शुक्रवार, 31 मई 2019

ओखला में बनेगा भारत का सबसे बड़ा एसटीपी : अरविंद केजरीवाल

प्रजा दत्त डबराल : नई दिल्ली


            दिल्ली के मुख्यमंत्री और दिल्ली जल बोर्ड के चेयरमैन अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में दिल्ली जल बोर्ड की 146वीं बैठक 29 मई, 2019, बुधवार को हुई। इस बैठक में कई अहम फैसले लिये गये।



चंद्रावल में नया वाटर ट्रीटमेंट प्लांट


चंद्रावल में एक नया ड्रिंकिंग वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनाने को मंजूरी दी गई है। इसकी क्षमता 477 एमएलडी/106 एमजीडी(48 करोड़ लीटर प्रतिदिन) है। इसकी लागत 598 करोड़ रुपये है। यह प्लांट उच्च स्तर के अमोनिया कंटेंट ( 4 पीपीएम तक ) ट्रीट कर सकेगा। अब तक प्लांट 1 पीपीएम अमोनिया कंटेंट में बंद हो जाते थे जिससे जल आपूर्ति बाधित हो जाती थी। इस प्लांट का निर्माण तीन साल में पूरा किया जाएगा। इस डब्ल्यूटीपी की वजह से हरियाणा से अमोनिया डिस्चार्ज की के चलते डब्ल्यूटीपी बंद होने की समस्या का समाधान हो जाएगा।


इस डब्ल्यूटीपी से सिविल लाइंस, करोल बाग, राजेंदर नगर, नारायणा, दिल्ली कैंट के कुछ हिस्से, एनडीएमसी एरिया, चांदनी चौक इत्यादि इलाकों को फायदा मिलेगा। इससे करीब 22 लाख लोगों को फायदा होगा। आधुनिक सेंट्रल वाटर मॉनिटरिंग सिस्टम से लैस इस प्लांट का निर्माण कार्य पूरा हो जाने के बाद इन इलाकों में जल आपूर्ति की निगरानी और नियंत्रण और आसान हो जाएगा।


क्लीन यमुना : ओखला में भारत का सबसे बड़ा एसटीपी


दिल्ली जल बोर्ड की बैठक में ओखला में 564 एमएलडी (56 करोड़ 40 लाख लीटर प्रति दिन) क्षमता वाले एक नये एसटीपी के निर्माण को मंजूरी दी गई। इसकी लागत 1161 करोड़ रुपये है। यह भारत का सबसे बड़ा वेस्टवाटर ट्रीटमेंट प्लांट है। साथ ही यह दुनिया से सबसे बड़े वेस्टवाटर ट्रीटमेंट प्लांट्स में से एक है। इसका निर्माण यमुना एक्शन प्लान 3 के तहत किया जा रहा है। इस प्लांट की वजह से यमुना नदी के जल की गुणवत्ता पर बेहद सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। ये नया एसटीपी यमुना का प्रतिदिन 41,200 किग्रा ऑर्गेनिक पॉल्यूटेंट लोड और प्रतिदिन 61,600 किग्रा सॉलिड लोड हटाएगा। इस नये एसटीपी से चांदनी चौक, कश्मीरी गेट, दरियागंज, एमडीएमसी एरिया, लोधी कॉलोनी, निजामुद्दीन, ओखला, बदरपुर, कालकाजी, मालवीय नगर, कटवरिया सराय, लाजपत नगर, ग्रेटर कैलाश और दक्षिण दिल्ली के मुनरिका से बदरपुर जैसे इलाकों में रहने वाले लोगों को फायदा होगा। इन इलाकों में रहने वाले करीब 40 लाख लोगों को इस परियोजना का लाभ मिलेगा।


राजघाट में नई झील


भूजल स्तर में गिरावट के समाधान और पानी की आपूर्ति के लिये पड़ोसी राज्यों पर निर्भरता कम करने के लिए दिल्ली जल बोर्ड ने नये तरीके खोजे हैं। इसके तहत रेनवाटर हार्वेस्टिंग और मौजूदा वाटर बॉडीज के पुनरुद्धार के जरिये ग्राउंडवाटर को रिचार्ज किया जाता है। दिल्ली जल बोर्ड ने पहले ही नई वाटर बॉडीज विकसित करने और मौजूदा वाटर बॉडीज के पुनरुद्धार की महात्वाकांक्षी परियोजना पर काम शुरू कर दिया है। इसी के तहत राजघाट के पीछे एक नई वाटर बॉडी विकसित की जाएगी। दिल्ली जल बोर्ड की इस बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। इसके तहत राजघाट बस डिपो के पास 40 एकड़ की एक झील का निर्माण किया जाएगा। इस झील में दिल्ली गेट के पास 15 एमजीडी क्षमता वाले एसटीपी से पानी लाया जाएगा। राजघाट पावर प्लांट बंद होने वाले बाद इस जगह का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट से यमुना में डाले जाने वाले ऑर्गेनिक लोड पॉल्यूटेंट में 675 किग्रा की कमी आएगी। इस प्रोजेक्ट की कुल लागत 36.51 करोड़ रुपये है।


किलोकरी में वाटर म्यूजियम


दिल्ली जल बोर्ड की बैठक में किलोकरी में एक वाटर म्यूजियम, ट्रेनिंग सेंटर और वाटर बॉडी के निर्माण को भी मंजूरी दी गई। दिल्ली में वाटर, वेस्टवाटर, रेनवाटर, यमुना के साथ दिल्ली का ऐतिहासिक संबंध जैसी जानकारियों से जनता को रूबरू कराने के लिए ये म्यूजियम बनाया जाएगा। इसके अलावा यहां स्कूली बच्चों, प्रोफेशनल्स, स्वयं सेवी संस्थाओं, विभिन्न आरडब्ल्यूए और आम लोगों के लिए एक ट्रेनिंग सेंटर भी खोला जाएगा। इसमें वाटर कंजर्वेशन, रेनवाटर हार्वेस्टिंग, डिसेंट्रलाइज्ड वेस्टवाटर ट्रीटमेंट, वाटरबॉडी कंजर्वेशन और ग्राउंडवाटर रिचार्ज इत्यादि से संबंधित ट्रेनिंग दी जाएगी। इस प्रोजेक्ट की लागत 12 करोड़ रुपये है।


नजफगढ़ ड्रेनेज जोन के कमांड में 14 एसटीपी


दिल्ली जल बोर्ड की मीटिंग में ये भी फैसला लिया गया कि नजफगढ़ ड्रेनेज जोन के कमांड में 14 एसटीपी बनाये जाएंगे। इसके अलावा सोमेश विहार, झुलझुली और ढिचाऊंकलां की विभिन्न कॉलोनियों में सीवर लाइन भी डाली जाएंगी। इस प्रोजेक्ट के तहत 160 कच्ची कॉलोनियों और47 गांवों में सीवर लाइन डाली जाएंगी। इससे करीब 8 लाख लोगों को फायदा होगा।


इनके अलावा दिल्ली जल बोर्ड ने दिल्ली में रेनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को लागू करने के लिए विभिन्न संस्थानों/फर्मों/एजेंसियों के इम्पैनलमेंट की नीति को भी मंजूरी दे दी है। रूफटॉप वाटर हार्वेस्टिंग सहित रेनवाटर हार्वेस्टिंग को बढ़ावा देने के लिए इन एजेंसियों का इम्पैनलमेंट किया जा सकेगा। 


मंत्रियो ने अपना अपना पदभार संभाला...

संवाददाता : नई दिल्ली 


मुख्तार अब्बास नकवी ने केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री का पदभार संभाला


मुख्तार अब्बास नकवी ने नई दिल्‍ली स्थित अंत्योदय भवन में केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्यमंत्री का पदभार संभाला। इस अवसर पर अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय में सचिव श्री शैलेश एवंमंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने केन्‍द्रीय मंत्री का स्‍वागत किया।अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय का कामकाज संभालने के अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए नकवी ने कहा कि आने वाले दिनों में अल्पसंख्यक मंत्रालय की प्राथमिकता "3ई" यथा एजुकेशन, एम्प्लॉयमेंट और एम्पावरमेंट के माध्यम से अल्पसंख्यकों का शैक्षणिक-आर्थिक-सामाजिकसशक्तिकरण रहेगी। विकास की रोशनी को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना हमारा लक्ष्य है।



नकवी ने कहा कि मंत्रालय की प्राथमिकता अल्पसंख्यकों को बेहतर शिक्षा मुहैया कराना रहेगी।विशेषकर लड़कियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया कराकर बीच में ही स्कूली शिक्षा छोड़ देने (ड्रॉपआउट) की दर को कम करने के लिए युद्ध स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। इसदिशा में प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत देश भर में अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्रों में स्कूल, कॉलेज, आईटीआई, पॉलिटेक्निक, हॉस्टल, सद्भाव मंडप आदि का निर्माण युद्ध स्तर पर किया जायेगा।


नकवी ने कहा कि "हुनर हाट" जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से दस्तकारों, शिल्पकारों को मौका-मार्केट, रोजगार एवं रोजगार के अवसर मुहैया कराने के अभियान को और तेज किया जायेगा। आनेवाले दिनों में "हुनर हाट" देश भर के प्रमुख स्थानों पर लगाए जायेंगे।नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के "सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास" के संकल्प के तहत अल्पसंख्यक मंत्रालय ने अगले 100 दिनों का रोडमैप तैयार किया है जिसमेंअल्पसंख्यकों के शैक्षणिक-सामाजिक-आर्थिक सशक्तिकरण एवं रोजगार व रोजगार के अवसर मुहैया कराने वाले प्रभावी कार्यक्रम शामिल हैं।


नकवी ने कहा कि इसके अलावा देश भर में वक़्फ सम्पत्तियों का 100 प्रतिशत डिजिटिलाइज़ेशनएवं जीपीएस मैपिंग अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की प्राथमिकता रहेगी।


धर्मेंद्र प्रधान ने इस्‍पात मंत्री के पद का कार्यभार संभाला 


धर्मेंद्र प्रधान ने केंद्रीय इस्‍पात मंत्री के पद का कार्यभार संभाल लिया। कार्यभार संभालते समय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने उनका अभिवादन किया। इस्पात सचिव श्री बिनॉय कुमार, सेल के अध्‍यक्ष श्री अनिल कुमार चौधरी तथा इस्‍पात मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने प्रधान की अगवानी की।



कार्यभार संभालने के बाद धर्मेंद्र प्रधान को इस्‍पात सचिव ने इस्‍पात क्षेत्र के विभिन्‍न पहलुओं की जानकारी दी। कार्यभार संभालने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में प्रधान ने कहा कि इस्‍पात क्षेत्र हमारी अर्थव्‍यवस्‍था की वृद्धि में बहुत महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है और यह विनिर्माण क्षेत्र की ताकत का प्र‍तीक है।


उन्‍होंने कहा कि इस क्षेत्र की जटिलताओं को समझने के बाद वह राष्‍ट्रीय इस्‍पात नीति के समस्‍त लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने का प्रयास करेंगे।     


 सुरेश अंगड़ी चन्नबसप्पा का संक्षिप्‍त परिचय


सुरेश अंगड़ी चन्नबसप्पा ने यानी 31मई, 2019 को रक्षा राज्‍य मंत्री पद का कार्यभार संभाल लिया। इस अवसर पर रेलवे बोर्ड के अध्‍यक्ष श्री वी.के. यादव और बोर्ड के अन्‍य सदस्‍य भी मौजूद थे।सुरेश अंगड़ी चन्नबसप्पा कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं। वे बेलगाम से 17वीं लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए हैं। उन्होंने रेल राज्‍य मंत्री का कार्यभार संभाला है। 



उनका जन्‍म सोमाव्‍वा और चन्नबसप्पा के घर हुआ था और उन्‍होंने बेलगाम के एस.एस.एस. समिति कॉलेज ऑफ कॉमर्स से स्‍नातक की शिक्षा प्राप्‍त की। बाद में उन्‍होंने प्रतिष्ठित राजा लखमगौड़ा लॉ कॉलेज, बेलगाम से कानून में स्‍नातक की डिग्री हासिल की।


भारतीय जनता पार्टी के सदस्‍य अंगड़ी 1996 में पार्टी की बेलगाम जिला इकाई के उपाध्‍यक्ष बन गए। वह 1999 तक उसी पद पर रहे। 2001 में उन्‍हें पार्टी की जिला इकाई का अध्‍यक्ष नामित किया गया और 2004 में बेलागावी लोकसभा सीट के लिए पार्टी के उम्‍मीदवार नामित होने तक वह इसी पद पर रहे। 2009 के आम चुनाव में वह दूसरे कार्यकाल के लिए सांसद चुन लिए गए। 2014 में वह लगातार तीसरी बार लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए।


पीयूष गोयल ने वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री पद का कार्यभार संभाला


केंद्रीय वाणिज्‍य एवं उद्योग और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री का कार्यभार संभाल लिया। उनके साथ पूर्व वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु भी थे।



इस अवसर पर पीयूष गोयल ने कहा कि सुरेश प्रभु जैसे विचारक का स्‍थान ग्रहण करते हुए वे बेहद अनुगृहित हैं और वे मंत्रालय के कार्य को आगे बढ़ाने का प्रयास करेंगे। उन्‍होंने कहा कि वाणिज्‍य और उद्योग से संबंधित सभी मामलों का अध्‍ययन करेंगे और तत्‍काल ध्‍यान देने की आवश्‍यकता वाले मुद्दों से निपटने के लिए खुद को तैयार करेंगे।  


निर्मला सीतारमण ने वित्‍त और कॉरपोरेट कार्य मंत्री का पदभार संभाला 


निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट कार्य मंत्री का पदभार ग्रहण कर लिया। नॉर्थ ब्लॉक स्थित कार्यालय में वित्त और कॉर्पोरेट कार्य राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, वित्त सचिव श्री सुभाष चंद्र गर्ग और मंत्रालय के अन्य सचिवों ने उनका अभिवादन किया। श्रीमती सीतारमण पूर्णकालिक केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट कार्य मंत्री के रूप में नियुक्त होने वाली प्रथम महिला हैं।



पदभार संभालने के बाद केंद्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट कार्य मंत्री को वित्त एवं कॉर्पोरेट कार्य मंत्रालय के विभिन्न विभागों के सचिवों द्वारा महत्वपूर्ण कदमों और नीतिगत मुद्दों के बारे में  जानकारी दी गई और उन्‍हें भारतीय अर्थव्यवस्था के मौजूदा मुद्दों और भावी चुनौतियों से अवगत कराया गया।


निर्मला सीतारमण ने 2017 से केंद्रीय रक्षा मंत्री के रूप में सेवाएं प्रदान की। वह वर्तमान में कर्नाटक से राज्यसभा की सदस्‍य (सांसद) हैं। 2014 में, वह आंध्र प्रदेश से राज्यसभा की सदस्‍य चुनी गई थीं। वह वित्त और कॉर्पोरेट कार्य राज्य मंत्री और बाद में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री का स्‍वतंत्र प्रभार भी संभाल चुकी हैं।


मनसुख मांडविया ने जहाजरानी मंत्रालय में राज्‍य मंत्री का पदभार संभाला 


मनसुख एल. मांडविया ने नई दिल्‍ली में केन्‍द्रीय जहाजरानी राज्य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) के रूप में पदभार ग्रहण किया। वे केन्‍द्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री भी हैं।



मांडविया पिछली सरकार में केन्‍द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, जहाजरानी, रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री थे।मांडविया 2012 से राज्यसभा के सदस्य हैं। वह इससे पहले 2002-2007 के दौरान गुजरात के पालीताना से विधानसभा सदस्य थे।


प्रकाश जावड़ेकर ने सूचना एवं प्रसारण मं‍त्री के रूप में पदभार संभाला 


प्रकाश जावड़ेकर ने केन्‍द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री के रूप में पदभार ग्रहण किया।  इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के मंत्रिमंडल में काम करने के लिए अवसर प्रदान करने को लेकर उनके प्रति अपना आभार व्‍यक्‍त किया।



उन्‍होंने लोकतंत्र में समाचार माध्‍यमों की महत्‍वपूर्ण भूमिका के बारे में चर्चा की और एक स्‍वतंत्र प्रेस की दिशा में सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई। उन्‍होंने बोलने और अभिव्‍यक्ति की स्‍वतंत्रता के महत्‍व के बारे में चर्चा की, जो देश में लोकतांत्रिक लोकाचार का एक महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है।


जावड़ेकर ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारियों और मंत्रालय की मीडिया ईकाइयों के प्रमुखों से भी मुलाकात की। उन्‍होंने एक टीम के रूप में काम करने के लिए सबका आह्वान किया और भविष्‍य के प्रयासों में एक स्‍वस्‍थ और सतत साझेदारी की आशा व्‍यक्‍त की।


 


राष्‍ट्रपति ने प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने आए राष्‍ट्राध्‍यक्षों/ शासनाध्‍यक्षों के सम्‍मान में भोज दिया...

संवाददाता : नई दिल्ली 


          राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने (30 मई, 2019) राष्‍ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने आए राष्ट्राध्यक्षों-शासनाध्यक्षों के सम्मान में भोज दिया।   



भोज में शामिल गणमान्य अतिथियों में बांग्लादेश के राष्‍ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हमीद श्रीलंका के राष्‍ट्रपति  मैत्रीपाला सिरीसेना, किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव; म्यांमार के राष्ट्रपति यू विन मिंट, मॉरीशस के प्रधानमंत्री महामहिम प्रविंद कुमार जगन्नाथ, नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली, भूटान नरेश डॉ. लोटे शेरिंग तथा थाइलैंड के प्रधानमंत्री के विशेष दूत ग्रिसाडा बूनरैक शामिल थे।


इस अवसर पर राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि भारत के सपने अकेले भारत के लिए नहीं हैं। जब हम अपनी प्रगति के लिए काम करते हैं, तो हम अपने करीबी दोस्तों और करीबी पड़ोसियों से मिलने वाले समर्थन को तहे दिल से याद रखते हैं। हिंद महासागर के सौहार्द से लेकर बंगाल की खाड़ी के उत्‍साह भरे समावेशन और उससे भी बढ़कर मध्य एशिया के साझा सांस्कृतिक संबंधों और आर्थिक अवसरों तक, हमारे लोग समान आशाओं और आकांक्षाओं को साकार रूप प्रदान करते हैं। सदियों से, भारत एक महान व्यापारिक प्रणाली का केंद्र रहा है, जिसका विस्‍तार मध्य एशिया के केंद्र से हिंद महासागर तक है। यही हमारी विरासत है और यही हमारा भविष्य भी है। हमारी सारी जनता और वैश्विक समुदाय की खातिर हमें आवश्‍यक तौर पर अपने क्षेत्र और उससे परे शांति और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए मिलकर काम करना होगा। हम सभी देश एक-दूसरे की प्रगति और कल्‍याण के हितधारक हैं।


किरेन रिजिजू ने युवा मामले और खेल राज्य मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला...

संवाददाता : नई दिल्ली 


              किरेन रिजिजू ने आज नई दिल्ली में युवा मामले और खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में पदभार ग्रहण किया। कल राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द ने रिजिजू को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई थी।



मीडिया के साथ बातचीत में मंत्री महोदय ने कहा कि युवाओं के सशक्तिकरण में योगदान देने के लिए यह एक विशिष्ट अवसर है।रिजिजू ने कहा कि लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए युवा शक्ति का उपयोग किया जाएगा। युवाओं और खेल के लिए रचनात्मक कार्य करने का अवसर प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वे पिछले कई वर्षों से खेल से जुड़े रहे हैं। वे सभी खिलाड़ी जो देश के लिए खेलते हैं, मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं, विशेष कर भारतीय क्रिकेट टीम को जो अभी इंग्लैण्ड में आयोजित विश्व कप में हिस्सा ले रही हैं। खिलाड़ियों को सुविधा प्रदान करने के लिए सभी प्रयास किए जाएंगे। पुरानी व अच्छी प्रथाओं को जारी रखा जाएगा और नई चीजें जोड़ी जाएंगी। पारम्परिक खेलों के साथ-साथ राष्ट्रीय खेल व अन्य खेल प्रतिस्पर्धाओं का आयोजन किया जाएगा।


रिजिजू अरुणाचल प्रदेश के अरुणाचल (पश्चिम) से लोकसभा सदस्य हैं। उनका जन्म 19 नवम्बर 1971 को हुआ था। उन्होंने दिल्ली में बी.ए. और एल.एल.बी. की पढ़ाई की है। वे लोकसभा के दूसरी बार सदस्य बने हैं।रिजिजू को बैटमिंटन, फुटबाल और एथलेटिक्स में गहरी रुचि है। उन्होंने सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक विषयों पर अखबारों और पत्रिकाओं में ढेर सारे लेख लिखे हैं। रणनीतिक और सुरक्षा मामलों में उनकी विशेष रुचि है। एक सामाजिक कार्यकर्ता और छात्र नेता के रूप में रिजिजू ने कई सामाजिक आन्दोलनों का नेतृत्व किया है। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित विभिन्न सामाजिक और आर्थिक सम्मेलनों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। मीडिया ने 16वीं लोकसभा के दौरान उन्हें सर्वश्रेष्ठ युवा सांसद चुना था।   


भारत कथाकारों की भूमि भारतीय फिल्‍म निर्माताओं को निजी कथाएं तेजी से बताने पर ध्‍यान देना चाहिए : जॉन बैली

प्रजा दत्त डबराल : नई दिल्ली


                   भारतीय सिनेमा क्षेत्रीय भाषाओं की फिल्‍मों के निर्माण की ओर अग्रसर अमित खरे वर्तमान रुझान 'सिनेमा लोकतंत्र' की तरफ भारत में फिल्‍म निर्माण का लोकतंत्रीकरण प्रसून जोशी एकेडमी ऑफ मोशन पिक्‍चर आर्ट्स एंड साइंसेज के अध्‍यक्ष जॉन बैली के साथ सिरी फोर्ट में सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा आयोजित बातचीत का विषय सत्र ।


सिनेमा में सहयोग की संभावनाओं का पता लगाने के लिए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने आज एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज के अध्यक्ष जॉन बैली के साथ नई दिल्‍ली के सिरी फोर्ट ऑडिटोरियम में बातचीत के विषय सत्र का आयोजन किया। सत्र के बाद श्री बैली ने प्रेस के साथ बातचीत की।



सत्र में जॉन बैली ने एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज में भारतीयों की सदस्‍यता बढ़ाने की आवश्‍यकता के बारे में चर्चा की। उन्‍होंने एकेडमी में विविध सदस्‍यों की संख्‍या दोगुनी करने की एकेडमी की पहल को उजागर किया और कहा कि भारत अवसरों, चुनौतियों और विविधता को एकजुट करने का प्रतिनिधित्‍व करता है। इस बातचीत के जरिए अनेक जन संचार मीडिया संस्‍थानों से आए उभरते फिल्‍म निर्माताओं और छात्रों को न केवल एकेडमी के अध्‍यक्ष श्री जॉन बैली बल्कि मास्‍टर सिनेमेटोग्राफर जॉन बैली से भी बातचीत का अवसर मिला।


बातचीत के दौरान न केवल फिल्‍म तकनीक की अग्रणी अवस्‍था में कला की बारीकियों पर प्रकाश डाला गया, बल्कि विश्‍व स्‍तर की विषय वस्‍तु तैयार करने के बारे में भी समझ विकसित करने में सहयोग किया गया।बैली ने उन पर महिला सिनेमेटोग्राफरों के प्रभाव के बारे में भी बातचीत की। भारत की कथाकारों की भूमि के रूप में सराहना करते हुए उन्‍होंने इस बात पर जोर दिया कि फिल्‍म निर्माता निजी कथाओं को तेजी से बताएं। उन्‍होंने एकेडमी के साथ गहरे सहयोग की दिशा में भारत द्वारा दिखाए गए उत्‍साह और उत्‍सुकता की भी सराहना की।


सूचना और प्रसारण सचिव अमित खरे ने भारत में बड़ी संख्‍या में प्रतिभाओं के होने और क्षेत्रीय भाषा में बनाई जा रही फिल्‍मों में तेजी का जिक्र किया। उन्‍होंने विभिन्‍न राज्‍यों के उभरते हुए फिल्‍म निर्माताओं के सामने रखे जा रहे प्रोत्‍साहनों की जानकारी दी और आशा व्‍यक्‍त की कि बैली और एकेडमी के साथ जुड़ाव से दुनिया भर में भारतीय फिल्‍म निर्माताओं की कला के प्रदर्शन में मदद मिलेगी।


फिल्‍म प्रमाण पत्र और अपीलीय न्‍याधिकरण के अध्‍यक्ष न्‍यायमूर्ति मनमोहन सरीन ने सिनेमेटोग्राफर के रूप में जॉन बैली की उपलब्धियों को सर्वोत्‍कृष्‍ट बताया।


सीबीएफसी के अध्‍यक्ष प्रसून जोशी ने बताया कि किस प्रकार सिनेमा भारत में रोजमर्रा के जीवन का हिस्‍सा बन चुका है, यहां तक कि जीवन का दर्शन भी सिनेमा से ही उत्‍पन्‍न होता है। उन्‍होंने वर्तमान रुझान 'सिनेमा लोकतंत्र' की तरफ – भारत में प्रौद्योगिकी के जरिए सिनेमा का लोकतंत्रीकरण और उसकी बढ़ती पहुंच की जानकारी दी। उन्‍होंने भारतीय सिनेमा में भावनाओं और संगीत के महत्‍व की भी चर्चा की, जो पश्चिमी देशों के सिनेमा से हटकर है। उन्‍होंने सामूहिक रूप से सिनेमा को देखने के महत्‍व की चर्चा की और भारत के अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म समारोह जैसे उत्‍सवों का भी महत्‍व बताया।


गुरुवार, 30 मई 2019

वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन ने नौसेना के पूर्वी कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ का पदभार संभाला...

संवाददाता : नई दिल्ली 


             वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन, एवीएसएम, वीएसएम ने आज वाइस एडमिरल करमबीर सिंह, पीवीएमएम, एवीएसएम, एडीसी से आज एक शानदार सलामी परेड में नौसेना के पूर्वी कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ का पदभार संभाला। वाइस एडमिरल जैन ने सलामी गारद का निरक्षण किया और विभिन्न पोतों और नौसेना के पूर्वी कमान के संस्थानों के नौसेना कर्मियों के प्लाटून की समीक्षा की। पूर्वी कमान के प्रमुख वाइस एडमिरल करमबीर सिंह 31 मई 2019 को एडमिरल के पद को प्रोन्नत होने के बाद नौसेना प्रमुख का कार्यभार संभालेगें।



वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन ने जुलाई 1982 में भारतीय नौसेना में कमीशन प्राप्त किया। वाइस एडमिरल जैन ने अपने 37 साल के कार्यकाल में विभिन्न पदों पर कार्य किया। वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन को विशिष्ठ सेवा के लिये वर्ष 2009 में विशिष्ठ सेवा मेडल और 2015 में अति विशिष्ठ सेवा मेडल से सम्मानित किया  गया था। 


गुजरात में भीषण आग सें 20 बच्चों की मौत, देहरादून में फायर कर्मी रहे सतर्क : एस. के. राणा

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 


             सूरत (गुजरात) में कोचिंग सेन्टर के अन्दर लगी भीशण आग में 20 बच्चों की मौत हो गई थी, वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक, के आदेशनुसार मुख्य अग्निशमन  अधिकारी देहरादून एस. के. राणा एवं प्रभारी/अग्निषमन अधिकारी सेलाकुई पवन कुमार षर्मा, अग्निषमन अधिकारी मसूरी बृजमोहन नौटियाल, अग्निषमन अधिकारी ऋशिकेष अर्जुन सिंह के नेतृत्व में फायर सर्विस यूनिटों द्वारा देहरादून नगर/ग्रामीण क्षेत्र में स्थित व्यवसायिक भवन/कोचिंग सेन्टर/औद्योगिक इकाई का अग्निषमन व्यवस्था के दृश्टिगत निरीक्षण कर अग्निषमन व्यवस्थाओं के अभाव में द्रोणा गर्ल्स हॉस्टल सेलाकुईं, स्काई होम गर्ल्स हॉस्टल सेलाकुई, दिव्या कुंज हॉस्टल सेलाकुई, हरिकृश्णा गेस्ट हाउस मसूरी, सुमन होम स्टे मसूरी, विदिषा होम स्टे मसूरी, ग्रीन हिल्स होम स्टे मसूरी, कोठारी गेस्ट हाउस मसूरी, चाणक्य इन्सटीट्यूट डोईवाला, द्रोण कम्पयूटर सेन्टर डोईवाला, सन रोज स्पीक इंगलिष डोईवाला, दून घाटी कॉलेज डोईवाला, मिषन कोचिंग सेन्टर डोईवाला, अरुण जायसवाल (स्वीट षॉप) डोईवाला, विंग्स इंगलिष स्पीकिंग डोईवाला, हिल्ट्रान कम्पयूटर्स एकेडमी डोईवाला, जनपद देहरादून के स्वामी/प्रबन्धकों को नोटिस दिया गया, तथा तत्काल अग्नि सुरक्षा एवं जीवरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने हेतु निर्देषित किया गया।



ओवरलोडिंग पर सख्त निर्णय जुर्माना कई गुणा बढ़ा,परमिट निलंबन होगा...

संदीप शर्मा : देहरादून उत्तराखंड 



                ओवरलोडिंग पर संभागीय परिवहन प्राधिकरण ने बड़ा फैसला लिया है। इसमें जुर्माना 60 फीसदी तक बढ़ा दिया गया है। ओवरलोडिंग में दूसरी बार चालान होने पर ज्यादा जुर्माना लगेगा और परमिट भी निलंबित रहेगा। इस साल फरवरी में यह फैसले ले लिए गए थे, जिन्हें अब देहरादून के साथ ही हरिद्वार, रुड़की, ऋषिकेश, विकासनगर, टिहरी, उत्तरकाशी में लागू किया गया है। लोकसभा चुनाव आचार संहिता लागू होने से ठीक पहले आरटीए की बैठक हुई थी, जिसमें ओवरलोडिंग पर सख्त निर्णय लिए गए थे, जिन्हें पूरी तरह से लागू कर दिया गया है। आरटीए ने ओवरलोडिंग पर भारी जुर्माना लगाने के साथ ही परमिट निलंबन तक की कार्रवाई होगी। पहले 12 सीटर तक के वाहन में ओवरलोडिंग पर प्रति सवारी 250 रुपये जुर्माना था, अब इसे 400 रुपये प्रति सवारी कर दिया गया है।


साथ ही दो महीने के लिए परमिट निलंबित रहेगा। 12 सीट से ज्यादा वाले वाहनों में प्रति सवारी 500 रुपये जुर्माने को बढ़ाकर 800 रुपये कर दिया गया है और परमिट तीन महीने के लिए निलंबित किया जाएगा। दूसरी बार चालान में 12 सीटर तक के वाहन में ओवरलोडिंग होने पर प्रति सवारी 800 रुपये जुर्माने के साथ ही सवा दो महीने के लिए परमिट निलंबित रहेगा। 12 सीटर से ज्यादा वाले वाहनों पर 1200 रुपये प्रति सवारी जुर्माने के अलावा चार माह परमिट निलंबित रहेगा।


बस और विक्रम से लेकर ट्रैकर तक में रहती है ओवरलोडिंगशहर में चलने वाली सिटी बस सवारियों से खचाखच रहती हैं। कई बार तो सवारियों को बस की सीढ़ियों तक खड़ा रहना होता है। ऐसे ही विक्रमों में भी पीछे चार-चार सवारी बिठा दी जाती है। इसी तरह से शहर से आउटर क्षेत्रों में चलने वाले ट्रैकर भी ओवरलोडिंग में चलते हैं। सेलाकुई, विकासनगर की तरफ जाने वाली गाड़ियां भी ओवरलोड रहती है।


विक्रमों को फुटकर सवारी से जुड़े विषय पर फैसला नहीं हुआ है। आरटीए की बैठक में सुनवाई के दौरान सिटी बस एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय वर्धन ढौंडियाल का तर्क था कि विक्रमों को फुटकर सवारी का अधिकार नहीं दिया जाना चाहिए। विक्रम एसोसिएशन के अध्यक्ष ने फुटकर सवारी की मांग रखी। आरटीए ने कहा कि प्रकरण शासन में विचाराधीन है।


महिलाओं को शिक्षित करें और उन्‍हें प्रबुद्ध एवं सशक्‍त बनाएं : उपराष्‍ट्रपति

संवाददाता : नई दिल्ली 


                   उपराष्‍ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने शिक्षा पर विशेष जोर देने के साथ-साथ संसद और राज्‍यों की विधानसभाओं में आरक्षण जैसे प्रगतिशील उपायों पर अमल करके महिलाओं को सशक्‍त बनाने का आह्वान किया है।नायडू ने महिलाओं और पुरुषों में भेदभाव किये जाने की घटनाओं पर गंभीर चिंता व्‍यक्‍त करते हुए समाज में लोगों के व्‍यवहार एवं नजरिये में बदलाव लाकर इस पर अंकुश लगाने की आवश्‍यकता को रेखांकित किया है।


नायडू ने आज नई दिल्‍ली में अपने आवास पर चाणक्‍यपुरी स्थित कार्मेल कॉन्‍वेंट स्‍कूल की छात्राओं से संवाद करते हुए कहा कि किसी लड़की को शिक्षि‍त करना एक पूरे परिवार को शिक्षित करने के समान है, जबकि एक आदमी को शिक्षित करना सिर्फ एक व्‍यक्ति को शिक्षित करने के समान है।उपराष्‍ट्रपति ने इस बात पर विशेष जोर दिया कि शिक्षा की अहमियत न केवल रोजगार, बल्कि सशक्तिकरण और ज्ञानोदय से भी जुड़ी हुई है। उन्‍होंने कहा कि 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' योजना का लक्ष्‍य बालिकाओं का सशक्तिकरण करना है।



नायडू ने कहा कि शिक्षा निश्चित रूप से ऐसी होनी चाहिए जो नागरिकों को आदर्श एवं जिम्‍मेदार बनाए और इसके साथ ही देश के नागरिकों का दृष्टिकोण राष्‍ट्रीय स्‍तर का होना चाहिए। यही नहीं, देश के नागरिकों को सामाजिक रूप से कर्तव्‍यनिष्‍ठ भी होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि यह अत्‍यंत आवश्‍यक है कि देश के युवा भारत की सांस्‍कृतिक विरासत, परम्‍पराओं एवं इतिहास और राष्‍ट्रीय महानुभावों एवं स्वतंत्रता सेनानियों की भूमिका तथा समाज सुधारकों के अमूल्‍य योगदान से भलीभांति अवगत हों।उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि सिर्फ भारत माता के चित्र पर माल्‍यार्पण करना ही राष्‍ट्रवाद नहीं है, बल्कि देश के हितों को सबसे ऊपर रखना और साथी नागरिकों के हितों का ख्‍याल रखना ही राष्‍ट्रवाद है।


नायडू ने सार्वजनिक जीवन में सत्‍यनिष्‍ठा की अहमियत को रेखांकित किया और इसके साथ ही कहा कि लोगों को 4 'सी' यथा कैरेक्‍टर (चरित्र), कंडक्‍ट (आचरण), कैपेसिटी (क्षमता) और कैलिबर (काबिलियत) के आधार पर ही अपने-अपने प्रतिनिधियों का चुनाव करना चाहिए। इसके साथ ही उन्‍होंने लोगों को 4 अन्‍य 'सी' यथा कैश (नकदी), कास्‍ट (जाति), कम्‍युनिटी (समुदाय) और क्रिमनलिटी (आपराधिकता) को महत्‍व देने के प्रयासों के खिलाफ आगाह किया।


उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था विकास के मोर्चे पर अच्‍छा प्रदर्शन कर रही है और विश्‍व भर में भारत को सम्‍मान दिया जा रहा है तथा पूरी दुनिया में भारत की विशिष्‍ट पहचान है। उन्‍होंने कहा कि कई विदेशी कंपनियां भारत में निवेश करने की इच्‍छुक हैं।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के विशेष मंत्र 'सुधार, प्रदर्शन एवं रूपांतरण' का उल्‍लेख करते हुए उपरा‍ष्‍ट्रपति ने युवा विद्यार्थियों को एक 'नये भारत' का निर्माण करने के लिए परिवर्तन का हिस्‍सा बनने की सलाह दी।


बुधवार, 29 मई 2019

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने एमसीआई से पीजी मेडिकल दाखिले की अंतिम तिथि बढ़ाने का अनुरोध किया...

संवाददाता : नई दिल्ली 



       स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने भारतीय चिकित्‍सा परिषद (एमसीआई) से राज्‍यों में पीजी मेडिकल दाखिले की तिथि 18 मई से बढ़ाकर 31 मई, 2019 करने का अनुरोध किया है ताकि अकादमिक सत्र 2019-20 में शेष बची सीटों को भरा जा सके।


भारतीय चिकित्‍सा परिषद द्वारा अधिसूचित कार्यक्रम के अनुसार राज्‍यों द्वारा स्‍नातकोत्तर मेडिकल सीटें भरने की अंतिम तिथि 18 मई, 2019 है। मंत्रालय को पीजी मेडिकल सीटें भरने की अंतिम तिथि 18 मई, 2019 से बढ़ाकर 31 मई, 2019 करने के अनुरोध संस्‍थानों/राज्‍य सरकारों से प्राप्‍त हुए हैं।


स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने भारतीय चिकित्‍सा परिषद के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स से मामले को देखने और उचित सिफारिश करने का अनुरोध किया है। आज बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की बैठक में इस पर विचार किया जाएगा।


सेना का माउंट आबू में बच्चों के लिए ग्रीष्मकालीन साहसिक शिविर-2019 का आयोजन...

संवाददाता : नई दिल्ली 


               राजस्थान के माउंट आबू में 27 मई से दक्षिणी कमान बाल ग्रीष्मकालीन साहसिक शिविर 2019 का आयोजन किया जा रहा है जो 3 जून 2019 तक चलेगा। 8 दिन का यह शिविर युद्ध एक्स डिवीजन के 8 मद्रास बटालियन के तत्वधान में कराया जा रहा है। इस शिविर में भाग लेने वाले बच्चों को उनमें साहसिक कार्यों के प्रति उत्साह पैदा करने और व्यक्तित्व विकास का मौका मिलेगा।



भारतीय सेना की दक्षिणी कमान से लगभग 125 बच्चे इस शिविर में भाग ले रहे हैं। शिविर में बच्चे  ट्रैकिंग, गुफा में रहना, नौकायान, विभिन्न खेल और प्रतियोगिताओं समेत  तरह-तरह के इनडोर और आउटडोर गतिविधियों में भाग लेंगें।


शिविर में बच्चों को अपने स्वभाव को विस्तार देने, नये दोस्त बनाने, नई और विविध रूचियों को विकसित करने और यादगार लम्हें सृजित करने का मौका मिलेगा। शिविर के आयोजकों का प्रयोजन भी बच्चों को नये शौक विकसित करने और उन्हें अपनाने, जिम्मेदारियां उठाने, लक्ष्य तय करने और उन्हें हासिल करने के लिये प्रेरित करना है। इसके लिये योग एवं ध्यान तकनीक से परिचय करना, सुरक्षा से जुड़े विषयों पर जानकारी देना और सामाजिक मर्यादा बढ़ाने जैसी विविध गतिविधियां कराई जाएंगी।


इस शिविर का आयोजन माउंट आबू में भारतीय सेना बच्चों की गर्मी की छुट्टियों के दौरान हर साल कराती है जिससे बच्चों को कुछ नया सीखने और साहसिक कार्यों को करने के लिए एक मंच उपलब्ध कराया जाता है।


एनएसआईसी ने सूक्ष्‍म, लघु तथा मध्‍यम उद्यम मंत्रालय के साथ सहयोग ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किया...

संवाददाता : नई दिल्ली 


        राष्‍ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड (एनएसआईसी) ने वर्ष 2019-20 के लिए सूक्ष्‍म, लघु तथा मध्‍यम उद्यम मंत्रालय के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किया है। समझौता ज्ञापन पर एएस तथा डीसी (एमएसएमई) तथा एनएसआईसी के सीएमडी राम मोहन मिश्रा तथा एमएसएमई मंत्रालय के सचिव डॉ. अरुण कुमार पांडा ने हस्‍ताक्षर किए। इस अवसर पर सूक्ष्‍म, लघु तथा मध्‍यम मंत्रालय की संयुक्‍त सचिव अलका नांगिया अरोड़ा निदेशक (एमएमई) मर्सी ईपाव, निदेशक पी तथा एम (एनएसआईसी) पी उदय कुमार और निदेशक वित्त (एनएसआईसी) ए के मित्तल उपस्थित थे।समझौता ज्ञापन में देश में सूक्ष्‍म, लघु तथा मध्‍यम उद्यमों के लिए एनएसआईसी द्वारा अपनी विपणन, वित्तीय, टेक्‍नोलॉजी तथा अन्‍य समर्थनकारी सेवा योजनाओं को बढ़ाने का प्रावधान है। निगम को 2019-20 में संचालन से राजस्‍व प्राप्ति 22 प्रतिशत बढ़ने की आशा है।



यह राजस्‍व 2018-19 में 2540 करोड़ रुपये से 22 प्रतिशत बढ़कर 2019-20 में 3100 करोड़ रुपये हो जाएगा। वर्ष 2019-20 में एनएसआईसी  के मुनाफे में 32 प्रतिशत की वृद्धि की संभावना है। निगम प्रशिक्षुओं की संख्‍या में 45 प्रतिशत की वृद्धि लक्ष्‍य तय करके उद्यमिता तथा कौशल विकास प्रशिक्षण के क्षेत्र में कार्य कुशलता बढ़ाने की योजना बना रहा है।सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्योग मंत्रालय की ओर से एनएसआईसी द्वारा लागू की जा रही राष्‍ट्रीय अनुसूचित जाति – जनजाति हब योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति/जनजाति उद्यमियों को सहायता प्रदान करने के प्रयास विभिन्‍न उपायों तथा कार्यक्रम के माध्‍यम से जारी रहेंगे।


सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्यम मंत्रालय के सचिव डॉ. ए के पांडा ने एनएसआईसी के कार्यों की सराहना करते हुए एनएसआईसी की पहुंच को व्‍यापक बनाने के प्रयास का सुझाव दिया ताकि यह देश में बड़ी संख्‍या में सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्योगों की सेवा कर सके।


ऑस्‍कर अकादमी के प्रेसीडेंट जॉन बैली ने ‘डिजिटल डिलेमा’ का हिंदी संस्‍करण लांच किया...

प्रजा दत्त डबराल : नई दिल्ली


                 आज नई दिल्‍ली में एक विशेष समारोह में मोशन पिक्चर आर्टस एंड सांइसेज (ऑस्‍कर अकादमी के रूप में लोकप्रिय) के प्रेसीडेंट जॉन बैली ने आज अकादमी प्रकाशन 'डिजिटल डिलेमा' के हिंदी संस्‍करण का ई लांच किया। इस अवसर पर जाने माने फिल्‍म एडीटर तथा अकादमी की गवर्नर सुश्री कैरोल लिटिलटन, एफसीएटी के अध्‍यक्ष न्‍यायमूर्ति मनमोहन सरीन, सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव अमित खरे, सीबीएफसी के अध्‍यक्ष प्रसून जोशी अकादमी के सदस्‍य उज्‍जवल निरगुडकर तथा एनएफएआई के निदेशक प्रकाश मगदम उपस्थित थे।जॉन बैली ने अपने भाषण में कहा कि भारत की फिल्‍म बिरादरी तक पहुंचने के लिए अकादमी प्रकाशन का हिंदी में अनुवाद महत्‍वपूर्ण है।



फिल्‍म संग्रह माध्‍यम में टेक्‍नोलॉजी से हुए परिवर्तनों के कारण अनेक चुनौतियां आई हैं और यह पुस्‍तक प्रारंभ से डिजिटल सामग्री के संग्रहण को समझने और नियोजन में फिल्‍मकारों को सहायता देगी। डिजिटल डिलेमा पुस्‍तक मिल्‍ट शेल्‍टन तथा ऐंर्डी मालट्ज की लिखित पुस्‍तक है और विश्‍वभर में अनेक भाषाओं में इसका अनुवाद किया गया है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय का संगठन राष्‍ट्रीय फिल्‍म संग्रहालय फिल्‍म संरक्षण, सुरक्षा तथा पुन:स्‍थापन का कार्य करता है। संग्रहालय ने अकादमी के साथ प्रकाशनों के हिंदी अनुवाद के लिए समझौता किया है ताकि देश में विभिन्‍न हितधारकों को लाभ मिल सके।अकादमी मोशन पिक्‍चर्स की कला और विज्ञान को आगे बढ़ाने के लिए कार्य करती है।


अकादमी की विज्ञान तथा टेक्‍नोलॉजी परिषद ने अपनी एक महत्‍वपूर्ण रिपोर्ट में यह पता लगाया कि कौन-कौन से बड़े मूवी प्रतिष्‍ठान, डिजिटल डाटा के संग्रहण और डाटा एक्‍सेस का कार्य कर रहे हैं। वर्षों बाद परिषद ने पाया कि डिजिटल संग्रहण की विश्‍वसनीयता का विषय काफी व्‍यापक है। इस पुस्‍तक में सक्षम रूप से अभिलेख तैयार करने की चुनौतियों और दीर्घकालिक दृष्टि से बड़े डाटा एक्‍सेस की चुनौतियों की चर्चा की गई है।   


मंगलवार, 28 मई 2019

ऑपरेशन सफेद सागर में प्राणों की आहूति देने वाले ज़ाबाजों को श्रद्धांजलि देने के लिए वायुसेना प्रमुख का भिसियाना और सरसावा वायुसेना स्‍टेशनों का दौरा...

संवाददाता : नई दिल्ली 



                  वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी.एस. धनोआ पीवीएसएम एवीएसएम वाईएसएम वीएम एडीसी ने कारगिल में ऑपरेशन सफेद सागर के दौरान अपने प्राणों की आहूति देने वाले जवानों के साहस के सम्‍मान में आज चार लड़ाकू विमानों, मिग-21 की 'मिसिंग मैन' फॉर्मेशन फ्लाईपास्‍ट की अगुवाई की। पश्चिमी वायु कमान के कमांडिंग इन चीफ और कारगिल के पुराने योद्धा एयर मार्शल आर. नाम्‍बियार पीवीएसएम एवीएसएम वीएम एंड बार एडीसी भी इस फॉर्मेशन का हिस्‍सा थे। 'मिसिंग मैन' फॉर्मेशन शहीद साथियों के सम्‍मान में की जाने वाली एक प्रकार की हवाई सेल्‍यूट है। यह एक एरो फॉर्मेशन है। इसमें दो लड़ाकू विमानों के बीच में फासला होता है, जो मिसिंग मैन या लापता शख्‍स को चित्रित करता है। बाद में एक सादगीपूर्ण समारोह में उन्‍होंने कर्तव्‍य निर्वहन करते हुए अपने प्राणों की आहूति देने वाले भारतीय वायु सेना के जवानों के सम्‍मान में युद्ध स्‍मारक पर पुष्‍पांजलि अर्पित की।


आज ही के दिन 1999 में स्क्वाड्रन लीडर अजय आहूजा वीआरसी (मरणोपरांत) आहूजा ने कारगिल संघर्ष के दौरान अपने प्राण न्‍यौछावर किये थे। उस समय वह  17 स्क्वाड्रन के फ्लाईट कमांडर थे।     


28 मई को वायुसेना प्रमुख सरसावा वायुसेना स्टेशन का दौरा करेंगे और और कारगिल शहीदों के सम्‍मान में एमआई-17 वी5 मिसिंग मैन फॉर्मेशन में उड़ान भरेंगे। 28 मई, 1999 को हमने एमआई-17 हैलिकॉप्‍टर द्रास सैक्‍टर में शत्रु पर सफल आक्रमण करने के बाद गंवा दिया था। स्क्वाड्रन लीडर आर. पुंडीर, फ्लाइट लैफ्टिनेंट एस. मुहिलान, सार्जेंट आर.के. साहू और सार्जेंट पीवीएनआर प्रसाद उस एमआई-17 हैलिकॉप्‍टर की कार्रवाई में शहीद हो गये थे। 


डीआरडीओ ने आकाश एमके -1एस मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया...

संवाददाता : नई दिल्ली 


                  रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने 25 और 27 मई, 2019 को आईटीआर, चांदीपुर, ओडिशा से आकाश- एमके-1एस मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। आकाश- एमके -1 मौजूदा आकाश मिसाइल का एक उन्नत संस्करण है जो स्वदेशी तकनीक से लैस है।



आकाश- एमके -1 एक सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल है जो हवाई लक्ष्यों पर सटीक निशाना लगा सकती है। आकाश हथियार प्रणाली में कमांड संचालन और सक्रिय टर्मिनल संचालन दोनों का संयोजन है। मिशन के सभी उद्देश्यों को पूरा कर लिया गया है।


सोमवार, 27 मई 2019

मोदी लहर में भी नहीं लगी सेंध,आजम फिर बने विजेता...

संवाददाता : लख़नऊ उत्तर प्रदेश 


               रामपुर लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी के आजम खान ने भाजपा की प्रत्याशी जया प्रदा को एक लाख से अधिक वोटो से हरा दिया। चुनाव आयोग की वेबसाइट के अनुसार सपा प्रत्याशी आजम खान ने अपनी निकटतम प्रतिद्वन्दी जया प्रदा को एक लाख 9 हजार 997 वोटों से हरा दिया।



खान को पांच लाख 59 हजार 177 वोट मिले जबकि जया प्रदा को चार लाख 49 हजार 180 वोट मिले। कांग्रेस प्रत्याशी संजय कपूर को 35 हजार नौ वोट मिले। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के नेपाल सिंह यहां से जीते थे


बस और मैक्स की भिड़त में तीन लोगों की मौत,छह घायल...

संवाददाता : श्रीनगर गढ़वाल उत्तराखंड 


                  बदरीनाथ हाईवे पर कीर्तिनगर के पास लछमोली में दर्दनाक हादसा हो गया। ऋषिकेश की ओर जा रही एक कार को बस ने टक्कर मार दी। इस हादसे में तीन यात्रियों की मौत हो गई, जबकि छह लोग घायल हो गए। पुलिस ने मृतकों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिये।



पुलिस के अनुसार विकासखण्ड कीर्तिनगर क्षेत्र में लछमोली-बगवान के पास ऋषिकेश से श्रीनगर जा रही बस की श्रीनगर गढ़वाल से ऋषिकेश जा रही मैक्स से आमने-सामने टक्कर हो गयी। हादसे में मैक्स गाड़ी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई है। मैक्स गाड़ी में बैठे घायल व्यक्तियों को उपचार के लिए बेस अस्पताल श्रीकोट, श्रीनगर में भर्ती कराया गया है।


बस में चालक, परिचालक समेत 35 सवारियां थी, जिसमे एक व्यक्ति को हल्की चोट आना बताया जा रहा है। मैक्स गाड़ी में नौ यात्री सवार थे। इसमें से पांच महिलाएं और एक बच्चा घायल हो गया, जबकि एक पुरुष और दो महिलाओं की मौत हो गई है। एसडीएम अनुराधा पाल ने बताया एक बच्चा गंभीर रूप से घायल है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


केदारनाथ धाम की अव्यवस्थाएं श्रद्धालुओं पर भारी...

संवाददाता : रुद्रप्रयाग उत्तराखंड 


             केदारनाथ धाम में हर दिन तीर्थयात्रियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लेकिन यात्रा मार्ग में फैली अव्यवस्थाएं श्रद्धालुओं को परेशान कर रही हैं। केदार यात्रा के मुख्य पड़ावों में रहने, खाने और पीने जैसी मूलभूत जरूरतों से भी तीर्थयात्रियों को जूझना पड़ रहा है। यात्रा शुरू होने से पहले प्रशासन द्वारा किये गए कई दावे हवा-हवाई साबित हो रहे हैं।



बाबा केदार के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में आए-दिन बढ़ोत्तरी हो रही है, लेकिन प्रशासन की उदासीनता के चलते यात्रियों को अव्यवस्थाओं का सामना करना पड़ रहा है। जहां एक ओर तीर्थयात्रियों को रहने के लिए होटल उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं। वहीं खाने के लिए भी उचित व्यवस्थाएं नहीं मिल रही हैं। इस बदहाल स्थिति के चलते तीर्थयात्री रात के समय मंदिरों के आगे रात काटने को मजबूर हैं। इसके अलावा केदारनाथ-गौरीकुंड घोड़ा पड़ाव और बाजार में भारी गंदगी पसरी हुई है।


इन मुख्य पड़ावों में सफाई तक के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं दिख रहे हैं। जिसका हर्जाना देश-विदेश से आए तीर्थयात्रियों को भुगतना पड़ रहा है। गौरीकुंड व्यापार संघ अध्यक्ष अरविंद गोस्वामी बताते हैं कि केदारनाथ से लेकर रामबाड़ा तक हर रोज बारिश हो रही है। जिस कारण यहां ठंड काफी बढ़ गई है, लेकिन रास्तों में अलाव की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। यात्रा पड़ाव में रेन शेल्टर भी सीमित मात्रा में हैं।


उन्होंने बताया कि यात्रा पड़ावों पर खोले गए चिकित्सा केंद्रों से भी यात्रियों को कोई सुविधा नहीं मिल रही है। वहीं दूसरी तरफ केदार यात्रा के गुप्तकाशी, फाटा, रामपुर, सोनप्रयाग गौरीकुण्ड जैसे कई पड़ावों में जाम लगने से यात्री परेशान हैं। जबकि प्रशासन ने यात्रा के समय ऑल वेदर रोड का कार्य बंद करने का दावा किया था। उस दावे की भी हवा निकल गयी है।


देहरादून पुलिस ने शहर के कोचिंग सेंटरों की पड़ताल की...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 



          गुजरात के सूरत में कोचिंग सेंटर में हुए अग्निकांड के बाद देहरादून में सतर्क हुई पुलिस ने शहर के कोचिंग सेंटरों की पड़ताल की तो महज एक सेंटर के पास अग्निशमन विभाग की एनओसी मिली। यह स्थिति तब है जब शहर में छोटे-बड़े करीब 200 कोचिंग सेंटर संचालित हो रहे हैं। यह भी गंभीर बात है कि इनमें ज्यादातर कोचिंग सेंटर विभिन्न कांप्लेक्सों में सबसे ऊपर की मंजिल पर चल रहे। वर्षों से बिना एनओसी कुकुरमुत्तों की तरह खुले इन कोचिंग सेंटरों में पड़ताल की जहमत अग्निशमन, प्रशासन या पुलिस ने कभी नहीं उठाई।


गाहे-बगाहे अवैध निर्माण या सुरक्षा मानक पूरे न करने पर कांप्लेक्सों या भवनों पर कार्रवाई करने वाला एमडीडीए भी आंखे फेरे हुए है। यह जरूर है कि अब नींद से जागी पुलिस और अग्निशमन विभाग ने 13 कोचिंग सेंटरों को नोटिस जारी कर सुरक्षा उपकरण लगाने का निर्देश दिया है। बच्चों की सुरक्षा को लेकर भी संस्थान संचालक बेखबर रहते हैं।


बात कोचिंग को लेकर करें तो शहर में राजपुर रोड, ईसी रोड समेत सुभाष रोड, धर्मपुर, बल्लूपुर चौक व करनपुर, क्लेमनटाउन, प्रेमनगर और वसंत विहार आदि क्षेत्र में कोचिंग सेंटरों की बाढ़ है। ज्यादातर संस्थान बड़े कांप्लेक्स में चल रहे हैं और कोई भी विभाग इनकी जांच के लिए आगे नहीं आता।


स्वप्न दृष्टा थे पंडित नेहरू : कमलेश्वर पटेल

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



       पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने भारत के पहले प्रधानमंत्री स्वर्गीय पण्डित जवाहर लाल नेहरू की पुण्यतिथि पर उनका स्मरण करते हुए कहा कि पंडित नेहरू संस्थाओं को बनाने वाले स्वप्न दृष्टा थे। उन्होंने कहा था कि गांवों की समृद्धि से ही भारत की समृद्धि संभव है। उनका यह भी कहना था कि सहकारिता और पंचायत मिलकर गांवों की आर्थिक समृद्धि ला सकते हैं। सहकारिता के माध्यम से आर्थिक जीवन और पंचायतों के माध्यम से सामाजिक जीवन में परिवर्तन लाया जा सकता है।


पटेल कहा कि राज्य सरकार पण्डित नेहरू के आदर्शों को आत्मसात करते हुए विकास योजनाओं पर काम कर रही है।


सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स ऑर्ट्स एंड साइंसेज के अध्यक्ष जॉन बैले के साथ विशेष संवादमूलक सत्र का आयोजन करेगा...

संवाददाता : नई दिल्ली 


             सहयोग की संभावनाएं तलाशने की एक प्रमुख पहल के रूप में, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स ऑर्ट्स एंड साइंसेज के अध्यक्ष जॉन बैले के साथ 28 मई को नई दिल्ली के सिरी फोर्ट में विशेष संवादमूलक सत्र का आयोजन करेगा।



यह संवादमूलक सत्र न केवल ऑस्कर के विचार संचालन में अंतरदृष्टि डालेगा बल्कि कार्यक्रम में शामिल होने वाले प्रमुख हितधारकों के लिए जानकारी वर्धक भी होगा। यह न केवल अत्याधुनिक फिल्मांकन तकनीकों के शिल्प के पीछे की बारीक परतों पर प्रकाश डालेगा बल्कि विश्व स्तरीय कंटेंट सृजित करने को लेकर हितधारकों के बीच एक समझ का विकास करने में में भी सहायता करेगा।


बैले सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव अमित खरे के साथ परस्पर बातचीत भी करेंगे। यह बातचीत मंत्रालय के लिए भारत में विदेशी फिल्मकारों को दी जाने वाली वित्तीय प्रोत्साहन सहायता, फिल्म प्रमाणन कार्यालय के तहत वेब पोर्टल के जरिए भारत में फिल्मांकन के लिए सिंगल विंडो सहायता तंत्र, फिल्मों के सह-निर्माण के वित्त पोषण एवं दुनियाभर में छोटे शहरों में एकल स्क्रीन थिएटर पर और प्रकाश डालेगी।


भारत के अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह (आईएफएफआई) के 47वें संस्करण में विश्व विख्यात सिनोमेटोग्राफर रोबॉर्ट योमैन एवं एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स ऑर्ट्स एंड साइंसेज के विख्यात फिल्म संपादक श्री एलन हेम ने अपने संबंधित क्षेत्रों में मास्टर क्लास आयोजित की थी। यह संवाद मूलक सत्र समारोह के दायरे  को और अधिक बढ़ाने तथा आईएफएफआई के स्वर्ण जयंती संस्करण, जिसका आयोजन नवम्बर 2019 में गोवा में किया जाएगा, के लिए एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स ऑर्ट्स एंड साइंसेज के साथ सहयोग की संभावनाएं तलाशने का अवसर भी प्रस्तुत करता है।


जॉन बैले की संक्षिप्त रूपरेखा


जॉनव बैले अकेडमी के प्रेसीडेंट का पद सुशोभित करने वाले पहले सिनोमेटोग्राफर हैं। उनकी कृतियों में “ऑडिनरी पीपुल”, “अमेरिकन गिगोलो”, “द बिग चिले”, “ग्राउंड हॉग डे”, “एज गुड एज इट गेट्स”, “द एनिवर्सरी पार्टी”, “द वे वे बैक” और “ए वॉक इन द वूड्स” शामिल हैं। एक सिनोमेटोग्राफर के रूप में वह निदेशक पॉल श्रैडर, लॉरेंस कैश डेंग, माइकल एप्टेड एवं केन क्वापिस के साथ अपने गठबंधन के लिए जाने जाते हैं।


प्रधानमंत्री को फोन पर मिल रहे बधाई संदेश...

संवाददाता : नई दिल्ली 



       प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान; मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद एवं नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री माधव नेपाल के भारत में हुए हाल के आम चुनावों में विजय से संबधित टेलीफोन कॉल प्राप्त किए।


प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को उनके टेलीफोन कॉल एवं बधाई के लिए धन्यवाद दिया। उनकी सरकार की पड़ोसी प्रथम नीति की तर्ज पर उनकी पहलों का स्मरण करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के संयुक्त रूप से गरीबी से लड़ने के उनके पहले दिए गए सुझावों का उल्लेख किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि हमारे क्षेत्र में शान्ति, प्रगति एवं समृद्धि के लिए सहयोग बढ़ाने हेतु विश्वास एवं हिंसा तथा आतंकवाद से मुक्त वातावरण का निर्माण करना अनिवार्य है।


पूर्व राष्ट्रपति नशीद ने प्रधानमंत्री को उनके ऐतिहासिक जनादेश पर बधाई दी और हाल के वर्षों में मालदीव और भारत के बीच प्रगाढ़ हुए रिश्तों का उल्लेख किया। उन्होंने क्षेत्र में उग्रवाद तथा चरमपंथ तत्वों से लड़ने के लिए घनिष्ठ सहयोग के महत्व पर जोर दिया। प्रधानमंत्री ने उन्हें बधाई के लिए धन्यवाद दिया तथा क्षेत्र में शांति, सुरक्षा एवं विकास के लिए दोनों देशों के बीच एक मजबूत, परस्पर लाभदायक और सर्वमुखी साझेदारी को बढ़ावा देने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।


माधव नेपाल ने प्रधानमंत्री को ऐतिहासिक और जबर्दस्त जीत के लिए अपनी पार्टी एवं सहयोगी दलों का नेतृत्व करने पर हार्दिक बधाई दी। उन्होंने विश्वास जताया कि एक महान विश्व शक्ति के रूप में भारत के उत्थान से गुणात्मक रूप से समस्त क्षेत्र की उन्नति होगी।नेपाल को उनकी हार्दिक बधाइयों पर धन्यवाद देते हुए प्रधानमंत्री ने भारत और नेपाल के बीच ऐतिहासिक मित्रता और बहुआयामी संबंधों को और सुदृढ़ एवं गहरा करने की अपनी अदम्य इच्छा जताई।


रविवार, 26 मई 2019

प्रदेश के सभी कोचिंग संस्थानों में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करें...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



          मुख्यमंत्री कमल नाथ ने प्रदेश के सभी कोचिंग संस्थानों में सुरक्षा संबंधी व्यवस्थाओं को पुख्ता बनाने एवं इस संबंध में सभी ज़रूरी क़दम उठाने के निर्देश मुख्य सचिव को दिए हैं। श्री नाथ ने सूरत में एक कोचिंग संस्थान में हुई आगजनी की दु:खद घटना और उसमें हुई जनहानि के संदर्भ में यह निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस दिशा में उठाये गये सभी क़दमों और व्यवस्थाओं की रिपोर्ट 15 दिन में प्रस्तुत करें।


मुख्यमंत्री कमल नाथ ने मुख्य सचिव से कहा है कि सभी जिला कलेक्टरों को निर्देशित करें कि वे अपने जिले में चल रहे सभी कोचिंग संस्थानों को सूचीबद्ध कर वहाँ की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी कोचिंग संचालकों की बैठक कर सुरक्षा के आवश्यक मापदंड बनाये जायें। साथ ही इन संस्थानों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की संख्या और उसके आधार पर उनकी सुरक्षा व्यवस्था पर भी चर्चा करें।


मुख्यमंत्री ने कहा कि सूरत की घटना एक सबक है। इसके मद्देनजर प्रदेश में इस तरह भी घटनाएँ न हों, इसके लिये सतर्कता बरतते हुए सभी आवश्यक इंतजाम सुनिश्चित किए जाने चाहिए।


पर्यटक मित्र बनाने और अधोसंरचना पर विशेष ध्यान दें...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


          मुख्यमंत्री कमल नाथ ने मध्यप्रदेश को पर्यटन प्रदेश के रूप में विकसित करने के लिए पर्यटक मित्र बनाने और अधोसंरचना के विकास पर विशेष ध्यान देने को कहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पर्यटन स्थलों का राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रचार-प्रसार की नीति का मुख्य आधार 'माउथ पब्लिसिटी' होना चाहिए। यह अधिक कारगर और प्रभावी होगा। उन्होंने कहा कि पर्यटन उद्योग से लोगों को रोजगार मिले यह शासन की मंशा है। मुख्यमंत्री आज मंत्रालय में पर्यटन के क्षेत्र में रणनीति और भावी योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। पर्यटन मंत्री सुरेन्द्र सिंह बघेल उपस्थित थे।



मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन नीति में ऐसे टूरिस्ट सर्किट और डेस्टिनेशन हब बनाना होंगे, जिससे पर्यटक एक से अधिक पर्यटन स्थलों को देख सके और वहाँ आसानी से पहुँच सके। उन्होंने बेहतर परिवहन के साथ हेलीकॉप्टर की व्यवस्था भी करने को कहा। इससे पर्यटकों का समय बचेगा और वे एक से अधिक स्थलों पर जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पर्यटन उद्योग को अधिक ऊँचाई पर ले जाने के लिए उन राज्यों की पर्यटन नीति का अध्ययन किया जाये, जहाँ पर्यटन रोजगार का मुख्य जरिया बन गया है।


मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि प्रदेश में बहुतायत में लगभग सभी अंचलों में पर्यटन की दृष्टि से ऐतिहासिक, रमणीय और विश्व प्रसिद्ध धरोहरें उपलब्ध हैं। जरूरत इस बात की है कि इसके लिए राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रचार-प्रसार की ऐसी नीति तैयार करें, जिससे हमारे प्रदेश के पर्यटन उद्योग की तेजी से प्रगति हो। श्री नाथ ने कहा कि प्रचार-प्रसार नीति का अहम हिस्सा विज्ञापन के अलावा 'माउथ पब्लिसिटी' होना चाहिए, जो सबसे अधिक कारगर और प्रभावी है। उन्होंने कहा कि इससे हम प्रदेश के युवाओं को स्थानीय स्तर के साथ ही प्रदेश स्तर पर रोजगार दे सकेंगे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन और पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए इससे जुड़ी सभी सरकारी और गैर सरकारी एजेसियों और संस्थाओं में बेहतर तालमेल जरूरी है। टूरिस्ट फ्रेंडली व्यवहार पर विशेष ध्यान देना होगा।


प्रमुख सचिव पर्यटन हरिरंजन राव ने प्रदेश में वर्तमान में उपलब्ध पर्यटन स्थलों, संभावनाओं और आगामी रणनीति के बारे में प्रस्तुतिकरण दिया। मुख्य सचिव एस.आर. मोहंती, अपर मुख्य सचिव वन के.के. सिंह, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री अनुराग जैन एवं अन्य अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।


भारतीय वायुसेना के एएन-32 विमान को स्वदेशी बायो-जेट ईंधन से संचालित करने के लिए प्रमाणित किया गया...

संवाददाता : नई दिल्ली 


                     भारतीय वायुसेना के दुर्जेय विमान, रूस निर्मित एएन-32 को आज मिश्रित विमानन ईंधन से संचालित करने के लिए औपचारिक रूप से प्रमाणित किया गया। मिश्रित विमानन ईंधन में 10 प्रतिशत तक स्वदेशी बायो-जेट ईंधन का उपयोग किया जायेगा। वायुसेना की ओर से एयर कमोडोर संजीव घुरटिया, वीएसएम, एयर ऑफिसर कमांडिंग,3 बीआरडी, वायुसेना ने विमान-इंजन परीक्षण केन्द्र, चंडीगढ़ में सीईएमआईएलएसी के मुख्य कार्यकारी पी. जयपाल से अनुमोदन प्रमाण पत्र प्राप्त किया।



वायुसेना ने पिछले एक वर्ष में इस हरित विमानन ईंधन के लिए कई परीक्षण किये हैं। इन परीक्षणों में अंतर्राष्ट्रीय मानकों को ध्यान में रखा गया है। आज के अनुमोदन से स्वदेशी बायो-जेट ईंधन के उपयोग के लिए किए गये विभिन्न परीक्षणों को स्वीकृति मिली है।


सीएसआईआर-आईआईपी प्रयोगशाला, देहरादून ने 2013 में पहली बार स्वदेशी बायो-जेट ईंधन का उत्पादन किया था। परन्तु व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए ईंधन का परीक्षण नहीं हो पाया क्योंकि विमानन क्षेत्र में परीक्षण सुविधाओं का अभाव था। वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ, पीवीएसएमएवीएसएम वाईएसएम वीएम एडीसी ने 27 जुलाई 2018 को स्वदेशी ईंधन के परीक्षण व प्रमाणन के लिए अपने संसाधनों के उपयोग की स्वीकृति देने से संबंधित घोषणा की थी।


इसके बाद वायुसेना के विमान-परीक्षण दल और इंजीनियरों ने अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप इस ईंधन का मूल्यांकन किया है। “मेक इन इंडिया”मिशन के लिए यह एक महत्वपूर्ण कदम है। यह जैव-ईंधन वृक्षों द्वारा प्राप्त तेल की सहायता से तैयार किया जाएगा।


भारतीय नौसेना अकादमी, एझीमाला में पासिंग आउट परेड- स्प्रिंग टर्म 2019 आयोजित...

संवाददाता : नई दिल्ली 


भारतीय नौसेना अकादमी (आईएनए), एझीमाला में शनिवार, 25 मई 2019 को आयोजित एक दर्शनीय पासिंग आउट परेड (पीओपी) में भारतीय नौसेना, भारतीय तटरक्षक के मिडशिपमेन एवं कैडेट तथा 10 अंतर्राष्ट्रीय कैडेट सहित 264 प्रशिक्षु अच्छे नंबरों से पास हुए तथा अपने आरंभिक प्रशिक्षण का समापन दर्शाया।



पासिंग आउट मिडशिपमेन एवं कैडेट स्प्रिंग टर्म 2019 के चार विभिन्न पाठ्यक्रमों नामत 96वां भारतीय नौसेना अकादमी पाठ्यक्रम (बी.टेक), 96वां भारतीय नौसेना अकादमी पाठ्यक्रम (एम.एससी), 27वां नौसेना अनुकूलन पाठ्यक्रम,28वां नौसेना अकादमी पाठ्यक्रम एवं 28वां भारतीय नौसेना अकादमी पाठ्यक्रम से जुड़े हुए हैं। परेड में 10 महिला कैडेट भी भारतीय नौसेना के रैंकों में शामिल होने के लिए अपने पुरुष सहयोगियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर मार्च करती हुईं देखीं गईं। विभिन्न मित्र विदेशी राष्ट्रों के 10 प्रशिक्षु इसमें शामिल हैं जिसमें दो-दो मालदीव, म्यांमार एवं सिचेलस के, एक प्रशिक्षु तंजानिया का एवं तीन प्रशिक्षु श्रीलंका के हैं।


परेड का निरीक्षण जनरल बिपिन रावत, पीवाएसएम, यूवाईएसएम, एवाईएसएम, वाईएसएम, एसएम, वाईएसएम, एडीसी, सेना प्रमुख द्वारा किया गया जिन्होंने औपचारिक निरीक्षण के बाद आठ प्रतिभाशाली मिडशिपमेन एवं कैडेट को पदक प्रदान किया। वाइस एडमिरल आर.बी. पंडित, एवीएसएम कमांडेंट, आईएनए, डॉ. अनुराग कुमार, निदेशक भारतीय विज्ञान संस्थान बंगलूरु, केन्द्र के वरिष्ठ अधिकारी एवं आउट स्टेशन के अन्य गणमान्य व्यक्ति इस ऐतिहासिक अवसर पर उपस्थित थे।


पासिंग आउट परेड का निरीक्षण सभी मिडशिपमेन एवं कैडेट के गर्व से भरे हुए अभिभावकों एवं माता-पिताओं ने भी किया। भारतीय नौसेना अकादमी बी.टेक पाठ्यक्रम के लिए 'राष्ट्रपति स्वर्ण पदक' मिडशिपमैन किल्लमसेट्टी विकाश को दिया गया।


इस रंगारंग समारोह का समापन सफल प्रशिक्षुओं द्वारा दो कॉलम का निर्माण करने एवं सैल्यूट के लिए रखे गए राइफल एवं तलवारों के साथ मार्च करते हुए अकादमी के सैल्यूटिंग-से आगे बढ़ते हुए हुआ जहां सशस्त्र बलों ने विदाई धुन बजाई।


 


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों से भेंट की...

संवाददाता : नई दिल्ली 



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज साउथ ब्लॉक में प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों से भेंट कर उनको अपनी शुभकामनाएं दीं।


प्रधानमंत्री कार्यालय के वरिष्‍ठ अधिकारियों में प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव,नृपेन्द्र मिश्र, राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, अजीत डोभाल, अपर प्रधान सचिव पी.के. मिश्र और सचिव भास्कर खुल्बे सहित अन्‍य वरिष्ठ अधिकारियों ने हाल ही में संपन्न आम चुनावों में शानदार जीत के लिए प्रधानमंत्री की सराहना की।


प्रधानमंत्री ने पिछले पांच वर्षों में संपूर्ण प्रधानमंत्री कार्यालय के प्रयासों और समर्पण की सराहना करते हुए सभी से भारत के लोगों की आशाओं और आकांक्षाओं को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने हेतु और अथक प्रयास करने के लिए स्‍वयं को पुन: समर्पित करने का आग्रह किया।


उन्होंने कहा कि लोगों को सरकार से बहुत सी आशाएं हैं और ये आशाएं ही टीम पीएमओ को अत्‍यधिक ऊर्जा के साथ कार्य करने की क्षमता प्रदान करती हैं।अपनी टीम के प्रत्येक सदस्य के योगदान को स्वीकार करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले पांच वर्ष उनके लिए भी सीखने का एक अनुभव रहे हैं।उन्होंने प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारियों के परिवारजनों को भी अपनी शुभकामनाएं दीं।


केंद्र सरकार ने जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश और उसकी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया...

संवाददाता : नई दिल्ली 


केंद्र सरकार ने 23 मई, 2019 की अधिसूचना के अनुसार जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश अथवा जमात-उल-मुजाहिदीन भारत या जमात-उल-मुजाहिदीन हिंदुस्तान और इसकी सभी गतिविधियों पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम, 1967 की धारा 35 के उप-खंड (1) की धारा (क) के तहत सभी गतिविधियों और अभिव्यक्तियों पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया है।



अधिसूचना में कहा गया है कि जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश और उसके संगठन जैसे जमात-उल-मुजाहिदीन भारत अथवा जमात-उल-मुजाहिदीन हिंदुस्तान एवं उनकी गतिविधियों ने आतंकवाद और आतंकवाद को बढ़ावा देने के कृत्यों को अंजाम दिया है। ये संगठन भारत में आतंकवादी गतिविधियों के लिए कट्टरता फैलाने और युवाओं की भर्ती में भी संलिप्‍त है।


भारत निर्वाचन आयोग ने 17वीं लोकसभा के नव-निर्वाचित सदस्‍यों की सूची माननीय राष्‍ट्रपति को सौंपी...`

संवाददाता : नई दिल्ली


 


                मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने आज दोपहर 12 बजकर 30 मिनट पर  चुनाव आयुक्‍तों अशोक लवासा और सुशील चंद्रा के साथ राष्‍ट्रपति से भेंट की। मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ने 17वीं लोकसभा के आम चुनाव के पश्‍चात लोकसभा के लिए चुने गए नवनिर्वाचित सदस्‍यों के नाम से युक्‍त लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 73 के संदर्भ में चुनाव आयोग द्वारा जारी अधिसूचना की एक प्रति राष्‍ट्रपति को सौंपी।


आम चुनावों के सफल समापन और राष्‍ट्रपति से भेंट के पश्‍चात, तीनों चुनाव आयुक्‍तों और भारत निर्वाचन आयोग के वरिष्‍ठ


अधिकारियों ने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए उनके आशीर्वाद की कामना की। 


 


शुक्रवार, 24 मई 2019

गौतमबुद्धनगर पुलिस द्वारा ऑपरेशन ऑल आउट अभियान को धार देते एसएसपी वैभव कृष्ण...

सुरेश चौरसिया : नई दिल्ली


         अपराध की रोकथाम व अपराधियों की धरपकड़ के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण के निर्देशन में ऑपरेशन ऑलआउट अभियान के तहत जनपद गौतमबुद्धनगर में  संदिग्ध व्यक्तियों/वाहनों की चेकिंग की जा रही है। 



गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण खुद समय-समय पर पुलिसकर्मियों के साथ इस अभियान में शामिल होकर पुलिस को दिशा-निर्देश दे रहे हैं कि पुलिस को कैसे मुस्तैदी से कार्य करना है!


 इसका असर यह है कि जनपद गौतमबुद्ध नगर में पुलिस की सक्रियता बढ़ रही है और वह संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रख रहे हैं तथा ऐसे वाहनों पर कड़ी निगाह भी है जो वारदातों को अंजाम देते हैं।


भिलाई इस्‍पात संयंत्र की तारकोल डिस्टिलेशन इकाई में आग लगी...

संवाददाता : छत्तीसगढ़


         भिलाई इस्‍पात संयंत्र की तारकोल डिस्टिलेशन इकाई की कोक भट्टी तथा कोयला रसायन विभाग में आज सवेरे साढे आठ बजे आग लग गई। दमकलों ने आग पर काबू पा लिया। इस दुर्घटना में जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है। आग के कारण की जांच की जा रही है।


संयंत्र के सामान्‍य संचालन में किसी तरह की बाधा नहीं आई।



भारतीय शिष्‍टमंडल ने बिश्‍केक में दूसरे एससीओ मास मीडिया फोरम में भाग लिया...

संवाददाता : नई दिल्ली 


          किर्गिज़स्तान के बिश्केक में 23-26, मई 2019 तक दूसरा शंघाई सहयोग संगठन(एससीओ) मास मीडिया फोरम आयोजित किया गया है। फोरम की बैठक में सूचना और प्रसारण मंत्रालय का एक शिष्‍टमंडल भारत का प्रतिनिधित्‍व कर रहा है। शिष्‍टमंडल में अपर महानिदेशक श्री टीवीके रेड्डी तथा सहायक निदेशक श्री अंकुर लोहटी शामिल हैं। फोरम का उद्घाटन किर्गिज़स्तान गणराज्य के राष्‍ट्रपति श्री एस जीनबेको ने किया। अपने उद्घाटन भाषण में राष्‍ट्रपति ने एसएसीओ के पार‍स्‍परिक विश्‍वास, पड़ोसियों के साथ मैत्रीपूर्ण सम्‍बन्‍ध और 'शंघाई भावना'' के साथ क्षेत्रीय सुरक्षा के उद्देश्‍यों को पूरा करने के लिए एससीओ देशों के मास मीडिया संगठनों के महत्‍वों को बताया।



फोरम का उद्देश्‍य एससीओ देशों के बीच मास मीडिया के क्षेत्र में आदान-प्रदान और सहयोग को मजबूत बनाना है। फोरम  एक साथ संगठन का विजन बनाने तथा अंतर्राष्‍ट्रीय सूचना क्षेत्र में संगठन छवि को मजबूत बनाने का अनूठा संगठन है। फोरम में एससीओ देश(सदस्‍य देश, पर्यवेक्षक देश, डॉयलाग पार्टनर्स) मास मीडिया प्रतिष्ठानों के प्रतिनिधि तथा एससीओ सचिवालय के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।


फोरम की बैठक में भारतीय शिष्‍टमंडल ने देश में मास मीडिया के विकास में सूचना और प्रसारण मंत्रालय की महत्‍वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डाला। शिष्‍टमंडल ने एससीओ साझेदार देशों की विभिन्‍न मास मीडिया एजेंसियों, संगठनों तथा संघों के बीच मीडिया सहयोग और श्रेष्‍ठ व्‍यवहारों के आदान-प्रदान की आवश्‍यकता पर बल दिया। शिष्‍टमंडल ने सुझाव दिया कि संयुक्‍त अंतरराष्‍ट्रीय संवाददाता सम्‍मेलनों के साथ मीडियाकर्मियों के आदान-प्रदान का कार्यक्रम चलाया जा सकता है। बैठक में फर्जी समाचारों की समस्‍या से निपटने में एक साथ काम करने के विचार को प्रमुखता से उठाया गया। शिष्‍टमंडल ने नवम्‍बर, 2019 में गोवा में आयोजित होने वाले भारत अंतरराष्‍ट्रीय फिल्‍म समारोह की स्‍वर्णजयंती समारोह में शामिल होने के लिए एससीओ सदस्‍य प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया।



एससीओ के सदस्‍य देशों ने मीडिया फोरम के प्रस्‍ताव को स्‍वीकार किया। जिसमें एससीओ सदस्‍य देशों के मास मीडिया संगठनों के बीच सफल सहयोग की आवश्‍यकता व्‍यक्‍त की गई है।


पहला एससीओ मीडिया समिट 1 जून, 2018 को बीजिंग में हुआ था। यह आयोजन ''शंघाई भावना'' के विकास के नारे के साथ हुआ था। इसमें 16 देशों के 110 मीडिया प्रतिष्‍ठानों ने भाग लिया, जिसमें एससीओ सदस्‍य देश, पर्यवेक्षक देश तथा डॉयलाग पार्टनर्स  शामिल हैं।


फेसबुक ने 2.2 बिलियन अकाउंट्स डिलीट किए...

सुरेश चौरसिया : नई दिल्ली


                सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक ने 2.2 बिलियन अकाउंट्स डिलीट किए हैं. कंपनी के मुताबिक ये फर्जी अकाउंट्स थे और ये फेक अकाउंट्स पर किया जाने वाला फेसबुक की तरफ से अब तक सबसे बड़ा प्रहार है. आपको बता दें कि कंपनी ने इससे पहले भी 1.2 अरब फेस अकाउंट्स डिलीट किए थे जो ऑक्टूबर से दिसंबर के बीच कंपनी ने इन अकाउंट्स को हटाया था। 


 

फेसबुक ने इनफोर्समेंट रिपोर्ट जारी की है जिसमें फेसबुक द्वारा अक्टूबर 2018 से लेकर मार्च 2019 तक लिए गए ऐक्शन के बारे में जिक्र है. इस दौरान फेसबुक ने अकाउंट्स और पोस्ट को हटाए हैं जो फर्जी थे. इस तीन महीने में कंपनी 2.2 अरब से ज्यादा फेक अकाउंट्स और पोस्ट हटाए हैं। 

 

फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कहा है,'हार्मफुल कॉन्टेंट के प्रसार को समझने से कंनियों और सराकरों को बेहतर सिस्टम बनाने और उससे डील करने में मदद मिलती है। 

 

फेसबुक को अनुमान है कि अब भी कुल यूजर्स यानी 2.4 अरब मंथली ऐक्टिव यूजर्स में से 5% फेक हैं यानी ये 119 मिलिय अकाउंट्स फेक हैं. पिछली रिपोर्ट में ये आंकड़ा 3 से 4% का था, लेकिन अब इनकी संख्या बढ़ी है. रिपोर्ट  के मुताबिक फेसबुक ने न सिर्फ फेक अकाउंट डिलीट किए हैं, बल्कि पोस्ट भी डिलीट किए हैं। 

 

फेसबुक ने कहा है कि कंपनी ने लगभग 7.3 मिलियन पोस्ट्स, फोटोज और दूसरे मेटेरियल फेसबुक प्लेटफॉर्म से हटाए हैं. वजह ये है कि ये पोस्ट कंपनी के नियम का उल्लंघन करते थे और हेट स्पीच वाले थे. पिछले छह महीने में इस तरह के पोस्ट 5.4 मिलियन थे, जो बढ़ कर 7.3 मिलियन हुए। 

 

फेसबुक ने कहा है कि 65% हेट स्पीच वाले पोस्ट की पहचान कंपनी ने खुद की है, बिना किसी के रिपोर्ट किए हुए. कंपनी ने ऐसा 2019 के पहले तीन महीने में किया है. पिछली बार इसी महीने में कंपनी ने 52 फीसदी हेट स्पीच वाले पोस्ट हटाए थे.

गैरतलब है कि फेसबुक दावा करता है कि कंपनी के पास फेक न्यूज, फोटो, पोस्ट, कॉमेन्ट्स और वीडियोज को रिव्यू करने के लिए हजारों कर्मचारी हैं. इसके साथ ही कंपनी इसके लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भी यूज करती है, लेकिन फिर भी अब तक ऐसा कोई बड़ा बदलाव देखने को नहीं मिला है। 

 तीन अभियुक्तों को किया गिरफ्तार,आर.टी.ओ की फर्जी वेबसाइट बनाकर टैक्स की करते थे वसूली...

नरेंद्र कुमार राठौर:देहरादून उत्तराखंड 


           आर.टी.ओ.की फर्जी बेवसाईट बनाकर फर्जी टैक्स की रसीदें काटकर सरकार को राजस्व का नुकसान पहुचाने वाले 03 शातिर अभियुक्त गिरफ्तार ,ए.आर.टी.ओ. देहरादून अरविन्द पाण्डेय के द्वारा जनपद में वाहनों की चैकिंग करने के दौरान पाया कि जनपद में कई वाहनों की टैक्स रसीदे फर्जी तरीके से बनी है। जिसके सम्बन्ध में उक्त ए.आर.टी.ओ.द्वारा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, महोदय देहरादून को शिकायत की गयी। जिस पर महोदया द्वारा सरकार को राजस्व हानि पहुचाने के अपराध को गम्भीरता से संज्ञान लेते हुए इसकी जांच साइबर सैल देहरादून को आदेशित किया गया। उक्तए.आर.टी.ओ. द्वारा की गयी शिकायत के क्रम में राजपुर थाना क्षेत्र में कुठाल गेट पर स्वंयए.आर.टी.ओ.अरविन्द पाण्डेय के द्वारा चैकिंग करते हुए एक वाहन फर्जी टैक्स प्रमाण-पत्र सहित पकड़ी गयी तथा वाहन स्वामी तुषार मुलचन्दानी के द्वारा थाना राजपुर में तहरीर दी व थाना राजपुर में मुकदमा अपराध संख्या- 80/19 धारा- 420 467, 468, 471 भा0द0वि0 पंजीकृत कराया गया। जिसकी विवेचना उ.नि. दीपक द्विवेद्वी के सुपुर्द की गयी। मुकदमें में साइबर सैल की मदद से जांच में पाया कि अभियुक्तगणों द्वारा फर्जी रूप से बेवसाईट को Godaddy पर रजिस्टर्ड करवाया गया।



इसी क्रम में ए.आर.टी.ओ. श्री अरविन्द पाण्डेय द्वारा चैकी हाथीबड़कला थाना डालनवाला में लिखित शिकायत दी, कि अक्ज्ञात व्यक्तियों द्वारा उत्तराखण्ड राज्य में आने वाले अन्य वाहनों का आनलाइन जमा करों की फर्जी रसीदें बनाने का कार्य किया जा रहा है। जिससे करों के रूप में राजकीय राजस्व की हानि हो रही है। जिसके आधार पर थाना डालनवाला पर मु. अ. संख्या- 86/19 धारा- 467, 468, 471, 420 भा.द.वि. पंजीकृत हुआ तथा मुकदमें की विवेचना चौकी प्रभारी प्रदीप रावत के सुपुर्द की गयी। अभियुक्तगणों के द्वारा सरकार को राजस्व हानि पहुचाने के फलस्वरूप उक्त दोनो मुकदमों की गम्भीरता को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, महोदया के द्वारा व पुलिस अधीक्षक, नगर को मुकदमें के तत्काल खुलासे हेतु पुलिस अधीक्षक, नगर महोदया के निर्देशन में क्षेत्राधिकारी डालनवाला- मसूरी महोदय के पर्यवेक्षण में मुकदमें का अनावरण करने हेतु तत्काल प्रभारी निरीक्षक डालनवाला व थानाध्यक्ष राजपुर को पुलिस की संयुक्त टीम का गठन किया एंव पुलिस टीम का तत्काल अभियुक्तों की गिरफ्तारी के प्रयास हेतु प्राप्त जानकारी के अनुसार रवाना किया गया। जिसके क्रम में टीमों के द्वारा साईकर तकनीकों व अन्य दस्तावेजों, साक्ष्यों की मदद से पलवल हरियाणा में अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु सम्भावित जगहो पर दबिश दी गयी तथा टीमों द्वारा सुझ-बूझ से मुकदमें में शातिर मुख्य अभियुक्त पवन कुमार पुत्र गिरधारी, निवासी- गा.-करमन, त.-होडल, पलवल हरियाणा उम्र- 32 वर्ष को गिरफ्तार किया गया।


अभियुक्त द्वारा मुकदमें में फर्जी बेवसाईट को अपने नाम से रजिस्टर्ड करवायी गयी थी। गिरफ्तार अभियुक्त पूछताछ पर बताया कि उक्त बेवसाईट टिंकु नाम के व्यक्ति से बनावायी थी। थाना राजपुर में दर्ज मुकदमें में प्रकाश में आये अभियुक्त राहुल को गिरफ्तार अभियुक्त पवन के द्वारा जानना बताया गया जिस पर संयुक्त टीम के द्वारा होडल रेलवे स्टेशन से अभियुक्त राहुल पुत्र रामपाल निवासी- गाम- भूलवाना, थाना- होडल, जिला-होडल उम्र 21 वर्ष को गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त पवन से पुछताछ करने पर उसके द्वारा बताया गया कि रामपुर तिराहा मुजफ्फरनगर बाईपास के पास शाहवेज को मैने यूजर आई.डी. व पासवर्ड दिया गया अभियुक्त शाहवेज ही फर्जी आर.टी.ओ. टैक्स प्रमाण-पत्र बनाता व काटता है टैक्स प्रमाण-पत्र से जो पैसे मिलते है उसका 30 प्रतिशत मुझे देता है। अभियुक्त पवन की निशानदेही पर रामपुर तिराहे से शिवा आर.टी.ओ. टैक्स के नाम से उक्त फर्जी बेवसाईट से टैक्स काटते हुए शाहवेज पुत्र शहजाद निवासी- सरवर, जिला- मुजफ्फरनगर, थाना-सिविल लाईन उम्र- 23 वर्ष को मौके से कारण गिरफ्तारी बताते हुए गिरफ्तार किया गया तथा अभियुक्तगणों की निशानदेही पर अभियुक्तगणों द्वारा फर्जी कर प्रमाण-पत्र तैयार करने हेतु प्रयोग किये जा रहे कम्प्यूटर संशाधनों को कब्जे में लिया गया।


अपराध करने का तरीका- अभियुक्तगणों के द्वारा फर्जी बेवसाईट बनाकर धोखेबाजी करते हुए वाहनों के टैक्स प्रमाण-पत्र बनाकर मोटी रकम अर्जित करने की नियत से सरकारी राजस्व को हानि पहुचाना। गिरफ्तार अभियुक्त पवन के द्वारा टिंकु की मदद से उक्त बेवसाईट को जल्दी पैसा कमाने की लालच में 30,000/- रूपयें देकर उत्तराखण्ड रोड टैक्स की फर्जी बेवसाईट बनवाना बताया तथा चलाने हेतु शाहवेज को 30 प्रतिशत कमीशन पर यूजर आई.डी. व पासवर्ड देना बताया। गिरफ्तार अभियुक्त राहुल के द्वारा टिंकु से यूजर आई0डी0 व पासवर्ड लेना बताया तथा इसके एवज में 30 प्रतिशत कमीशन देना बताया। अभियुक्त शाहवेज व राहुल आर.टी.ओ.टैक्स कटवाने वाले लोगों को जो उत्तराखण्ड आते समय टैक्स कटवाते थे, को उत्तराखण्ड वाहन टैक्स की फर्जी आई.डी. जो पवन के द्वारा बनवाई गयी थी से काटकर दे देते थे। जो कि हुबहु असली टैक्स पर्ची की तरह दिखता था। जिससे टैक्स कटवाने वाले को भी संदेह नही होता था। टैक्स की धनराशि नकद लेते थे जिससे की ग्राहक को इसकी जानकारी न हो पायें।



गिरफ्तार अभियुक्तगण-


1- पवन कुमार पुत्र गिरधारी, निवासी- गा0-करमन, त0-होडल, पलवल हरियाणा उम्र- 32 वर्ष (मुख्य अभियुक्त)
2- शाहवेज पुत्र शहजाद निवासी- सरवर, जिला- मुजफ्फरनगर, थाना-सिविल लाईन उम्र- 23 वर्ष
3- राहुल पुत्र रामपाल निवासी- गाम- भूलवाना, थाना- होडल, जिला-होडल उम्र 21 वर्ष -थाना
राजपुर
4- टिंकु पुत्र नामलुम निवासी- गा0-करमन, त0-होडल, पलवल हरियाणा (वांछित थाना राजपुर)


बरामदगी-


1- कम्प्यूटर सी.पी.यू.- 01 अदद्
2- मांनिटर – 01 अदद
3- की-बोर्ड, माउस- 02 अदद
4- मोबाईल- 02 अदद
5- मोबईल- 01 अदद (थाना राजपुर)
अभियुक्तगणों के द्वारा उक्त कम्प्यूटर संसाधनों की मदद से धोखेबाजी की नियत से फर्जी टैक्स प्रमाण-पत्र तैयार करना।


गिरफ्तार करने वाली टीम-


1- क्षेत्राधिकारी डालनवाला जया बलोनी
2- क्षेत्राधिकारी मसूरी अरविन्द सिंह रावत
3- प्रभारी निरीक्षक, डालनवाला-राजीव रौथाण
4- थानाध्यक्ष, राजपुर नत्थीलाल उनियाल
5- उ.नि. प्रदीप रावत, चैकी प्रभारी हाथीबड़कला
6- उ.नि. दीपक द्विवेद्वी, थाना राजपुर
7- उ.नि. राहुल कापड़ी, साईबर सैल देहरादून
8- का. नरेन्द्र पुरी थाना राजपुर
9- का. बलवीर- चौकी हाथी बड़कला
10- का. प्रमोद- एस.ओ.जी. देहरादून


दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने ’वीर नारियों’ के लिए सहारा नौसेना होस्‍टल का उद्घाटन किया...

संवाददाता : नई दिल्ली


 


              दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आज वसंत कुंज,  नई दिल्ली में 'वीर नारियों' के लिए सहारा नौसेना होस्‍टल का उद्घाटन किया। नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा, पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी  और नेवल वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन की अध्‍यक्षा श्रीमती रीना लांबा, नौसेना के वरिष्‍ठ अधिकारी और अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्ति भी इस अवसर पर मौजूद थे। भारतीय नौसेना द्वारा नौसेना की वीर नारियों 'के लिए यह विशेष परियोजना शुरू की गई है। इस परियोजना का निर्माण नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन के साथ कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी की साझेदारी में किया गया है।


यह होस्‍टल नौसेना की वीर नारियों के पुनर्वास की दिशा में लंबे समय से अनुभव की जा रही जरूरत का समाधान करेगा और वीर नारियों को एक संरक्षित और सुरक्षित वातावरण उपलब्‍ध करायेगा, जिससे उनके जीवन को नये सिरे से शुरू करने में मदद मिलेगी।


सहारा होस्टल में गरिमापूर्ण जीवन के लिए सभी आवश्यक सुविधाओं से सुसज्जित कमरों के सैट बनाए गये हैं। इसके साथ-साथ कॉमन डाइनिंग हॉल और एक सामुदायिक हॉल का भी निर्माण किया गया है।


सहारा होस्टल के रहने वाली नारियों के लिए मौके पर ही सहज सहायता उपलब्‍ध कराने के लिए नौसेना की रेजिमेंटल प्रणाली का कार्यालय भी यहां स्‍थापित किया गया है।


सफलतापूर्वक गाइडेड बम का उड़ान-परीक्षण किया डीआरडीओ ने...

संवाददाता : नई दिल्ली 



          रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने आज राजस्‍थान के पोखरण परीक्षण रेंज से एसयू-30एमकेआई विमान से 50 किलोग्राम वर्ग के इनर्शियल गाइडेड बम का उड़ान परीक्षण किया। गाइडेड बम ने सफलतापूर्वक रेंज हासिल करते हुए लक्ष्‍य पर काफी स्‍टीक रूप से निशाना लगाया।


मिशन के सभी उद्देश्‍य पूरे हो गए हैं। यह प्रणाली विभिन्‍न युद्ध हथियारों को ले जाने में सक्षम है।


पूर्वी कमान इकाई ने कार निकोबार द्वीपसमूह से ब्रह्मोस मिसाइल का परीक्षण किया...

संवाददाता : नई दिल्ली 


             भारतीय सेना, नौसेना तथा वायुसेना द्वारा संयुक्‍त प्रशिक्षण के रूप में भारतीय सेना की पूर्वी कमान इकाई ने 22, मई 2019 को दोपहर बाद 2 बजकर 50 मिनट पर कार निकोबार द्वीप समूह से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया। युद्धक मिसाइल का 270 किलोमीटर की रेंज पर विशेष रूप से डिजाइन किए गए लक्ष्‍य पर परीक्षण किया गया। परीक्षण से सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल द्वारा अंदर तक मार करने की क्षमता और लक्ष्‍यों की सही तरीके से साधने के काम को वैधता मिली।



ब्रह्मोस के सफल परीक्षण के लिए बड़ी संख्‍या में एजेंसियों ने तालमेल के साथ काम किया। यह सेना के तीनों अंगों का सामूहिक प्रयास था, जिसमें अन्‍तर सेवा तालमेल के उच्‍च मानक देखने को मिले।


जनरल आफिसर कमांडिंग इन चीफ पूर्वी कमान लेफ्टिनेंट जनरल एमएम नरवाने ने अन्‍य अधिकारियों के साथ इस परीक्षण को देखा और इकाई तथा प्रक्रिया में शामिल सभी एजेंसियों को बधाई दी।


ब्रह्मोस मिसाइल ने स्‍वयं को ताकत को कई गुणा बढ़ाने वाले प्रक्षेपास्‍त्र के रूप में स्‍थापित किया है। इसकी विभिन्‍न भूमिका तथा विभिन्‍न प्‍लेटफार्म से लांच करने की क्षमता हमारे सैनिकों के विश्‍वास को बढ़ाती है।


पीएम मोदी ने ट्विटर पर अपने नाम से हटाया चौकीदार...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


         लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिली प्रचंड कामयाबी के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ट्विटर पर अपने नाम के आगे से चौकीदार हटा दिया है. उनके अलावा केंद्रियों मंत्रियों, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने नाम के आगे लगा चौकीदार हटा दिया है.



पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि चौकीदार शब्द मेरे ट्विटर से हट रहा है लेकिन यह मेरे भीतर बसा हुआ है. उन्होंने सभी लोगों से भी ऐसा ही करने की अपील की है. पीएम मोदी ने कहा है कि अब समय आ गया है कि चौकीदार शब्द की भावना को अगले स्तर पर ले जाया जाए. इस भावना को हर पल जिंदा रखें और भारत के विकास के लिए काम करते रहें.


एक अन्य ट्वीट में नरेंद्र मोदी ने कहा, देश के लोग चौकीदार बन गए और उन्होंने देश की महान सेवा की. 'चौकीदार' जातिवाद, सांप्रदायिकता, भ्रष्टाचार से भारत के रक्षकों का एक प्रतीक बन गया है


नरेंद्र मोदी 29 मई को ले सकते हैं शपथ...

सुरेश चौरसिया : नई दिल्ली



       भारत में 17वीं लोकसभा के गठन के लिए चुनाव संपन्न हो गए। इस चुनाव में 'मोदी सुनामी' के आगे किसी की नहीं चली।भाजपा संसदीय बोर्ड ने गुरुवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व पर एक प्रस्ताव पारित किया और लोगों को पार्टी के एजेंडे का समर्थन करने के लिए धन्यवाद दिया। पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि शनिवार (25 मई) को भाजपा के सभी नवनिर्वाचित सांसद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलेंगे और उनके नेतृत्व में सरकार बनाने के लिए राष्ट्रपति के समक्ष दावा पेश करेंगे। सूत्र ने बताया कि नई सरकार 29 मई को शपथ ले सकती है।

 

पार्टी ने अपने प्रस्ताव में जीत की वजह मोदी द्वारा गरीब लोगों के विकास के लिए बनाई गई नीतियों, राष्ट्रीय सुरक्षा में क्लियर स्टैंड, अपना मंत्र 'सबका साथ-सबका विकास' बातया। साथ ही संसदीय बोर्ड ने चुनावी प्रक्रिया को लेकर लोगों को बीच असमंजस की स्थिति पैदा करने की कोशिश करने और ईवीएम पर सवाल उठाने का आरोप लगाते हुए हमला किया। भाजपा ने कहा कि विपक्ष के नकारात्मक एजेंडे को जनता ने नकार दिया। साथ ही हिंसा पश्चिम बंगाल की जनता को भी साथ देने के लिए धन्यावाद दिया।

 

इस चुनाव में एनडीए जहां 350 सीट पर जीतने के करीब पहुंच गई है। वहीं, यूपीए 86 और अन्य के खाते में 106 सीटें जाती दिख रही है। यदि सिर्फ दो बड़ी पार्टियों की बात करें तो पिछले चुनाव का रिकॉर्ड तोड़ते हुए भाजपा 303 सीटें जीतने के करीब है। वहीं, कांग्रेस 52 पर सिमट चुकी है। इस प्रचंड बहुमत के साथ नरेंद्र मोदी दोबारा सरकार बनाने जा रहे हैं।

 

उत्तर प्रदेश में भाई-बहन (राहुल गांधी-प्रियंका गांधी) की जोड़ी अपने पारंपरिक सीट अमेठी को भी नहीं बचा पायी। वहीं, बिहार में पहली बार ऐसा हुआ कि लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के एक भी प्रत्याशी संसद नहीं पहुंच पाए। करीब डेढ़ दर्जन से ज्यादा राज्यों में कांग्रेस का खाता तक नहीं खुला। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के किले को ध्वस्त करते हुए भाजपा ने कुल 42 सीटों में से 18 जीती। वहीं, तृणमूल 22 पर अपना कब्जा बरकरार रखने में कामयाब हो सकी। कांग्रेस को 2 सीट से ही संतोष करना पड़ा। दिल्ली से लेकर पूर्वोत्तर भारत तक हर जगह भगवा पार्टी ने अपना झंडा फहराया।

भूटान नरेश,भूटान के प्रधानमंत्री और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जीत पर बधाई दी...

संवाददाता : नई दिल्ली 


भूटान नरेश ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जीत पर बधाई दी...



भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्येल वांगचुक ने 23 मई, 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से फोन पर बात कर उन्हें 17वीं लोकसभा के चुनाव में मिली जीत के लिए बधाई दी।


महामहिम भूटान नरेश ने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत की जनता की प्रगति और समृद्धि के लिए शुभकामनाएं भी दीं।


प्रधानमंत्री मोदी ने भूटान नरेश के अभिवादन और हार्दिक शुभकामनाओं के लिए उनका आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि भारत सरकार भूटान के साथ अपनी विलक्षण और विशेष मित्रता को सर्वाधिक महत्व देती है। उन्होंने दोनों देशों के बीच इस साझेदारी को और अधिक ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए भूटान की शाही सरकार के साथ मिलकर काम करने की भारत सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई।


भूटान के प्रधानमंत्री डॉ. लोटे शेरिंग ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जीत की बधाई दी...



भूटान के प्रधानमंत्री महामहिम ल्योंचेन डॉ. लोटे शेरिंग ने 23 मई, 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भारत में आम चुनावों में मिली जीत के लिए फोन पर बधाई दी।


प्रधानमंत्री डॉ. लोटे शेरिंग ने भारत में प्रधानमंत्री द्वारा प्रदान किए गए मजबूत नेतृत्व की सराहना की और आशा व्यक्त कि भारत उनकी दृष्टि और नेतृत्व में अपार सफलता हासिल करेगा।


प्रधानमंत्री मोदी ने बधाई के लिए प्रधानमंत्री डॉ. लोटे शेरिंग का आभार प्रकट किया। उन्होंने भूटान के साथ विशेष और आदर्श द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए प्रधानमंत्री डॉ. लोटे शेरिंग और भूटान की शाही सरकार के साथ काम करना जारी रखने की प्रतिबद्धता दोहराई।


ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी को फोन पर बधाई दी...



ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने 23 मई 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से फोन पर बातचीत कर उन्हें 17वीं लोकसभा के आम चुनाव में जीत हासिल करने पर बधाई दी।


प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत, ऑस्ट्रेलिया के साथ अपने संबंधों को और मजबूत बनाने को बहुत महत्व देता है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही सशक्त और जीवंत लोकतंत्र हैं और हमारे बढ़ते आर्थिक संबंधों, उच्च स्तरीय सम्पर्कों तथा जनता के बीच प्रागाढ़ होते संबंधों के कारण हमारे रिश्तों में उत्पन्न गति भविष्य में भी जारी रहेगी।


प्रधानमंत्री ने भी ऑस्ट्रेलिया में हाल ही में संपन्न चुनावों में लिबरल-नेशनल कोलिशन पार्टी को जीत दिलाने के लिए प्रधानमंत्री मॉरिसन को बधाई दी। उन्होंने प्रधानमंत्री मॉरिसन को भारत की यात्रा पर आने का अपना निमंत्रण दोहराया।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सूरत में भीषण आग दुर्घटना पर शोक व्‍यक्‍त किया...

संवाददाता : नई दिल्ली 


             प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सूरत में भीषण आग दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने गुजरात सरकार और स्थानीय अधिकारियों से इस त्रासदी से प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता उपलब्‍ध कराने का निर्देश दिया है।



प्रधानमंत्री ने कहा कि सूरत में भीषण आग दुर्घटना से बेहद दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मैं घायलों के जल्दी ठीक होने की कामना करता हूं। मैंने गुजरात सरकार और स्थानीय अधिकारियों से प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए कहा है।