने अगली सबसे बड़ी चुनौती सौर ऊर्जा के भंडारण की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस दिशा में काम कर रही है। प्रदेश में बड़े पैमाने पर पड़त भूमि उपलब्ध है, जिसका उपयोग हम सौर ऊर्जा के भंडारण के लिए करेंगे।


मुख्यमंत्री नाथ ने कहा कि हम सौर ऊर्जा का बड़े पैमाने पर उपयोग ग्रामीण क्षेत्र विशेषकर कृषि क्षेत्र में करने जा रहे हैं। सरकार का प्रयास है कि कृषि क्षेत्र में अधिक से अधिक गैर पारंपरिक ऊर्जा का उपयोग हो। इससे हम पर्यावरण के साथ ही खेती-किसानी के लिए पर्याप्त बिजली उपलब्ध करवायेंगे और कई स्तरों पर होने वाले व्यय को कम कर सकेंगे।


मुख्यमंत्री नाथ ने कहा कि वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों से हम सिर्फ बिजली ही नहीं बल्कि रोजगार भी बड़ी मात्रा में उपलब्ध करवा सकेंगे। उन्होंने कहा कि इससे आर्थिक गतिविधियाँ बढ़ेंगी, जो अंतत: लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाएंगी।


नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हर्ष यादव ने कहा कि पिछले छ: माह में हर क्षेत्र में हुआ बदलाव आज नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में भी दिखाई दे रहा है। यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री कमल नाथ ने सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए न केवल नीतियों में परिवर्तन किया है बल्कि नई सोच के साथ पूरे विभाग का मार्गदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसके जरिए हम लोगों को सस्ती बिजली उपलब्ध करवा सकेंगे।यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने 2 लाख सोलर पंपों के साथ प्रदेश के 20 ब्लॉकों में सौर परियोजना स्थापित करने के निर्देश दिये हैं। इस निर्णय से प्रदेश में गैर पारंपरिक ऊर्जा स्रोत में एक नई क्रांति की शुरुआत होगी, जो रोजगार और प्रदेश के विकास की एक समृद्ध तस्वीर गढ़ेगी। श्री यादव ने कहा कि प्रदेश में हमारी सरकार सोलर पंपों पर 60 प्रतिशत सब्सिडी दे रही है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश ने केन्द्र सरकार से वर्तमान में दी जा रही 30 प्रतिशत की सब्सिडी को बढ़ाकर 45 प्रतिशत करने का आग्रह किया है।


अंतर्राष्ट्रीय सोलर एलायंस के महानिदेशक ने की 2 लाख सोलर पंप लगाने की सराहना


विश्व बैंक के प्रतिनिधि एवं अंतर्राष्ट्रीय सोलर एलायंस के महानिदेशक उपेन्द्र त्रिपाठी ने मध्यप्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश में 2 लाख सोलर पंप लगाने के मुख्यमंत्री कमल नाथ के निर्णय की सराहना की।


त्रिपाठी ने कहा कि श्री नाथ का यह निर्णय निश्चित ही वैकल्पिक ऊर्जा स्रोत को विकसित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों को प्रोत्साहित करेगा। उन्होंने मध्यप्रदेश में नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में किए जा रहे काम को भी संतोषप्रद बताया। उन्होंने कहा कि अगर पूरी प्रतिबद्धता के साथ सौर ऊर्जा के क्षेत्र में काम किया गया, तो निश्चित ही हमें इसके बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सौर ऊर्जा के अनुकूल वातावरण बनाने के लिए मुख्यमंत्री कमल नाथ से उनकी चर्चा हुई है। उन्हें पूरा विश्वास है कि प्रदेश इस दिशा में बेहतर काम करेगा।


सौर संयंत्र की स्थापना से होगी 57 लाख की बचत


मुख्यमंत्री कमल नाथ द्वारा आज जिस सौर संयंत्र परियोजना का शिलान्यास किया गया है, उसकी क्षमता 650 किलोवाट है। संयंत्र से प्रतिवर्ष लगभग 9 लाख 50 हजार यूनिट विद्युत का उत्पादन होने की संभावना है। उत्पादित बिजली 1 रुपये 38 पैसे प्रति यूनिट की दर से संस्थान को उपलब्ध होगी। इससे संस्थान को पहले वर्ष में ही लगभग 57 लाख रुपये की बचत होगी। परियोजना के लिए क्लेनेट सोलर के चेयरमेन राजीव शुक्ला और केन्द्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी के डायरेक्टर श्री पवन श्रीवास्तव ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।


प्रारंभ में प्रमुख सचिव नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मनु श्रीवास्तव ने प्रदेश में गैर पारंपरिक ऊर्जा के क्षेत्र में सरकार की नई नीतियों के बारे में जानकारी दी। पुलिस महानिदेशक वी.के. सिंह उपस्थित थे।


बल्ला मैच की जीत का प्रतीक होना चाहिए, प्रजातंत्र की हार का नहीं : कमल नाथ

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


       हिंदुस्तान की दो बड़ी खूबियाँ हैं, एक तो यह विश्व का सबसे बड़ा प्रजातंत्र है और दूसरा विश्व में सर्वाधिक युवा देश। ऐसे में स्वाभाविक है कि चुने हुए युवा जन-प्रतिनिधियों से देश को अपेक्षाएँ भी अधिक होंगी, और हों भी क्यों न, हमारे पास अपने प्रजातंत्र की गौरवशाली विरासत जो है।


भारतीय प्रजातंत्र का जो छायादार वटवृक्ष आज हमें दिखाई देता है, इसके त्याग और बलिदान का बीज बहुत गहरा बोया गया है और आज समूचे विश्व के लिए यह प्रेरणादायी है। 



पंडित नेहरू कहते थे, 'संस्कारवान युवा ही देश का भविष्य सँवारेगा।' आज हमारे चुने हुए युवा जन-प्रतिनिधियों को आत्म-मंथन, आत्म-चिंतन करना चाहिए कि वो किस रास्ते पर भारत के भविष्य को ले जाना चाहते हैं। एक रास्ता प्रजातंत्र की गौरवशाली विरासत की उम्मीदों को पूरा करने वाला है और दूसरा उन्मादी। दोस्तों, उन्मादी व्यवहार सस्ता प्रचार तो दे सकता है, प्रजातंत्र को परिपक्वता नहीं दे सकता। 


युवा जन-प्रतिनिधियों, आप पर दायित्व है सदन में कानून बनाने का, सड़कों पर कानून हाथ में लेने का नहीं। आप अपनी बात दृढ़ता और मुखरता से रखें, मर्यादा को लाँघ कर नहीं। 


आज समूचे विश्व को हमारे बल्ले की चमक देखने को मिल रही है। हमारी क्रिकेट टीम लगातार जीत हासिल कर रही है और हमें पूरी उम्मीद है कि हम विश्व कप में अपना परचम लहराएंगे। मगर बल्ले की यह जीत बग़ैर मेहनत के हासिल नहीं की जा सकती। खिलाड़ियों को मर्यादित मेहनत करनी होती है। मर्यादा धैर्य सिखाती है, धैर्य से सहनशीलता आती है, सहनशीलता से वे परिपक्व होते हैं और परिपक्वता जीत की बुनियाद बनती है। अर्थात खेल का मैदान हो या प्रजातंत्र, मूल मंत्र एक ही है।


यह बात मैं सीमित और संकुचित दायरे में रह कर नहीं कह रहा हूँ। सभी दल के युवा साथियों से मेरा यह अनुरोध है। मुख्यमंत्री होने के नाते मेरा दायित्व भी है कि मैं अपने नौजवान और होनहार साथियों के साथ विमर्श करता रहूँ ।


युवा जन-प्रतिनिधि साथियों, बल्ले को मैदान में भारत की जीत का प्रतीक बनाइए, सड़कों पर प्रजातंत्र की हार का नहीं।


जी 20 शिखर सम्मेलन के मार्जिन पर ब्रिक्स नेताओ की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री का मध्यवर्तन...

संवाददाता : नई दिल्ली


Your Excellencies,


       सबसे पहले, मैं राष्ट्रपति बोल्सनारो को ब्राज़ील का राष्ट्रपति चुने जाने के लिए बधाई देता हूं। और BRICSपरिवार में उनका स्वागत भी करता हूं। मैं राष्ट्रपति बोल्सनारो को इस बैठक के आयोजन के लिए हार्दिक धन्यवाद भी देता हूं। इस अवसर पर हमारे मित्र रामाफोसा को फिर से दक्षिण अफ्रीका का राष्ट्रपति चुने जाने पर मैं बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।



Excellencies,

इस प्रकार के अनौपचारिक विचार-विमर्श से हमें G-20 के प्रमुख विषयों पर एक-दूसरे के साथ समन्वय का मौका मिलता है। आज मैं तीन प्रमुख चुनौतियों पर ध्यान दूंगा। पहली, विश्व की अर्थव्यवस्था में मंदी और अनिश्चितता। नियमों पर आधारित बहुपक्षीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार व्यवस्था पर एक तरफा निर्णय और प्रतिद्वंद्विता हावी हो रहे हैं। दूसरी ओर, संसाधनों की कमी इस तथ्य में झलकती है कि इमर्जिंग मार्केट इकॉनामीज़ के इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश के लिए अंदाजन 1.3 ट्रिलियन डालर की कमी है।



दूसरी बड़ी चुनौती है विकास और प्रगति को समावेशी और सस्टेनेबल बनाना। तेजी से बदलती हुई टेक्नोलॉजी जैसे कि डिजिटलाइजेशन , और क्लाइमेट चेंज सिर्फ हमारे लिए ही नहीं, आने वाली पीढ़ियों के लिए भी चिंता के विषय हैं। विकास तभी सही मायने में विकास है जब वो असमानता घटाए और सशक्तिकरण में योगदान दे। आतंकवाद सारी मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है। यह निर्दोषों की जान तो लेता ही है, आर्थिक प्रगति और सामाजिक स्थिरता पर बहुत बुरा असर भी डालता है। हमें आतंकवाद और जातिवादको समर्थन और सहायता के सभी रास्ते बंद करने होंगे।

Excellencies,

इन समस्याओं का निराकरण यद्यपि आसान नहीं है, फिर भी समय की सीमा में 5 प्रमुख सुझाव देना चाहूंगाः 


i) BRICS देशों के बीच तालमेल से एकतरफा फैसलों के दुष्परिणामों का निदान कुछ हद तक हो सकता है। हमेंreformed मल्टीलेटरलिज़्म के लिए अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय और व्यापारिक संस्थाओं तथा संगठनों में आवश्यक सुधार पर ज़ोर देते रहना होगा।


ii) निरंतर आर्थिक विकास के लिए आवश्यक ऊर्जा के संसाधन जैसे तेल और गैस कम कीमतों पर लगातार उपलब्ध रहने चाहिए।


iii) New Development Bank द्वारा सदस्य देशों के भौतिक और सामाजिक इंफ्रास्ट्रक्चर तथा renewable energy कार्यक्रमों में निवेश को और प्राथमिकता मिलनी चाहिए। Coalition for Disaster Resilient Infrastructure के लिए भारत की पहल अल्प विकसित और विकासशील देशों को प्राकृतिक आपदा का सामना करने के लिए उचित इंफ्रास्ट्रक्चर में सहायक होगी। मैं आपसे इस coalition में शामिल होने का आह्वान करता हूं।


iv) विश्व भर में कुशल कारीगरों का आवागमन आसान होना चाहिए। इससे उन देशों को भी लाभ होगा जहां आबादी का एक बड़ा हिस्सा कामकाज की उम्र पार कर चुका है।

v) मैंने हाल ही में आतंकवाद पर एक Global Conference का आह्वान किया है। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के लिए ज़रूरी सहमति का अभाव हमें निष्क्रिय नहीं रख सकता। आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष को प्रमुख प्राथमिकताओं में जगह देने के लिए मैं ब्राज़ील की सराहना करता हूं।



श्री श्री रवि शंकर ने उपराष्ट्रपति से भेंट की...

संवाददाता : नई दिल्ली


आध्‍यात्मिक गुरू और आर्ट ऑफ़ लिविंग फाउंडेशन के संस्थापक श्री श्री रवि शंकर ने आज उपराष्‍ट्रपति एम.वेंकैया नायडू से भेंट की।


उपराष्‍ट्रपति ने इस भेंट का ब्‍यौरा फेसबुक पोस्‍ट पर साझा करते हुए लिखा है कि श्री रविशंकर के साथ देश और समाज से जुड़े महत्‍वपूर्ण मुद्दों पर उनकी बातचीत काफी अर्थपूर्ण और सकारात्‍मक रही।



उन्‍होंने श्री रविशंकर को अहिंसा और वैश्विक मानवीय मूल्‍यों का प्रतीक बताते हुए आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन और उसके कार्यकर्ताओं द्वारा वैश्विक स्‍तर पर किये जा रहे कार्यों और सेवाओं की सराहना की।


नायडू ने कहा कि आर्ट ऑफ लिविंग की शुरूआत सबके चेहरों पर खुशी लाने और जीवन को उत्‍सव की तरह लेने की सोच के साथ है। "यह एक बहुत ही महान विचार है जो बड़े पैमाने पर व्यक्तियों और समाज की भलाई के साथ ही अंततः मानवीय भावना को सशक्‍त बनाएगा ,"


उन्‍होंने मिल बांटकर जीने और दूसरों की परवाह करने को भारतीय दर्शन का मूल बताते हुए कहा कि हर व्‍यक्ति को इससे प्रेरणा लेनी चाहिए और अपनी भरपूर क्षमताओं के अनुरूप समाज की सेवा करनी चाहिए।


राजस्थान में मीडिया पर लगे कई तरह के प्रतिबंध...

संवाददाता : जयपुर राजस्थान


         राजस्थान विधानसभा में आज शुरू हुए बजट सत्र के दौरान मीडिया पर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए गए हैं।नए मानदंडों के अनुसार, मीडियाकर्मी को किसी भी राज्यमंत्री या विपक्षी दल के नेताओं से मिलने की अनुमति नहीं है।अध्यक्ष सी.पी. जोशी के निर्देश पर मीडिया को विधानसभा के लॉबी तक ही सीमित कर दिया गया है।



इस निर्णय की आलोचना करते हुए भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा, "देश में आपातकाल के दौरान मीडिया पर प्रतिबंध लगाया गया था।ऐसे में अगर राजस्थान में मीडिया पर पाबंदियां लगाई गई हैं तो यह अच्छा संकेत नहीं है।"


इस निर्णय ने मीडियाकर्मियों को परेशान कर दिया है। उन्होंने इस मुद्दे को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सामने उठाया है।मुख्यमंत्री ने जल्द ही इस मुद्दे को अध्यक्ष के सामने उठाने का आश्वासन दिया है।



इससे पहले, मीडिया को मंत्रियों,विपक्षी नेताओं,विपक्षी विधायकों,अध्यक्ष,उपाध्यक्ष,डीआईपीआर अधिकारियों के अलावा अन्य लोगों के चैंबर में जाने की अनुमति थी।सचिवालय में जाने के लिए मिलने वाले पास की संख्या भी कम कर दी गई है।


मंत्री बघेल ने बंजर पहाड़ी को पुनर्जीवित करने में किया श्रमदान...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


      नर्मदा घाटी विकास एवं पर्यटन मंत्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने आज धार जिले के डही ब्लॉक के ग्राम थांदला में बंजर पहाड़ी पर जल-संरक्षण एवं संवर्धन कार्यों का भूमि-पूजन किया। बघेल ने बंजर पहाड़ी के पुनर्जीवन कार्य में श्रमदान भी किया।



मंत्री बघेल ग्राम डही में मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह/निकाह योजना अंतर्गत आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शामिल हुए।बघेल ने 510 नव-दम्पत्तियों को आशीर्वाद दिया और पौधे तथा अन्य उपहार प्रदान किये।बघेल ने कार्यक्रम में शामिल परिवारों और नव-दम्पत्तियों को स्वयं भोजन परोसा।


वन मंत्री ने दो डीएफओ को अटैच किया रेंजर सहित वनकर्मी निलंबित...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


       नर्मदा कछार के अंतर्गत दो जुलाई, 2017 को रोपे गये पौधों की पड़ताल करने पहुँचे वन मंत्री उमंग सिंघार ने बैतूल जिले के शाहपुर रेंज के कम्पार्टमेंट नम्बर-227 की जाँच की। बड़े पैमाने पर अनियमितता सामने आने पर नाराज वन मंत्री ने मौजूदा डीएफओ राखी नंदा, तत्कालीन डीएफओ संजीव झा और एसडीओ को मुख्यालय भोपाल अटैच किये जाने तथा वनरक्षक, डिप्टी रेंजर और रेंजर को तत्काल निलंबित किये जाने के निर्देश दिये।



उल्लेखनीय है कि उक्त शाहपुर रेंज के संबंधित कम्पार्टमेंट नम्बर में आँकड़ों के हिसाब से 15 हजार 526 पौधे रोपित किये गये थे। मौके पर मात्र 15 प्रतिशत पौधे (2 से 3 हजार पौधे) ही जीवित पाये गये। यही नहीं, मौके पर केवल 9 हजार गड्ढे ही देखने में आये।


किसी भी राज्य में किसी भी भाषा को नहीं थोपा जायेगा : रमेश पोखरियाल निशंक

संवाददाता : नई दिल्ली


       मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नयी शिक्षा नीति के प्रारूप में हिंदी को तीसरी भाषा के रूप में शामिल कर सभी राज्यों के लोगों को हिंदी भाषा सीखने के लिये बाध्य करने की आशंकाओं को खारिज करते हुये कहा है कि किसी भी राज्य में किसी भी भाषा को नहीं थोपा जायेगा।



मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान बताया कि सरकार सभी भारतीय भाषाओं के समान विकास और संवर्धन के लिये प्रतिबद्ध है।उन्होंने नयी शिक्षा नीति के प्रारूप में हिंदी को तीसरी भाषा के रूप में शामिल कर सभी राज्यों के लोगों को हिंदी भाषा सीखने के लिये बाध्य करने पर सरकार द्वारा विचार करने के सवाल के जवाब में कहा, ''किसी भी राज्य में किसी भी भाषा को नहीं थोपा जायेगा।


उन्होंने कहा, ''डॉ. के. कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता में राष्ट्रीय शिक्षा नीति का मसौदा तैयार करने हेतु गठित समिति ने मंत्रालय को गत 31 मई को मसौदा सौंप दिया है। इस पर सभी पक्षों से सुझाव मांगने के लिये सार्वजनिक कर दिया गया है। इस पर 31 जुलाई तक सुझाव मिलने के बाद इन पर विचार विमर्श कर इस नीति को लागू किया जायेगा।


आबादी तोड़े जाने की आशंका से किसान मुकाबला करने के लिए लाठी-डंडों के साथ धरना स्थल पर पहुंचे...

सुरेश चौरसिया : नोएडा


       नोएडा प्राधिकरण द्वारा कथित रूप से बरौला में आबादी तोड़े जाने की आशंका से भारी संख्या में किसान लाठी-डंडों के साथ धरना स्थल पर पहुंच रहे हैं।



भारतीय किसान यूनियन भानु के बैनर तले पिछले कई दिनों से आंदोलनरत किसानों को सूत्रों से जानकारी मिली कि नोएडा प्राधिकरण 28 जून को बरौला में किसानों के आबादी को ध्वस्त करेगा। इस आशंका से किसान पूरी तैयारी से मुकाबला करने के लिए आज धरना स्थल पर डट गए हैं।


इसमें युवा, जवान, वृद्ध, बच्चे, महिलाएं भी बड़ी संख्या में मौजूद हैं, जो अपनी आबादी बचाने के लिए किसी भी स्थिति में जा सकते हैं। हालांकि प्राधिकरण व प्रशासन स्तर से आबादी तोड़े जाने की अभी कोई पुष्टि नहीं की गई है।


युवा कांग्रेस का स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड


       बिहार में इन्सेफेलाइटिस से बच्चों की मौत को लेकर भारतीय युवा कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के खिलाफ प्रदर्शन किया और मांग की कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मामले में जवाबदेही तय करें।



युवा कांग्रेस अध्यक्ष केशव चंद यादव और उपाध्यक्ष श्रीनिवास बीवी के नेतृत्व संगठन के कार्यकर्ताओं ने हर्षवर्धन की आवास की ओर बढ़ने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने उन्हें पहले रोक दिया और हिरासत में ले लिया। बाद में इन्हें छोड़ दिया गया।इस मौके पर यादव ने कहा, ''मासूम बच्चों की मौत एक दुखद मामला है।


प्रधानमंत्री को इस मामले में जवाबदेही तय करनी चाहिए।'' प्रदर्शन के दौरान युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार और बिहार सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की।


पहले आत्मसात् करें फिर दूसरों को सिखाएँ : पी.सी. शर्मा

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


      जनसम्‍पर्क मंत्री पी.सी. शर्मा ने महात्मा गांधी को उदधृत करते हुए कहा कि पहले स्वयं आत्मसात् करें फिर दूसरों को सीख दें। मंत्री शर्मा ने आज सरोजिनी नायडू महाविद्यालय में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी 'महात्मा गांधी के विचारों की प्रासंगिकता-वर्तमान परिदृश्य' को संबोधित करते हुए यह बात कही।



मंत्री शर्मा ने कहा कि महात्मा गांधी हर युग और हर परिस्थिति में प्रासंगिक रहेंगे। उन्होंने संगोष्ठी में महात्मा गांधी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण प्रसंगों का भी उल्लेख किया।शर्मा ने कहा कि गांधीजी ने स्वतंत्रता संग्राम में नेतृत्व करने के पूर्व कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भ्रमण किया। उन्होंने प्रत्येक जाति,  क्षेत्र, भाषा के लोगों के साथ रहकर उनके बारे में जाना। उसके बाद स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन को नेतृत्व प्रदान किया।


उन्होंने कहा कि विश्व के अनेक देशों में महात्मा गाँधी की प्रतिमाएँ स्थापित की गई हैं।शर्मा ने कहा कि महात्मा गांधी हर युग में प्रासंगिक रहेंगे। संगोष्ठी में महात्मा गाँधी के विचारों की प्रासंगिकता पर विद्वानों ने अपने विचार रखे।


गुरुवार, 27 जून 2019

उत्तराखंड 25 आईपीएस और 9 पीसीएस अफसरों के तबादले का आदेश जारी,अधिकारियों में खलबली...

प्रजा दत्त डबराल : नई दिल्ली


      राज्य सरकार ने कई आईएएस व पीसीएस अधिकारियों के दायित्वों में फेरबदल कर दिया है। कुछ आईएएस अधिकारियों से कुछ विभाग कम कर उन्हें हल्का किया गया है तो कुछ की जिम्मेदारी बढ़ा दी गई है। कुछ जिलों के जिलाधिकारी भी बदले गए हैं। अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी से महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग हटाया दिया गया है।



प्रमुख सचिव मनीषा पंवार से जलागम और मुख्य परियोजना निदेशक जलागम का दायित्व हटा दिया गया है। देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, टिहरी, चंपावत के डीएम बदल दिए गए हैं। देहरादून, । राज्य सरकार ने कई आईएएस व पीसीएस अधिकारियों के दायित्वों में फेरबदल कर दिया है। कुछ आईएएस अधिकारियों से कुछ विभाग कम कर उन्हें हल्का किया गया है तो कुछ की जिम्मेदारी बढ़ा दी गई है। कुछ जिलों के जिलाधिकारी भी बदले गए हैं। अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी से महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग हटाया दिया गया है। प्रमुख सचिव मनीषा पंवार से जलागम और मुख्य परियोजना निदेशक जलागम का दायित्व हटा दिया गया है। देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, टिहरी, चंपावत के डीएम बदल दिए गए हैं। 


हरिद्वार के जिलाधिकारी दीपक रावत को मेलाधिकारी हरिद्वार नियुक्त किया गया है। डा. भूपेंद्र कौर औलख से खेल एवं युवा कल्याण विभाग हटा दिया गया है। उन्हें सचिव जलागम और मुख्य परियोजना निदेशक जलगाम बनाया गया है, शेष विभाग उनके पास यथावत रहेंगे। आर मीनाक्षी सुंदरम को सचिव कृषि शिक्षा, कृषि एवं कृषि विपणन और उद्यान की जिम्मेदारी भी दी गई है। सौजन्या को सचिव महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग की भी जिम्मेदारी सौंपी गई है।


बृजेश कुमार संत से खनन विभाग हटा दिया गया है उन्हें सचिव प्रभारी खेल/युवा कल्याण एवं निदेकश खेल एवं युवा कल्याण की जिम्मेदारी दी गई है। सी रविशंकर को देहरादून का जिलाधिकारी बनाया गया है। सविन बंसल को डीएम नैनीताल बनाया गया है। पी षणमुगम को टिहरी का डीएम बनाया गया है। दीपेंद्र कुमार चौधरी हरिद्वार के डीएम बनाए गए हैं। सुरेंद्र नारायण पांडे को चंपावत का डीएम बनाया गया है।


राम विलास पासवान ने खाद्य सचिवों और एफसीआई, सीडब्ल्यूसी तथा एसडब्ल्यूसी के अधिकारियों के साथ बैठक की...

संवाददाता : नई दिल्ली


      केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने आज नई दिल्ली में राज्यों के खाद्य सचिवों और भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई), केंद्रीय भंडारण निगम (सीडब्ल्यूसी) तथा राज्य भंडारण निगम (एसडब्ल्यूसी) के अधिकारियों के साथ बैठक की। पासवान ने खाद्य सुरक्षा कानून को कुशलता के साथ लागू करने, कम्प्यूटरीकरण, पारदर्शिता एवं एफसीआई, सीडब्ल्यूसी तथा एसडब्ल्यूसी के सभी डिपो को डिपो ऑनलाइन प्रणाली (डीओएस) के साथ जोड़ने पर विचार-विमर्श किया।



पासवान ने कहा कि खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग द्वारा किया गया कार्य बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह लाभान्वितों के लिए जीवन-रेखा है। 612 लाख टन अनाज प्रतिवर्ष 81 करोड़ लोगों में वितरित किया जाता है। उन्होंने कहा कि अनाजों की खरीद से लेकर इसके वितरण तक में सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग पूरी प्रक्रिया की कार्यकुशलता को बढ़ाएगा। इससे भ्रष्टाचार को कम करने में मदद मिलेगी।


पासवान ने संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि भारतीय खाद्य निगम के सभी भंडारों तथा केंद्रीय भंडारण निगम के 144 भंडारों में डिपो ऑनलाइन प्रणाली (डीओएस) लागू किया जा चुका है। एफसीआई की खाद्यान्न खरीद प्रक्रिया को भी ऑनलाइन किया गया है।


पासवान ने कहा कि आवश्यकता इस बात की है कि एफसीआई और राज्यों के बीच सूचनाएं ऑनलाइन साझा की जानी चाहिए ताकि यह पता चल सके कि अनाज की कितनी मात्रा बाजार से खरीदनी है, किस भंडार में और कितने समय तक अनाज को रखना है और इसे कब वितरित किया जाना है। अन्न वितरण पोर्टल पर ये जानकारी उपलब्ध होनी चाहिए।


बैठक में एक राष्ट्र एक राशन कार्ड से संबंधित निर्णय लिया गया है। इस सुविधा से लाभार्थी देश के किसी कोने के सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकान से अनाज प्राप्त कर सकता है। यह योजना आन्ध्र प्रदेश, गुजरात,हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलंगाना और त्रिपुरा में लागू है। खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग एक राष्ट्र एक राशन कार्ड का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।


प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा को प्राथमिकता दी जाए: कमल नाथ

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


       मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा को प्राथमिकता दी जाए। विकेन्द्रीकृत सौर परियोजनाओं को प्रोत्साहन देने के साथ उत्पादित ऊर्जा की प्रदेश में ही खपत सुनिश्चित करने के प्रयास किए जाएँ। मुख्यमंत्री ने आज मंत्रालय में नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा तथा ऊर्जा विभाग के अधिकारियों के साथ उच्च-स्तरीय चर्चा में यह निर्देश दिए। नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हर्ष यादव एवं ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह भी चर्चा में शामिल हुए।



मुख्यमंत्री ने सौर ऊर्जा से कृषि कार्य में पूरी बिजली उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश में संभावना वाले 20 विकासखंडों का चयन करने को कहा। उन्होंने कहा कि चयनित विकासखण्डों में सौर परियोजनायें स्थापित की जाएँ। मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम को प्रदेश में 2 लाख सोलर पंप लगाने का लक्ष्य दिया। उन्होंने कहा कि ये सोलर पंप वहाँ लगाए जाएँ, जहाँ मुख्यमंत्री स्थायी पंप योजना में लाइन विस्तार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सोलर पंप लगाने से लाइन विस्तार में होने वाले व्यय से बचा जा सकेगा। मुख्यमंत्री ने उद्योगों में भी सौर ऊर्जा उत्पादन का उपयोग करने के निर्देश दिये।


मुख्यमंत्री नाथ ने कहा कि विकेन्द्रीकृत सौर परियोजनाओं को स्थापित करने के लिए विभिन्न श्रेणियों के उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित किया जाए। उपभोक्ताओं की ऊर्जा की मांग विकेन्द्रीकृत सौर ऊर्जा से पूरी करने के प्रयास किये जाएँ। मुख्यमंत्री ने आम उपभोक्ताओं द्वारा रूफटॉप पर लगाये जाने वाले सौर सेटअप की नेट मीटरिंग में डिस्कोम से सहयोग देने को कहा। इससे ट्रांसमिशन एवं डिस्ट्रीब्यूशन लॉस को कम किया जा सकेगा। 


मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग से कहा कि प्रदेश में उत्पादित सौर ऊर्जा खरीदें। प्रदेश के अन्य संस्थानों को भी सौर ऊर्जा  की खरीद को प्राथमिकता देने के लिये कहा जाए। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में सौर परियोजनाओं की स्थापना से प्रभावित होने वाले लोगों के लिये परियोजना में रोजगार सुनिश्चित करने को कहा।


चर्चा में बताया गया कि नवीन और नवकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा आगर-नीमच और शाजापुर में 1500 मेगावॉट की सौर परियोजना स्थापित की जा रही हैं। परियोजना को स्थापित करने के लिए शासकीय भूमि आवंटित की गई है। विश्व बैंक ने परियोजना के लिए ऋण देने पर  सहमति व्यक्त की।


इस मौके पर मुख्य सचिव एस.आर. मोहन्ती, अपर मुख्य सचिव ऊर्जा आई.सी.पी. केशरी, प्रमुख सचिव नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मनु श्रीवास्तव एवं प्रमुख सचिव उद्योग एवं जनसम्पर्क डॉ. राजेश राजौरा उपस्थित थे।


 


 

पेट्रोल पंप मालिक को गोली मारकर हुए लूटकांड का खुलासा,तीन गिरफ्तार...

संदीप शर्मा : देहरादून उत्तराखंड


       देहरादून में पेट्रोल पंप मालिक से हुए लूटकांड का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि बदमाश देहरादून के ही साईं विहार में रह रहे थे। लूट की रकम उस समय 12 लाख रुपए बताई जा रही थी। लेकिन आरोपियों के अनुसार रकम 225000 रुपए बताई गई है।

 


 

 पकड़े गए आरोपी कामेंद्र उर्फ बुल्ला, दीपिन कुमार, रोहन राठी तीनों बिजनौर के रहने वाले हैं। तीनों के आपराधिक रिकॉर्ड में 8 मुकदमे दर्ज हैं। एक अन्य आरोपी अजय अभी फरार है। पुलिस ने 1 लाख 74 हजार रुपए, एक पिस्टल, 2 तमंचे और तीन कारतूस व एक बाइक बरामद की है। बता दें कि 24 जून को रात करीब साढ़े नौ बजे राजधानी देहरादून के प्रेमनगर में बदमाशों ने एक पेट्रोल पंप मालिक को गोली मारकर लाखों रुपये लूट लिए थे। बदमाशों ने फिल्मी अंदाज में व्यापारी की कार के आगे बाइक लगाई और बैग छीनने लगे। विरोध किया तो गोली मारकर बैग छीन लिया।

 



इसी बीच करीब साढ़े 9 बजे स्कूटर सवार दो बदमाश उनकी कार के आगे आ खड़े हुए। इससे पहले की गगन कुछ समझ पाते एक बदमाश कार की खिड़की के पास आ गया और बैग निकालने लगा। घटना के बाद मौके पर लोगों की भीड़ लग गयी और कुछ देर बाद पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। स्थानीय लोग तब तक गगन को लेकर सिनर्जी अस्पताल पहुंच गए। जानकारी के अनुसार गगन के कंधे में गोली अभी भी फंसी हुई है।



अतिक्रमण हटाने गई नगर निगम की टीम पर हमला, विरोध में कर्मचारियों ने की हड़ताल...

संदीप शर्मा : देहरादून उत्तराखंड


       सड़कों पर हो रखे अतिक्रमण को हटाने गई नगर निगम की जेब्रा टीम पर मोती बाजार में दुकानदारों ने हमला कर दिया। इस हमले में एक कर निरीक्षक के हाथ में फ्रेक्चर हो गया। यही नहीं आरोप है कि दुकानदारों ने इस हमले की विडियों बना रहे होमगार्ड व कर्मचारियों के मोबाइल तक छिन लिए। जिसको लेकर बाजार में निगम कर्मचारियों व दुकानदारों के बीच काफी नोक-झोक भी हुई।



इस हमले के विरोध में नगर निगम के समस्त कर्मचारियों ने कार्यबहिष्कार कर दिया और समस्त अनुभागों में तालाबंदी कर दी और निगम प्रशासन से आरोपियों के विरूद्ध कार्रवाई नहीं होने तक कार्य बहिष्कार करने की बात कही। वहीं दुकानदारों के समर्थन में कांग्रेसी पहुंच गए। जानकारी के अनुसार नगर निगम की जेब्रा टीम आज दोपहर सड़कों पर हो रखे अतिक्रमण को हटाने के लिए निकली। इस दौरान निगम की टीम ने जब मोती बाजार में सड़कों पर दुकानदारों द्वारा किए गए अतिक्रमण पर कार्रवाई करने लगी तो यहां लक्ष्मी पफर्नीचर के मालिक ने इस कार्रवाई का विरोध शुरू कर दिया जिसकों लेकर दुकानदार व निगम टीम के बीच काफी नोक-झौंक होने लगी।


इस बीच आरोप है कि जैसे ही निगम के कर्मचारी सड़कों पर पफैला सामान जब्त करने लगे तो दुकानदार और कर्मचारियों में धक्का-मुक्की शुरू हो गई। कर्मचारियों का आरोप है कि दुकानदार ने कर निरीक्षक बाबूलाल पंवार को इतनी जोर से धक्का दिया कि वो काफी दूर जाकर गिरा। जिससे उनके हाथ में फ्रैक्चर बताया जा रहा है। उनका दून मेडिकल अस्पताल में एक्सरे करवाया गया। वहीं इस घटना का जैसे ही निगम कर्मचारियों को पता चला तो वे दून अस्पताल पहुंचे और समस्त कर्मचारियों ने कार्यबहिष्कार कर निगम के समस्त अनुभागों में तालाबंदी कर दी। कर्मचारियों ने दुकानदार पर कार्रवाई न होने तक कार्यबहिष्कार जारी रखने की चेतावनी दी है। वहीं दुकानदारों के समर्थन में कई कांग्रेसी भी आ खड़े हुए।


पुलिस ने वसन्त विहार ट्रिपल मर्डर में 2 गिरफ्तार किए...

प्रदीप महाजन : ( आईएनएस मीडिया )


     दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने 2 दिन पहले वसन्त विहार थानान्तर्गत हुए तिहरे हत्याकांड की गुत्थी सुलझा ली है और इस वारदात में शामिल 2 आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है।आज स्पेशल पुलिस आयुक्त ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के द्वारा मीडिया को यह जानकारी दी।



दोनो गिरफ्तार आरोपियों की पहचान मनोज भट्ट और प्रीति सहरावत के तौर पर हुई,जो लिव इन मे इकट्ठे रह रहे थे और ये कत्ल की वारदात रुपयों के लिए की थी।


गौरतलब है कि दिल्ली के वसंत विहार थाना क्षेत्र में ट्रिपल मर्डर से सनसनी फैल गई थी जिसमे आरोपियों ने वसंत अपार्टमेंट में बुजुर्ग पति विष्णु माथुर ( 80), पत्नी शशि माथुर (75) और नर्स ख़ुशबू (24) को फ़्लैट में जान से मार दिया था


पत्रकार हत्या और यौन शोषण मामले में बंद गुरमीत राम रहीम ने मांगी पैरोल...

प्रदीप महाजन : ( आईएनएस मीडिया )


      हरियाणा की रोहतक जेल में पत्रकार छत्रपति और साध्वियों के यौन शोषण के आरोप में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को पैरोल देने में विवाद खड़ा हो गया है जहा पैरोल मुद्दे पर हरियाणा सरकार नरम पड़ गई है तो दूसरी ओर स्वराज इंडिया पार्टी के मुखिया योगेंद्र यादव ने इस पैरोल का विरोध किया है यादव ने कहा है कि अगर राम रहीम को पैरोल दिया जाता है तो वो अदालत का दरवाजा खट खटायेंगी।



गौरतलब है कि दो साल पहले साध्वी यौन शोषण मामले में डेरा प्रमुख को दोषी करार दिया था वही अन्य मामलो जिनमे पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या मामले में भी सीबीआई कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम को आजीवन कठोर कारावास और 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था। इसके अलावा डेरा प्रमुख के दो मामले कोर्ट में ट्रायल पर हैं। इनमें एक रणजीत सिंह हत्या का और दूसरा डेरा प्रेमियों को नपुंसक बनाने का है। जब डेरा प्रमुख को जेल भेजा था तब पंचकूला में डेरा प्रेमियों ने जमकर हिंसा की थी।


इसमें अर्द्धसैनिक बल और पुलिस की गोली से तीन दर्जन से ज्यादा लोग मारे गए थे। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम ने रोहतक के जेल अधीक्षक को पत्र लिखकर डेरे में कृषि कार्य करने के लिए पैरोल की मांग की है।जेल अधिकारियों का कहना है कि पैरोल के नियमानुसार जो भी प्रक्रिया होगी, उसके तहत रिपोर्ट बनाकर भेजी जाएगी। 


आगामी चुनाव को देखते हुए हरियाणा सरकार पैरोल मामले पर नजर बनाये हुए है जिसका कारण हरियाणा में डेरामुखी के अनुयायियों की काफी संख्या है जो कई विधानसभाओ को प्रभावित कर सकती है।