शनिवार, 23 जनवरी 2021

हरिपुरा में कार्यक्रम हमारे देश को नेताजी बोस के योगदान के लिए उन्‍हें श्रद्धांजलि होगा : प्रधानमंत्री

 संवाददाता : नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस की जयंती की पूर्व संध्‍या पर उन्‍हें श्रद्धां‍जलि अर्पित की ट्वीट्स की एक श्रृंखला में, श्री मोदी ने कहा  कल, भारत महान नेता नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस की जयंती पराक्रम दिवस के रूप में मनाएगा। देश भर में आयोजित किए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों में से एक विशेष कार्यक्रम गुजरात के हरिपुरा में आयोजित किया जा रहा है। दोपहर 1 बजे शुरू हो रहे कार्यक्रम में शामिल होइए।

हरिपुरा का नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस के साथ एक विशेष संबंध रहा है। 1938 के ऐतिहासिक हरिपुरा अधिवेशन में नेताजी बोस ने कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष पद संभाला था। हरिपुरा में कल का कार्यक्रम हमारे राष्ट्र के लिए नेताजी बोस के योगदान को एक श्रद्धांजलि होगी।

नेताजी बोस की जयंती की पूर्व संध्या पर, मेरा मन 23 जनवरी 2009 का दिन याद करता है- जब हमने हरिपुरा से ई-ग्राम विश्वग्राम परियोजना शुरू की थी। इस पहल ने गुजरात के आईटी बुनियादी ढांचे में क्रांति ला दी और राज्य के सुदूरवर्ती भागों के गरीब लोगों को प्रौद्योगिकी का लाभ मिला।

मैं हरिपुरा के लोगों के स्नेह को कभी नहीं भूल सकता, जो मुझे उसी सड़क पर एक विस्तृत जुलूस के माध्यम से ले गए, जिस सड़क पर नेताजी बोस 1938 में गए थे। उनके जुलूस में एक सजा हुआ रथ शामिल था जिसे 51 बैलों ने खींचा था। मैंने उस जगह का भी दौरा किया जहाँ नेताजी हरिपुरा में रुके थे।

ईश्‍वर करे कि नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस के विचार और आदर्श हमें एक ऐसे भारत के निर्माण की दिशा में काम करने की प्रेरणा प्रदान करें, जिस पर उन्हें गर्व होगा ... एक मजबूत, आत्मविश्वासी और आत्मनिर्भर भारत, जिसका मानव-केंद्रित दृष्टिकोण आने वाले वर्षों में एक बेहतर ग्रह के निर्माण में योगदान देगा।

तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री ने तकनीकी शिक्षा के विद्यार्थियों को पेटेंट के क्षेत्र में कार्य करने के लिए किया प्रेरित...

 संवाददाता  : जयपुर राजस्थान

राज्यपाल एवं  कुलाधिपति कलराज मिश्र की अध्यक्षता में तथा राष्ट्रीय प्रत्यायन मण्डल (एन.बी.ए.) प्रो.के.के. अग्रवाल के मुख्य आतिथ्य में राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय कोटा का 10वां दीक्षान्त समारोह शुक्रवार को वर्चुअल आयोजित किया गया।

विशिष्ठ अतिथि तकनीकी शिक्षा एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री  डॉ.सुभाष गर्ग ने दीक्षान्त समारोह में तकनीकी शिक्षा के विद्यार्थियों को पेटेंट के क्षेत्र में कार्य करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने उपाधि एवं गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि तकनीकी छात्र बहुत अच्छा कर रहे हैं। आरटीयू कोटा पुराना एवं प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय है, किन्तु यह भी एक चुनौती है कि अभी तक विश्वविद्यालयों की ओर से पेटेंट के क्षेत्र में कार्य नहीं हो पाया है। उन्होंने छात्र-छात्राओं को प्रेरित करते हुए कहा कि वे आगे आए और पूर्व छात्र के रूप में अध्ययनरत विद्यार्थियों को सहयोग करें। 
 
डॉं. गर्ग ने कहा कि तकनीकी विश्वविद्यालय से पास आउट होने वालों की संख्या में तो वृद्धि हो रही है किन्तु गुणवत्ता में भी वृद्धि की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमें चुनौतियों को भी अंगीकार करना होगा। उन्होंने कहा कि जनजातीय क्षेत्रों तथा ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को तकनीक से जोड़कर उन्हें आगे बढ़ने के अवसर देने होंगे।
 
उन्होंने कहा कि आरटीयू और बीटीयू गावों में टेक्नोहब बनाकर हम युवा पीढ़ी को इन टेक्नो हब से जोड़े ताकि उनके लिए रोजगार के अवसर पैदा हो और उनमें उद्यमिता का विकास हो सके। उन्होंने कहा कि एन.बी.ए. के पैरामीटर्स अच्छे है किन्तु नए र्कोसेस के लिए कुछ छूट दी जानी अपेक्षित है। उन्होंने कहा कि हमारे विद्यार्थियों में लीडरशिप का विकास हो, नए कोर्सेज और रिसर्च को बढ़ावा मिले इस पर बल देना आवश्यक है।

अच्छी सोच और स्वास्थ्य के लिए जरूरी है खेल: राज्यपाल

 संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश 

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि अच्छी सोच और बेहतर स्वास्थ्य के लिए जीवन में खेल बहुत जरूरी है। राज्यपाल शुक्रवार राजभवन में 22 दिसंबर से 22 जनवरी तक चली खेल प्रतियोगिता के समापन और पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रही थी। इस अवसर पर खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया एवं राज्यपाल के प्रमुख सचिव डी.पी. आहूजा उपस्थित थे।

परिणाम नहीं खेलना महत्वपूर्ण

राज्यपाल पटेल ने कहा कि खेल में हार-जीत के परिणाम नहीं, भाग लेना मायने रखता है। उन्होंने कहा कि खेल व्यक्तियों को आपस में जोड़ता है। उन्होंने कहा कि प्रसन्नता की बात है कि खेल प्रतियोगिताओं के दौरान राजभवन के अधिकारी-कर्मचारियों में आपसी समझ बढ़ी है। वे एक दूसरे की मदद और सहयोग के लिए आगे आने लगे हैं। खेलने से सहयोग, अनुशासन और निरंतर प्रयासों से सफलता का विश्वास मिलता है। उन्होंने 50 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं की विशेष सराहना करते हुए कहा कि उनके प्रदर्शन से सीख मिलती है कि कभी भी कोई भी काम सफलता पूर्वक किया जा सकता है। आवश्यकता संकल्प की है। राज्यपाल ने राजभवन के अधिकारी-कर्मचारियों का आव्हान किया कि राजभवन में उपलब्ध मैदानों का इस्तेमाल खेलने में करें।

प्रतियोगिता में दिखी उत्कृष्ट खेल भावना

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने परिसहाय श्री सुभाष आनंद द्वारा खेल प्रतियोगिता में भाग लेने और खेल भावना के प्रदर्शन के प्रसंग की सराहना करते हुए खेल और खेल भावना की महत्ता को बताया। उन्होंने बताया राजभवन में पदस्थ एडीसी सुभाष आनंद को दौड़ में वेटर के पद पर कार्यरत रिंकू ने नंगे पैर दौड़ कर पीछे छोड़ दिया था। रिंकू की प्रतिभा को देख श्री आनंद ने उसे रनिंग शूज भेंट कर, सच्ची खेल भावना का प्रदर्शन किया। इससे प्रेरणा लेनी चाहिए।

राजभवन में होगा मलखंब का प्रशिक्षण

समापन समारोह में खेल विभाग द्वारा मलखंब का प्रदर्शन किया गया। राज्यपाल ने खिलाड़ियों की गति, शक्ति और चपलता की सराहना करते हुए राजभवन में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कराने और इस मलखंब का कोच राजभवन को देने के लिए कहा है।

राज्यपाल की पहल अनुकरणीय

समापन समारोह को संबोधित करते हुए खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी एवं कौशल विकास मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि राजनैतिक जीवन में उन्हें पहली बार राजभवन द्वारा आयोजित खेल प्रतियोगिताओं में शामिल होने का अभूतपूर्व अवसर मिला। राज्यपाल की यह पहल सराहनीय और अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि खेलों में हिस्सा लेने से राजभवन में रहने वाले अधिकारी-कर्मचारी और उनके परिजनों में जीवन के प्रति उल्लास, ऊर्जा और उमंग बनी रहेगी। उन्होंने मलखंब और एयरोबिक्स के प्रतिभागियों को बधाई देते हुए खेल विभाग की तरफ से राजभवन की खेल गतिविधियों में सहयोग देने का आश्वासन दिया।

हनुमान चालीसा पर मलखंब

समारोह का आकर्षण राहुल पाल, प्रणीत यादव, सागर चौहान, उत्कर्ष पांडे और युवराज राव का हनुमान चालीसा पर मलखंब का प्रदर्शन था। उन्होंने जिस चपलता और चुस्ती के साथ प्रदर्शन किया उसने राज्यपाल, खेल मंत्री और उपस्थित दर्शकों को चकित कर दिया। ए.आर. रहमान की धुनों पर बालिकाओं द्वारा एरोबिक्स के प्रदर्शन की भी राज्यपाल ने सराहना की।

राजभवन नियंत्रक ने बताया कि यह प्रतियोगिता का दूसरा वर्ष है। इसके पहले राज्यपाल श्रीमती पटेल के निर्देश पर ही प्रथम खेल प्रतियोगिता की शुरूआत हुई थी। नियंत्रक ने जानकारी दी कि लगभग एक माह चली इस खेल प्रतियोगिता में 326 प्रतिभगियों ने हिस्सा लिया, जिसमें 121 महिलायें और 205 पुरूष थे। लगभग 14 प्रतियोगिताओं में पाँच से 60 वर्ष उम्र के प्रतिभागियों ने फ्रंट रोल दौड़, रस्साकशी, नींबू-चम्मच दौड़, म्यूजिकल चेयर रेस, जलेबी जम्प, गोला फेक, बिलियर्डस जैसे खेलों में भाग लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

कार्यक्रम में राज्यपाल ने पूर्व हॉकी खिलाड़ी समीर दाद, जी.एल. यादव, हर्षिता तोमर और लतिका भंडारी को सम्मानित किया। कार्यक्रम के अंत में राजभवन के पीएसओ जगन्नाथ सूर्यवंशी के पुत्र आदित्य सूर्यवंशी ने राज्यपाल को पेंटिग भेंट की। कार्यक्रम का संचालन पदम भंडारी ने किया। इस कार्यक्रम में राजभवन के अधिकारी-कर्मचारी एवं उनके परिजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

छत्तीसगढ़ के खाद्य प्रोसेसिंग उद्योग में तैयार फ्रोजन फूड प्रोडक्ट की पहली खेप भेजी गई न्यूजीलैंड...

 संवाददाता : रायपुर छत्‍तीसगढ़

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार यहां अपने निवास से छत्तीसगढ़ के खाद्य प्रोसेसिंग उद्योग गोयल ग्रुप द्वारा निर्मित फ्रोजन फूड प्रोडक्ट ‘‘गोल्ड‘‘ की विदेश में जाने वाली पहली कन्साइनमेंट को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि यह अत्यंत हर्ष की बात है कि छत्तीसगढ़ का स्वाद अब विदेश में भी चखा जाएगा। राज्य के बाहर देश-विदेश में भी  छत्तीसगढ़ की माटी की सौंधी महक और स्वाद का जादू और अधिक छायेगा। 

उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत ठीक छः महीने पूर्व कोरोना संकटकाल में हुई थी और इतने कम समय में एक नया उत्पाद छत्तीसगढ़ से देश के बाहर न्यूजीलैंड भेजा जा रहा है, मैं इसके लिये गोयल ग्रुप ऑफ कंपनी को बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूँ । इससे छत्तीसगढ़ का नाम देश और विदेश में और अधिक रौशन होगा, यह हमारे लिए गर्व की बात है। मुख्यमंत्री बघेल ने इस अवसर पर कम्पनी के चेयरमैन सुरेश गोयल सहित ग्रुप से जुड़े सभी लोगों को बधाई और शुभकामनायें दी।

गोयल समूह के मैनेजिंग डायरेक्टर राजेन्द्र गोयल ने बताया कि मुख्यमंत्री बघेल के हाथों 9 जून को छत्तीसगढ़ की पहली फ्रोजन फूड इकाई का शुभारंभ किया गया। कोरोना संकट के दौर में प्रारंभ हुये इस इकाई ने हजारों लोगों को रोजगार दिया है, जिसमें लगभग 60 प्रतिशत महिलाएं हैं। उन्होंने बताया कि बहुत जल्द छत्तीसगढ़ की माटी की महक लिए गोल्ड की यह फ्रोजन फूड रेंज अमेरिका, कैनेडा, मालदीव, रशिया, मॉरिशस समेत मिडिल ईस्ट के बाजारों में भी अपनी पहचान बनाएगा।

इस उत्पाद को  FSSAI, USFDA, HALAL, FSSC 20-2000, BRCGS जैसे राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों से लायसेंस प्राप्त होने के साथ ही फूड ऑडिट, क्वालिटी और सेफ्टी स्टैंडर्ड को भी ए-ग्रेड मिला है । इस अवसर पर गोयल समूह के चेयरमैन सुरेश गोयल, मैनेजिंग डायरेक्टर राजेन्द्र गोयल,बजरंग एलियांज लिमिटेड के डायरेक्टर अर्चित गोयल भी उपस्थित थे।

उत्तराखंड की प्रमुख खबरें...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 

उत्तराखंड की प्रमुख खबरें  :

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को देहरादून के प्रेमनगर में 63.39 लाख की लागत से निर्मित बहुद्देशीय क्रीडा भवन का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने प्रेमनगर में मिनी स्टेडियम बनाये जाने की भी घोषणा की। उन्होेंने कहा कि प्रदेश के विकास की दिशा में सरकार पूरी गंभीरता के साथ काम रही है। कहा कि जल्द ही सूर्यधार झील बनने से देहरादून को ग्रेविटी सिस्टम से पानी उपलब्ध कराया जायेगा। जिससे बिजली पर खर्च होने वाले करोड़ों रूपए की बचत होगी।


राष्ट्रीय रंगशाला नई दिल्ली में आयोजित समारोह में उत्तराखंड की ओर से झांकी का प्रदर्शन किया गया। केदारखंड नाम की यह झांकी आकर्षण का प्रमुख केंद्र रही। उत्तराखंड राज्य के कलाकारों ने पारंपरिक वेशभूषा में सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी जिसे लोगों की ओर से खूब सराहा गया। बता दें कि उत्तराखंड की झांकी में सूचना विभाग के उपनिदेशक के एस चैहान के नेतृत्व में 12 कलाकार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी में भाग ले रहे हैं। चौहान ने बताया कि राजपथ पर इस बार उत्तराखंड की झांकी केदारखंड सबके लिए आकर्षण का केंद्र रहेगी।


मुख्यमंत्री ने शुक्रवार देहरादून में उत्तराखंड के प्रथम बाल मित्र थाने का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि बाल मित्र थाने के रूप में की गई यह नई शुरूआत पुलिस का एक सुधारात्मक कदम है। कहा कि बच्चे कच्ची मिट्टी की तरह होते हैं, हम उन्हें जिस माहौल में ढालना चाहें, ढाल सकते हैं। हमारे देश के भविष्य इन बच्चों को हम इन थानों के माध्यम से सही दिशा में ढालने का कार्य कर सकते हैं। कहा कि बाल मित्र थाने के माध्यम से समाज में एक नई सोच विकसित होगी। बच्चों की सुरक्षा के लिए उन्होंने एक करोड़ के रिवाॅल्विंग फंड की भी घोषणा की।



मुख्यमंत्री ने कुल्लू जिले में विकासात्मक परियोजनाओं के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए...

 संवाददाता : शिमला हिमाचल

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कूल्ल जिले में निर्माणाधीन विभिन्न विकास परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा के लिए कुल्लू में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दिए कि सभी निर्माणाधीन परियोजनाओं को निर्धारित समय सीमा में पूरा करना सुनिश्चित बनाया जाए।
 
उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षांे से यातायात के लिए बंद पड़े कुल्लू के भूतनाभ पुल को इसी वर्ष मार्च महीने तक यातायात के लिए बहाल किया जाए। यातयात की दृष्टि से यह महत्वपूर्ण पुल है जिसके बंद होने लोगों को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस पुल के मुरम्मत कार्य में कोई तकनीकी खामी नहीं रहनी चाहिए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि पुल निर्माण में गुणवत्ता से समझौता करने के दोषी ठेकेदार और इंजीनियरों की जिम्मेवारी तय कर उनके विरूद्ध कार्रवाई की जाए।

जय राम ठाकुर ने मनाली शहर तथा इसके समीपवर्ती गांवों के लिए 162 करोड़ की मल निकासी परियोजना के कार्य को शीघ्र शुरू करवाने को कहा। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के लिए 21 करोड़ रुपये लागत की पाईपें खरीदी जा चुकी हैं लेकिन परियोजना पर कार्य शुरू नहीं हो पाया है। उन्होंने जल शक्ति विभाग के अधिकारियों को तय समय सीमा में परियोजना का कार्य पूरा करने के निर्देश दिए।
 
बंजार में नागरिक अस्पताल के दो खण्डों के निर्माण में अनावश्यक विलंब पर असंतोष व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस भवन का निर्माण कार्य जनवरी, 2022 तक पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपायुक्त को जिला की निर्माणाधीन परियोजनाओं की स्वयं निगरानी करने तथा समय-समय पर बैठकें आयोजित करने को कहा ताकि छोटे-छोटे कारणों से निर्माण कार्यों में हो रहे व्यवधान का समाधान किया जा सके।
 
जय राम ठाकुर ने कहा कि बंजार बाईपास के लिए सरकार ने 734.40 लाख रुपये की राशि स्वीकृत की है जिसका निर्माण कार्य शीघ्र शुरू किया जाना चाहिए। उन्होंने मनाली के रामबाग में आॅडिटोरियम के निर्माण की सभी औपचारिकताओं को जल्द पूरा करने को कहा ताकि वहां एक आधुनिक आॅडिटाॅरियम का निर्माण किया जा सके जिसका उपयोग शरदोत्सव जैसे बडे़ कार्यक्रमों के आयोजन के लिए किया जा सकता है।उन्होंने 549 लाख रूपये की लागत से निर्मित होने वाले उपायुक्त कार्यालय के बहुद्देशीय भवन का निर्माण कार्य एक वर्ष के भीतर पूर्ण करने को कहा। उन्होंने कहा कि कुल्लू बस अड्डा का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है जिसे इसी वर्ष मार्च माह में लोगों को समर्पित किया जाएगा।
 
मुख्यमंत्री ने कुल्लू जिला में कोविड-19 के संकट से निपटने के लिए उठाए गए प्रभावी कदमों के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की सराहना की। उन्होंने संतोष व्यक्त किया कि जिले में कोविड मामलों में तेजी से गिरावट आई है और मौजूदा समय में जिले में केवल 10 सक्रिय मामले हैं।शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि मनाली में आॅडिटोरियम बनने से विभिन्न गतिविधियों का बेहतर ढंग से आयोजन किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि वह स्वयं इसकी प्रक्रिया व औपचारिकताओं की निगरानी कर रहे हैं।
 
बंजार के विधायक सुरेन्द्र शौरी ने मुख्यमंत्री से बंजार बाईपास तथा इस पर निर्मित होने वाले पुल का शीघ्र निर्माण करवाने का आग्रह किया क्योंकि बंजार में यातायात की समस्या काफी गंभीर है। मुख्यमंत्री को अवगत करवाया गया कि चार बीघा निजी भूमि का अधिग्रहण कर लिया गया है और जल्द ही निर्माण कार्य आरम्भ कर दिया जाएगा।  

25 जनवरी को हरियाणा सिविल सचिवालय चंडीगढ़ में 11वां राज्यस्तरीय मतदाता दिवस वर्चुअल तौर पर मनाया जाएगा : मुख्य सचिव

 संवाददाता चंडीगढ़ हरियाणा 

आगामी 25 जनवरी को हरियाणा सिविल सचिवालय चंडीगढ़ में 11वां राज्यस्तरीय मतदाता दिवस वर्चुअल तौर पर मनाया जाएगा। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में हरियाणा के मुख्य सचिव विजयवर्धन मुख्य अतिथि होंगे जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा करेंगे । राज्य के सभी उपायुक्त व अन्य अधिकारी भी अपने-अपने जिला से वर्चुअल तौर पर उक्त कार्यक्रम से जुड़े रहेंगे।

इस बारे में जानकारी देते हुए मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने बताया कि मतदाता दिवस जिला स्तर से लेकर मतदान केंद्र स्तर तक मनाया जाएगा जिसमें मतदाताओं को उनके संवैधानिक अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के चलते भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशन में राज्य में फोटोयुक्त मतदाता सूचियों का दो बार विशेष संक्षिप्त पुनर्निरीक्षण किया गया।

अग्रवाल ने बताया कि एक जनवरी 2021 को पात्रता तिथि के आधार पर संशोधित की गई मतदाता सूचियों के दौरान राज्य में 5,02,030 नए मतदाता बनाए गए, जिससे अब 1,88,08,322 मतदाता हैं। इनमें से 1,00,44,531 पुरूष तथा 87,63,791 महिला मतदाता हैं।

उन्होंने यह भी बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाताओं को जागरूक करने के लिए ‘सभी मतदाता बनें सशक्त, सतर्क, सुरक्षित एवं जागरूक’ विषय पर सेमीनार किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस मतदाता दिवस पर मतदाताओं को दो चरणों में ई-एपिक की सुविधा प्रदान की जाएगी। पहला चरण 25 जनवरी से 31 जनवरी तक होगा जिसमें यूनिक मोबाइलयुक्त नए बने मतदाता शामिल होंगे। दूसरे चरण में यह सुविधा सभी पंजीकृत मतदाताओं के लिए उपलब्ध हो जाएगी।

झारखण्ड ख्रीस्तीय अल्पसंख्यक शिक्षण संस्था के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की...

 संवाददाता : रांची झारखंड

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से झारखण्ड ख्रीस्तीय अल्पसंख्यक शिक्षण संस्था के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की।प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को गैर सरकारी सहायता प्राप्त अल्पसंख्यक प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षाकर्मियों की लंबित समस्याओं से सम्बंधित ज्ञापन सौंपा।

मुख्यमंत्री ने लंबित समस्याओं पर विचार करने का आश्वासन प्रतिनिधिमंडल को दिया। इस मौके पर विधायक भूषण तिर्की, विधायक चमरा लिंडा, विधायक जीगा सुसारण होरो, आर्च बिशप ऑफ रांची रेवरेंड फेलिक्स टोप्पो, बिशप ऑफ गुमला पॉल रेवरेंड अलोइस लकडा, बिशप ऑफ सिमडेगा रेवरेंड विंसेंट बरवा, बिशप ऑफ दुमका रेवरेंड जूलियस मरांडी, बिशप ऑफ खूंटी रेवरेंड विनय कंडुलना, बिशप ऑफ हजारीबाग रेवरेंड आनंद जोजो, बिशप ऑफ जमशेदपुर रेवरेंड टेल्सफोर बिलुंग एसवीडी, बिशप ऑफ रांची रेवरेंड थिओडोर मस्कारेनहास एसएफक्स, बिशप ऑफ सीएनआई रांची रेवरेंड बासिल बलिया बासकी, बिशप ऑफ जीईएल चर्च खूंटी रेवरेंड जोसेफ सांगा, बिशप ऑफ एनडब्लूजीईएल चर्च रांची रेवरेंड दुलार लकडा,  सचिव जेएसीएमईआईए रांची फादर हुबेटस बेक, जेनरल सेक्रेटरी हायर सेकेंडरी झारखण्ड फादर एरेंटिस मिंज, जेनरल सेक्रेटरी प्राइमरी स्कूल झारखण्ड श्री निरंजन कुमार सांडिल और इंस्पेक्टर ऑफ स्कूल रांची फादर मुकुल कुल्लू उपस्थित थे।