मंगलवार, 30 अप्रैल 2019

दिव्‍यांगजनों के खिलाफ भेदभाव की प्रवृत्तियों को खत्‍म करना उन्‍हें सशक्‍त बनाने की दिशा में पहला कदम होना चाहिए: उपराष्‍ट्रपति

संवाददाता : नई दिल्ली 



             उपराष्ट्रपति,एम वेंकैया नायडू ने आज कहा कि दिव्‍यांगजनों के सशक्तीकरण का काम उनके प्रति भेदभावपूर्ण प्रवृत्तियों को पूरी तरह खत्‍म करके शुरु किया जाना चाहिए।  वे आज नई दिल्ली में निशक्‍तजनों द्वारा "पहियों पर चमत्‍कार " के नाम से प्रस्‍तुत एक सांस्‍कृतिक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इसका आयोजन पुष्प विहार अय्यप्पा सेवा समिति द्वारा किया गया था।


उन्‍होंने इस अवसर अयप्‍पा सेवा समिति की सामुदायिक कल्‍याण और सामाजिक सेवा से जुड़ी गतिविधियों की सराहना करते हुए कहा कि सामुदायिक कल्‍याण की भावना भारत के दार्शनिक चिंतन सर्वजनासुखिनोभवंतु का मूल आधार है।


उन्‍होंने कहा कि दूसरों के प्रति संवेदनशीलता और मिलबांटकर जीना भारत की सांस्‍कृतक परंपरा का आधार रहा है।  केन्‍द्र और विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा निशक्‍तजनों के लोगों के कल्याण के लिए की गई कई पहलों के बारे में बोलते हुए, उपराष्ट्रपति ने कहा कि दिव्यांगजनों की मदद करना और उन्हें सम्मानजनक जीवन जीने के लिए सशक्त बनाना सरकार और समाज की सामूहिक जिम्मेदारी होनी चाहिए।


नायडू ने जोर देकर कहा कि दिव्‍यांगजनों को  सहानुभूति, प्रोत्साहन, सुविधा और सशक्तीकरण की जरुरत है। उन्होंने कहा कि दिव्यांगजनों के खिलाफ भेदभावपूर्ण प्रवृत्तियों को समाप्त करना उन्हें सशक्त बनाने की दिशा में पहला कदम होना चाहिए। उन्होंने कहा कि एक समाज के रूप में हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि शारीरिक अक्षमता को किसी तरह का सामाजिक अभिशाप न समझा जाए। हमें यह भी समझने की जरूरत है कि निशक्‍तजनों के रूप में हमारें पास एक मूल्‍यवान मानव संसाधन है।           


उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत समृद्ध सांस्कृतिक धरोहरों का खजाना है जिस पर हम सभी गर्व कर सकते हैं। उन्होंने सभी लोगों से भारत की सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित रखने और उसे प्रोत्‍साहित करने तथा देश की सांस्कृतिक और धार्मिक परंपरा के मूल में निहित शांति, करुणा और समग्रता के संदेश को बढ़ावा देने की अपील की।उपराष्‍ट्रपति ने उम्‍मीद जताई कि अयप्‍पा सेवा समिति जैसे संगठन इस तरह के आयोजनों के माध्‍यम से मानव जीवन की गुणवत्‍ता में सुधार लाने का काम करते रहेंगे जो हर व्‍यक्‍त‍ि में निहित दिव्‍य आलोग को अभिव्‍यक्‍त करता है।


आयोजन के अवसर पर पुष्पविहार अयप्पा सेवासमिति के  सलाहकार बोर्ड के अध्यक्ष, न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) के राममूर्ति, दिल्ली उच्च न्यायालय के न्‍यायाधीश न्यायमूर्ति  राजीव शखधर, दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव  श्री विजय कुमार देव, पुष्पविहार अयप्पा सेवासमिति के  वरिष्ठ अधिवक्ता और समन्वय समिति के अध्यक्ष श्री मोहन परासरन और अन्‍य लोग भी उपस्थित थे।


‘जल संसाधन कार्यां में तकनीकी वस्‍त्र का उपयोग’ विषय पर सेमिनार आयोजित...

संवाददाता : नई दिल्ली 



         जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा सरंक्षण मंत्रालय ने आज नई दिल्ली में 'जल संसाधन कार्यों में तकनीकी वस्त्र का उपयोग' विषय पर एक दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया।


तकनीकी वस्त्र को पूरी दुनिया में कई देशों में इस्तेमाल किया जा रहा है, जिनमें विकसित देशों के अलावा कई विकासशील देश भी शामिल हैं। भारत में अभी इसके तकनीकी, आर्थिक और पर्यावरण संबंधी लाभ उठाए जाने की स्थिति नहीं बनी है। भारत के विभिन्न क्षेत्रों में बाढ़ और पर्यावरण क्षरण की समस्या मौजूद हैं। कुछ इलाकों में बाढ़ प्रबंधन और नियंत्रण के लिए तकनीकी वस्त्रों से बने ट्यूब, कंटेनर और बैग इत्‍यादि का उपयोग किया जा सकता है। सेमिनार में तकनीकी वस्‍त्रों के उपयोग और व्‍यवहार पर चर्चा की गई।


सेमिनार में केंद्रीय विभागों और राज्‍य सरकारों के अधिकारियों, जल संसाधन से संबंधि‍त राज्‍यों विभागों, संस्‍थानों, कॉलेजों, विश्‍वविद्यालयों, संघों, मजदूर संघों, निर्माताओं और ठेकेदारों ने हिस्‍सा लिया।


सेमिनार की अध्‍यक्षता सीडब्‍ल्‍यूसी के अध्‍यक्ष मसूद हुसैन ने की। जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय की अपर सचिव टी. राजेश्‍वरी, सीडब्‍ल्‍यूसी के सदस्‍य एम.के. माथुर, सीएसएमआरएस के निदेशक एस.एल. गुप्‍ता और मंत्रालय के अनुसंधान एवं विकास प्रभाग के निदेशक अनुज कंवल भी सेमिनार में उपस्थित थे। इस अवसर पर सीडब्‍ल्‍यूसी के अध्‍यक्ष ने 'प्रैक्टिस मैन्‍यूअल ऑन यूज ऑफ टैक्निकल टेक्‍सटाइल इन वॉटर रिसोर्सेज वर्क्‍स' भी जारी किया।


चक्रवाती तूफान ‘फानी’ तैयारी की समीक्षा के लिए एनसीएमसी की बैठक बुलाने के लिए कैबिनेट सचिव को आदेश दिया...

संवाददाता : नई दिल्ली 



प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं


                चक्रवाती तूफान 'फानी' आज सुबह चेन्नई से 880 किलोमीटर दूर दक्षिण पूर्व में स्थित था। 30 अप्रैल तक इसके शक्तिशाली चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। तूफान का उत्तर-पश्चिम दिशा में बढ़ना जारी रहेगा और एक मई से यह उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा।


भारतीय मौसम विभाग के अनुसार तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश में लैंडफॉल होने की संभावना नहीं है। हालांकि ओडिशा में लैंडफॉल होंने की संभावना पर लगातार निगरानी की जा रही है।


प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी स्थिति की गंभीरता से निगरानी कर रहे हैं। उन्होंने स्थिति का जायजा लेने के लिए राज्य सरकारों और संबंधित केन्द्रीय मंत्रालयों/एजेंसियों के साथ राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक बुलाने हेतु कैबिनेट सचिव को आदेश दिया है ताकि किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सभी तैयारियां सुनिश्चित की जा सकें।


एनडीआरएफ और भारतीय तटरक्षक बल को हाई अलर्ट पर रखा गया है और इन्हें राज्य सरकारों से निरन्तर संपर्क में रहने के लिए कहा गया है।


25 अप्रैल से मछुआरों के लिए निरंतर चेतावनी जारी की जा रही है। मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है तथा समुद्र में निकले मछुआरों को वापस आने की सलाह दी गई है। आईएमडी संबंधित राज्यों के लिए नवीनतम पूर्वानुमान के साथ प्रत्येक तीन घंटे में बुलेटिन जारी कर रहा है। गृह मंत्रालय संबंधित राज्य सरकारों तथा केन्द्रीय एजेंसियों से निरंतर संपर्क में है।


अमित शाह द्वारा उत्तरप्रदेश के चित्रकूट, प्रतापगढ़, मछलीशहर में आयोजित जनसभा को संबोधित किया...

संवाददाता : लख़नऊ उत्तर प्रदेश 



                     भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज उत्तरप्रदेश के चित्रकूट, प्रतापगढ़, मछली शहर में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश में कहीं भी जाइये मोदी सरकार के विकास कार्यों की चर्चा है. देश में पूरब, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण जहां भी मैं गया, सब जगह मोदी-मोदी की आवाज सुनाई देती है.


इससे तय होता है कि देश की जनता ने नरेन्द्र मोदी जी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लिया है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सपा-बसपा के शासन पर कहा कि यूपी में सपा-बसपा के गुंडे यहां के गरीबों की जमीन कब्जा लेते थे. हमारी सरकार ने जबसे गुंडा विरोधी स्कॉर्ड बनाया है तब से ये गरीबों की जमीन को हाथ लगाने की हिम्मत नहीं करते. सपा-बसपा की सरकारों में गुंडे यूपी के लोगों को परेशान करते थे. पुलिस वाले गुंडों से डरते थे. योगी जी की सरकार ने गुंडों को उल्टा लटकाकर सीधा किया है. पहले गुंडों के कारण लोगों को पलायन करना पड़ता था, आज पलायन करने वाले पलायन कर गये हैं. उन्होंने कहा कि भाजपा की नरेन्द्र मोदी सरकार अपने कार्यकाल में ऐसी 133 योजनाएं लाई है, जो गरीबों और उत्तर प्रदेश के कल्याण के लिए हैं. सपा-बसपा वाले कभी ऐसी योजनाएं नहीं ला सकते हैं.


शाह ने उत्तरप्रदेश के विकास पर कहा कि 13वें वित्त आयोग में केंद्र की कांग्रेस सरकार ने 3 लाख 30 हजार करोड़ रुपए उत्तरप्रदेश को दिए थे. जबकि मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत 10 लाख 27 हजार 323 करोड़ रुपए यूपी के विकास के लिए दिया है. भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि हमने अपना संकल्प पत्र देश के सामने रखा है और ये मात्र घोषणा पत्र नहीं है अपितु देश को महान बनाने का दस्तावेज है इसमें देश के सभी किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, छोटे तथा खेतिहर किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन की योजना, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिए 1 लाख करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी योजना, धारा 370, हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज या परास्नातक मेडिकल कॉलेज की स्थापना, 40 लाख रुपये तक का टर्न ऑवर जिन व्यापारियों का है उन्हें जीएसटी से मुक्ति दी जाएगी, 7 लाख से कम टर्न ऑवर वाले सभी व्यापारियों को इनकम टैक्स से मुक्ति जैसे महत्वपूर्ण प्रावधान हैं.


अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने सबसे बड़ा काम किया है देश को सुरक्षित करने का. जब पुलवामा में हमारे 40 जवान शहीद हुए थे और उसके बाद जब वायुसेना द्वारा एयरस्ट्राइक किया गया तो पूरे देश में उत्साह का माहौल था. लेकिन तब 2 जगह मातम मनाया जा रहा था. एक तो पाकिस्तान में और दूसरा सपा-बसपा और कांग्रेस पार्टी के खेमे में. आतंकवादी पाकिस्तान के मरे लेकिन बुआ भतीजे और राहुल बाबा के कार्यालय में मातम पसर गया. मुझे पता नहीं चलता इन्हें इतना दुःख क्यों हुआ? इनके चेहरे क्यों लटक गए? वो आतंकी इनके चचेरे-ममेरे भाई लगते थे क्या? राहुल गाँधी के गुरु सैम पित्रोदा कहते हैं कि आतंकवादियों से बात करो. श्री अमित शाह ने कांग्रेस, बसपा-सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि राहुल बाबा और बुआ-भतीजा आप आतंकवादियों के साथ इलू-इलू करो. लेकिन ये मोदी सरकार है, अगर पाकिस्तान की तरफ से गोली आएगी तो इधर से गोला जाएगा. हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे.


उन्होंने कहा कि भाजपा कोई आतंकवादी संगठनों से बातचीत नहीं करने वाली है. इस देश की सुरक्षा के साथ कोई कोताही नहीं बरती जाएगी. भारत मां की सुरक्षा हमारा सर्वप्रथम दायित्व है. श्री शाह ने कहा कि उमर अब्दुल्ला कहते हैं कि जम्मू कश्मीर का अलग प्रधानमंत्री होना चाहिए. कुछ दिन पहले उनके एक नेता ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे. इन सब बातों पर कांग्रेस ने चुप्पी साध रखी है, बुआ-भतीजा ने भी चुप्पी साध रखी है. ये लोग स्पष्ट करें की क्या वो इन बयानों पर उमर अब्दुल्ला के साथ हैं? भारतीय जनता पार्टी का रुख स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि महागठबंधन के साथी कश्मीर को भारत से अलग करने की बात करते हैं. लेकिन कश्मीर को भारत से कोई अलग नहीं कर सकता. कश्मीर हिंदुस्तान का है और रहेगा. भाजपा अध्यक्ष ने उत्तरप्रदेश की जनता से आह्वान किया कि फिर एक बार मोदी सरकार बनाइये और देश और राज्य का विकास सुनिश्चित करिए.


अनूपपुर में हर वर्ग ने मनाया लोकतंत्र का महा त्यौहार...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                     अनूपपुर जिले में हर वर्ग के लोगों ने अपनी जिम्मेदारी समझते हुए मतदान किया। बिहार के सासाराम जिले से आये नव-विवाहित जोड़े पंकज और ब्यूटी सिंह ने अनूपपुर आकर पहला काम मतदाता-सूची में अपना नाम जुड़वाने का किया। आज मतदान-केन्द्र 154 बालमुड़ी में जाकर दोनों ने मतदान किया। उनका कहना है हर मतदाता मतदान अवश्य करे।


सजधज कर गौतम दम्पत्ति ने किया मतदान 


लोकतंत्र के महात्यौहार को पूरे गर्व एवं उत्साह से मनाने के लिए राकेश गौतम एवं पुष्पा गौतम ने सजधज कर मतदान केंद्र क्रमांक-73 शासकीय कन्या उत्तर माध्यमिक विद्यालय अनूपपुर में मतदानकिया।


गर्भवती पूजा शर्मा ने दी मतदान को तरजीह


जिला प्रशासन ने विशेष सहायता एवं सुविधा की आवश्यकता वाले मतदाताओं को पहले ही चिह्नांकित कर लिया था। इनमें गर्भवती महिलाएँ वृद्धजन एवं दिव्यांग मतदाता शामिल हैं। ऐसे सभी मतदाताओं को कतार में प्राथमिकता एवं आवश्यकतानुसार आवागमन की सुविधा प्रदान की गयी। मतदान केंद्र 152 में मतदान करने के पश्चात गर्भवती महिला पूजा शर्मा बेहद ख़ुश थी। आँगनवाड़ी दीदियों की तारीफ करते हुए बोलीं 'इन्हीं के अच्छे व्यवहार एवं सहयोग की वजह से आज मतदान करने की हिम्मत जुटायी एवं मतदान किया।''


बुजुर्गों ने बढ़-चढ़कर किया मतदान


अनूपपुर जिले में लगभग 12 हजार दिव्यांग, वृद्ध, गर्भवती एवं धात्री महिला मतदाताओं का चिन्हांकन किया गया था। सभी मतदाताओं को सुगम्य पास प्रदान किए गए, जिससे उन्हें कतार में प्राथमिकता मिली एवं वे सहजता से मतदान कर पाए। 98 वर्ष के बाबूलाल दाहिया ने मतदान केंद्र क्रमांक 10 में मतदान किया। उन्होंने कहा मतदान बहुत जरूरी है। इन्हीं में से एक 89 वर्षीय पंडित दिवाकर मिश्रा ने मतदान केंद्र क्रमांक 34 में मतदान किया। मतदान केंद्र क्रमांक 34 में मतदान करने वाले सहारू बैगा ने कहा कोई भी मौसम हो, मतदान से हम पीछे नहीं रहते। पिपरिया में 87 वर्षीय मुनिया बाई ने मतदान किया।


सुगम्य पास एवं व्हील चेयर की सुविधा से सहज हुए दिव्यांग मतदाता


दिव्यांग मतदाताओं के लिये रैम्प सहायक एवं वालेंटियर्स की सुविधा दी गयी थी, जो उन्हें आदर एवं सम्मान से मतदान केंद्र तक ले गए जिससे वे सहजता से मतदान कर सके। वार्ड क्रमांक 13 अनूपपुर निवासी ओमप्रकाश श्रीवास्तव देख नहीं सकते हैं। इन्होंने निर्वाचन आयोग द्वारा सहायक की सुविधा एवं कतार में प्राथमिकता मिलने से आसानी से वोट किया। उन्होंने मतदान कर्मियों के व्यवहार की सराहना करते हुए प्रसन्नता व्यक्त की।



झूलाघर, छाँव एवं शीतल जल की व्यवस्था


आदर्श मतदान केंद्र, अमलाई में नन्हें बालक खेल-कूद में व्यस्त रहे और उनकी माताएँ निश्चिन्त होकर मतदान कर सकीं। इसी प्रकार मतदाताओं की सहूलियत के लिये ठंडे जल एवं छांव, दिव्यांगजनों के लिए रैम्प, व्हील चेयर, सहायक आदि ने मतदान की प्रक्रिया को सहज बना दिया।


 स्वीप आइकॉन ने परिवार सहित किया मतदान


अर्जुन अवार्डी (कॉमनवेल्थ 2010, 3 स्वर्ण पदक एवं एक रजत पदक विजेता) एवं जिला स्वीप आइकॉन ओमकार सिंह ने आज सुबह परिवार सहित भालूमाँड़ा मतदान केंद्र में मतदान किया। उन्होंने लोकतंत्र को सशक्त करने के लिये सभी मतदाताओं से अनिवार्य रूप से वोट करने की अपील की। ओमकार सिंह वर्तमान में भारतीय नौसेना में कोयम्बटूर में पदस्थ हैं। वे अवकाश लेकर अपना लोकतांत्रिक कर्तव्य निभाने के लिए कोतमा आए।


दिव्यांग आइकॉन ने किया मताधिकार का प्रयोग


अनूपपुर जिले के दिव्यांग आइकॉन पप्पू दाहिया ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र को सशक्त करने के लिए हर मतदाता की भागीदारी जरूरी है। सभी मतदाता अनिवार्य रूप से मतदान करें।


पहली बार मतदान करने वाले युवाओं ने दिखाया उत्साह


अनूपपुर के जागरूक युवाओं ने मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। सकोला की युवा ब्रिगेड और पिपरिया की युवतियाँ किसी से पीछे नही रहीं। सुबह से ही महिलाओं एवं पुरुषों के साथ युवाओं की यह फौज भी मतदान करने के लिये उत्साहित थी। पहली बार मतदान करने वाली मेधा गुप्ता ने मतदान केंद्र क्रमांक-73 में अपने मत का प्रयोग किया। उन्होंने गर्व से कहा कि मैंने अपना दायित्व निभाया है। मैं एक जिम्मेदार नागरिक हूँ। शासकीय कन्या उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय में मतदान करने वाली शिवांगी अग्रवाल मताधिकार का प्रयोग करने के बाद बहुत खुश थी। मतदान मेरा अधिकार है और मैंने इसका सोच-समझकर प्रयोग किया है।


तीन पीढ़ियों ने मतदान कर लोकतंत्र को किया सशक्त


कोतमा में एक ऐसा परिवार है, जिसके बुजुर्गो ने अपनी आने वाली पीढ़ियों को लोकतंत्र को सशक्त बनाने के संस्कार दिये हैं। यही वजह है कि आज लोकतंत्र के महापर्व को मनाने विधानसभा क्षेत्र कोतमा में स्वरूप चंद्र जैन (उम्र 85 वर्ष), उनकी पत्नि कमला जैन (उम्र 82 वर्ष) के साथ उनके तीनों बेटे और बहुएँ कैलाश जैन (उम्र 58 वर्ष) पत्नि रजनी जैन (उम्र 54 वर्ष ), राजेंद्र जैन( उम्र 50 वर्ष) प्रमिला जैन (उम्र 48 वर्ष), सुमेर जैन (उम्र 48 वर्ष) पत्नि समता जैन (45) समेत पोते ऋषभ जैन (31) ने मतदान केंद्र क्रमांक 95 में जाकर मतदान किया।


कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति ने चक्रवाती तूफान ‘फानी’ से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया...

संवाददाता : नई दिल्ली 



              कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति ने आज चक्रवाती तूफान 'फानी' से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया। तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के मुख्‍य सचिवों/प्रमुख सचिवों ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिए बैठक में हिस्‍सा लिया। संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों/एजेंसियों के वरिष्‍ठ अधिकारी भी बैठक में उपस्थित थे।


बैठक के दौरान सभी राज्‍य सरकारों के अधिकारियों ने चक्रवाती तूफान से उत्‍पन्‍न होने वाली स्थिति से निपटने के लिए अपनी तैयारियों का ब्‍यौरा दिया। राज्‍य सरकार ने मछुआरों को चेतावनी दी है कि वे समुद्र से दूर रहें। अधिकारियों ने बताया कि 14 जून तक समुद्र में मछली पकड़ने पर मौसमी प्रतिबंध लगाया गया है, क्‍योंकि इस मौसम में मछलियां अंडे देती हैं। राज्‍य सरकारों से कहा गया कि वे प्रतिबंध को कारगर तरीके से लागू करें।


गृह मंत्रालय ने राज्‍य सरकारों को आश्‍वस्‍त किया कि उनके आग्रह के अनुसार एसडीआरएफ की पहली किस्‍त अग्रिम रूप में जारी कर दी जाएगी।


मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान 'फानी' इस समय चेन्‍नई के दक्षिण-पूर्व में 880 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आशंका है कि 30 अप्रैल, 2019 तक इसमें तेजी आएगी और तूफान भीषण रूप ले सकता है। तूफान 1 मई, 2019 तक उत्‍तर-पश्चिम की तरफ बढ़ेगा और उसके बाद धीरे-धीरे उत्‍तर-पूर्व की तरफ घूम जाएगा। सरकार पूर्वीतट के राज्‍यों पर पड़ने वाले प्रभाव की कड़ी निगरानी कर रही है।


राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल और तट रक्षक को हाई अलर्ट पर रख दिया गया है। दोनों राज्‍य सरकार के अधिकारियों के साथ समन्‍वय कर रहे हैं। राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल और तट रक्षक ने अपनी तैनाती दुरुस्‍त कर ली है। मछुआरों को 25 अप्रैल, 2019 से लगातार चेतावनी जारी की जा रही है कि वे समुद्र से दूर रहें और जो लोग समुद्र में हैं, वे वापस आ जाएं। मौसम विभाग हर 3 घंटे पर संबंधित राज्‍यों को मौसम संबंधी जानकारियां प्रदान कर रहा है। गृह मंत्रालय संबंधित राज्‍य सरकारों और केंद्रीय एजेंसियों के साथ लगातार संपर्क में है।


राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति प्रधानमंत्री के निर्देशों का पालन कर रही है, जो हालात पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। समिति हालात का जायजा लेने के लिए कल फिर बैठक करेगी।


मतदान करने में बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता भी नहीं हैं पीछे...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                    लोकसभा निर्वाचन- 2019 के लिए मंडला संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत जिले के विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र गोटेगांव में आज सुबह 7 बजे से मतदान शुरू हुआ । सुबह से ही मतदाता उत्साहपूर्वक मतदान में हिस्सा ले रहे हैं। बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता भी मतदान करने में पीछे नहीं हैं। वे भी उत्साहपूर्वक मतदान कर रहे हैं। बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता, युवा और अन्य मतदाताओं को भी मतदान करने की प्रेरणा दे रहे हैं।


गोटेगांव विधानसभा क्षेत्र के सहजपुरा मतदान केन्द्र में 80 वर्षीय दिव्यांग श्रीमती सावित्री बाई डब्बू नौरिया व्हीलचेयर से सुबह-सुबह पहुँचीं और उत्साह से मतदान किया। लोकतंत्र की मजबूती के प्रति उनकी भावना को देखकर अन्य मतदाता भी प्रेरणा ले रहे हैं। सावित्री बाई को मतदान केन्द्र पर बगैर लाइन में लगे मतदान करने की सुविधा दी गई। बूथदूत ने मतदान केन्द्र तक पहुँचने में उनकी सहायता की।


मलाह पिपरिया मतदान केन्द्र पर 96 वर्षीय जीवनलाल ने व्हीलचेयर से पहुँचकर मतदान किया। इस उम्र में भी मतदान के प्रति उनका उत्साह देखने लायक था। बासनपानी मतदान केन्द्र पर 90 वर्षीय कृष्णा बाई गोकल प्रसाद भी व्हीलचेयर से पहुँचीं और वोट डाला। इस बार निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिला प्रशासन द्वारा बुजुर्ग, दिव्यांग, गर्भवती और धात्री महिला मतदाताओं के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। उन्हें मतदान के लिए लाइन में नहीं लगना पड़ रहा है। बूथदूत उनकी सहायता कर रहे हैं।


स्टॉक्स की बिक्री के लिए नीलामियां 3 मई, 2019 को फोर्ट,मुंबई में आयोजित की जाएंगी...

संवाददाता : नई दिल्ली 



          भारत सरकार ने मूल्‍य आधारित नीलामी के जरिए 3,000 करोड़ रुपये की अधिसूचित राशि के लिए 7 प्रतिशत 'सरकारी स्‍टॉक 2021' । मूल्‍य आधारित नीलामी के जरिए3,000 करोड़ रुपये की अधिसूचित राशि के लिए 7.27 प्रतिशत 'सरकारी स्‍टॉक 2026'। मूल्‍य आधारित अधिसूचित रकम 5,000 करोड़ रुपये के लिए सरकारी फ्लोटिंग रेट बांड 2031 बिक्री की घोषणा की हैं। मूल्‍य आधारित नीलामी के जरिए 2,000 करोड़ रुपये की अधिसूचित राशि के लिए 7.62 प्रतिशत 'सरकारी स्‍टॉक 2039' के मद्देनजर 17,000 करोड़ रुपये की सीमा को देखते हुए भारत सरकार के पास उपर्युक्‍त किसी भी स्‍टॉक के सापेक्ष 1,000करोड़ रुपये प्रत्‍येक का अतिरिक्‍त अभिदान अपने पास रखने का विकल्‍प होगा। एकाधिक मूल्य विधि का उपयोग कर ये नीलामियां आयोजित की जाएंगी। भारतीय रिजर्व बैंक के मुम्‍बई कार्यालय, फोर्ट,मुंबई द्वारा ये नीलामियां 3 मई, 2019 को आयोजित की जाएंगी।


सरकारी प्रतिभूतियों की नीलामी से जुड़ी गैर-प्रतिस्‍पर्धी बोली सुविधा की योजना के अनुसार स्‍टॉक की बिक्री की अधिसूचित राशि के 5 प्रतिशत तक का आवंटन पात्र व्‍यक्तियों एवं संस्‍थानों को किया जाएगा।


नीलामी के लिए प्रतिस्‍पर्धी एवं गैर-प्रतिस्‍पर्धी दोनों ही बोलियां 3 मई, 2019 को भारतीय रिजर्व बैंक के कोर बैंकिंग सोल्‍यूशन सिस्‍टम पर इलेक्‍ट्रॉनिक प्रारूप में पेश की जानी चाहिए। गैर-प्रतिस्‍पर्धी बोलियां प्रात: 11.30 बजे से लेकर दोपहर 12.00 बजे तक और प्रतिस्‍पर्धी बोलियां प्रात:11.30 बजे से लेकर दोपहर 12.30 बजे तक पेश की जानी चाहिए।


इन नीलामियों के नतीजों की घोषणा 3 मई, 2019 को ही कर दी जायेगी और सफल बोली लगाने वालों द्वारा भुगतान 6 मई, 2019 को किया जायेगा।


भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के अनुरूप ये स्‍टॉक 'व्‍हेन इश्‍यूड' ट्रेडिंग के लिए पात्र माने जाएंगे। ये दिशा-निर्देश 'केंद्र सरकार की प्रतिभूतियों में कब लेन-देन जारी किए गए' पर जारी किए गए हैं। इसके लिए दिनांक 24 जुलाई, 2018 को जारी परिपत्र संख्‍या आरबीआई/2018-19/25 देखें, जिसमें समय-समय पर संशोधन होते रहे हैं।


सोमवार, 29 अप्रैल 2019

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने तीन शातिर लुटेरों के गिरोह का किया भंडाफोड़ ...

प्रजा दत्त डबराल : नई दिल्ली



          तीन शातिर अपराधियों की आशंका के साथ, अपराध शाखा के एसओएस- I ने सक्रिय लुटेरों के एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है । उनके पास से 10 लाइव राउंड के साथ 7.65 मिमी की पिस्टल बरामद हुई है। हाल ही में लूटी गई मित्सुबिशी पजेरो एसयूवी भी बरामद हुई है। गिरफ्तार व्यक्ति हैं,अमित कुमार निवासी गोपाल नगर, नजफगढ़, दिल्ली उम्र 32 वर्ष,जितेन्द्र उर्फ जीतु निवासी करला,दिल्ली की आयु 26 वर्ष और अन्नु कुमार निवासी भिवानी,हरियाणा की आयु 35 वर्ष है ।


एएसआई शिव कुमार क्राइम ब्रांच के माध्यम से जानकारी मिली थी कि प्रदीप उर्फ विकास उर्फ पीके (एक इनाम अपराधी) एक लूटी गई पजेरो कार में कराला गांव आ रहा होगा। इंस्पायर के नेतृत्व में एक छापेमारी दल। राजीव रंजन जिसमें एएसआई शिव कुमार, एएसआई जगवीर,ए एस आई महेश, एच सी दीपक,एचसी देवेंद्र, सीटी शामिल हैं। कमलजीत और सीटी एसीपी अनिल दुरेजा की निगरानी में अमित का गठन किया गया था।


26 अप्रैल को टीम दिल्ली के ग्राम करला के पास पुथ खुर्द रोड पर पहुंची और जाल बिछाया। लगभग 7:30 बजे, एक सफेद रंग की पजेरो कार को उसमें एक व्यक्ति के साथ देखा गया। कार को रोक दिया गया। घ नदी के रूप में जितेन्द्र उर्फ जेतू आर पहचान की थी, दिल्ली 26 वर्ष आयु वर्ग के यह पाया गया कि पजेरो कार राजौरी गार्डन के इलाके से लूट ली गई थी। एफआईआर नंबर एफआईआर संख्या 55/19 दिनांक 4.2.19 ,यू / एस 365/392/34 आईपीसी पीएस राजौरी गार्डन।


जितेन्द्र के बताने पर, दो अन्य सहयोगी, अमित कुमार, गोपाल नगर, नजफगढ़, दिल्ली उम्र 32 वर्ष और अन्नु कुमार,भिवानी,हरियाणा 35 वर्ष से अधिक उम्र के जेजे कॉलोनी, सवादा गांव,दिल्ली से गिरफ्तार किए गए थे। उनके पास से 7.65 एमएम की पिस्टल और 10 राउंड बरामद किए गए। एक मामला,एफआईआर सं 102/19 दिनांक 27 अप्रैल यू / एस 25/54/59 ए अधिनियम और 412 आईपीसी पीएस अपराध शाखा, दिल्ली को इस संबंध में पंजीकृत किया गया था। गिरफदार किये गए अभियुक्त : -


 1.  अमित कुमार आर / ओ गोपाल नगर, नजफगढ़, दिल्ली उम्र 32 वर्ष वह पहले से छह आपराधिक मामलों में शामिल है।



  1. FIR नंबर 87/09, Dt। 8/09/09, U / S 302/34 / 120B IPC और 25/27 A. Act.PS JPKalan, दिल्ली।

  2. एफआईआर नंबर 14/12, डी.ई. 23/01/12, U / S 279/337/338 IPC PS- द्वारका साउथ, दिल्ली।

  3. FIR No.730 / 14, Dt। 24/11/14, U / S 307/34 IPC और 25/27 A. एक्ट PS BHD नगर, दिल्ली

  4. प्राथमिकी संख्या 246/14, Dt.18 / 7/14, U / S 302/34 IPC और 25/27 A. अधिनियम, PS IGI हवाई अड्डा, दिल्ली

  5. प्राथमिकी संख्या 175/15 Dt.3 / 4/15, U / S 394/397/34 IPC, पीएस छावला, दिल्ली

  6. एफआईआर नंबर 103/15, Dt 26/3/15, U / S 392/397/34 IPC, PS द्वारका सेक 23, दिल्ली


 2.    जितेन्द्र उर्फ जेतू आर / ओ कराला, दिल्ली उम्र 26 वर्ष। वह पहले से दो आपराधिक मामलों में शामिल है।



  1. एफआईआर नंबर 721/16, U / S 392/394/397/365/34/412 IPC और 25/27 A.Act पीएस उत्तम नगर, दिल्ली।

  2. एफआईआर नंबर 549/16, यू / एस 379-बी आईपीसी, पीएस पालम विहार,गुड़गांव।


 3.  अन्नु कुमार आर / ओ भिवानी, हरियाणा 35 वर्ष की आयु (हरियाणा पुलिस का बर्खास्त कांस्टेबल)। वह पहले से हरियाणा में दस आपराधिक          मामलों में शामिल है, मामलों का विवरण प्राप्त किया जा रहा है ।


अपराधियों से वसूली : -


एक 10 राउंड के साथ एक 7.65 मिमी पिस्तौल और पजेरो कार.


पूछताछ के दौरान पाया गया कि अपराधियों को एक अन्य अपराधी द्वारा पिस्तौल और गोल मुहैया कराए गए थे । गिरोह एक और कुख्यात अपराधी को गोली मारने की योजना बना रहा था, जो वर्तमान में भोंडसी जेल में बंद है।अन्य अपराधी को ट्रैक करने का प्रयास किया जा रहा है ,जो रुपये का इनाम ले जाता है। उस पर 50,000 और उक्त अपराधी को पिस्तौल और फेरे प्रदान किए ।


प्रत्येक मतदाता स्वतंत्र और निर्भीक होकर मतदान करे : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                       मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने प्रदेश के प्रथम चरण के मतदान के लिये सभी मतदाताओं से अपील की है किनिर्वाचनों में सहभागिता के लिए प्रत्येक मतदाता स्वतंत्र और निर्भीक होकर मतदान करें। उन्होंने कहा है कि लोकतंत्र में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन प्रक्रिया एक महत्वपूर्ण सोपान है। निर्वाचन प्रक्रिया में राज्य के प्रत्येक मतदाता का मत महत्वपूर्ण है। श्री राव ने बताया कि प्रदेश में लोकसभा निर्वाचन के लिए चार चरणों में मतदान होगा । प्रथम चरण में 29 अप्रैल, 2019 को सीधीशहडोलजबलपुरमण्डलाबालाघाटएवंछिन्दवाड़ा लोकसभा क्षेत्र में मतदान होगा। इन 6 लोकसभा क्षेत्रों में सम्मिलित 13 जिलों के 13 हजार 491 मतदान केन्द्रों पर कुल 1,05,45,825मतदाता होंगे।लोकसभा निर्वाचन के साथ छिन्दवाड़ा विधानसभा क्षेत्र का उप निर्वाचन भी होगा, जिसमें कुल 300 मतदान केन्द्रों एवं 2,63,185 मतदाता होंगे ।


कान्ता राव ने बताया है कि निर्वाचन प्रक्रिया स्वतंत्र, निष्पक्ष, सुगम और समावेशी बनाने के लिये इस बार मतदान में दिव्यांगबुजुर्गगर्भवती एवं धात्री महिलाओं के लिये विशेष सुविधायें प्रदान की गई हैं। मतदान केन्द्रों पर रैम्पछायापीने के पानीशौचालयछोटो बच्चों के लिये झूलाघरसहयोग के लिये स्वयं सेवी इत्यादि सभी आवश्यक सुविधा की व्यवस्था की गई है। इस चरण के निर्वाचन में मतदान का समय प्रात: 7 बजे से सायं 6 बजे तक होगा। बालाघाट जिले की परसवाड़ाबैहरएवं लांजी विधानसभा क्षेत्र में मतदान का समय प्रात: 7 बजे से सायं 4 बजे तक रहेगा। मतदाताओं को मतदान के दौरान अपनी पहचान संबंधी दस्तावेज जैसे वोटर आई.डी.कार्डआधार कार्डपेन कार्डपासपोर्टड्राइविंग लाइसेंसबैंक पासबुकइत्यादि 12 दस्तावेजों में से एक दस्तावेज ले जाना अनिवार्य होगा । प्रथम चरण के मतदान के दौरान लगभग 60 हजार मतदान कर्मियों को नियुक्त किया गया है। सुरक्षा व्यवस्था के लिये केन्द्रीय सुरक्षा बल की कुल 85 एवं राज्य सशस्त्र बल की 38 कम्पनियाँ तैनात रहेंगी।इसके साथ ही जिला बल, होमगार्ड एवं विशेष पुलिस अधिकारी मिलाकर कुल 33 हजार पुलिस कर्मी मतदान दिवस में कार्यरत रहेंगे |


इन लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 2515 क्रिटीकल मतदान केन्द्र चिन्हांकित किए गए हैं। निर्वाचन के दौरान कुल 2700 से अधिक मतदान केन्द्रों पर वेबकॉस्टिंग -सीसीटीवीके माध्यम से निगरानी की जाएगी। ईव्हीएम के परिवहन की निगरानी के लिये प्रत्येक सेक्टर अधिकारी एवं मतदान दलों के वाहन पर जीपीएस ट्रेकिंग सिस्टम डिवाईस लगाई गई है। मतदाताओं को अपने वोटर होने संबंधी जानकारी के सत्यापन एवं अपने मतदान केन्द्र की जानकारी के लिए टोल फ्री नम्बर 1950 एवं वोटर हेल्प लाईन मोबाईल एप की सुविधा दी गई है।


मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने सभी मतदाताओं से अनुरोध किया है कि लोकसभा निर्वाचन, 2019 में मतदान केन्द्र पर पहुँचकर शत-प्रतिशत मतदान कर लोकतंत्र को मजबूत बनाने में अपनी भागीदारी निभायें।


शिक्षा व्यवस्था में निरंतर बदलाव जरूरी : राज्यपाल श्रीमती पटेल

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                        राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि वैश्विक परिवेश को ध्यान में रखकर देश में शिक्षा के क्षेत्र में निंरतर सुधार की आवश्यकता है। असफलता मिलने पर हार नहीं मानना चाहिए क्योंकि असफलता ही सफलता के अनेक रास्तों को खोलती है। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थान में प्रवेश, शिक्षण और परीक्षा आदि के कार्यों में आधुनिकतम तकनीक के उपयोग की सम्भावनाओं पर चिंतन किया जाना चाहिए।पटेल आज यहाँ ज्योतिर्मय सम्मान 2019 कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं।


उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाओं में शैक्षणिक स्पर्धाओं का आयोजन किया जाना चाहिए। इससे शैक्षणिक गुणवत्ता के स्तर में सुधार होगा। उन्होंने शिक्षण संस्थाओं का आव्हान किया कि बच्चों को उनकी अभिरूचि के अनुसार आगे बढ़ने के अवसर उपलब्ध करायें। राज्यपाल ने कार्यक्रम में 18 श्रेणियों में पूर्व छात्रों द्वारा चयनित कोचिंग संस्थानों को सम्मानित किया।


प्रदेश में प्रथम चरण के लिये मतदान आज...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                                                   3 हजार 491 मतदान केन्द्रों पर  लगेंगी 24 हजार से अधिक बैलेट यूनिट


            मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्ही.एल. कान्ता राव ने बताया है कि प्रदेश में प्रथम चरण के लोकसभा निर्वाचन के लिये मतदान दिवस 29 अप्रैल को 6 संसदीय क्षेत्रों के 13 जिलों एवं एक विधानसभा क्षेत्र छिन्दवाड़ा में उप चुनाव के लिये 24 हजार 344 बैलेट यूनिट, 16 हजार 209 कन्ट्रोल यूनिट एवं 16 हजार 882 व्हीव्हीपीएटी का उपयोग किया जायेगा। संसदीय क्षेत्र बालाघाट, सीधी एवं जबलपुर में 15 से अधिक एवं 31 से कम उम्मीदवार होने से दो बैलेट यूनिट लगाई जायेंगी।  प्रथम चरण में 13 हजार 491 मतदान केन्द्रों पर 59 हजार 709 मतदान कर्मी नियुक्त किए गए हैं।


मतदान दिवस 29 अप्रैल को कुल 2700 से अधिक मतदान केन्द्रों पर वेबकॉस्टिंग एवं सीसीटीवी के माध्यम से निगरानी की जाएगी। प्रत्येक जिला मुख्यालय पर तथा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मध्यप्रदेश के कार्यालय में कंट्रोल रूम से वेबकॉस्टिंग की Live Streaming की जाएगी।


इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का परिवहन करने वाले मतदान दलों एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट के 5 हजार 800 से अधिक वाहनों में GPS Device लगाये गये हैं, ताकि इन वाहनों की सतत् निगरानी हो सके। मतदान केन्द्रों में मतदान दलों के अलावा 1,447 सेक्टर मजिस्ट्रेट ड्यूटी पर रहेंगे, जो रिटर्निंग ऑफिसर को मतदान प्रतिशत की जानकारी देंगे तथा कानून-व्यवस्था पर नजर रखेंगे।


प्रदेश में प्रथम चरण के 6 संसदीय क्षेत्रों में 10 करोड़ 45 लाख से अधिक नगदी सामग्री जप्त...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                   मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी  व्ही.एल. कान्ता राव ने बताया है कि लोकसभा निर्वाचन-2019 में निर्वाचन व्यय निगरानी का कार्य पुलिस, आबकारी, आयकर आदि एजेंसियों द्वारा किया जा रहा है। प्रदेश में प्रथम चरण के 6 संसदीय क्षेत्रों में निर्वाचन की घोषणा दिनांक 10 मार्च से 28 अप्रैल के दौरान 10 करोड़ 45 लाख रुपये से अधिक मूल्य की नगदी एवं अन्य सामग्री जप्त की गयी।


इसमें 4 करोड़ 77 लाख 22 हजार रूपये नगद, 2 करोड़ 45 लाख 83 हजार रूपये मूल्य की अवैध शराब, 31 लाख 57 हजार रूपये मूल्य के अवैध मादक पदार्थ एवं एक करोड़ 72 लाख रूपये मूल्य की बहुमूल्य धातु तथा एक करोड़ 18 लाख 50 हजार रूपये मूल्य के हथियार, वाहन एवं अन्य सामान जप्त किये गये।


जानिए कैसे फायदेमंद है पाइनएप्पल...

संवाददाता : नई दिल्ली 


               पाइनएप्पल का फल बहुत ही ज्यादा स्वादिष्ट होता है। इसके कच्चे फल का स्वाद खट्टा होता है। तथा पके फल का स्वाद बहुत ही ज्यादा मीठा होता है। इसमें कैल्शियम, फाइबर और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। पाइनएप्पल से होने वाले फायदें निम्न है।




  1. पाइनएप्पल को छीलकर उसके छोटे-छोटे टुकड़े करके खाने से पित्त-विकार दूर होते हैं।

  2. गर्मियों में पाइनएप्पल का रस या शर्बत पीने से तेज गर्मी व पसीने की समस्या दूर होती है।

  3. जिन लोगों को पथरी या किडनी में स्टोन होता है।उन्हें रोजाना एक गिलास पाइनएप्पल का जूस पीना चाहिए।इससे किडनी स्टोन का दर्द कम होता है।

  4. अल्प मात्रा में ऋतुश्राव होने पर रोजाना पाइनएप्पल का रस पीने से ऋतुश्राव उचित रूप में होने लगता है।

  5. पाइनएप्पल शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने और शरीर को ऊर्जा प्रदान करने का काम करता है।दिन में तीन बार इस फल को खाने से बढ़ती उम्र के साथ कम होती आंखो की रोशनी का खतरा कम हो जाता है


आखिरकार इंसानियत दिखाने वाले सामने आ ही गए…

प्रजा दत्त डबराल : उत्तराखंड 



              सतपुली में एक बिन मां बाप की लड़की ऐसी भी है । जिसे अपने हक के लिए खानी पड़ रही थी दर-दर की ठोकरें। जनपद पौड़ी गढ़वाल कल्जीखाल विकासखंड के गाँव नौली बेटी रुचि रावत पुत्री मदन सिंह रावत के सिर से बचपन में ही मां बाप का सहारा छिन गया था।


रुचि जो कि अपनी नानी के साथ रहती है उसकी शादी 23 अप्रैल को होनी तय हो चुकी थी, जिसके लिए उसे आर्थिक सहायता की जरूरत थी, लेकिन उसे किसी भी प्रकार की आर्थिक सहायता नहीं मिल पा रही थी। रुचि समाज कल्याण विभाग ,मुख्य विकास अधिकारी पौड़ी , विधायक मुकेश कोहली, सहित पत्र व शादी कार्ड के माध्यम से मीडिया के सामने मुख्यमंत्री उत्तराखंड से भी गुहार लगा चुकी थी परंतु मदद के नाम पर केवल आस्वासन ही मिला। रुचि ने जिलाधिकारी पौड़ी से भी कई बार पत्राचार के माध्यम से गुहार लगाई जिसके बाद जिला अधिकारी ऑफिस के द्वारा समाज कल्याण विभाग को सूचित किया गया परन्तु उनका कहना था कि ये योजना आरक्षण वाले वर्ग के लिए है सामान्य के लिए नही।


इसके बाद उसकी पहल के लिए भरतीय नारी शक्ति जिला पौड़ी की टीम लीडर अनिता रावत और चैन्दकोट युवा संघठन समाजसेवी अध्यक्ष विकास पांथरी ने शुरूआत की। अनिता रावत के द्वारा भारतीय नारीशक्ति टीम की राष्ट्रीय अध्यक्षा व पूर्व राज्यमंत्री विजय लक्ष्मी गुसाईं को सूचना दी गई और वहीं विकास पांथरी ने भी अपने संगठन से वार्ता की।


इसके बाद इस पर अपनी ओर से पहल करते हुए रुचि की सहायता के लिए भगवान सिंह मीडिया रिपोर्ट, ज्ञानदीप चैधरी समाजसेवी पौड़ी, रुड़की, ऋषिकेश आदि स्थानों से लोगों ने आर्थिक मदद की और रुचि के गांव जाकर उसकी शादी में शिरकत कर उसका साथ दिया। इस मौके पर भरतीय नारी शक्ति टीम की जिला पौड़ी की टीम लीडर अनिता ने कहा कि संगठन उन सभी लोगों का शुक्रिया अदा करता है जिन्होंने हमारी इस मुहिम में साथ दिया और संगठन आगे भी इसी प्रकार की सहायता के लिये हमेशा तैयार रहेगा।



चैंदकोट युवा संघठन समाजसेवी अध्यक्ष विकास पांथरी ने बताया कि उनके संघठन के लोगो के साथ उनके गांव पहुचे और अपनी तरफ से इस लड़की को अपने स्तर पर जितना हो सका यथा संभव मदत की जिसमे इनकी तरफ से 12000 रुपये और दुल्हन को कुछ कपडे दिए गए जिसमे विकास पांथरी दीपक पांथरी मुकेश पांथरी योगेश पांथरी नबीन बिजल्वाण अरविंद निराला सुरजीत गौरव रमेश बिक्की सजवाण सुनील राणा सुबोध बमोला दीपक आदि शमिल थे।


जेट एयरवेज के कर्मचारी कंपनी बंद होने पर करने लगे हैं ऐसी हरकतें…

आशुतोष ममगाई  : देहरादून उत्तराखंड 



              जेट एयरवेज के बंद होने पर कंपनी के टेक्नीशियन शैलेष सिंह ने छत से कूद कर जान दे दी। कंपनी के बंद होने से कंपनी के 20 हजार से ज्यादा कर्मचारियों की स्थिति दयनीय बनी हुई है। अपनी मांगों के लिये वे लोग अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शन कर के सरकार से गुहार लगा रहे हैं कि उन्हें बचा लिया जाए । इसी बीच मुंबई से खबर आई कि जेट एयरवेज के 43 वर्षीय कर्मचारी ने हार कर आत्महत्या कर ली। रिपोर्ट्स के मुताबिक वो कई महीने से सैलरी नहीं आने की वजह से बहुत ज्यादा ड्रिपेशन में थे। इसी वजह से उन्होंने महाराष्ट्र के नालासोपारा में अपने छत से कूद कर जान दे दी 


शैलेष सिंह जेट एयरवेज में टेक्नीशियन थे और साथ ही कैंसर से भी पीड़ित थे। जेट एयरवेज स्टाफ एंड एंप्लॉयज एसोसिएशन के मुताबिक वो आर्थिक दिक्कतों के साथ-साथ अपनी कीमोथेरेपी करवा रहे थे। पुलिस के अनुसार ये भी मुमकिन है कि वो बीमारी की वजह से डिप्रेशन से गुजर रहे थे इसीलिए उन्होंने आत्महत्या कर ली होगी लेकिन एसोसिएशन के मुताबिक पैसों की कमी की वजह से ही उन्होंने आत्महत्या की है। कंपनी बंद होने के बाद ये किसी भी कर्मचारी की आत्महत्या का पहला मामला सामने आया है।


खुदकुशी से पहले शैलेष छत पर बैठे थे, आस पास देख रहे लोगोंने उन्हें नीचे आने के लिये भी कहा, लेकिन कुछ ही देर बाद ही शैलेश सिंह इमारत की छत से कूद गए। उन्हें पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। शैलेष सिंह के परिवार में पत्नी उनके दो बेटे और दो बेटियां भी हैं। यह जेट एयरवेज के मुंह पर एक बहुत बड़ा तमाचा है।
दूसरी तरफ कर्मचारियों का प्रदर्शन लगातार जारी है। शनिवार को भी कर्मचारियों और उनके परिवार वालों ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर कैंडल मार्च निकाला। प्रदर्शनकारी फिर से जेट एयरवेज की उड़ान को बहाल करने की मांग कर रहे हैं, जिसमें उनके छोटे-छोटे बच्चे भी शामिल थे।


जेट एयरवेज के पायलटों का प्रतिनिधित्व करने वाली द नेशनल एविएटर गिल्ड यानी नैग ने शनिवार को पीएम ऑफिस को एक ईमेल भेजा, कि सभी कर्मचारियों को एक महीने की सैलरी दी जाए और साथ ही साथ जेट एयरवेज के विमानों के रजिस्ट्रेशन कैंसल करने की प्रकिया पर रोल लगाने की गुजारिश की गई है।


कहते है ना कि जब मुसीबत आती है तो हर तरफ से आती है, उनके साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है। जेट एयरवेज अपने कर्मचारियों को मेडिक्लेम मुहैया कराती थी जो कि इसी साल 31 जुलाई को खत्म हो रही है। इसे रिन्यू करने के लिए ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी ने जेट एयरवेज से संपर्क किया, लेकिन रिन्यू करने के लिए किसी तरह की कोई जानकारी कंपनी को नहीं दी गई। कुल मिलाकर अगर जेट एयरवेज मेडिक्लेम रिन्यू नहीं कराती है फिर सैलरी के साथ जेट एयरवेज के कर्मचारियों को मेडिक्लेम की सुविधा स भीे हाथ धोना पड़ सकता है।


उपराष्ट्रपति ने युवाओं से सहिष्‍णुता और सम्‍मान की परंपराओं का पालन करने तथा हमारी बहुलतावादी संस्‍कृति को संरक्षित रखने का आह्वान किया...

संवाददाता : नई दिल्ली 



                    उपराष्ट्रपति,एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि हमारे युवाओं को सामाजिक मामलों में महत्‍वपूर्ण जिम्‍मेदारी लेनी चाहिए। उन्‍होंने युवाओं से आग्रह किया कि वे सहिष्‍णुता और सम्‍मान की परंपराओं का पालन करें तथा हमारी बहुलतावादी संस्‍कृति को संरक्षित रखें।


वे आज चण्‍डीगढ़ में पंजाब विश्‍वविद्यालय के 68वें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। उपराष्‍ट्रपति पंजाब विश्‍वविद्यालय के कुलाधिपति हैं। श्री नायडू ने कहा कि पंजाब विश्‍वविद्यलय का गौरवमयी इतिहास रहा है और यह भारत के सबसे पुराने विश्‍वविद्यालयों में से एक है। विश्‍वविद्यालय ऐसे स्‍थान पर स्थित है जिसने शताब्दियों पुरानी सभ्‍यता देखी है। यह क्षेत्र ज्ञान प्रसार के लिए समर्पित रहा है और यहां तक्षशिला जैसे अध्‍ययन केंद्र स्थित थे।  


उन्‍होंने इस बात पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त की कि विश्‍वविद्यालय शैक्षणिक उत्‍कृष्‍टता के लिए निरंतर प्रयत्‍नशील रहा है। विश्‍वविद्यालय अपने 200 सम्‍बद्ध कॉलेजों, 3 क्षेत्रीय केंद्रों, 6 पंजीकृत कॉलेजों और एक ग्रामीण केंद्र के माध्‍यम से 15000 छात्रों को गुणवत्‍तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर रहा है।उपराष्‍ट्रपति ने पंजाब विश्‍वविद्यालय को पूरे देश के शैक्षणिक संस्‍थानों में 34वां स्‍थान प्राप्‍त करने के लिए बधाई दी। उन्‍होंने छात्रों में नावाचार और उद्यमिता की भावना विकसित करने के लिए विश्‍वविद्यालय के प्रयासों की सराहना की। उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि मुझे इस बात की प्रसन्‍नता है कि यूजीसी ने विश्‍वविद्यालय को स्‍टैम सेल शोध और औषधि विकास के लिए चयनित किया है। विश्‍वविद्यालय को ''जैव चिकित्‍सा विज्ञान में उत्‍कृष्‍टता की क्षमता'' वाले केन्‍द्र के रूप में चुना गया है।


उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि संस्‍थान की स्‍थापना कोई आसान काम नहीं है, इसमें दूरदृष्टि, भावना, कौशल, प्रतिबद्धता और समर्पण की आवश्‍यकता होती है। उन्‍होंने पंजाब विश्‍वविद्यलय के सभी हितधारकों से आग्रह करते हुए कहा कि उन्‍हें अपने अच्‍छे कार्य की गति को बनाए रखना चाहिए।नायडू ने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि भविष्‍य का भारत युवाओं के सपने और उनकी आकांक्षाओं तथा उनके चरित्र और कौशल से निर्मित होगा। यदि हम अपने युवाओं को सही कौशल और सोच से सक्षम बनाते हैं, तो देश जनसांख्यिक लाभांश का पूरा-पूरा लाभ उठा सकेगा।


उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि 21वीं शताब्‍दी के संदर्भ में हमें अपनी शिक्षा व्‍यवस्‍था में बदलाव लाने की जरूरत है। मानव कल्‍याण, पारितंत्र और पृथ्‍वी की चिंताओं पर भी ध्‍यान दिया जाना चाहिए। यह तभी संभव है जब हम अपने पाठ्यक्रम, मूल्‍यांकन आदि में बदलाव करेंगे और विचार-विमर्श पर विशेष ध्‍यान देंगे।


नायडू ने कहा कि देश में उच्‍च शिक्षा व्‍यवस्‍था के स्‍तर में सुधार हुआ है। हमें शिक्षा की गुणवत्‍ता को बेहतर बनाने की आवश्‍यकता है ताकि हम अपने युवाओं को सर्वोत्‍तम शिक्षा व्‍यवस्‍था का विकल्‍प प्रदान कर सकें।नायडू ने युवाओं से आग्रह किया कि वे संचार के विभिन्‍न साधनों का उपयोग जवाबदेही के साथ करें। संचार के इन साधनों का उपयोग सामाजिक सौहार्द बढ़ाने के लिए किया जाना चाहिए। इसके साथ ही इन साधनों के माध्‍यम से समाज के वंचित वर्ग की जरूरतों और सामाजिक व लैंगिक असमानता जैसे विषय पर विचार-विमर्श किया जाना चाहिए।


उपराष्‍ट्रपति ने इसरो के चेयरमैन डॉ. के सिवन को सम्‍मानित किया। डॉ. सिवन को पंजाब वि‍श्‍वविद्यालय ने विज्ञान रत्‍न पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया है। डॉ. सिवन के कार्यों से देश के अंतरिक्ष विज्ञान और तकनीक की असाधारण क्षमता परिलक्षित होती है।इस अवसर पर पंजाब के राज्‍यपाल श्री वी पी सिंह बदनौर, पंजाब विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजकुमार, यूनीवर्सिटी इंन्‍सट्रक्‍शन के डीन प्रो. शंकरजी झा, पंजाब विश्‍वविद्यालय के रजिस्‍ट्रार प्रो. करमजीत सिंह तथा अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्ति उपस्थित थे।        


दूसरा जनरल के. सुंदरजी स्‍मृति व्‍याख्‍यान...

संवाददाता : नई दिल्ली 



                           दूसरा जनरल के. सुंदरजी स्‍मृति व्‍याख्‍यान 27 अप्रैल 2019 को नई दिल्‍ली के माणेकशॉ केंन्‍द्र में आयोजित हुआ। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत समारोह के मुख्‍य अतिथि थे। समारोह में तीनों सेनाओं के अधिकारियों, सेवानिवृत अधिकारियों और शिक्षा जगत व थिंक टैंक के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। व्‍याख्‍यान की शुरुआत सेना के 14वें प्रमुख जनरल के. सुंदरजी की स्‍मृति के साथ हुई। जनरल के. संदरजी को ''मैकेनाइज्‍ड इन्‍फेंट्री रेजिमेंट'' का जनक कहा जाता है।


1986 से 1988 के अपने कार्यकाल के दौरान जनरल के. सुंदरजी ने भारतीय सेना में विभिन्‍न तकनीकी और युद्ध संबंधी कार्यों की शुरुआत की। मैकेनाइज्‍ड फोर्सेस से संबंधित अपनी संकल्‍पना को जनरल सुंदरजी ने मूर्त रूप देते हुए मैकेनाइज्‍ड इन्‍फेंट्री रेजिमेंट की स्‍थापना की। यह रेजिमेंट भारतीय सेना की नवीनतम इकाई है और स्‍ट्राइक फोर्सेस का अभिन्‍न अंग है।


लेफ्टिनेंट जनरल पी सी थिमाया के स्‍वागत भाषण से स्‍मृति व्‍याख्‍यान की शुरुआत हुई। इसके बाद सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने व्‍याख्‍यान दिया। श्री नवतेज सरना ने ''21वीं शताब्‍दी में भारत का नेतृत्‍व: राजनयिक, सूचना, सैन्‍य और आर्थिक (डीआईएमई) आयामों के साथ रणनीतिक नेतृत्‍व'' विषय पर अपने विचार रखे। इसके बाद लेफ्टिनेंट जनरल पी एम हरिज, पीवीएसम, एवीएसम, एसएस, वीएसएम (सेवानिवृत) ने ''ब्रासटेक से डोकलाम तक: हमारी रणनीतिक सैन्‍य नेतृत्‍व में बुद्धिमत्‍ता और दूरदृष्टि की आवश्‍यकता'' विषय पर अपने विचार व्‍यक्‍त किए।    


रविवार, 28 अप्रैल 2019

पहाड़ के जंगल,गर्मियां शुरू होते ही धधकने लगतें हैं...

संवाददाता : नई दिल्ली 



           गर्मियों का मौसम आते ही उत्तराखण्ड में यात्रा के साथ-साथ एक संकट भी मंडराने लगता है। यहा के जंगल गर्मियां आते ही आग से धधकने लगतें हैं, कही-कहीं तो प्राकृतिक कारणों से और कहीं समाज के अराजक तत्वों की वजह से !


इसी तरह जनपद पौड़ी गढ़वाल के लैंसडौन व यमकेस्वर विधानसभा के जंगल गर्मी शूरु होते ही आग से धधकने शूरू हो गए हैं।


गुमखाल के निकट वेदीखाल से पहले नेशनल हाईवे 534 के इर्द गिर्द के जंगल आग से धधक रहे हैं, लेकिन वन विभाग अभी तक सोया है। शासन प्रशासन हर साल वनों को बचाने के लिए कई दावे करती है परंतु गर्मी शूरु होते ही विभाग के तमाम दावे फेल होते नजर आ रहे हैं। प्रशासन के कई आला-अधिकारी व जिलाधिकारी पौड़ी धिराज गब्र्याल भी इस मार्ग से आते जाते रहते हैं लेकिन कोई कार्यवाही करने को तैयार नहीे है।


क्या हुआ जब देवप्रयाग भागीरथी नदी में पति के शव तक को नहीं ढूंढ पाए...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 



                            देवप्रयाग में भागीरथी नदी के तेज बहाव में पति-पत्नी बह गये। बताया जा रहा है कि पहले पत्नी का पांव फिसल गया था और ठीक उसके बाद अपनी पत्नी को बचाने के लिए पति ने भी नदी में छलांग लगा ली, लेकिन नदी के तेज बहाव के कारण वे पत्नी को बचाने की बजाए खुद को भी संभाल नहीं पाए और बह गए।


दरअसल गुरूवार सुबह मेरठ से दो बाइकों पर सवार पति पत्नी अपने दो मित्रो के साथ देवप्रयाग घूमने पहुचे थे। घूमते हुए दोनों करीब देवप्रयाग से 250 मीटर आगे स्थित पुराने लाल पुल के पास पहुंचे। जहाँ उनके दो मित्रों ने दीपा को भागीरथी में फिसलते देखा व साथ ही उसके पति राहुल को उसे बचाने के लिये नदी में कूदते भी देखा।


नदी में बहने के बाद मौके पर पुलिस ने रेस्कयू किया और पत्नी का शव बरामद कर लिया है लेकिन युवक का शव अभी तक नहीं मिल पाया है। खोज जारी है।


 


श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट करने वाले इन दो इब्राहिम भाइयों की कहानी...

संवाददाता : नई दिल्ली 


               21 अप्रैल को श्रीलंका में जोरदार 8 सीरियल बम ब्लास्ट हुए जिसमें 350 से ज्यादा लोग मारे गए। इन बम धमाकों ने अचानक से आकर काफी लम्बे समय से शांत श्रीलंका की शांति छीन ली। आखिर इस हमले के पीछे किन लोगोें का हाथ था। न्यूज एजेंसी रॉयटर के मुताबिक इन आत्मघाती हमलों के पीछे ऐसे दो भाइयों का हाथ था जो कि महावेला गार्डन्स में 'वाइट हाउस' में रहते थे। तीन चर्चों और चार होटलों पर हुए हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट (आईएस) मिलिटेंट ग्रुप ने ली है।



33 वर्षीय इंसाफ इब्राहिम एक कॉपर फैक्ट्री का मालिक था। उसके परिवार के सूत्रों से न्यूज एजेंसी ने यह पता लगाया कि उसने सांगरीला होटल में विस्फोटक के साथ खुद को उड़ा लिया था, जब पुलिस उसके घर रेड डालने पहुंची, तो उसके छोटे भाई इल्हाम इब्राहिम ने भी खुद को बम से उड़ा लिया और इस ब्लास्ट में पत्नी के अलावा उसके तीन मासूम बच्चे भी मारे गए।


पड़ोसी ने बताया कि वे भले लोगों की तरह दिखने वाले लोग थे। श्रीलंका की स्थानीय मीडिया में भी इन दोनों भाइयों की काफी चर्चा है। ये दोनों भाई मोहम्मद इब्राहिम के बेटे थे जिनको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। लोग उनकी तारीफ करते नहीं थकते थे। वह अपने इलाके में इस बात के लिए जाने जाते थे कि वह गरीबों को खाना खिलाने के साथ साथ पैसे देकर उनकी मदद भी करते थे।


इल्हाम इब्राहिम की तुलना में बड़ा करोबारी भाई इंसाफ आधुनिक और खुले विचारों का था, वह अपने स्टाफ का बहुत ख्याल रखता था। उन्हें डोनेशन देता था, वह भी अपने पिताजी की तरह गरीब लोगों की मदद करता था। उसके पास पैसों की कोई कमी नहीं थी।
इंसाफ की फैक्ट्री में काम करने वाले बांग्लादेशी वर्कर का कहना है कि- 'वह दयालु थे, वह दूसरे बॉस की तरह नहीं थे, उनके लिए काम करके मैं खुश था, वह चले गए अब मैं क्या करूंगा'।


इस बीच श्रीलंका के सुरक्षा सचिव एच.फर्नांडो ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने पुलिस प्रमुख पी. जयसुंदरा और सुरक्षा सचिव एच.फर्नांडो से इस्तीफा देने को कहा था।


 



श्रीलंका के सुरक्षा सचिव एच.फर्नांडो ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने पुलिस प्रमुख पी. जयसुंदरा और सुरक्षा सचिव एच.फर्नांडो से इस्तीफा देने को कहा था।


जानिए कैसे 48 साल के लिए लाॅक हो सकता है आईपैड...

प्रजा दत्त डबराल : नई दिल्ली



                यदि बच्चों को खेलने के लिए आप आईफोन देते हैंए तो इसका आपको खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। तो वही पत्रकार इवान ओस्नोस ने ट्वीट किया कि उनके तीन वर्षीय बेटे ने गलती से बार बार गलत पासवर्ड टाइप किया जिसके बाद आईपैड 48.5 साल तक के लिए लॉक हो गया है। अब आईपैड को खोलने के लिए उन्हें आधी सदी का इंतजार करना होगा।


इवान ने अपने डिसएबल आईपैड स्क्रीन की एक तस्वीर पोस्ट की हैए जिसमें एक मैसेज लिख कर आ रहा कि 25,536,442 मिनट के बाद डिवाइस खोलने की कोशिश करें। यह समय करीब 48 साल के बराबर है। तो आपको यह सुनकर शायद कभी भी यकीन न हो। मगर इवान के तीन साल के बच्चे के बार बार गलत पासवर्ड डालने की वजह से डिवाइस कई साल के लिए लॉक हो गया इवान ने इसकी तस्वीर पोस्ट करने के साथ ही अपने 85000 फॉलोअर्स से पूछा कि इस डिवाइस को कैसे अनलॉक किया जाए पिता के ट्विटर फॉलोअर्स ने जल्द ही उन्हें ज्ञान की लाइन लगा दी तभी एक यूजर ने लिखा-अगली बार बच्चे को पासकोड दें। तो वहीेें दूसरे ने लिखा- मैं तो इतने साल इंतजार करूंगा। तो वहीं एक और यूजर ने मजाक में लिखा- टाइम ट्रैवल ही आपकी मदद कर सकता है।


तभी ट्विटर हैंडल करने वाले एक यूजर ने अपने एक मित्र के साथ हुए मैसेज को पोस्ट किया। उसका दावा है कि वह एपल से सर्टिफाइड है। इवान को पोस्ट की गई उस बातचीत में एपल के एक्सपर्ट ने लिखा कि वह कभी दोबारा इस डिवाइस का उपयोग नहीं कर सकेंगे।एपल के अनुसारए जब कोई यूजर कई बार गलत पासकोड डालता हैए तो डिवाइस लॉक हो जाती है और एक मैसेज आता है कि डिवाइस डिसएबल हो गई है। हालांकि कंपनी की गाइडलाइन्स कहती हैं कि डिवाइस में डेटा को हटा दिया जाएगा यदि उसका बैकअप नहीं लिया गया है।


 


TCL अपने ग्राहकों के लिए एंड-टू-एंड स्मार्ट जीवन अनुभव देने वाला भारत का पहला घरेलू इलेक्ट्रॉनिक्स ब्रांड बना...

हरि सिंह रावत : नई दिल्ली



                     अत्याधुनिक उत्पादों के माध्यम से भारतीय उपभोक्ताओं के लिए जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को रेखांकित करते हुए, TCL इलेक्ट्रॉनिक्स, एक वैश्विक शीर्ष दो टेलीविजन ब्रांड और एक प्रमुख उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी, ने स्मार्ट की एक पूरी श्रृंखला शुरू की है। घरेलु उपकरण TCL ने अविश्वसनीय रूप से जुड़े अनुभव की एक झलक दी जो TCL देश भर में अपने ग्राहकों के लिए सक्षम करना चाहती है।


टीसीएल इलेक्ट्रॉनिक्स की सीनियर लीडरशिप टीम और मीडिया बिरादरी के प्रमुख सदस्यों के साथ शिखर धवन, श्रेयस अय्यर, कैगिसो रबाडा, क्रिस मॉरिस और इशांत शर्मा जैसे दिल्ली कैपिटल के क्रिकेट खिलाड़ी भी मौजूद रहेंगे।अपनी भारत की प्रतिबद्धता की पुष्टि: टीसीएल कैसे घरेलू इलेक्ट्रॉनिक्स गेम को बदल रहा है


नवीनतम उत्पाद लॉन्च टीसीएल के मजबूत भारत पर ध्यान केंद्रित करता है, साथ ही साथ भारतीय ग्राहकों को अत्याधुनिक तकनीक, उच्च-गुणवत्ता वाले हार्डवेयर, और बेहद प्रतिस्पर्धी मूल्य बिंदुओं पर उन्नत सुविधाओं तक पहुंच प्रदान करने की अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है। यह स्पॉन्सर के रूप में आईपीएल की दिल्ली की राजधानियों के साथ टीसीएल के जुड़ाव के हफ्तों बाद आता है। कंपनी ने पिछले साल दिसंबर में आंध्र प्रदेश के तिरुपति में अपनी GIANT पैनल फैक्ट्री का भी उद्घाटन किया, जो चीन के बाहर अपनी पहली विनिर्माण इकाई का निर्माण करती है। इस कदम के दो उद्देश्य थे - प्रतिस्पर्धी कीमतों पर भारतीय-केंद्रित उत्पादों की पेशकश करना और इस क्षेत्र में 8,000 से अधिक नौकरियां पैदा करना।


किफायतीता के साथ नवप्रवर्तन प्रदान करने पर यह ध्यान केंद्रित करने का मुख्य कारण है कि, अपने राष्ट्रीय लॉन्च के बाद से कुछ ही समय में, टीसीएल भारतीय बाजार में अग्रणी खिलाड़ियों में से एक के रूप में उभरा है और 2018 में टीवी के मामले में देश में पांचवें स्थान पर है। शिपमेंट वॉल्यूम के संदर्भ में, ब्रांड को पिछले साल वैश्विक शीर्ष 2 टीवी ब्रांडों में नामित किया गया था।


कृत्रिम बुद्धिमत्ता और IoT में उद्योग की अग्रणी प्रगति का लाभ उठाने वाले एक स्पष्ट उत्पाद रेंज के साथ, TCL स्पष्ट रूप से सभी श्रेणियों में एक पसंदीदा उपभोक्ता है। भारतीय बाजार में इसके उत्पादों को बहुत अच्छी तरह से प्राप्त किया गया है और न केवल अंत-ग्राहकों और तकनीकी ब्लॉगर्स द्वारा अक्सर चर्चा की जाती है, बल्कि 4.4 की औसत रेटिंग (चित्र पर 4.5 और ध्वनि पर 4.6) के साथ उच्च रेटिंग दी गई है। नवीन स्मार्ट घरेलू उपकरणों के लॉन्च से भारतीय उपभोक्ताओं के लिए घरेलू ब्रांड के रूप में टीसीएल की स्थिति और मजबूत होगी।


भारत में इसकी शुरूआत के बाद से, TCL स्मार्ट क्रांति को गैर-स्मार्ट मूल्य बिंदुओं पर नवीन, अत्याधुनिक स्मार्ट उत्पाद प्रदान करके देश भर के उपभोक्ताओं के लिए सुलभ और उपलब्ध करा रही है। Google के प्रमाणित बाज़ार को 32 "से 75" तक उपलब्ध कराने वाला टीसीएल पहला ब्रांड था, जिसने देश के टीवी बाज़ार में खेल को बदल दिया। घरेलू उपकरण खंड में इसका प्रवेश एक समान आसन्न व्यवधान को चिह्नित करता है और एआई-सक्षम स्मार्ट होम इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों के माध्यम से भारतीय ग्राहकों को अधिक बुद्धिमान जीवन शैली में उन्नत करने की अपनी प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है। सस्ती कीमतों पर उपलब्ध सर्वोत्तम-इन-क्लास सुविधाओं के साथ, टीसीएल भारतीय उपभोक्ताओं के लिए अधिक विकल्प लाता है जब यह एक बुद्धिमान स्मार्ट जीवन को अपनाने की बात आती है।


घोषणा पर बोलते हुए, टीसीएल इंडिया के कंट्री मैनेजर श्री माइक चेन ने कहा, “स्मार्ट घरेलू उपकरणों की हमारी नई श्रृंखला को तकनीक-प्रेमी भारतीय उपभोक्ताओं की विशिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करने और उनकी परिपक्व संवेदनशीलता के साथ प्रतिध्वनित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। नवीनतम लॉन्च हमें स्मार्ट होम उत्पादों की एक पूरी श्रृंखला के साथ भारत में पहला अभिनव उपभोक्ता टिकाऊ ब्रांड बनने की हमारी दृष्टि के करीब ले जाता है और हमारे ग्राहक को एक अद्वितीय जुड़ा हुआ अनुभव प्रदान करता है। हम हमेशा अत्याधुनिक तकनीकों और कृत्रिम बुद्धिमत्ता और आईओटी द्वारा समर्थित उत्पादों के माध्यम से अपने उपयोगकर्ताओं के लिए सबसे सस्ती कीमतों पर नवीनतम सुविधाओं की पेशकश करने के लिए प्रतिबद्ध रहे हैं। आगे बढ़ते हुए, हम भारत भर में अपने ग्राहकों के लिए ऐसे उत्पादों का निर्माण करना जारी रखेंगे, जिनमें बुद्धिमान, तकनीक के नेतृत्व वाले प्रसाद के माध्यम से उनकी जीवन शैली में सुधार होगा। ”


“भारत हमारे लिए एक मजबूत रणनीतिक बाजार है, और हमने हमेशा जनता की बदलती मांगों का अध्ययन करना सुनिश्चित किया है जब यह सस्ती कीमतों पर उच्च अंत डिजिटल टीवी की पेशकश करता है। हमें उम्मीद है कि टीवी और स्मार्ट घरेलू उपकरणों की हमारी नई श्रृंखला नए युग के भारतीय उपभोक्ता की जीवन शैली की जरूरतों को पूरी तरह से पूरा करेगी। हम भविष्य में इस तरह के और अधिक अभिनव प्रस्तावों का निर्माण करना जारी रखेंगे, जो हमारे उत्पादों को प्राप्त हुए असाधारण बाजार रिसेप्शन पर और भारतीय बाजार के भीतर हमारे नेतृत्व की स्थिति को मजबूत करने के लिए आगे बढ़ेंगे। ”


टीसीएल सी 6 और पी 8: तेजस्वी, सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास होम मनोरंजन अनुभव वितरित करना


4K सामग्री का समर्थन करते हुए, C6 और P8 दोनों 30W की एक शानदार ऑडियो गुणवत्ता प्रदान करते हैं, जो उनके इन-बिल्ट ऑनकोयो स्पीकरों के सौजन्य से है। उनके immersive दृश्य अनुभव अभिनव microdimming प्रौद्योगिकी और 10-बिंदु सफेद संतुलन द्वारा बढ़ाया जाता है, जो अधिक जीवंत विपरीत के लिए अधिक गतिशील, विविध और व्यापक रंग सरगम ​​को सक्षम करता है। Google द्वारा प्रमाणित Android TV Android Oreo से सुसज्जित है और यह 2.5 GB DDR3 RAM (TCL C6) / 2GB DDR3 RAM (TCL P8), क्वाड कोर CPU और डुअल कोर GPU, 16 GB द्वारा संचालित है।


हिसार में क्या अजय सिंह चैटाला का चलेगा जादू...

संवाददाता : हिसार हरियाणा 



           कारगिल युद्ध के बाद अटल बिहारी वाजपेयी लहर के चलते सन 1999 के लोकसभा चुनाव में एनडीए प्रत्याशी के रूप में अजय सिंह चैटाला ने न केवल अपनी पिछली पराजय का बदला चुकाया बल्कि जीत का नया रिकार्ड भी बनाया था। इस चुनाव में अजय चैटाला की विजय तो चुनावी प्रचार के शुरू से ही नजर आने लगी थी तथा नतीजे आने तक मुकाबला केवल जीत के अंतर का रह गया था। उस चुनाव में जितने मत उनके प्रतिद्वंदी रहे कांग्रेस व हविपा के उम्मीदवारों ने हासिल किए थे उससे अधिक अकेले अजय सिंह ने प्राप्त किए थे। 


अजय सिंह चैटाला पूरे दमखम के साथ मैदान में उतरे। उन्होंने अपने पुराने प्रतिद्वंदी हविपा के सुरेंद्र सिंह को सीधी चुनौती दी। कांग्रेस ने चुनाव में जिला भिवानी के दिग्गज समझे जाने वाले धर्मबीर सिंह को मैदान में उतारा। हालांकि पूरे प्रदेश में इनेलो-भाजपा के प्रत्याशी विजयी रहे लेकिन प्रेक्षकों की निगाहें विशेष रूप से भिवानी संसदीय क्षेत्र पर लगी हुई थी।


इसका कारण भी साफ था इस सीट पर जहां पूर्व मुख्यमंत्री चै. बंसीलाल के राजनैतिक उत्तराधिकारी व इससे पहले के चुनाव में सांसद चुने गए सुरेंद्र सिंह मैदान में थे वहीं चै. ओमप्रकाश चैटाला की विरासत के अधिकारी माने जाने वाले अजय चैटाला पुनः मैदान में उतरे थे।


महर्षि दयानंद सरस्वती द्वारा स्थापित आर्य समाज की 150वीं वर्षगांठ...

तरुण कुमार निमेष : नई दिल्ली 


           वर्ष प्रतिपदा के पावन दिवस 10 अप्रैल, सन् 1875 को महर्षि दयानंद सरस्वती द्वारा स्थापित आर्य-समाज ने अब तक देश के धार्मिक, सामाजिक, आध्यात्मिक व राष्ट्रीय विषयों पर अपनी गहरी पैठ बनाई है। इसके द्वारा अविद्या के नाश व विद्या वृद्धि, अँध-विश्वासों, आडंबरों, मिथ्याचरण, बाल विवाह, बेमेल विवाह, सामाजिक कुरीतियों, सामाजिक असमानता इत्यादि पर प्रहार करते हुए हिन्दी, संस्कृत व देवनागरी के साथ गुरुकुलों का विकास, वेदों का सरलीकरण व सुलभीकरण, विधवा विवाह, स्त्राी शिक्षा का प्रसार आदि कार्यों में वैश्विक स्तर पर प्रशंसनीय कार्य हुए हैं। योगदर्शन में वर्णित अष्टांग योग यथा यम- नियम -आसन -प्राणायाम -प्रत्याहार -धारणा- ध्यान-समाधि जिनसे मनुष्य ज्ञानवान होकर ईश्वर को प्राप्त कर सकता है, का प्रचार-प्रसार भी भरसक किया है।



स्वामी श्रद्धानंद की प्रेरणा, संकल्प व संघर्ष के कारण आर्यसमाज ने जो एक अत्यन्त महत्त्वपूर्ण कार्य किया, वह था हिन्दू शुद्धि सभा की स्थापना। इस शुद्धिकरण के अंतर्गत, विदेशी आक्रमणकारियों द्वारा, तलवार के बल पर या छल-कपट से, धर्मान्तरित हुए हिन्दुओं को, अपनी मूल मुख्य राष्ट्रीय धारा हिन्दू धर्म में सहर्ष सम्मान जनक रूप से वापसी का कार्य किया जाता है। इस शुद्धि आन्दोलन के फल स्वरूप लाखों मतांतरित हिन्दुओं ने घर वापसी कर सुख का अनुभव किया। स्वामी श्रद्धानन्द, पं. लेखराम तथा महाशय राजपाल आदि महान पुरुष तो इसी कारण इस्लामिक जिहादियों के कोप का भाजन बन हिन्दू धर्म की रक्षार्थ बलिदान भी हो गए।


महर्षि दयानंद सरस्वती द्वारा स्थापित आर्यसमाज मात्रा कुछ वर्षों बाद ही अपनी हीरक जयन्ती मनाएगा। लक्ष्य होगा यज्ञ, हवन, वेद, उपनिषद आदि सत्य ग्रन्थों का पठन-पाठन, ईश्वर भक्ति, राष्ट्रभक्ति, मातृ-पितृ भक्ति, संस्कार, सदाचार, समर्पण व सेवा इत्यादि का भाव घर घर और जन जन में जगा कर स्वस्थ, सुखी व समृद्ध समाज जीवन का विस्तार करना। अंततोगत्वा, अपने अंतिम लक्ष्य 'ण्वन्तो विश्वमार्यम' अर्थात् सम्पूर्ण विश्व को आर्य (श्रेष्ठ) बनाना।


आज हम महर्षि के उन सपनों को गत 144 वर्षों में कितना पूरा कर पाए, इसके आत्मावलोकन का श्रेष्ठ समय है। जो रिक्तताएँ बचीं हैं उनको कैसे पूर्ण करें कि अगले 6 वर्ष बाद आने वाली हमारी 150वीं जयंती तक पूर्ण रूपेण भर जाएँ। इसके लिए किसी और पर निर्भर होने या उन्हें परिस्थितियों को दोष देने की अपेक्षा सभी आर्यजनों को स्वयं से कुछ प्रश्न ईमानदारी से अपने अंतर्मन की गहराइयों से पूछने पड़ेंगे। उन प्रश्नों का उत्तर भी स्वयं को ही खोज कर आत्मावलोकन करना है जिससे संगठन, समाज व राष्ट्र को सर्वश्रेष्ठ बनाते हुए विश्व भर को आर्य बना सकें।

प्रश्न जो स्वयं से पूछने हैंः-
1.    लगभग सभी आर्य-समाजों में तो दैनिक यज्ञ व वेद-पाठ होते हैं किंतु क्या हम सभी आर्य-समाजियों के घरों में भी हो पाते हैं?
2.    आर्य-समाजी तो नियमित यज्ञ-हवन-सत्संगों में जाते हैं किन्तु क्या हमारे स्वयं के परिजन, मित्रा, पड़ौसी व रिश्तेदार भी सह भागी होते हैं? क्या हमने उनको ले जाने के लिए कुछ सार्थक प्रयास किये हैं?
3.    अपने सत्संगों व प्रवचनों में सत्य विद्या के प्रसार हेतु हिन्दू समाज में व्यापक रूप से प्रचलित आस्था के केंद्र मूर्ति पूजा का विरोध कर उन्हें स्वयं से काटने का प्रयत्न तो बहुत किया किंतु क्या उन्हें प्यार व आग्रह पूर्वक आमंत्रित कर उनके अंदर यज्ञ, हवन, वेद, उपनिषदों इत्यादि के सच्चे ज्ञान के प्रति जिज्ञासा, आकर्षण व निष्ठा पैदा करने का सार्थक प्रयास भी किया?
4.    आर्य समाज के जो 10 नियम हैं उनमें से हमें कितने याद हैं, कितने जीवन में धारण किये हैं और उनमें से कितनों पर औरों को भी चलाने का प्रयास किया है?
5.    जो लोग पूर्व में आर्यसमाज से जुड़े थे या कभी हमारे कार्यक्रमों में सहभागी रहे किंतु अभी निष्क्रिय हैं, क्या हम उन सब लोगों से सम्पर्क में अभी भी हैं? यदि नहीं, तो उन्हें अपनी मुख्य धारा में लाने के लिए क्या कोई सार्थक पहल कर रहे हैं?
6.    हमारे विविध क्रिया कलापों में सहभागी जनों की आयु, वर्ग, रुचि और व्यवहार के अनुसार देखें कि उनमें से कितने युवा हैं, कितनी महिलाएं, बहिनें हैं, कितने युवा हैं, कितने बच्चे हैं और कितने व्यक्ति इन क्रियाकलापों के प्रति पूर्ण रूपेण समर्पित हैं? जब तक नई पौध नहीं लगाएंगे, एक समय के बाद फलों से वंचित रह जाएंगे। दूसरा, क्या मानव जीवन के हर अंग यानी स्त्राी-पुरुष, बच्चे-वृद्ध सभी की सह-भागिता है?
7.    समाज के कार्यों में हमने कितने नए लोगों को जोड़ा कितने पुराने खोए तथा कितने युवा मिले तथा कितने बच्चे संस्कारित किए? क्या यह आंकलन हम निरंतर रूप से कर रहे हैं? इसका गम्भीरता से चिंतन करने के बाद हम आसानी से पता लगा सकते हैं कि क्या हमारा यह पुण्य कार्य देर तक तक चलने वाला है या हमारे साथ ही चला जाने वाला है?
8.    अपने विविध कार्यक्रमों में कितने कार्यक्रम ज्ञान, कितने भक्ति, कितने शक्ति व कितने राष्ट्रधर्म को समर्पित होकर किये? कितने लोगों ने उनमें रुचि दिखाई और कितनों ने उन पर अमल किया?
9.    आर्य-समाजों के कार्यक्रमों को क्या हमने कभी मन्दिरों से बाहर निकालकर, अभावग्रस्त सेवा बस्तियों, पार्कों व सार्वजनिक स्थलों में करने का प्रयास कर नए कार्य कर्ताओं का सृजन भी किया?
10.    पद, प्रतिष्ठा, मान-सम्मान, माइक, माला इत्यादि का प्रयोग स्वयं को छोड़, अन्य साथियों व समाज जीवन से जुड़े नवागन्तुकों के लिए किया?
11.    सामाजिक कार्य करते हुए सिर्फ मोबाइल, टेलीफोन, व्हाट्सएप्प, फेसबुक इत्यादि से ही सूचनाओं, समाचारों व संदेशों का आदान प्रदान किया या इनसे इतर व्यक्तिगत सम्पर्क कर साथियों के सुख दुःख में सहभागी होने का काम भी किया।


सेल में नंबर एक पर पहुंची बीएसएल...

संवाददाता : नई दिल्ली 



            स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) मुख्यालय द्वारा सभी कंपनी को दिए गए कैश कलेक्शन में मार्च माह में बोकारो इस्पात संयंत्र सेल की सभी इकाई में पहले पायदान पर पहुंच गई है। मुख्यालय द्वारा तय लक्ष्य लगभग 75 सौ करोड़ की राशि में सिर्फ बीएसएल ने उत्पादित सामग्री की खरीद-बिक्री कर 1702.09 सौ करोड़ रुपये का नकद संग्रह अर्जित किया है, जो कि मार्च माह में सेल के सभी इकाई के नगद संग्रह से सबसे ज्यादा है। बोकारो इस्पात संयंत्र के उत्पादित सामग्री का खुले बाजार में बढ़ रहे मांग की आवश्यक्ता सेल कंपनी को मंदी के दौर से बाहर निकालने का पूरी तरह से संकेत दे रही है।


संभावना जताई जा रही है कि सेल के विभिन्न इकाई में बेहतर कैश कलेक्शन व उत्पादन को देखते हुए इस बार प्रबंधन संयंत्रकर्मियों के लंबित पड़े लीव इनकैशमेंट योजना व डिप्लोमाधरियों के पदनाम को लेकर 10 अप्रैल को होनेवाली बोर्ड मीटिंग में हरी झंडी देने पर विचार कर सकती है। सेल अध्यक्ष अनिल कुमार चैधरी कंपनी के उत्पादन-उत्पादकता के साथ इस्पात उद्योग को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय बाजार में बढ़ावा देने के लिए अपने स्तर से कार्य योजना तैयार की है।


बतौर कंपनी में चेयरमैन का कार्यभार संभालते ही उन्होंने सेल के इस्पात के मूल्य में बढ़ोतरी कर दी है। इससे भी सेल का नकदी संग्रहण बढ़ा है। इसमें बोकारो स्टील के सीईओ पीके ¨सह के कुशल नेतृत्व की भागीदारी को भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। 27 मार्च को बीएसएल के हॉट स्ट्रीप मिल ने तय लक्ष्य के अनुरूप वार्षिक उत्पादन के रिकॉर्ड को पार कर प्राप्त कर सेल को घाटे से पाटने की संभावना को और भी प्रबल कर दिया है। सूत्रों का कहना है कि इस वार्षिक वित्तीय वर्ष में सेल कंपनी को लगभग ढ़ाई सौ करोड़ का शुद्ध लाभ होने की पूरी संभावना है।


20 रूपये का ये नया नोट अब क्या गुल खिलाएगा…

आशुतोष ममगाई  : देहरादून उत्तराखंड 



                      रिजर्व बैंक अभी तक 10, 50, 100, 200, 500 और 2000 रुपए के नए नोट जारी कर चुका है और अब 20 रुपए का नोट जारी करने जा रहा है। जल्द ही आपको 20 रुपए का नया नोट देखने को मिलेगा। 26 अप्रैल को इसके लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। नए नोट के रंग-रूप और खासियतों को खास तौर पर बताया गया है। नोट पर गवर्नर शक्तिकांत दास के दस्तखत होंगे और साथ ही नोट के पीछे एलोरा की गुफाओं की तस्वीर रहेगी। नया नोट महात्मा गांधी सीरीज का ही होगा तथा नोट का रंग में हल्का पीलापन और हरापन होगा । इस नोट के साथ-साथ 20 रुपए के पुराने नोट भी चलते रहेंगे।


क्या-क्या नया होगा 20 के नये नोठ में –
1-गारंटी क्लॉज, गवर्नर के दस्तखत और आरबीआई का लोगो गांधीजी की तस्वीर के दाहिनी तरफ लिखा होगा।
2-नोट के नंबर का आकार बाएं से दाहिनी ओर बड़ा होता जाएगा।
3-महात्मा गांधी के तस्वीर और इलेक्ट्रोटाइप 20 वाटरमार्क डिजाइन से भी बनाए गए हैं. रोशनी में देखने पर ये नोट के अंदर दिखाई देंगे।
4-नोट के पिछले भाग पर बाईं ओर साल (2019) दिखाई देगा।
5-इस हिस्से में स्वच्छ भारत का लोगो और स्लोगन दर्ज रहेगा।
6-भाषा की पट्टी रहेगी. जिसमें देश की अलग-अलग भाषाओं में 20 रुपए लिखा रहेगा ।
7-नोट पर एलोरा की गुफाओं की तस्वीर बनाई गई है।
8-नोट 63 मिलीमीटर चैड़ा और 129 मिलीमीटर लंबा होगा।



8 नवंबर, 2016 को मोदी जी के द्वारा की गई नोटबंदी के बाद ये सातवीं नई करेंसी है। इन नए नोटों की डिजाइन और साइज पहले से चलन में मौजूद नोटों से अलग है। माना जा रहा है कि 20 रुपए का नया नोट पुराने से करीब 20 फीसदी छोटा होगा। रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक 31 मार्च, 2016 तक भारत में 20 रुपए के 492 करोड़ नोट चलन में थे. मार्च 2018 में इनकी संख्या बढ़कर 1000 करोड़ हो गई थी. मार्च 2018 के अंत तक भारत के कुल नोटों में 20 रुपए के नोट 9.8 फीसदी थे। नए नोट में पुराने 20 रुपए के नोट के मुकाबले सुरक्षा के बेहतर फीचर्स होंगे।


श्वेता सिंह की कलम से "साथ मेरे आ ना सको"...

 कविता 


"साथ मेरे आ ना सको"


 


तुम मेरी तस्वीर से करना सारी बातें,


साथ मेरे अगर आ ना सको..


तुम मुझे अपने देना ग़म सारे,


खुशियाँ मेरी अगर निबाह ना सको..


 


जब दिल से निकले राह दिल की,


हासिल ना हो चाह दिल की,


तुम ख़ामोशी को रखना संभाल कर,


दास्तां ये अनकही बता ना सको..


 


मुझे रहने देना मुझ तक क़ायम,


कोई पल ये छीन ले ना मौसम,


जिसे हो बदल जाने की फ़ितरत,


अपना उसे एक पल बना ना सको..


 


क्या पता हो तुमसे वाकिफ़ मेरी मंज़िल,


और तुम भी मुझे कभी भुला ना सको,


ख़्वाहिशों के लंबे सफ़र में पास ही रहना,


दूर तक अगर साथ मेरे आ ना सको..


शनिवार, 27 अप्रैल 2019

भारतीय वायुसेना अर्जन सिंह स्‍मारक अंतर्राष्‍ट्रीय हॉकी टूर्नामेंट 2019 संपन्‍न...

संवाददाता : नई दिल्ली 



          भारतीय वायुसेना अर्जन सिंह स्मारक अंतर्राष्ट्रीय हॉकी टूर्नामेंट 2019 का आयोजन चंडीगढ़ में वायुसेना 3 बेस रिपेयर डिपो के एस्‍ट्रो टर्फ हॉकी ग्राउंड में किया गया। 15 अप्रैल से शुरू यह टूर्नामेंट 25 अप्रैल, 2019  को संपन्न हो गया।


इस टूर्नामेंट में कुल 16 टीमों ने भाग लिया। भारत की प्रमुख हॉकी टीमों के अलावा बांग्‍लादेश और श्रीलंका की वायुसेना की टीमों ने भी भाग लिया, जिससे यह टूर्नामेंट सही मायने में अंतर्राष्‍ट्रीय आयोजन हो सका।       


16 अप्रैल को उद्घाटन समारोह में एयर मार्शल आर के एस शेरा एवीएसएम  वीएसएम, एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ, मेंटेनेंस कमांड मुख्‍य अतिथि थे। समापन समारोह के मुख्‍य अतिथि वायु सेना अध्‍यक्ष एयर चीफ मार्शल बीएस धनोवा पीवीएसएम एवीएसएम वाईएसएम वीएम एडीसी थे। टूर्नामेंट में फाइनल मैच एकीकृत कोच फैक्‍टरी (आईसीएफ), चेन्‍नई और दक्षिण मध्‍य रेलवे (एससीआर), हैदराबाद के बीच खेला गया। फाइनल मैच में आईसीएफ, चेन्‍नई ने एसीआर, हैदराबाद को पैनल्‍टी शूटआउट राउंड में 7-6 से हरा दिया। आईसीएफ चेन्‍नई की ओर से संजय, मोहित और दीपक ने 2-2 गोल किए, जबकि श्‍याम कुमार ने एक गोल किया। एससीआर हैदराबाद की टीम से शेशे गौड़ा, राजू पाल और आयुष द्विवेदी ने क्रमश: 3, 2 और 1 गोल किए। 


आई सी एफ चेन्‍नई के दीपक कुमार इस टूर्नामेंट के बेस्‍ट खिलाड़ी घोषित किए गए। टूर्नामेंट में कुल 31 मैच खेले गए जिसमें खिला‍डि़यों ने 202 गोल किए।


वायुसेना अध्‍यक्ष ने विजेताओं को ट्राफी प्रदान की। उन्‍होंने रनर-अप टीम और आयोजन समिति के सदस्‍यों को बधाई दी। इस मौके पर उन्‍होंने पूर्व भारतीय अंतर्राष्‍ट्रीय हॉकी खिलाड़ी कर्नल जीएस गिल, अंतर्राष्‍ट्रीय हॉकी खिलाड़ी श्री हरपाल सिंह, पूर्व सेवा हॉकी खिलाड़ी ग्रुप कप्‍तान आरके रक्षा (सेवानिवृत्‍त) और 1966 एशियाई खेलों एवं 1968 ओलम्पिक्‍स में भारत का प्रतिनिधित्‍व करने वाले एवं खेल नियंत्रण बोर्ड के सेवा सचिव कर्नल बलबीर सिंह (सेवानिवृत्‍त) का भी अभिनंदन किया।       


उपराष्‍ट्रपति ने भारतीय सिनेमा के राष्‍ट्रीय संग्रहालय का दौरा किया...

संवाददाता : नई दिल्ली 



          उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने आज मुंबई में भारतीय सिनेमा राष्‍ट्रीय संग्रहालय का दौरा किया और कहा कि संग्रहालय में प्रदर्शनी से आगंतुकों को अपनी पसंद की फिल्‍मों, कलाकारों और संगीत की यादें ताजा हो जाएंगी।


नायडू ने कहा कि लगभग सभी भारतीयों की पसंद होने और ज्‍यादा देखे जाने की वजह से सिनेमा सामाजिक बदलाव के एक साधन के रूप में काम कर सकता है। उन्‍होंने कहा कि स्‍वच्‍छ, नैतिक और शिक्षाप्रद विषयों वाली फिल्‍मों के जरिए सिनेमा प्रेमियों को सूचित, शिक्षित, सशक्‍त और जागरूक करने की जरूरत है।


इस अत्‍याधुनिक संग्रहालय के दौरे में हुए अनुभवों का जिक्र करते हुए उन्‍होंने एक फेसबुक पोस्‍ट में लिखा कि यह संग्रहालय मास मीडिया का महत्‍वपूर्ण मंच है।



जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में भारत का पहला डिजिटल जॉब फेयर आयोजित...

संवाददाता : नई दिल्ली 


                    भारत सरकार की  पीएमआरवाई योजना आगे बढ़ाते हुए प्रसिद्ध एम्पज़िला इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा  देश शिक्षित बेरोज़गार युवाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में भारत का पहला डिजिटल जॉब फेयर आयोजित किया गया। इस जॉब फेयर का का उद्घाटन प्रसिद्ध साइबर लॉ एक्सपर्ट एवं सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता पवन दुग्गल,स्टोक होल्डिंग कॉरपरेशन ऑफ़ इंडिया (भारत सरकार)  निदेशक अमित दासी,एम्पजिला के चेयरमैन अकाश अत्रेय, डायरेक्टर दिक्षांत कुमार  ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर किया। इस मौके पर एम्पजिला के डायरेक्टर दीक्षांत कुमार ने बताया।



नौकरी चाहने वालों को ऐप   "एम्पजिला"   डाउनलोड करना होगा और उसमें अपना प्रोफ़ाइल भरना होगा। अपने सी वी को मोबाइल एप्लिकेशन  "एम्पजिला"  में अपलोड करने के बाद वे सीधे रिक्रूटर्स के साथ चैट कर पाएंगे और नौकरी के लिए अपने आवेदन की स्थिति भी तत्काल जान पाएंगे। दूसरी बात, जॉब फेयर में एलईडी स्क्रीन लगी है, जिस पर स्टॉल नं, कंपनी का नाम और नौकरी का विवरण दिया गया है। जो भर्तीकर्ताओं को सही कैंडीडेट खोजने में मदद कर रहा है । अभ्यर्थियों को भी पता चलता रहेगा कि किस स्टॉल पर जाना है और किस तरह से। इस तरह से समय नष्ट नहीं होगा। कंपनी का एकमात्र मकसद है कि भर्ती करने वाले को सही समय पर सही उम्मीदवार मिलें और नौकरी चाहने वाले को बेहतर भविष्य के लिए सही नियोक्ता मिल सके।


यह डिजिटल जॉब फेयर अक्सर लगने वाले पारंपरिक रोजगार मेलों से बिल्कुल अलग है।हमने इस जॉब फेयर में नौकरी तलाशने वालों के लिए जॉब सर्च को और आसान बनाने की सार्थक कोशिश की है। एम्पजिला के डायरेक्टर दीक्षांत कुमार ने बताया एम्पज़िला इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने यह प्रयास किया है कि नौकरी मांगने वाले युवा अपने को नियोक्ता के समक्ष स्वयं को बेहतर तरीके से पेश कर सकें। युवा भर्तियों के बारे में हमारे विशेषज्ञों सवाल कर कर रहे हैं। यह बहुत अच्छी बात है की उन्हें नया अनुभव हो रहा है। इस  प्रक्रिया से अभ्यर्थी के अंदर पहले से कहीं अधिक आत्म सम्मान होगा, सकारात्मकता होगी और उसका ऊर्जा स्तर भी पहले से कहीं अधिक बढ़ाजरूर है। ऐसे आयोजन हम आगे भी करते रहेंगे हमें युवाओं और कंपनियों का बहुत सहयोग मिल रहा है।



अबू धाबी अंतर्राष्‍ट्रीय पुस्‍तक मेला 2019 में भारतीय पवेलियन का उद्घाटन...

संवाददाता : नई दिल्ली 



                  29वें अबू धाबी अंतर्राष्‍ट्रीय पुस्‍तक मेले में भारतीय पवेलियन का उद्घाटन संयुक्‍त अरब अमीरात के उप प्रधानमंत्री सेफ बिन जायद अल नहायन ने 24 अप्रैल, 2019 को यूएई के संस्‍कृति और बौद्धिक विकास मंत्री श्री नौरा बिन्‍त मोहम्‍मद अल काबी, भारतीय राजदूत नवदीप सूरी और राष्‍ट्रीय पुस्‍तक न्‍यास के अध्‍यक्ष प्रोफेसर गोविंद प्रसाद शर्मा की उप‍स्थिति में किया। पुस्‍तक मेले के लिए भारत को गेस्‍ट ऑफ ऑनर नामित किया गया है। 24 अप्रैल से शुरू यह मेला 30 अप्रैल, 2019 तक चलेगा। 


भारतीय पवेलियन में महात्‍मा गांधी के जीवन और दर्शन पर विशेष जोर दिया गया है। इसमें स्‍वतंत्रता संग्राम पर विभिन्‍न प्रकाशकों की पुस्‍तकों के अलावा 'कलेक्‍टेड वर्क्‍स ऑफ महात्‍मा गांधी' शीर्षक से 100 पुस्‍तक श्रृंखलाएं रखी गई हैं। पवेलियन में आगंतुकों को विशेष अनुभव कराने के लिए विशेष तरह की लाइट्स,  बैनर, संवादमूलक स्‍पर्श पैनल और मल्‍टी मीडिया स्‍क्रीन का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। मेले में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के भारतीय प्रतिनिधिमंडल द्वारा 'मेकिंग ऑफ द कलेक्‍टेड वर्क्‍स ऑफ महात्‍मा गांधी' पर एक प्रस्‍तुतीकरण भी दिया जाएगा।     


मोदी के नेतृत्व में देश एकजुट : निशंक

आशुतोष ममगाई  : देहरादून उत्तराखंड 



                     केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर भाजपा जिले भर में विजय संकल्प सभायें आयोजित कर रही है। हरिद्वार लोकसभा की धरमपुर विधानसभा देहरादून के कारगी क्षेत्र में विजय संकल्प सभा आयोजित की जिसकी अध्यक्षता पूर्व महापौर धरमपुर विधायक विनोद चमोली ने की।


इस अवसर पर मुख्य अतिथि पार्टी के राष्ट्रªीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने बताया कि इन विजय संकल्प सभाओं के माध्यम से बीजेपी अपने पांच वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का लेखा-जोखा देगी। वहीं कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों द्वारा देश के सुरक्षा बलों के शौर्य-पराक्रम का अपमान करने की होड़ पर देश की जनता को आगाह करेगी। इसी तरह पार्टी ने उत्तराखंड में होने वाले चुनाव के लिए कई रैलियां आयोजित करने की योजना बनाई है जिसपर अमल करना आरंभ हो चुका है।


प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने कांग्रेस को जमकर कोसा। उन्होंने कहा कि भाजपा के लिए देश सर्वोपरि है और कांग्रेस के लिए पार्टी और परिवार। कांग्रेस के कार्यकाल में जब आतंकी हमले हुए तो सेना ने बदला लेने की अनुमति मांगी, लेकिन कांग्रेस सरकार निंदा करने तक सीमित रही। जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है, वहां किसानों के साथ ऋण माफी को लेकर कांग्रेस ने धोखाधड़ी की जा रही है। अब 72 हजार रुपये सालान देने की बात कहकर जनता को भ्रमित करने का काम रही है।


इस अवसर पर अति विशिष्ठ अतिथि रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि हमारी सरकार ने 5 साल के कार्यकाल में ऐतिहासिक काम किए हैं। हरिद्वार लोकसभा में 5 साल में विकास के जितने कार्य हुये हैं वह 50 साल के बराबर हैं। देश को आगे बढ़ाना है तो नरेंद्र मोदी को दोबारा देश का प्रधानमंत्री बनाना होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जब भी देश में राज किया भ्रष्टाचार, मंहगाई और बेरोजगारी को बढ़ावा दिया है। केंद्रीय मंत्री गहलोत ने केंद्र सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। कहा कि सरकार ने पांच साल में कई ऐतिहासिक योजनाएं लागू की है। प्रधानमंत्री जनधन, प्रधान आवास, उज्जवला, मुद्रा, कौशल विकास समेत कई योजनाएं गिनाईं। देश की तरफ आंख उठाकर देखने वालों को सर्जिकल और एयर स्ट्राइक से मुंहतोड़ जवाब दिया गया। कांग्रेस ने पहले एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाए, लेकिन अब स्वीकार कर रही है कि नरेंद्र मोदी ने चुनाव जीतने के लिए स्ट्राइक करवाई है।


विजय संकल्प सभा में उपस्तिथ कार्यकर्ताओं को डा. निशंक ने कहा कि विकास का प्रकाश समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक सुनिश्चित तरीके से पहुंचाते हुए देश चतुर्दिक विकास पथ पर अग्रसर है, जनता भी पूर्ण उत्साह के साथ मोदी सरकार को पुनः बहुमत के साथ विजयी बना रही है।


इस अवसर पर कार्यक्रम अध्यक्ष पूर्व मेयर व धरमपुर के विधायक विनोद चमोली के साथ श्रीमती विनोद उनियाल, शदाब शम्स, विनोद रांगड, सुभाष बडथवाल के अलावा क्षेत्र के समस्त पार्षद, मंडल अध्यक्ष, बूथ प्रभारी सहित धरमपुर विधानसभा के समस्त कार्याधिकारी एवं सैंकडों कार्यकर्ता मौजूद रहे।


रामदेव ने साध्वी को बताया राष्ट्रवादी...

संवाददाता : पटना बिहार 



                योग गुरु रामदेव शुक्रवार को विवादास्पद भाजपा नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के समर्थन में सामने आए और उन्हें एक राष्ट्रवादी करार देते हुए कहा कि महज संदेह के आधार पर उन्हें नौ सालों तक गिरफ्तार कर जेल के अंदर प्रताड़ित किया गया, जैसे वह कोई आतंकवादी हों। योग गुरु पटना साहिब लोकसभा सीट से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद द्वारा पर्चा दाखिल करने के दौरान यहां पहुंचे थे। रामदेव ने बताया कि यह गुनाह की पराकाष्ठा थी। आपने सिर्फ संदेह के आधार पर एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया और नौ सालों तक उसे शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना दी।


उन्हें जिस तनाव से गुजरना पड़ा उससे वह शारीरिक रूप से कमजोर और कैंसर से प्रभावित हो गईं। वह आतंकवादी नहीं बल्कि राष्ट्रवादी महिला हैं।मालेगांव बम धमाकों की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर द्वारा 26/11 आतंकी हमले में शहीद हुए मुंबई एटीएस के पूर्व प्रमुख हेमंत करकरे को लेकर दिये गए बयान कि उनकी मौत उनके 'शाप' की वजह से हुई, के बारे में पूछे जाने पर रामदेव ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हमें महिला के प्रति कुछ संवेदना दिखानी चाहिए और उस व्यथा और कड़वाहट को समझने की कोशिश करनी चाहिए जिसकी वजह से उन्होंने ऐसा बयान दिया होगा। करकरे को उनके हिंदू आतंकवादी होने का संदेह था। यह पूछे जाने पर कि क्या वह भोपाल जाकर प्रज्ञा ठाकुर के पक्ष में प्रचार करने जाएंगे, रामदेव ने कहा कि मैंने आपसे जो कहा वह आपको सुर्खियां देने के लिये पर्याप्त हैं।


कृपया इससे संतुष्ट रहें।योग गुरु ने कहा कि आम तौर पर वह नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान नेताओं के साथ नहीं रहते लेकिन प्रसाद के लिये वह आए हैं क्योंकि उन्हें वह पाटलिपुत्र के लिये मंगलकारी मानते हैं जैसे प्रधानमंत्री मोदी देश के लिये हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीख करते हुए योग गुरु ने कहा कि मोदी का सिर्फ एक एजेंडा है भारत को महाशक्ति बनाना। इस लक्ष्य की पूर्ति के लिये वह रोजाना 16-20 घंटा काम करते हैं। और उनका दिमाग एक तरफ केंद्रित है क्योंकि उनका कोई परिवार नहीं है न ही कोई अन्य भटकाव।


भारत के उज्जवल भविष्य के लिए संकल्पबद्ध हैं काशीवासी : मोदी

संवाददाता : वाराणसी उत्तर प्रदेश 



                   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काशीवासियों का आभार व्यक्त करते हुए शुक्रवार को कहा कि भारत के उज्जवल भविष्य के लिए काशीवासी संकल्पबद्ध हैं। मोदी ने वाराणसी लोकसभा सीट से अपना नामांकन करने के बाद यहां संवाददाताओं से कहा,  मैं काशीवासियों का अंत:करणपूर्वक आभार व्यक्त करता हूं। पांच साल के बाद फिर एक बार काशीवासियों ने मुझे आशीर्वाद दिया है।  उन्होंने कहा,  एक प्रकार से कल शाम के पांच बजे से  रात के चार छह घंटे निकाल दें, इतना लंबा रोडशो 12-15 घंटे का रोड शो  भारत के उज्जवल भविष्य के लिए काशीवासी संकल्पबद्ध हैं। 


प्रधानमंत्री ने कहा,  ये जो प्यार, जो दुलार, जो आशीर्वाद काशीवासियों ने दिया है, मैं हृदयपूर्वक उनका आभार व्यक्त करता हूं। उन्होंने मतदाताओं से अपील की, मैं सभी मतदाताओं से प्रार्थना करूंगा कि सभी मतदाता जहां जहां चुनाव बाकी हैं … अभी तीन चरण हुए हैं । बाकी जिन चरणों का मतदान बाकी है, सभी चरण में बहुत शांतिपूर्ण तरीके से लोकतंत्र के उत्सव के रूप में मतदान करें। 


उन्होंने कहा,  ऐसा माहौल कुछ लोग बनाने लगे हैं कि मोदी जी तो जीत गये इसलिए वोट नहीं करोगे तो चलेगा । कृपा करके ऐसे लोगों की बात में मत आइये। मतदान आपका हक है और लोकतंत्र एक उत्सव है इसलिए सब लोगों को मतदान करना चाहिए। मोदी ने कहा,  लोकतंत्र मजबूत करना चाहिए। सरकार मजबूत बनानी चाहिए। लोकतंत्र मजबूत करने के लिए मतदान करना चाहिए।


15 वां वित्त आयोग पंचायती राज मंत्रालय से मिला...

संवाददाता : नई दिल्ली 



               पंचायती राज मंत्रालय के सचिव श्री राहुल भटनागर तथा वरिष्ठ अधिकारियों ने 15 वें वित्त आयोग के अध्यक्ष एन.के. सिंह, आयोग के सदस्यों तथा वरिष्ठ अधिकारी के समक्ष प्रेजेंटेशन दिया। 


संविधान के अनुच्छेद 280 (3बीबी) में यह प्रावधान है कि राज्य में पंचायतों के संसाधनों की पूरक व्यवस्था के लिए राज्य की संचित निधि को मजबूत बनाने के उपाय वित्त आयोग द्वारा की गई सिफारिशों के आधार पर किए जाने चाहिए। वित्त आयोग को दिए गए विभिन्न प्रस्तावों में मंत्रालय ने 15वें वित्त आयोग द्वारा पंचायतों को 10,00,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव है। यह 14 वें वित्त आयोग द्वारा दी गई राशि से 399 प्रतिशत अधिक है।


 बैठक में मंत्रालय के प्रस्तावों पर विस्तार से चर्चा की गई। इनमें निम्नलिखित शामिल हैं: 



  • विभिन्न श्रेणियों की पंचायतों को आवंटन।

  • कार्य प्रदर्शन अनुदान प्रावधान के लिए तौर-तरीकों में संशोधन।      

  • गैर-भाग IX क्षेत्रों / डीपी तथा आईपी तथा केन्द्रशासित पंचायतों को धन आवंटन।       

  • निर्माण को छोड़कर सतत विकास लक्ष्यों को गतिविधियों से जोड़ना।     

  • पंचायतों द्वारा डिजिटल प्रौद्योगिकी अपनाने में वृद्धि की आवश्यकता।          

  • स्व संसाधन राजस्व को मजबूत बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा व्यवस्था विकसित करना। 


मंत्रालय और आयोग इस बार सहमत थे कि पंचायती राज संस्थानों के सभी तीन स्तरों को धन दिया जाना चाहिए और धन आवंटन का अनुपात एक सीमा में होना चाहिए।आयोग सभी प्रस्तावों को देखेगा, ताकि अंतिम सिफारिश की जा सके।