गुरुवार, 31 जनवरी 2019

अंडमान और निकोबार दीप समूह के एलजी सचिव कुलानंद जोशी हुए पदोन्नत...

संवाददाता : नई दिल्ली 



अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के एलजी सचिव कुलानंद जोशी सहित 13 DANICS अधिकारियों को पदोन्नत किया गया है।


कुलानंद जोशी, उत्तराखंड से हैं, वह पूर्वी दिल्ली के डीएम भी रह चुके है और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के कार्यालय में अतिरिक्त सचिव (भागदारी कार्यक्रम) थे , शीला दीक्षित सरकार द्वारा भागदारी कार्यक्रम में उनके कार्यों के लिए उन्हें "सर्वश्रेष्ठ अधिकारी" के रूप में सम्मानित किया गया था, जो दिल्ली में कांग्रेस के तत्कालीन वितरण की एक महत्वाकांक्षी योजना थी।


अन्य DANICS अधिकारी - के महेश, कुलदीप सिंह गंगर, कुलदीप पक्कड़, ए.आर. तलवाडे, बिनय भूषण, सुभाष चंद्र, सरप्रीत सिंह गिल, सी उदय कुमार, कृष्ण कुमार, अजय कुमार गुप्ता और अजय चग्गी - को भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) संवर्ग में पदोन्नत किया गया है।


नए और पुराने शस्त्र लाइसेंस रिन्यू करवाने, की प्रक्रिया होगी अब ऑनलाइन :अमूल्य पटनायक, दिल्ली पुलिस कमिश्नर

प्रजा दत्त डबराल : नई दिल्ली



                                                देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भारत डिजिटलीकरण के तहत दिल्ली पुलिस भी डिजिटल होती जा रही है,डिजिटलकरण का उपयोग वह अपने हर कार्यो  में करती जा रही है 


दिल्ली पुलिस ने हथियारों की लाइसेंसिंग प्रक्रिया को पूरी तरह लोगो के लिए ऑनलाइन कर दिया गया है और इसको  दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने लॉन्च किया।


 



1 फरवरी २०१९  से नए हथियार और रिन्यू करवाने का लाइसेंस लेने  लिए ऑनलाइन भरना होगा , लाइसेंसिंग विभाग के दफ्तर के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे, बल्कि आवेदन करने से लेकर लाइसेंस जारी करने तक की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन हो जाएगी।आवेदक भुगतान गेटवे के माध्यम से या लाइसेंस इकाई में पीओएस के माध्यम से ऑनलाइन भुगतान कर सकता है।यह लाइसेंसिंग यूनिट में दोहराए जाने वाले पेपर के काम को भी कम करेगा और बेहतर आउटपुट के लिए उन्हें अधिक समय देगा।यह प्रणाली ऑनलाइन प्रसंस्करण के लिए सभी 15 जिलों और लाइसेंसिंग यूनिट को जोड़ती है।


  दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने पुलिस मुख्यालय में इस नए सिस्टम को लॉन्च किया। इस मौके पर स्पेशल कमिश्नर (विजिलेंस) विचारआर.एस. कृष्णैया, लाइसेंसिंस विभाग किया के जॉइंट कमिश्नर प्रभाकर और डीसीपी अब आसिफ मोहम्मद अली के अलावा कई के अन्य अधिकारी भी मौजदू थे।


 इसका फायदा यह होगा कि अब लोग घर बैठे हथियार का लाइसेंस लेने के लिए आवेदन कर सकेंगे और उसका स्टेटस भी चेक कर सकेंगे। साथ ही जरूरी दस्तावेज भी लोग ऑनलाइन ही जमा करा सकेंगे और फीस भी ऑनलाइन ही जमा करा सकेंगे। आज के परिदृश्य में, प्रौद्योगिकी को अपनाना अब एक लक्जरी नहीं बल्कि एक परम आवश्यकता है, क्योंकि अधिकांश लोग कंप्यूटर साक्षर हैं और इंटरनेट और स्मार्ट फोन का बड़े पैमाने पर उपयोग कर रहे हैं। इस परिदृश्य में, दिल्ली पुलिस अपनी सेवा-सुपुर्दगी में गुणात्मक सुधार लाने के लिए सभी संभव तकनीकी साधनों का उपयोग करने का प्रयास करती है।


 


 


बुधवार, 30 जनवरी 2019

केन्‍द्रीय वित्‍त मंत्री श्री पीयूष गोयल ने इंडिया पोस्‍ट पेमेंट्स बैंक की अभूतपूर्व प्रगति की सराहना की...

संवाददाता : नई दिल्ली 


                             


                                                   केन्‍द्रीय रेल, कोयला, वित्‍त और कॉरपोरेट मामलों के मंत्री श्री पीयूष गोयल ने डाक विभाग और इंडिया पोस्‍ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) को बैंक की गतिविधियों का विस्‍तार करने की दिशा में किए गए जोरदार प्रयासों के लिए बधाई दी है। आईपीपीबी लांच के दो वर्ष पूरे होने के अवसर पर आज नई दिल्‍ली में आयोजित एक विशेष समारोह में उन्‍होंने कहा कि पूरे देश के सभी 1.55 लाख डाकघरों का लाभ उठाकर आईपीपीबी ग्रामीण और दूर-दराज के क्षेत्रों में अंतिम व्‍यक्ति तक बैंकिंग सेवाएं उपलब्‍ध कराने में सक्षम होगा। इससे प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के सभी वित्‍तीय समावेश को शामिल करके आर्थिक बदलाव और नये भारत का सृजन करने के सपने को साकार करने में मदद मिलेगी।


केन्‍द्रीय संचार (स्‍वतंत्र प्रभार) और रेल राज्‍य मंत्री श्री मनोज सिन्‍हा ने बैंक के तेजी से बढ़ते हुए स्तर के बारे में संतोष व्‍यक्‍त किया। उन्‍होंने देश में डिजिटल भुगतानों को सरल और लोकप्रिय बनाने के लिए बैंक के प्रयासों की सराहना की। प्रसिद्ध कलाकार और पद्मभूषण पुरस्‍कार से सम्‍मानित श्री सतीश गुजराल द्वारा वित्‍तीय समावेश पर डिजाइन किये गये स्‍मारक डाक टिकट भी इस समारोह में जारी किए गए। ‘ब्रेकिंग बैरियर्स’ नामक एक कॉफी टेबल बुक को भी इस अवसर पर जारी किया गया। आकर्षक ढंग से चित्रित इस पुस्‍तक में  पिछले दो वर्षों के दौरान आईपीपीबी की चुनौतीपूर्ण यात्रा का वर्णन किया गया है। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा डाक विभाग को भुगतान बैंक लाइसेंस देने के साथ यह यात्रा 20 जनवरी, 2017 को शुरू हुई थी। 10 दिन की रिकॉर्ड अवधि के दौरान, 30 जनवरी, 2017 को 8 पहुंच बिन्‍दुओं के साथ रायपुर (छत्‍तीसगढ़) और रांची (झारखंड) में दो पायलट शाखाओं ने काम शुरू कर दिया था।


श्री मनोज सिन्‍हा ने बेहतर काम करने वाले पोस्‍टल सर्किलों, क्षेत्रों, अंचलों, शाखाओं और अनेक सर्किलों में कार्यरत पोस्‍टमैनों, डाक सहायकों और ग्रामीण डाक सेवकों को बेहतर काम करने के लिए पुरस्‍कार प्रदान किए। तेलंगाना सर्किल को सबसे अधिक पुरस्‍कार प्राप्‍त हुए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने देश के 650 जिलों मे 1 सितंबर, 2018 को आईपीपीबी की शुरूआत की थी। 4 महीने से कुछ अधिक अवधि में ही इसने देश में 1.25 लाख पहुंच बिन्‍दु स्‍थापित किए। इसमें प्रमुख बात यह है कि इनमें से लगभग 1.10 लाख पहुंच बिन्‍दु ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित हैं। यह बैंकिंग इतिहास में यह सबसे तेजी से स्‍थापित किए गए पहुंच बिन्‍दु हैं। प्रति दिन 800 से अधिक पहुंच बिन्‍दु की स्‍थापना की औसत दर रही है। आईपीपीबी के पहुंच बिन्‍दुओं की संख्‍या ग्रामीण क्षेत्रों में स्‍थापित बैंकों की शाखाओं की संख्‍या से लगभग दोगुनी है। देश में वित्‍तीय समावेश को बढ़ावा देने में आईपीपीबी आम आदमी के लिए सर्वाधिक सुलभ, सस्‍ते और विश्‍वसनीय बैंक होने के अपने उद्देश्‍य को प्राप्‍त करने में पहुंच और नेटवर्क के रूप में सबसे बड़ा बैंक हो गया है।


बिना बैंक और कम बैंक का उपयोग करने वाली जनसंख्‍या के लिए मौजूदा अवरोध दूर करने के अपने लक्ष्‍य के लिए आईपीपीबी बैंक सेवाओं और भुगतानों को सरल बनाकर ग्राहक के दरवाजे तक ले गया है। आधार का उपयोग करते हुए यह बैंक मिनटों में कागज रहित डीबीटी अकाउन्‍ट खोलता है। क्‍यूआर कोड की अभिनव तैनाती और बिल के भुगतान के लिए बायोमैट्रिक प्रमाणीकरण का उपयोग करके यह बैंक बिना स्‍मार्ट फोन वाले ग्राहकों के लिए भी आसानी से धन जमा और धन निकासी की सुविधा प्रदान कर रहा है। एक बड़े डिजिटल साक्षरता कार्यक्रम में ढाई लाख से अधिक आखिरी मील तक आपूर्ति करने वाले एजेंटों (पोस्‍टमैन, जीडीएस) को ग्रामीण क्षेत्रों में दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं उपलब्‍ध कराने तथा वित्‍तीय साक्षरता को बढ़ावा देने के लिए प्रशिक्षित और प्रमाणित किया गया है। इन विशेषताओं का लाभ उठाते हुए आईपीपीबी ने भारतीय राष्‍ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) की भागीदारी में सहायता प्राप्‍त यूपीआई की शुरूआत की है।  दुनिया के इस सबसे तेजी से आगे बढ़ रहे भुगतान मंच का फोन न रखने वाले लोग भी लाभ उठा सकते हैं।


     आईपीपीबी ने अपनी शुरूआत से ही सेवाओं को अच्‍छी तरह से अपनाया है। 30 लाख से अधिक ग्राहकों ने इसमें अपने बचत खाते खोले हैं तथा मनी ट्रांसफर, बिल भुगतान, नकदी जमा और निकालने जैसी बैंकिंग सेवाओं का अपने दरवाजे पर ही लाभ उठा रहे हैं। इसके अलावा एक लाख से अधिक डाकघर बचत खाताधारकों ने अपने पुराने डाकघर खाते आईपीपीबी से जोड़ लिए हैं। इस प्रकार वे मोबाइल बैंकिंग, डोर स्‍टैप बैंकिंग, एसएमएस और आईवीआर जैसे चैनलों के माध्‍यम से अंतर-बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा रहे हैं। ये सेवाएं उन्‍हें पहले उपलब्‍ध नहीं थीं। इसके साथ ही 8 लाख से अधिक ग्राहकों ने आईपीपीबी मोबाइल बैंकिंग एप डाउनलोड किये हैं और अब वे स्‍वयं सेवा डिजिटली बैंकिंग लेन-देन का लाभ उठाने में समर्थ हो गए हैं। आईपीपीबी ग्राहकों ने चार महीनों की छोटी सी अवधि में ही 8 करोड़ रुपये से भी अधिक के 21 लाख से भी अधिक लेन-देन कर लिए हैं। आईपीपीबी ने डेढ़ लाख से अधिक बिल भुगतान किए हैं।


     अपनी कम नकदी अर्थव्‍यवस्‍था को बढ़ावा देने और डिजिटल भुगतान पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत बनाने की रणनीति के एक हिस्‍से के रूप में आईपीपीबी ने 10,000 से भी अधिक डाकघर काउंटरों पर एक सरल क्‍यूआर कोड के माध्‍यम से डिजिटल भुगतान को सक्षम बनाया है। लगभग 25,000 ग्राहकों ने पिछले तीन महीनों के दौरान पीपीएफ/आरडी/सुकन्‍या समृद्धि योजना में अपने निवेश के लिए आईपीपीबी के माध्‍यम से 13 करोड़ रुपये मूल्‍य के डिजिटल भुगतान बिना डाकघर में आए किए हैं।                          


अनशन पर बैठे अन्ना हजारे...

संवाददाता : मुंबई महाराष्ट्र


                          वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे एक बार फिर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा केंद्र में लोकपाल की नियुक्ति में देरी के खिलाफ महाराष्ट्र स्थित अपने गांव रालेगण सिद्धि में अनशन पर बैठ गये हैं।




गौरतलब है कि अन्ना हजारे ने कहा कि उनका ये अनशन किसी व्यक्ति, पक्ष, पार्टी के विरुद्ध नहीं है। समाज और देश की भलाई के लिए मैं बार-बार आंदोलन करता हूं उसी प्रकार का ये आंदोलन है। अन्ना ने 28 जनवरी को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस को लिखे पत्र में कहा है कि वह अहमदनगर जिले में स्थित अपने गांव रालेगण सिद्धि में अनशन शुरू करेंगे। बता दें कि पूर्व में अन्ना हजारे मोदी सरकार निशाना साध चुके हैं, उन्होंने कहा था कि लोकपाल और लोकायुक्त कानून-2013 के संबंध संवैधानिक संस्थानों के निर्णय पर ध्यान नहीं दे रही है।


यह एक तरह से देश को तानाशाही की तरफ ले जाने का संकेत है। हजारे ने कहा कि 2011 में पूरा देश केंद्र में लोकपाल और राज्यों में लोकायुक्त की नियुक्ति के लिए उठ खड़ा हुआ था, जिसके बाद लोकपाल बिल पास हुआ था।


कांजी हाउस की दुर्दशा से महापौर क्षुब्ध...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 



                                     नगर निगम के कांजी हाउस और एनिमल बर्थ कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण को गए महापौर सुनील उनियाल गामा का पारा टूटी टाइलें देखकर चढ़ गया। निर्माण में गुणवत्ता को ताक पर रखकर वहां घटिया टाइलें लगाई गई थी। जो टूटी पड़ी थी और उनके नीचे पानी भरा हुआ था। महापौर ने अधिशासी अभियंता को आड़े हाथों लेते हुए तत्काल इसे ठीक कराने के निर्देश दिए। यही नहीं, पशुओं को दिए जा रहे चारे में भी घोटाले की आशंका सामने आई है। महापौर ने संबंधित अधिकारियों का स्पष्टीकरण तलब किया है। महापौर ने चेतावनी भी दी कि नगर निगम के किसी भी निर्माण कार्य में गुणवत्ता से समझौता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।



महापौर बनने के बाद गामा पहली बार केदारपुरम में निगम के कांजी हाउस गए। कांजी हाउस में जिम्मेदारी संभाल रहे पशु चिकित्साधिकारी डा. वी सती ने बताया कि पशुओं को रोजाना 13.5 कुंतल भूसा और 16 कुंतल हरी घांस उपलब्ध कराई जा रही है। निरीक्षण में महापौर को पशु भूखे नजर आए। उन्होंने अधिकारियों से जवाब तलब किया कि जब पर्याप्त चारा उपलब्ध कराने के दावे किए जा रहे तो पशु भूखे क्यों हैं। इस पर अधिकारी बगलें झांकने लगे। चारे में घपले की आशंका को देखते हुए अपर नगर आयुक्त नीरज जोशी को तमाम रेकार्ड जांचने के निर्देश दिए गए। उन्होंने पशुओं को पर्याप्त चारा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बताया गया कि कांजी हाउस में 280 गौवंश मौजूद मिले। इसके बाद महापौर ने एबीसी सेंटर का निरीक्षण किया। यहां कैनल ए ब्लाक के सामने टाइलें टूटी और उनके नीचे पानी व कीचड़ भरा मिला।


हरियाणा में 12 को मोदी की हुंकार...

संवाददाता : चंडीगढ़ हरियाणा 



                                           जींद के रण में कमल खिलाने का दावा करते हुए हरियाणा भाजपा अब लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिशन 2019 का आगाज करने के लिए हरियाणा की धरती को चुना है। प्रधानमंत्री 12 फरवरी को कुरुक्षेत्र आ रहे हैं, जहां से वह लोकसभा चुनाव का शंखनाद करेंगे। पिछली बार भी मोदी ने अभियान की शुरुआत हरियाणा के रेवाड़ी से की थी। इसके बाद 27 फरवरी को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह हरियाणा आएंगे।
प्रधानमंत्री के दौरे की खास बात यह होगी कि पूरा कार्यक्रम महिलाओं को समर्पित होगा। स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम के लिए इस बार केंद्र सरकार ने कुरुक्षेत्र को चुना है। 12 फरवरी को इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री प्रदेश की दस हजार आंगनबाड़ी वर्कर, पंच-सरपंच और अन्य महिला प्रतिनिधियों तथा दूसरे राज्यों की पांच हजार महिलाओं को उनके अधिकार, स्वाभिमान, सशक्तीकरण व स्वच्छता की अहमियत बताएंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने आवास पर भाजपा विधायक दल की बैठक में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की जानकारी दी। प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला और अधिकतर मंत्रियों की मौजूदगी में हुई इस बैठक में सभी ने दावा किया कि जींद उपचुनाव भाजपा जीत रही है। मुख्यमंत्री भी इस अपडेट से खासे उत्साहित दिखे। लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव कराने पर बैठक में कोई चर्चा नहीं हुई। माना जा रहा है कि सरकार जींद उपचुनाव के नतीजों के बाद ही अपने पत्ते खोलेगी।


महाराज कर रहे योग दिवस की तैयारी...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 


                            उत्तराखंड में 1 मार्च से लेकर 7 मार्च तक मनाए जाने वाले योग दिवस को लेकर अभी से राज्य सरकार ने कमर कस ली है। इसके साथ ही योगा को लेकर तैयारियां तेज कर दी है।




जानकारी के अनुसार, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने मंगलवार को अधिकारियों के साथ मैराथन बैठक की। इसके बाद उन्होंने बताया कि इस बार का योग दिवस राज्य सरकार खास बनाने जा रही है। सतपाल महाराज ने बताया कि एक हफ्ते तक मनाए जाने वाला यह योग दिवस देहरादून की ऋषिकेश में मनाया जाएगा।



बता दें कि एक हफ्ते तक चलने वाला यह योगा दिवस बहुत ही भव्य होने जा रहा है। इस बार के योग दिवस में देश विदेश के योगाचार्य प्रतिभाग करने जा रहे हैं।


 

कुंभ मे पाप धो रही योगी सरकार : राजभर

संवाददाता : बलिया उत्तर प्रदेश 



                                              कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने प्रयागराज में मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी कैबिनेट के मंत्रियों द्वारा गंगा स्नान किए जाने पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार अपने पाप धोने के लिए कुंभ में गंगा स्नान कर रही है। उन्होंने दावा किया कि योगी आदित्यनाथ सरकार में सपा और बसपा सरकार की तुलना में चार गुना अधिक भ्रष्टाचार है। अक्सर अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी करने वाले राजभर ने कहा कि योगी सरकार के मंत्रिपरिषद सदस्य कुम्भ में अपना पाप धोने के लिये गए थे। जनता से वादाखिलाफी भी पाप है। इसी को धोने का काम योगी सरकार के मंत्रियों ने किया है।



उल्लेखनीय है कि योगी मंत्रिपरिषद के सदस्यों ने मंगलवार को कुम्भ में गंगा स्नान किया था। केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा अयोध्या में अधिगृहीत भूमि को लेकर उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर किए जाने के बारे में पूछे गए सवाल पर राजभर ने कहा कि यह जनता को बेवकूफ बनाने की कवायद है।


भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी को नमन...

प्रशान्त सी बाजपेयी : नई दिल्ली 



                           "शहीद दिवस 30-1-2019" भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी को नमन।


                              "गाँधी हमारी चेतना में जिन्दा है" महात्मा गांधी का बलिदान स्थल सदैव मानवीय मूल्यों का मार्ग प्रशस्त करता रहेगा। उन्होंने अपने जीवन में प्रेम, अहिंसा, सहनशीलता तथा सर्वधर्म समभाव की प्रेरणा दी। ३० जनवरी १९४८ को समम्प्रदायिक विचारधारा ने उनकी हत्या कर दी।


पं.जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, डा. राजेंद्र प्रसाद और मौलाना आज़ाद ने महात्मा गांधी के बलिदान स्थल को राष्ट्रीय स्मारक का सुझाव दिया, मगर भवन के मालिक ने जहाँ गांधी जी का बलिदान हुआ था उस स्थान पर गांधी स्मारक निर्माण के प्रति उदासीनता दिखाई। अन्यथा सन् १९६८ ई.में तत्कालीन सांसद शशि भूषण ने बापू शताब्दी वर्ष में गांधीवादी तरीके से अनिश्चितकालीन भूख- हड़ताल की,जिससे देशभर में जन क्रान्ति जैसा वातावरण बना।


काँग्रेस,वामपंथी,समाजवादी और प्रजा समाजवादी दल के नेताओं ने इस मांग का समर्थन किया कि गांधी बलिदान स्थल को राष्ट्रीय स्मारक के रूप में परिवर्तित किया जाए।कांग्रेस संसदीय दल की नेता श्रीमती इन्दिरा गांधी ने इस सुझाव पर ३० जनवरी १९६९ को सरकार की ओर से सहमति प्रदान की।अन्तत: बलिदान स्थल को राष्ट्रीय स्मारक बनाने का निर्णय लिया गया। शशि भूषण जी पहले व्यक्ति थे जिन्होंने गांधी को अपना आदर्श बनाते समय उनके तीन पक्षों को रेखांकित किया:क्रांतिकारी गांधी, सेक्यूलर गांधी और आदर्श गांधी।


इसलिए गांधी बलिदान स्थल को राष्ट्रीय स्मारक बनाने का संघर्ष उन्होंने ही किया।इन आदर्शों पर चलते हुए वे हमेशा सामंतवादी और कट्टरतावादी शक्तियों द्वारा निर्धन किसानों और श्रमिकों पर रहे अत्याचारों के विरुद्ध संघर्ष करते रहे। हमें उनका राष्ट्र को दिया अमूल्य धरोहर के लिए राष्ट्र सदैव कृतज्ञ रहेगा। 


समाचार संक्षेप में,मध्यप्रदेश से...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


 


जिला पंचायत दमोह के उपाध्यक्ष का निर्वाचन 4 फरवरी को...


राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जिला पंचायत, दमोह के रिक्त उपाध्यक्ष पद के निर्वाचन के लिये निर्वाचित जिला पंचायत सदस्यों का सम्मिलन 4 फरवरी को नियत किया गया है। सम्मिलन में जिला पंचायत के उपाध्यक्ष के पद का निर्वाचन होगा।


 


पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल 30 जनवरी को धार में...


पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल 30 जनवरी को धार जिले में ग्राम पंचायत देलमी में फूड प्रोसेसिंग यूनिट का निरीक्षण करेंगे। इसी दिन धार में त्रि-स्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों के प्रशिक्षण एवं क्षमतावर्धन वर्कशॉप में भाग लेंगे। श्री पटेल सरदारपुर में आजीविका मिशन के समूहों से चर्चा करेंगे और इकाइयों का निरीक्षण भी करेंगे। मंत्री श्री पटेल रात में भोपाल लौटेंगे।


 


विद्युत व्यवधान समाप्त करने में विलम्ब पर सहायक अभियंता निलम्बित...


मध्यप्रदेश पूर्वी क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी लिमिटेड, दमोह के दमोह शहर वितरण केन्द्र के सहायक अभियंता श्री डी.आर. देशमुख को कार्य में लापरवाही बरतने पर निलम्बित कर दिया गया है। अपर मुख्य सचिव, ऊर्जा श्री आई.सी.पी. केसरी ने जानकारी दी है कि श्री देशमुख को 25 एवं 26 जनवरी को 11 के.व्ही. लाइनों पर आये विद्युत व्यवधान को समाप्त करने के लिये आवश्यक रख-रखाव एवं सुधार कार्य में विलम्ब करने तथा विद्युत व्यवधान की सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को नहीं देने के आरोप में निलम्बित किया गया है।


 


 


भोपाल में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिये शीघ्र बनेगा स्टेडियम...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


                             जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं  प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज भोपाल में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिये स्टेडियम निर्माण हेतु भोपाल के समीप ग्राम बरखेड़ा नाथू में जमीन का मौका मुआयना किया। उन्होंने कहा कि क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण कार्य शीघ्र शुरू होगा।


श्री शर्मा ने स्टेडियम के निर्माण के लिए दस्तावेजों का अवलोकन किया। मंत्री श्री शर्मा ने बताया कि निर्माण कार्य चार चरणों में किया जाएगा। प्रथम चरण पूरा होने पर स्थानीय क्रिकेट खिलाड़ी मैदान पर खेल सकेंगे। श्री शर्मा ने संचालक खेल एवं युवक कल्याण श्री एस.एल. थाउसेन से अपेक्षा जताई कि एक महीने में स्टेडियम की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट  (डीपीआर) तैयार हो जाएगी। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही खेल एवं युवक कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी के साथ एक बार पुन: संयुक्त रूप से निर्मण स्थल का मौका मुआयना कर प्रशासनिक कार्यवाही को अंतिम स्वरूप प्रदान कर देंगे।


जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने मौके पर मौजूद ग्रामीणों के द्वारा रोजगार उपलब्ध कराने में प्राथमिकता की माँग पर उन्हें आश्वस्त किया कि स्टेडियम के निर्माण से न केवल स्थानीय ग्रामीणों को रोजगार मिलेगा बल्कि क्षेत्र का तीव्र गति से विकास भी होगा। उन्होंने कहा कि ग्राम बरखेड़ा नाथू में 50 एकड़ की जमीन पर स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स का निर्माण भी होगा, जिसमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण भी शामिल है। इससे क्षेत्र में विकास के नये रास्ते खुलेंगे और अधिकतम लोगों को रोजगार उपलब्ध होगा। कलेक्टर डॉ. सुदाम खाड़े, मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के सदस्य श्री अरूणेश्वर सिंहदेव और पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान मौका मुआयना के वक्त मौजूद थे।


लोकसभा निर्वाचन 2019 में प्रत्याशियों के लिये व्यय सीमा 70 लाख निर्धारित...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                            भारत निर्वाचन आयोग नेलोकसभा निर्वाचन 2019 में अभ्यर्थियों के लिये व्यय सीमा रूपये 70 लाख निर्धारित की है।  लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के अंतर्गत अभ्यर्थी का व्यय निर्धारित व्यय सीमा से अधिक  नहीं होना चाहिये।


लोक सभा निर्वाचन में प्रत्याशियों द्वारा कानून के अन्तर्गत सीमा में किये गये सभी व्यय जैसे पोस्टर, बैनर, वाहन, प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक विज्ञापन, जन-सभा, टेंट और ऐसे सभी व्यय जिनका रिकार्ड संधारित किया जाता है, इन सभी के लिए व्यय सीमा निर्धारित की गई है। सभी अभ्यर्थियों को व्यय के लिये बैंक में खाता खुलवाना अनिवार्य होगा और व्यय का भुगतान चैक द्वारा किया जायेगा।


कानून के अधीन अनुमति प्राप्त नहीं होने वाले व्यय- जैसे निर्वाचकों को प्रभावित करने के उद्देश्य से रूपये, शराब या अन्य किसी वस्तु एवं रिश्वत का वितरण करना आदि यह भारतीय दण्ड संहिता के अधीन अपराध है और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के अधीन एक भ्रष्ट आचरण है।  


निर्वाचन की घोषणा की तारीख से लेकर परिणाम घोषणा की तारीख तक राजनैतिक दलों के पार्टी व्यय पर उड़नदस्ता के जरिये जिला प्राधिकारियों द्वारा नजर रखी जायेगी। यह व्यय अभ्यर्थी के व्यय में नही जोड़ा जायेगा फिर भी साक्ष्य के साथ अभिलेखवद्ध प्रेक्षकों की रिपोर्ट निर्वाचन परिणामों की घोषणा के 45 दिनों में विनिर्दिष्ट प्रोफार्मा में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को दी जानी चाहिये।


जिन प्रकरणो में अभ्यर्थी निर्वाचन व्यय का दिन-प्रतिदिन का लेखा निरीक्षण के लिए प्रस्तुत करने में विफल हो जाता है, और नोटिस दिये जाने के बावजूद यह विफलता बनी रहती है तो ऐसे नोटिस के तामील किये जाने के 48 घंटो के बाद भारतीय दण्ड संहिता के अंतर्गत एफ आई आर दर्ज की जायेगीं, और निर्वाचन अभियान के लिए अभ्यर्थी द्वारा वाहनों के इस्तेमाल के लिए अनुमति वापस ले ली जायेगी।


जिन मामलों में अभ्यर्थी या उसके निर्वाचन एजेन्ट द्वारा नोटिस मिलने के 48 घण्टों की समय सीमा में उत्तर प्रस्तुत नही किया जाता है तो यह माना जायेगा कि नोटिस में उल्लेखित छुपाई गई धनराशि की बात स्वीकार कर ली है और ऐसे अभ्यर्थी के निर्वाचन व्यय  में राशि को जोड़ा जायेगा।


निर्वाचन व्यय मॉनीटरिंग के लिये केन्द्रीय व्यय प्रेक्षक, सहायक प्रेक्षक, नोडल अधिकारी, वीडियो निगरानी, वीडियो अवलोकन, लेखा टीम, उडनदस्ता दल(एफ.एस.टी), स्थैतिक निगरानी दल (एस.एस.टी) एवं कंट्रोल रूम के जरिये व्यय निगरानी रखी जावेगी।


मंगलवार, 29 जनवरी 2019

पांच दिन चलने वाले 'भारत पर्व' का नई दिल्ली के लाल किले में शुभारंभ हुआ...

संवाददाता : नई दिल्ली 


                               गणतंत्र दिवस 2019 के जलसे के हिस्से के तौर पर,'एक भारत श्रेष्ठ भारत' की भावना को दर्शाने वाले कार्यक्रम 'भारत पर्व' का शुभारंभ आज लाल किले में किया गया। पर्यटन मंत्रालय के महानिदेशक श्री सत्यजीत राजन ने आज इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया। पर्यटन मंत्रालय द्वारा अन्य केंद्रीय मंत्रालयों और राज्य सरकारों के सहयोग से इस पर्व के चौथे संस्करण को 26 से 31 जनवरी 2019 तक आयोजित किया जा रहा है।


‘भारत पर्व’ आम लोगों के लिए 26 से 31 जनवरी 2019 तक प्रति दिन दोपहर के 12 बजे से रात 10 बजे तक खुला रहेगा। इसमें प्रवेश का कोई शुल्क नहीं लगेगा। हालांकि इस कार्यक्रम में प्रवेश के लिए पहचान पत्र साथ में लाना होगा। इस साल के आयोजन की प्रमुख सुर्खियों में मूर्तिकार डॉ. राम वनजी सुतार द्वारा बनाई गई 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' की प्रतिकृति और गांधी ग्राम है जिसमें 10 चित्रकार 'महात्मा गांधी की विचारधारा' की थीम पर पेंटिंग बनाएंगे।


पर्यटन मंत्रालय द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम की इस साल की सुर्खियों में गणतंत्र दिवस परेड की झांकी, सशस्त्र बलों के बैंडों का प्रदर्शन (स्थिर और साथ ही गतिशील भी) और विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय (डीएवीपी) की फोटो प्रदर्शनी है। इस कार्यक्रम में विशेष पर्यटक रेलगाड़ियों का आईआरसीटीसी द्वारा प्रचार, 'जागो ग्राहक जागो' उपभोक्ता जागरूकता अभियान और शिल्प वस्तुओं की प्रदर्शनी एवं बिक्री भी शामिल है। यह पर्व थीमवाले राज्य मंडपों की मेजबानी भी कर रहा है जहां हर राज्य अपने पर्यटन उत्पादों के साथ साथ अपनी मजबूती का प्रदर्शन भी करता है। यहां के अन्य आकर्षण हैं - एक बहु-व्यंजन फूड कोर्ड, शिल्प मेला और देश के विभिन्न हिस्सों की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां। इस फूड कोर्ट में राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों और भारतीय स्ट्रीट वेंडरों के राष्ट्रीय संघ (एनएएसवीआई) द्वारा स्टॉल भी लगाए गए हैं जिनमें विभिन्न क्षेत्रों के स्ट्रीट फूड को प्रदर्शित किया गया है। भारत के विभिन्न राज्यों के व्यंजनों का प्रचार करने के लिए इस फूड कोर्ट में एक प्रत्यक्ष भोजन पकाने का प्रदर्शन क्षेत्र भी बनाया गया है। उत्तराखंड भोजन प्रदर्शन 27 जनवरी 2019 को प्रदर्शित किया जाएगा। इसके साथ ही उत्तरी क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र (एनजेडसीसी) देश के विभिन्न क्षेत्रों से सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का रोजाना संचालन करेगा।


 


प्रधानमंत्री ने जॉर्ज फर्नांडिस के निधन पर शोक व्यक्त किया...

संवाददाता : नई दिल्ली 



प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने श्री जॉर्ज फर्नांडिस के निधन पर शोक व्यक्त किया है।


प्रधानमंत्री ने कहा, “जॉर्ज साहब ने भारत के सर्वश्रेष्ठ राजनीतिक नेतृत्व का प्रतिनिधित्व किया।


वह स्पष्टवादी, निडर, बेबाक और दूरदर्शी थे तथा उन्होंने हमारे देश के लिए महत्वपूर्ण योगदान किया। गरीब और वंचित लोगों के अधिकारों को लेकर वह एक सबसे प्रभावशाली आवाज थे।


जॉर्ज साहब के निधन से दुःखी हूं।


जब हम श्री जॉर्ज फर्नांडिस के बारे में सोचते हैं, हमें न्याय के लिए लड़ने वाले सबसे प्रखर श्रमिक संघ के नेता, चुनावपूर्व राजनीतिक गतिविधियों में सबसे सशक्त राजनीतिज्ञों का अभिमान मिटाने वाले नेता, एक स्वप्नद्रष्टा रेल मंत्री और भारत को सुरक्षित तथा मजबूत बनाने वाले एक महान रक्षा मंत्री की याद आती है।


अपने सार्वजनिक जीवन के लंबे वर्षों के दौरान जॉर्ज साहब कभी भी अपने राजनीतिक आदर्श से विचलित नहीं हुए। उन्होंने आपातकाल का जोरदार विरोध किया था। उनकी सादगी और सरलता उल्लेखनीय थी। उनके परिजनों, मित्रों और अनेक प्रियजनों में जो दुःख की लहर है उनके प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। उनकी आत्मा को शांति मिले।”


भारतीय वायुसेना का लड़ाकू विमान जगुआर दुर्घटनाग्रस्‍त...

संवाददाता : नई दिल्ली 



भारतीय वायुसेना का लड़ाकू विमान जगुआर आज दोपहर 12 बजकर 40 मिनट पर गोरखपुर के नजदीक दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया। विमान नियमित मिशन पर था और उसने गोरखपुर से 12 बजकर 11 मिनट पर उड़ान भरी थी। विमान गोरखपुर से करीब 47 किलोमीटर की दूरी पर दुर्घटनाग्रस्‍त हुआ।


विमान चालक सुरक्षित निकल गया। दुर्घटना के कारणों की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इन्‍क्‍वायरी का आदेश दे दिया गया है।    


विद्युत क्षेत्र को कोयले की आपूर्ति में 8 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई...

संवाददाता : नई दिल्ली 


                 कोयला मंत्रालय पर्याप्त स्तर पर कोयले का स्टॉक बनाए रखने और देश की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए कोयले की आपूर्ति बढ़ाने में निरंतर प्रयासरत है।


कोल इंडिया लिमिटेड ने चालू वित्तीय वर्ष के दौरान (22 जनवरी 2019 तक) विद्युत क्षेत्र को 389.63 मीट्रिक टन कोयले की आपूर्ति की है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में  8 प्रतिशत की वृद्धि दर्शा रहा है।


वाशरी एंड गुड-शेड साइडिंग से लोडिंग सहित सीआईएल की रेलवे रेक द्वारा लोडिंग पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में चालू वित्तीय वर्ष के दौरान 8 प्रतिशत बढ़ी है।


22 जनवरी 2019 तक विद्युत संयंत्रों में 18.663 मीट्रिक टन कोयला का स्टॉक है जो 11 दिनों के लिए पर्याप्त है। पिछले वर्ष इसी तारीख (22 जनवरी 2018) को 13.759 मीट्रिक टन कोयला स्टॉक था जो 9 दिनों के लिए पर्याप्त था।इसका अर्थ यह हुआ कि पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में विद्युत संयंत्रों में कोयला के स्टॉक में 35.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।


हंस अस्पताल सतपुली में तीन दिवसीय लिवर जांच शिविर आयोजित...

कपिल अग्रवाल : कोटद्वार उत्तराखंड 



                                   उत्तराखण्ड में हर जरूरतमंद और गंभीर से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों के लिए वरदान साबित हो रहे द हंस जरनल अस्पताल सतपुली में समाजसेवी माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी की प्रेरणा से तीन दिवसीय लिवर जांच शिविर शुरु हुआ। इस शिविर में लिवर की बीमारी से परेशान लोग अपने लिवर से संबंधिति जांच करवा रहे हैं। 


हंस जरनल अस्पताल सतपुली के डाक्टर मिनास ने इस बारे में बताया कि द हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल सतपुली में लिवर से संबंधिति किसी भी तरह परेशान लोगों के लिए  माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी के आशीष से तीन दिवसीय निशुल्क लिवर जांच शिविर का आयोजन किया गया है। इस शिविर आकर हर उम्र के लोगों अपने लिवर की जांच करवा सकते हैं।


डाक्टर मिनास ने बताया कि आज के समय हर उम्र के लोग बच्चे, बुजुर्ग और जवान फास्टफूड खाने और मदिरा का सेवन करने को एक फैशन समझते हैं। लेकिन यह सब हमारे शरीर को कितना नुकसान पहुंचाते हैं। यह लोगों को तब समझ आता है। जब इनके लिवर में अलग- अलग प्रकार की खतरनाक बीमारी होने लगती है। जिसके बारे में किसी को पता ही नहीं चल पाता। इसलिए हम कह रहे हैं कि किसी भी व्यक्ति को लिवर संबंधी किसी भी तरह की  परेशानी हो या यह रोग आगे न बढ़े। इसके लिए आप सब इस लिवर जांच शिविर में आए और निशुल्क अपने लिवर की जांच करवाएं।


डाक्टर मिनास ने बताया कि इस  लिवर जांच शिविर में हम लिवर का फाइब्रोस्कैन टेस्ट करेंगे। इसी के साथ फाइब्रोस्कैन के द्वारा जो एक तरह का अल्ट्रासाउंड है जो मरीज के लिवर से संबंधिति फिब्रोसिस की स्थिति को दर्शाता है। यह एक पीड़ा रहित और सरल प्रक्रिया हैं। जिसके द्वारा चिकित्सक लिवर संबंधित किसी भी प्रकार की क्षति की जांच कर सकते हैं। द हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल सतपुली में डाक्टर रवि पुष्करना की पूरी टीम की देखरेख में इस लिवर जांच शिविर में यह सभी जांचे निरूशुल्क की जा रही है।


साथ ही निशुल्क दवाइयां प्रदान की जाएंगी और खून की जांच हो रही है। डाक्टर मिनास ने बताया कि अपने लिवर की जांच हर व्यक्ति को करवानी चाहिए। ऐसे व्यक्तियों को तो जरूर करवानी चाहिए जो अधिक मात्रा में मदिरा का सेवन करते हैं। जिन बच्चों और बुजुर्गों को भूख कम लगती हो या भूख लगती ही न हो, जिन लोगों को दस्त और कब्ज की शिकायत रहती हो। ऐसे लोगों को अपने लिवर की जांच अवश्य करानी चाहिए।


सलमान खुर्शीद का विवादित बयान

संवाददाता : जयपुर राजस्थान 



                                      कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने नरेंद्र मोदी के चेहरे पर सवाल उठाते हुए विवादित बयान दे डाला। उन्होंने कहा है कि अब प्रधानमंत्री के चेहरे पर 2014 जैसे हाव-भाव नहीं दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को आजकल अच्छे से नींद भी नहीं आती होगी। इसके साथ-साथ उन्होंने गठबंधन को लेकर भी कहा कि अभी तक गठबंधन हो नहीं पाया है, लेकिन यह गठबंधन देश की परिस्थितियों के हिसाब से बहुत ही जरूरी है क्योंकि लगातार हम देख रहे हैं कि देश में भुखमरी हो रही है. लोग बेरोजगार हो रहे हैं इसलिए यह गठबंधन सभी के लिए बेहद जरूरी है.


इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी की सोच कल बदल जाए यह पूरी तरह से संभव है, इसलिए देश में इस गठबंधन की आवश्यकता है. सलमान खुर्शीद ने वन रैंक वन पेंशन पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि अभी तक मोदी सरकार में कांग्रेस की यह योजना पूरी तरीके से लागू नहीं हो पाई. उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि अमित शाह वन रैंक की बात करते हुए ठीक नहीं लगते हैं. इसके लिए देश के रक्षा मंत्री को आगे आना चाहिए।
उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक पर भी कहा कि हमने सर्जिकल स्ट्राइक की है लेकिन दिखाई नहीं. देश में अभी जरूरत है सर्जिकल स्ट्राइक सामने से हो रही है उस पर रोक लगाई जाए. सलमान खुर्शीद ने राम मंदिर मुद्दे को लेकर भी कहा कि राम मंदिर का निर्माण कोर्ट के फैसले के अनुसार ही होना चाहिए. कानून के हिसाब से ही राम मंदिर बनना चाहिए और सभी को इस फैसले को मनाना चाहिए।


ऋषिकेश विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए सेक्टर अधिकारी नामित किये...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 



                             जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी एस.ए मुरूगेशन ने लोक सभा सामान्य निर्वाचन को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सफलता पूर्वक सम्पन्न कराने हेतु विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 24 ऋषिकेश हेतु सेक्टर अधिकारी नामित किये है।


जोन 1 रायवाला के अन्तर्गत सैक्टर 1 राईका छिद्दरवाला के लिए प्रवीन कुश सहायक अभियन्ता अस्थाई खण्एम लो.नि.वि, सैक्टर 2 राईका रायवाला प्रतीतनगर के लिए दिनेश सिंह सहायक अभियन्ता अस्थाई खण्एम लो.नि.वि, सैक्टर 3 स्वामी सत्यमित्रानन्द गिरि इन्टर कालेज हरिपुरकला के लिए विनोद सिंह रावत, सहायक अभियन्ता अवस्थापना पुर्नवास खण्एम, सैक्टर 4 राईका खदरी खएमक माफ के लिए गोपाल सिंह बिष्ट सहायक अभियन्ता सिंचाई परियोजना खण्एम तथा जोन 2 ऋषिकेश हेतु सैक्टर 5 रा.बा.का ऋषिकेश के लिए धर्मबीर सिंह बिष्ट अपर सहायक अभियन्ता अस्थाई खण्एम लो.नि.वि, सैक्टर 6 नाभा, भरत मन्दिर पब्लिक, ऋषिकेश के लिए छब्बील दास अपर सहायक अभियन्ता स्थाई खण्एम लो.नि.वि, सैक्टर 7 हरीशचन्द्र गुप्ता आर्दश कन्या इन्टर कालेज ऋषिकेश रेलवे रोएम के लिए ओम प्रकाश चन्द्रा अपर सहायक अभियन्ता अस्थाई खण्एम लो.नि.वि, सैक्टर 8 रा.इ.का भरत मन्दिर ऋषिकेश के लिए अवतार सिंह सहायक अभियन्ता अस्थाई खण्एम लो.नि.वि, सेक्टर 9 पुलिस चौकी आई.एमी.पी.एल के लिए ओम प्रकाश जोशी, प्रधानाचार्य राइका आईएमीपीएल, सैक्टर 10 राइका वीरभद्र ऋषिकेश के लिए राजेश कुमार अपर सहायक अभियन्ता अस्थाई खण्एम लो.नि.वि, सैक्टर 11 राप्रावि बापूग्राम के लिए धमेन्द्र कुकरेती अपर सहायक अभियनता पेयजल निगम, सैक्टर 12 अमितग्राम स्वामी ओमकरानन्द मान्टेसरी पब्लिक स्कूल के लिए महेन्द्र सिंह अपर सहायक अभियन्ता पेयजल निगम, सैक्टर 13 प्रेम पाठशाला जू.हा स्कूल गुमानीवाला के लिए विरेन्द्र सिंह चौहान अपर सहायक अभियन्ता अस्थाई खण्एम लो.नि.वि को सैक्टर अधिकारी नामित/तैनात किया है।


जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिये हैं कि समस्त सैक्टर अधिकारियों 2 फरवरी 2019 को प्रातः 10 बजे ओ.एन.जी.सी कौलागढ रोएम सभागार ऑिएमटोरियम में आहूत बैठक/प्रशिक्षण में प्रतिभाग करना सुनिश्चित करें।


पीएम मोदी ने बच्चों को परीक्षाओं को लेकर मोटिवेट किया...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 



                           भारतीय जनता पार्टी के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत गुरु नानक महिला इंटर कॉलेज खुड़बुड़ा मोहल्ले में सुबोध थपलियाल की अध्यक्षता में अम्बेडकर मंडल में भारतीय जनता पार्टी के समय की योजना पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परीक्षा दे रहे बच्चों से स्क्रीन पर बात की, जिसमें बच्चों को मोटिवेट किया और बच्चों को प्रोत्साहित किया। इसमें टेंथ, इलेवंथ और 12वीं के बच्चों ने प्रतिभाग किया और उनसे अपने करियर को लेकर सवाल पूछे, जिससे वे परीक्षा में सफल हो सके।


इस मौके पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की महानगर संयोजिका मधु जैन ने बालिकाओं का हांसला बढ़ाते हुए कहा की छात्रों को परीक्षा को उत्सव की तरह लेना चाहिए, कभी भी दबाव में नहीं रहना चाहिए। कहा कि अभिभावकों का सकारात्मक रवैया बच्चों की हिम्मत और ताकत बन जाता है। हमेशा बच्चां का हांसला बढ़ाते रहना चाहिए। अभिभावकों यह मालूम होना चाहिए कि हमारे बच्चे क्या कर रहे हैं।


इस मौके पर अंबेडकर नगर के मंडल अध्यक्ष विशाल गुप्ता ने अपनी बात रखते हुए बच्चों को समझाया बच्चों देखा आज मोदी जी ने एग्जाम से पहले आप लोगों को मूल मंत्र दे दिया है। मंत्रों के आधार पर अग्नि परीक्षा दें और परीक्षा में सफल हों। भविष्य में ध्यान रखें ऊंच-नीच तो लगी रहती है कभी भी अपने आप को किसी से कम ना समझें। मोदी जी द्वारा बताए हुए मार्ग पर चले तो सफलता आपको निश्चित मिलेगी। इस अवसर पर प्रदेश संयोजक हनी पाठक, सिमरन सक्सेना, प्रधानाध्यापिका रणवीर कौर माध्यमिक शिक्षणेत्तर संघ बीडी सेमवाल जिलाध्यक्ष, गुरविंदर कौर, सरिता कोहली, भूपेंद्र कुमार, नीलम पंचाल, रोमा जैन आदि उपस्थित रहे।


 

उत्तराखण्ड कैसे बन पाएगा टूरिस्ट डेस्टिनेशन...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 



                       पर्यटकों को लुभाने के लिए उत्तराखंड का पर्यटन विभाग फर्जीवाड़े पर उतर आया है। विभाग फर्जी तस्वीरों को अपने फेसबुक में अपलोड कर रहा है। जिससे दूर-दराज से आ रहे टूरिस्ट धेखा खा रहे हैं। नर और नारायण पर्वत के बीच बद्रीनाथ मंदिर नहीं बल्कि नीलकंठ मंदिर है।


उत्तराखंड के पर्यटन विभाग के सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफार्म पर गलत सूचना और फर्जी फोटो डालकर दुनिया भर के टूरिस्ट को धोखा दे रहा है। विभाग के सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफार्म को देखकर तो यही लगता है। फेसबुक पेज, इंस्टाग्राम में जो जानकारी साझा की जा रही है वो गुमराह करने वाली हैं। पर्यटन विभाग के फेसबुक पेज पर भरोसा करें तो नर और नारायण मंदिर के बीच में बद्रीनाथ मंदिर नहीं बल्कि निलकंठ मंदिर है, लेकिन किस्सा इतना भर नहीं है। पर्यटकों को लुभाने के लिए सरकारी महकमा ही फर्जीवाड़े पर उतर आया है, विभाग फर्जी तस्वीरों को अपने फेसबुक में अपलोड कर रहा है।


जर्मनी के बर्फ के पहाडों की फोटो लगाकर उसे औली बता रहा है। वहीं चमोली की फूलों की घाटी बताते हुए एक फर्जी फोटो चस्पा की गई है, हिमाचल के डलहौजी की तस्वीर को बेदनी बुग्याल बताया जा रहा है। अंतराष्ट्रीय स्तर पर विभाग अपनी खिल्ली उड़ा रहा है। फेसबुक पेज पर आ रहे कमेंट तो यही बता रहे हैं। ये हाल तब है जब सोशल मीडिया हैंडल करने के लिए एक कंपनी को ठेका दिया गया है और जिसे क्वाटरली लगभग 25 लाख रुपए भुगतान किया जा रहा है।


सोमवार, 28 जनवरी 2019

स्मार्ट सिटी की तरह स्मार्ट गाँव भी बनाये जायेंगे...

   संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश                                       



                             मुख्यमंत्री कमल नाथ से आज जायका मिशन दल ने मुलाकात की। श्री नाथ की जायका के प्रतिनिधि-मण्डल से स्मार्ट सिटी की तरह स्मार्ट गाँव बनाने के संबंध में चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने बैठक में निर्देश दिये कि प्रस्तावित परियोजनाओं का परीक्षण कर सभी औपचारिकताएँ पूरी कर जल्द ही उनका क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाये, जिससे अगले तीन वर्ष में योजनाएँ मूर्त रूप ले सकें। मुख्यमंत्री ने जायका मिशन दल से प्रदेश में मोनो रेल परिचालक प्रोजेक्ट तथा वन संरक्षण, संयुक्त वन प्रबंधन और जैव-विविधता परियोजना में निवेश की इच्छा व्यक्त की। इस मौके पर मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री से मुलाकात के दौरान जायका के मिशन दल ने बताया कि जापान द्वारा मध्यप्रदेश में समूह जल-प्रदाय योजनाओं के क्रियान्वयन के लिये वित्तीय सहायता देने की सहमति दी गयी है। जायका से वित्तीय सहायता के लिये 3000 करोड़ रुपये की परियोजना प्रस्तावित है। परियोजना में मंदसौर, नीमच एवं रतलाम जिले के 9 विकासखण्ड के 1735 गाँव में लगभग 20 लाख ग्रामीण आबादी को घरेलू नल कनेक्शन के जरिये पेयजल उपलब्ध होगा।


जायका मिशन दल में सुश्री मिसातो तकाहासी कन्ट्री ऑफिसर, श्री कजुनोरी नकाई इंजीनियर, श्री केनीचीरो इवाहोरी प्रोग्राम स्पेशलिस्ट, श्री सुब्रतो तलुकदार प्रिंसिपल डेवलपमेंट स्पेशलिस्ट, जायका कन्सलटेंट फर्म निप्पॉन कोई कम्पनी लिमिटेड के श्री मयासुकी फुजी, टीम लीडर श्री रिसा किकुची, सब लीडर श्री हीदेहीसा तमुरा, फेसिलिटी प्लानिंग और ऑपरेशन एण्ड मेटेंनेंस श्री अकीरो नटोरी शामिल थे।


किसानों द्वारा भरे गये हरे, सफेद और गुलाबी आवेदन पत्रों को सुरक्षित रखें...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


                                   प्रमुख सचिव, किसान कल्याण एवं कृषि विकास डॉ. राजेश राजौरा ने जिला कलेक्टर्स को निर्देश दिये हैं कि ग्राम पंचायतों में किसानों से प्राप्त किये जा रहे सभी हरे, सफेद और गुलाबी आवेदन पत्रों को पोर्टल पर ऑनलाईन दर्ज करें। तत्पश्चात आवेदनों को ग्राम पंचायतवार एवं जनपद पंचायतवार संधारित करें। इन सभी आवेदन पत्रों को उप संचालक, किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के कार्यालय अथवा जिला कलेक्टर के कार्यालय में आगामी आदेश तक सुरक्षित रखें। जिला कलेक्टर्स से कहा गया है कि प्रत्येक नोडल ऑफीसर, ग्राम पंचायत द्वारा जिला कार्यालय में जमा कराये गये हरे, सफेद और गुलाबी आवेदन पत्रों की ग्राम पंचायतवार संख्या को रजिस्टर में आवश्यक रूप से संधारित करें। प्रमुख सचिव ने इस कार्य को प्राथमिकता के साथ संचालित किये जाने के निर्देश दिये हैं।


ज्ञातव्य है कि प्रदेश में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अंतर्गत 15 जनवरी से 5 फरवरी 2019 तक बैंक अभिलेखों के अनुसार आधार-सीडेड ऋण खातों की जानकारी हरी सूची में और गैर-आधार सीडेड ऋण खातों की जानकारी सफेद सूची में प्रदर्शित की जा रही है। जिन किसानों के नाम दोनों सूचियों में नहीं है, उनके द्वारा दावा तथा सूची में त्रुटि पूर्ण जानकारी होने पर आपत्ति प्रस्तुत करने पर गुलाबी आवेदन-पत्र भी ग्राम पंचायतों में प्राप्त किए जा रहे हैं। ग्राम पंचायतों में प्राप्त हरे,सफेद और गुलाबी आवेदन-पत्रों को जय किसान फसल ऋण माफी योजना में पोर्टल पर अपलोड किये जाने का कार्य भी किया जा रहा है।


आवेदन में कर सकते हैं ईआईडी नम्बर का उपयोग


प्रमुख सचिव डॉ. राजौरा ने जिला कलेक्टर्स से कहा है कि जिन किसानों के आधार कार्ड नहीं बने हैं, जय किसान फसल ऋण माफी योजना में उनका आधार कार्ड के लिए पंजीयन कराएं। इसके अतिरिक्त किसानों को बतायें कि उन्हें क्रं. पंजीयन पर दिया जा रहा ईआईडी (Enrolment Identification) नम्बर का उपयोग वे आवेदन-पत्र भरने में कर सकते हैं।


ज्ञातव्य है कि आधार कार्ड बनाने की कार्यवाही यू.आई.डी.ए.आई. द्वारा जारी है। प्रत्येक जिले में वेबसाइट पर अधिकृत बैंकों एवं पोस्टऑफिस की सूची उपलब्ध है। प्रदेश के सभी जिलों में एमपीएसईडीसी द्वारा कलेक्टरों को बायोमैट्रिक मशीन से आधार कार्ड प्रदाय करने की सुविधा उपलब्ध कराई गयी है। जिला कलेक्टर्स को आधार कार्ड विहीन सभी हितग्राहियों का शीघ्र पंजीयन कराकर उनका आधार कार्ड बनवाने की कार्यवाही करने के लिये निर्देशित किया गया है।


भाप्रसे के अधिकारियों की नवीन पद-स्थापना...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश


                राज्य शासन ने आज भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों की नवीन पद-स्थापना की है। सामान्य प्रशासन विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिये हैं।


 



































































क्र



अधिकारी का नाम



वर्तमान पदस्थापना



नवीन पदस्थापना



1.



श्री डी.पी. आहूजा



मुख्य कार्यपालन अधिकारी, मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण, भोपाल एवं पदेन सचिव, मध्यप्रदेश शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग



आयुक्त, वाणिज्यिक कर, इंदौर



2.



श्री राघवेन्द्र कुमार सिंह



सचिव, मध्यप्रदेश शासन मंत्रालय



आयुक्त, उच्च शिक्षा, मध्यप्रदेश, भोपाल तथा परियोजना संचालक, राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (अतिरिक्त प्रभार)



3.



श्री पवन कुमार शर्मा



आयुक्त, वाणिज्यिक कर, इंदौर



सचिव, मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग, भोपाल



4.



श्रीमती शिल्पा गुप्ता



उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, मंत्रालय



कार्यपालक संचालक, औद्योगिक विकास निगम, भोपाल



5.



श्री दिलीप कुमार



उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, मंत्रालय



कार्यपालक संचालक, म.प्र. राज्य खनिज निगम



6.



श्री वीरेन्द्र सिंह रावत



उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, मंत्रालय



अपर आयुक्त (राजस्व) सागर संभाग, सागर



7.



श्री वेद प्रकाश



उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, मंत्रालय



अपर आयुक्त, उच्च शिक्षा, मध्यप्रदेश भोपाल



8.



श्री मनीष सिंह



उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, मंत्रालय



उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, नगरीय विकास एवं आवास विभाग



9.



श्री कर्मवीर शर्मा



उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, मंत्रालय



उप सचिव, मध्यप्रदेश शासन, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण




                                     राघवेन्द्र कुमार सिंह द्वारा आयुक्त, उच्च शिक्षा मध्यप्रदेश भोपाल तथा परियोजना संचालक, राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान का कार्यभार ग्रहण करने पर श्री नीरज मंडलोई प्रमुख सचिव, खनिज साधन विभाग तथा प्रबंध संचालक, मध्यप्रदेश खनिज निगम (अतिरिक्त प्रभार) तथा प्रमुख सचिव, उच्च शिक्षा विभाग तथा आयुक्त, उच्च शिक्षा एवं परियोजना संचालक राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (अतिरिक्त प्रभार) केवल आयुक्त, उच्च शिक्षा एवं परियोजना संचालक राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के अतिरिक्त प्रभार से मुक्त होंगे।


श्री दिलीप कुमार द्वारा कार्यपालक संचालक म.प्र. राज्य खनिज निगम, भोपाल का कार्यभार ग्रहण करने पर श्री नरेन्द्र सिंह परमार सचिव, मध्यप्रदेश शासन, खनिज साधन विभाग तथा कार्यपालक संचालक, म.प्र. राज्य खनिज निगम, भोपाल केवल कार्यपालक संचालक, म.प्र. राज्य खनिज निगम, भोपाल के प्रभार से मुक्त होंगे।


मुख्यमंत्री कमल नाथ ने की फसल ऋण माफ़ी की समीक्षा...

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                                      मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आज यहाँ जय किसान फसल ऋण माफी योजना की समीक्षा करते हुए कलेक्टरों से समय पर ऋण माफ़ी की कार्रवाई पूरा करने के निर्देश दिए।


मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों को यह भी  निर्देश दिए  कि  पात्र किसानों से आवश्यक दस्तावेज़ ही लिए जाए। ऐसे दस्तावेज़ जिनकी जरूरत नहीं है, उनकी मांग नहीं करे। जहाँ ऐसा करना अनिवार्य हो, वहीँ दस्तावेज़ प्रस्तुत करने का आग्रह करें।


कुछ जिलों से क़र्ज़ माफ़ी की कार्रवाई में ढिलाई की रिपोर्ट मिलने पर मुख्यमंत्री ने सम्बंधित जिलों के कलेक्टरों को समय पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए  और कहा कि ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जायेगी।


मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलों में स्थापित नियंत्रण कक्ष में किसानों से प्राप्त शिकायतों का निराकरण तत्काल किया जाये। उन्होंने कलेक्टरों को निर्देश दिए कि वे स्वयं जिम्मेदारी लेकर इस काम को पूरा करें। बैठक में सम्बंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


सर्दी के मौसम में नियमित रूप से एक्सरसाइज करना आवश्यक...

हरि सिंह रावत : नई दिल्ली


                 

                        सर्दियों के मौसम में जब ठंडी हवाएं चलती हैं तो मन को काफी सुकून मिलता है। इस मौसम को खाने−पीने का मौसम कहा जाए तो गलत नहीं होगा। ठंड के मौसम में सुबह की शुरूआत चाय या कॉफी से होती है और रात होते−होते व्यक्ति गर्मागर्म पकौड़े, समोसे, गाजर का हलवा या गुलाब जामुन जैसे कई हाई कैलोरी व शुगर युक्त चीजों का सेवन कर लेता है। जिसके कारण वजन का बढ़ना लाजमी है।

 

सर्दी के मौसम में नियमित रूप से एक्सरसाइज करना आवश्यक है। चूंकि इस मौसम में कम्बल से निकलने का मन ही नहीं करता, इसलिए व्यक्ति अपने व्यायाम को लेकर नियमित नहीं हो पाता। जिसके कारण शरीर का कैलोरी काउंट बढ़ने लगता है और व्यक्ति धीरे−धीरे मोटा हो जाता है।

भरपूर पीएं पानी

ठंड के मौसम में पानी की प्यास कम लगती है और कम पानी पीने के कारण शरीर में विषाक्त पदार्थ इकट्ठा होने लगते हैं। जो कहीं न कहीं वजन बढ़ने, सुस्ती व बीमारी का कारण बनते हैं। इसलिए कम प्यास लगने के बावजूद भी पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं। ऐसा करने से विषाक्त पदार्थ तो शरीर से बाहर निकलेंगे ही, साथ ही पेट भी लंबे समय तक भरा रहेगा और आप अतिरिक्त कैलोरी का सेवन करने से बच जाएंगे।

लें छोटी बाइट

ठंड का मौसम होता ही कुछ ऐसा है कि हमेशा गर्मागर्म, फ्राईड या शुगर युक्त भोजन खाने का मन करता है। जरूरी नहीं है कि वजन को नियंत्रित रखने के लिए आप अपने मन को पूरी तरह मार दें। बस, कोशिश करें कि आप छोटी बाइट लें। मसलन, एक पूरा गुलाब जामुन खाने के स्थान पर उसकी एक छोटी बाइट लें। साथ ही हैवी, फ्राईड व शुगर युक्त भोजन को अपनी आदत न बनाएं। आप सप्ताह या दस दिन में एक बार इस तरह का खाना खा सकते हैं।

जरूरत से ज्यादा सोना

सर्दी का मौसम आते ही लोग शाम होते ही कंबल में घुस जाते हैं और सुबह देर से उठते हैं। इस तरह का रूटीन मोटापे का कारण बनता है। कोशिश करें कि आप अपने सोने का समय निर्धारित करें और निर्धारित समय पर ही सोएं व उठें। जहां तक संभव हो, सुस्ती से बचने का प्रयास करें।ऐसा हो भोजन

सर्दी के मौसम में भोजन पर विशेषतौर पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है। कोशिश करें कि आपका नाश्ता हाई प्रोटीन हो। इससे आपको पूरा दिन काम करने की ऊर्जा तो मिलेगी ही, साथ ही प्रोटीन को पचाने में शरीर को अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इसके अतिरिक्त प्रोटीनयुक्त आहार सुबह करने से लंबे समय तक पेट भरा रहता है, जिससे व्यक्ति अतिरिक्त कैलोरी का सेवन करने से बच जाता है। वहीं अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां, मौसमी फल व सब्जियां अवश्य शामिल करें।

त्रिवेन्द्र ने बढ़ाया आशा कर्मियों का मानदेय...

संवाददाता :बागेश्वर उत्तराखंड 


                           उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बागेश्वर जिले के गरुड़ तहसील में हंस फाउंडेशन के द्वारा निर्मित 27 करोड़ 33 लाख की हंस जलधारा परियोजना का शिलान्यास किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस परियोजना से घर-घर तक स्वच्छ जल उपलब्ध करवाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि हंस फाउंडेशन द्वारा उत्तराखंड में विभिन्न विकासात्मक गतिविधियॉ संचालित की जा रही है, जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे क्षेत्रों पर विशेष कार्य किया जा रहा है। आशा कर्मियों का मानदेय भी बढ़ाया है।




जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री ने जिले की लगभग 65 करोड़ से निर्मित विभिन्न 36 योजनाओं का लोकार्पण किया। इसके साथ ही अटल आयुष्मान योजना का उद्घाटन करते हुए इसे विश्व की सबसे बड़ी योजना बताया। अटल आयुष्मान योजना के लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड देकर उन्होंने कहा कि फरवरी महीने के अंत तक लगभग 23 लाख परिवारों और मई के आखिर तक उत्तराखंड की एक करोड़ 8 लाख जनता का आयुष्मान कार्ड बनाने का लक्ष्य रखा गया है।


 

राजभर ने लगाया योगी पर आरोप...

संवाददाता : बलिया उत्तर प्रदेश 



                      भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के काबिना मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर राम मंदिर मसले को लेकर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया है।


प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री राजभर ने बलिया जिले के रसड़ा स्थित आवास पर सोमवार को भाजपा पर एक बार फिर निशाना साधा। योगी आदित्यनाथ के, एक निजी टेलीविजन चौनल को दिये गये इंटरव्यू में राम मंदिर मसले का समाधान 24 घंटे में निकाल देने के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया।


राजभर ने सवाल किया कि भाजपा केन्द्र में अपने पांच वर्ष के शासन काल में राम मंदिर मसले का समाधान नहीं निकाल सकी तो योगी 24 घंटे में क्या कर लेंगे. उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश तक में सरकार है, उसे राम मंदिर बनाने के लिये रोका किसने है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की प्रधानमंत्री पद की दावेदारी को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि राहुल इस पद के लिये उपयुक्त व्यक्ति हैं. फिर भी जनता मालिक है, वह जिसे चाहेगी वही प्रधानमंत्री बनेगा. हर व्यक्ति में गुण होता है, राहुल में भी है, जिस तरह वर्तमान समय में केंद्र सरकार चल रही है, राहुल भी उसी तरह सरकार चलाएंगे.


प्रियंका गांधी को कांग्रेस महासचिव बनाये जाने पर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की सम्भावनाओं को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि प्रियंका वोट में कितना इजाफा करने में सफल होंगी, यह तो समय बतायेगा. लेकिन यह सही है कि प्रियंका के महासचिव बनने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश का संचार हुआ है। राजभर ने कहा कि भाजपा के साथ उनके दल के गठबंधन का 24 फरवरी आखिरी दिन होगा।


कोश्यारी भी लड़ना चाहते हैं चुनाव...

संवाददाता : नैनीताल उत्तराखंड 



                               पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी ने 2019 के संसदीय चुनाव में फिर से नैनीताल-ऊधमसिंह नगर सीट से उतरने को लेकर गोलमोल जवाब देते हुए फैसला पार्टी हाईकमान पर छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक जीवन की शुरुआत से अब तक उनकी कोशिश रही है कि चुनाव लडने के बजाय लड़ाया जाए। दूसरों को आगे बढ़ाया जाए। इस बार भी उनकी कोशिश होगी कि नौजवानों को आगे किया जाए। उन्होंने नैनीताल के अंतरराष्टड्ढ्रीय छायाकार अनूप साह समेत पर्वतारोही बछेंद्री पाल व जागर सम्राट प्रीतम भर्त्वाण को नागरिक सम्मान देने के सरकार के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि अनूप को यह सम्मान बहुत पहले मिलना चाहिए।



गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे पूर्व सीएम कोश्यारी ने फ्लैट्स मैदान पर मीडिया से बातचीत करते हुए प्रदेश सरकार के कामकाज की खुलकर सराहना करने से परहेज किया। हालांकि कहा कि सरकार के कामकाज से मीडिया खुश है, इसलिए उनका खुश होना स्वाभाविक है। कोश्यारी ने कहा कि 2019 में फिर से पीएम नरेंद्र मोदी को देश की कमान जरूरी है। बोले, एनडीए की वाजपेयी सरकार ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत हर गांव को 2012 तक सड़क तथा हर घर तक बिजली का लक्ष्य तय किया था, मगर यूपीए की गलत नीतियों की वजह से यह लक्ष्य 2019 में मोदी के राज में पूरा हो रहा है।ं


भाजपा 15 साल से कर रही थी व्यापार : दिग्विजय सिंह

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                        कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि, 15 साल तक छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में भाजपा की सरकार रही, लेकिन वो सत्ता भोगी हो गई थी। भाजपा राजनीति नहीं बल्कि व्यापार कर रही थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर जो भी झूठे मुकदमें दायर हुए हैं उन्हें भी समाप्त किया जाना चाहिए।



दिग्वजिय सिंह ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि चावल वाले बाबा ही चावल में भ्रष्टचार कर रहे थे। उन्होंने कहा, जनता ने सही निर्णय लेकर कांग्रेस को जीत दिलाई। अब हम सभी की जिम्मेदारी है कि कांग्रेस ने जो वादे किए हैं उसे पूरा करें। वहीं भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के प्रियंका को चॉकलेटी वाले बयान पर उन्होंने कहा, तो मौसमी चटर्जी क्या हैं? लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा, जो पार्टी फैसला करेगी, वो स्वीकार होगा। मैंने राजनीतिक जीवन में कभी फैसला खुद नहीं किया।


बड़ा सवाल : कैसे जीतेंगे हरीश रावत...

संवाददाता : हरिद्वार  उत्तराखंड 





 आगामी 2019 लोकसभा चुनाव आखिरी कैसे जीतेंगे हरीश रावत। यह एक बड़ा सवाल खड़ा होता नजर आ रहा है। क्योंकि उनके समर्थकों द्वारा जो माहौल लोकसभा चुनाव को लेकर बनाए जा रहा है, वही कतिपय कारणों से बिखरता नजर आ रहा है। चाहे वह गंगा-गन्ना यात्रा रही हो या फिर किसानों के समर्थन में उनके समर्थकों द्वारा आहूत की गई सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पर धरना प्रदर्शन। इससे से लगता है कि हरीश रावत भले ही चुनाव लड़ने की सोच रहे हो, परंतु माहौल उनके पक्ष में बनता नजर नहीं आ रहा है।


चाहे वह गंगा-गन्ना यात्रा रही हो या फिर किसानों के समर्थन में उनके समर्थकों द्वारा आहूत की गई सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पर धरना प्रदर्शन। इससे से लगता है कि हरीश रावत भले ही चुनाव लड़ने की सोच रहे हो, परंतु माहौल उनके पक्ष में बनता नजर नहीं आ रहा है।


इतना ही नही उनके धुर समर्थक और उनके मुख्यमंत्री रहते हुए प्रदेश पदाधिकारी व पूर्व विधायक रहे सिपहसलाहकर रहे कांग्रेसी नेताओं ने भी अब कमर कस ली है और दबी जुबान से यह भी कहते है कि क्या कांगेस में शिर्फ और शिर्फ हरीश रावत ही बचे है लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए। इतना ही नही हरीश रावत के द्वारा आयोजित गंगा-गन्ना यात्रा और अब किसानों के समर्थन में धरना प्रदर्शन का फ्लॉप होना !आगामी लोकसभा चुनाव में हरीश रावत के लिए खतरे की घंटी बजती नजर आ रही है। क्योंकि लोकसभा चुनाव सर पर है और कांग्रेस किसानों के लिए जिस तरह आंदोलन चला रही है, उसके बावजूद किसानों द्वारा दूरी बनाना रावत के लिए टेढ़ी खीर नजर आ रही है ।


वही हालात व समीकरण हरीश रावत के पक्ष में बनते नजर नही आ रहे है।जिसका प्रमाण उनके समर्थक जयचंदो व जनता ने विगत विधानसभा चुनाव में हार का मुंह दिखा कर कर दिया था।उसी का कारण रहा कि स्वयं मुख्यमंत्री रहते हुए भी हरीश रावत हरिद्वार ग्रामीण से विधानसभा चुनाव हार गए।और लगातार एक के बाद एक फ्लॉप कार्यक्रमो के कारण चाहे वह गंगा-गन्ना यात्रा हो या फिर किसानों की समस्याओं को लेकर धरना-प्रदर्शन।वही किसानों के लिए आहूत की गई धरना-प्रदर्शन में स्वयं हरीश रावत सहित उत्तराखंड कांगेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह पंवार को आना था पर दोनो ही नही पहुचे उर पहुचे तो शिर्फ किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुनील राठी के अलावा विधायक ममता राकेश,फुरकान अहमद,पूर्व विद्यायक तस्लीम अहमद, सतपाल ब्रह्मचारी और राव अफाक।वही किसानों के लिए आयोजित कार्यक्रम से किसानों ने ही दूरी बनाए रखी।जो एक बड़ा सवाल है?इतना ही नही प्रीतम कांगेस पदाधिकारी भी इस कार्यक्रम से दूरी बनाए रखी।तो सवाल उठता है कि जब किसानों को इस कार्यक्रम में नही आना था तो फिर उनके समर्थकों ने यह कार्यक्रम रखा ही क्यो?इतना ही नही हरिद्वार के कुछ वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तो यह तक कहते नजर आते है कि क्या


हरिद्वार लोकसभा से शिर्फ हरीश रावत ही चुनाव लड़ने के है ।अब उन्हें (हरीश रावत) यहां से चुनाव नही लड़ने दिया जाएगा।ऐसे में हरीश रावत के हरिद्वार से लोकसभा चुनाव लड़ने पर ग्रहण लगता नजर आ रहा है।जबकि हरिद्वार महानगर अध्यक्ष संजय अग्रवाल की माने तो उन्हें किसानों के आयोजित इस कार्यक्रम की जानकारी ही नही थी।ऐसे में एक और बड़ा सवाल खड़ा हो जाता है कि जब महानगर अध्यक्ष को ही कार्यक्रम की जानकारी नही है तो आयोजको द्वारा प्रदेश अध्यक्ष के आने और कार्यक्रम में शिरकत करने की बात क्यो कहि गई।



दो दिवसीय तटवर्ती रक्षा युद्धाभ्यास ‘सी विजिल’ समाप्त हुआ...

संवाददाता : नई दिल्ली 


                       प्रदेश सरकारों एवं केंद्र शासित प्रदेशों से निकटवर्ती समन्वय से भारतीय नौसेना तथा भारतीय तटरक्षक बल द्वारा आयोजित प्रथम तटीय रक्षा युद्धाभ्यास ‘सी विजिल’ आज दिनांक 23 जनवरी 2019 को समाप्त हुआ । यह हालिया समय में देश द्वारा देखा गया अब तक का अपने प्रकार का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास था एवं इसमें 100 से अधिक पोत, वायुयान एवं विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों द्वारा संचालित गश्ती नावों ने भागीदारी की ।    



यह युद्धाभ्यास कल सुबह शुरू हुआ था एवं इसमें दो स्पष्ट चरण थे । प्रथम चरण में भाग लेने वाले सभी हिस्सेदारों ने अपने संस्थानों की मज़बूती का मूल्यांकन किया । दूसरे चरण के दौरान केरल एवं लक्षद्वीप के माध्यम से समुद्र में घुसपैठ कराकर महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों एवं संसाधनों पर निर्मित हमले किये गए । विरोधी बल द्वारा ज़ब्त की गई मछली पकड़ने वाली आधुनिक नौकाओं के ज़रिये तट पर घुसपैठ रोकने में सुरक्षा एजेंसियां सफल रहीं । सुरक्षा संबंधी अन्य आकस्मिक घटनाओं जैसे पोत के अपहरण एवं कोच्चि बंदरगाह के समुद्रगामी प्रतिष्ठानों पर हमलों पर सुरक्षा एजेंसियों की प्रतिक्रिया का मूल्यांकन भी किया गया । सभी संबंधित हिस्सेदारों के साथ करीबी समन्वय से समुद्र में, तट के निकट एवं अंदरूनी ज़मीनी क्षेत्रों में सुरक्षा अमले की बहु स्तरीय संरचना में कमियों की पहचान करने के लिए घुसपैठ की सभी कोशिशों का तेज़ी से विश्लेषण किया जाएगा ।    


 


लामबंदी चरण समेत दो दिन तक चले ‘सी विजिल’ युद्धाभ्यास में सभी एजेंसियों एवं सुरक्षा बलों की कार्रवाई की उच्च गति एवं बड़े स्तर पर तैनाती देखने को मिली । भारतीय नौसेना एवं भारतीय तटरक्षक बलों के सभी सामरिक केंद्र एवं पुलिस तथा कोच्चि बंदरगाह के नियंत्रण कक्ष पूरी तरह सक्रिय कर दिए गए एवं उन्होंने सूचना का परस्पर आदान-प्रदान किया । युद्धाभ्यास के दौरान विभिन्न एजेंसियों की टीमों ने मछली पकड़ने के लिये निर्धारित तटों, मछली संग्रहण केंद्रों, पुलिस नियंत्रण कक्षों एवं अन्य स्थानों के अलावा बंदरगाहों समेत एजेंसियों द्वारा कार्यान्वित सुरक्षा प्रबंधों का मूल्यांकन भी किया ।     


भारतीय नौसेना द्वारा संचालित एवं सभी हिस्सेदारों द्वारा सहायता प्राप्त ‘सी विजिल’ युद्धाभ्यास से कमियों की भरपाई में, संसाधनों की वृद्धि हेतु नये तरीक़े ढूंढने में, उच्चतर प्राधिकरणों के समक्ष समाधान प्रस्तुत करने एवं कार्य निष्पादन की सर्वश्रेष्ठ पद्धतियों को बेहतर बनाने में सहायता प्राप्त होगी । सभी हिस्सेदारों की सक्रिय सहायता से ऐसे युद्धाभ्यास संपूर्ण सुरक्षा ढांचे को और अधिक सुदृढ़ बनाएंगे एवं देश विरोधी तत्वों के दुस्साहसिक कदमों को रोकने में आत्मविश्वास की वृद्धि करेंगे ।  


वाइस एडमिरल अनिल कुमार चावला, अति विशिष्ट सेवा मेडल, नौसेना मेडल, विशिष्ट सेवा मेडल, कोस्टल डिफेंस के कमांडर इन चीफ ने कोच्चि के ज्वाइंट ऑपरेशन सेंटर में नौसेना, भारतीय तटरक्षक बल, तटीय पुलिस एवं अन्य एजेंसियों की उपस्थिति में ‘सी विजिल’ युद्धाभ्यास की प्रगति की समीक्षा की ।


रविवार, 27 जनवरी 2019

कांग्रेस पर कैलाश ने तीखा प्रहार किया...

संवाददाता : इंदौर मध्यप्रदेश



                     सक्रिय राजनीति में प्रियंका गांधी वाड्रा के प्रवेश पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने गांधी परिवार की इस सदस्य की तुलना करीना कपूर और सलमान खान जैसे फिल्मी सितारों से की। इसके साथ ही उन्होंने तंज किया कि कांग्रेस इन बॉलीवुड कलाकारों के “चॉकलेटी चेहरों” के बूते अगला लोकसभा चुनाव लड़ना चाहती है।



कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस पर ने तीखा प्रहार किया संवाददाताओं से कहा, “कभी कोई कांग्रेस नेता मांग करता है कि करीना कपूर को भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़वाया जाये, तो कभी इंदौर से चुनावी उम्मीदवारी को लेकर सलमान खान के नाम पर चर्चा की जाती है।


इसी तरह, प्रियंका को कांग्रेस की सक्रिय राजनीति में ले आया जाता है।”उन्होंने भोपाल और इंदौर लोकसभा सीट से क्रमशः करीना और सलमान को चुनावी मैदान में उतारने की कुछ कांग्रेस कार्यकताओं की मांग को लेकर किये गये प्रश्न पर कहा, “अगले लोकसभा चुनाव के मैदान में उतारने के लिये कांग्रेस के पास मजबूत नेता नहीं हैं। इसलिये वह ऐसे चॉकलेटी चेहरों के माध्यम से चुनाव लड़ना चाहती है।


” पूर्वी उत्तरप्रदेश की प्रभारी कांग्रेस महासचिव के रूप में राजनीति की मुख्यधारा में प्रियंका के प्रवेश को लेकर विजयवर्गीय ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नेतृत्व क्षमता पर भी सवाल उठाये। भाजपा महासचिव ने कहा, “अगर कांग्रेस में राहुल के नेतृत्व के प्रति आत्मविश्वास होता, तो प्रियंका को सक्रिय राजनीति में नहीं लाया जाता।”



दो दिवसीय राष्ट्रीय भाषण प्रतियोगिता का समापन हुआ...

संवाददाता : नई दिल्ली 


                    दो दिवसीय राष्ट्रीय भाषण प्रतियोगिता (24 और 25 जनवरी) आज यहां युवा मामलों के सचिव सुश्री उपमा चौधरी द्वारा विजेताओं को नकद पुरस्कार और प्रमाण पत्र प्रदान करने के साथ ही संपन्न हुआ। मध्य प्रदेश की सुश्री तुबा हयात खान को 2 लाख रुपये के नकद पुरस्कार और प्रमाण पत्र के साथ प्रथम पुरस्कार दिया गया, महाराष्ट्र के अक्षय राउत द्वितीय आए और 1 लाख रुपये का नकद पुरस्कार और प्रमाण पत्र प्राप्त किया। कर्नाटक के श्री प्रणव विलास अध्यापक को तृतीय पुरस्कार मिला। उन्हें पुरस्कार स्वरूप 50 हजार रूपए और प्रमाण पत्र दिया गया। अन्य सभी प्रतियोगियों को भागीदारी प्रमाण पत्र दिया गया।


 युवा मामलों के सचिव सुश्री उपमा चौधरी ने अपने वैधानिक संबोधन में कहा कि मंत्रालय युवाओं की आवाज सुनना चाहता है और यह भी जानना चाहता है कि अगली पीढ़ी क्या सोचती है? उन्होंने कहा कि भारत 2025 तक विश्व की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने जा रहा है और इससे पहले भारत सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश होगा। उन्होंने कहा, “हमारी जनसंख्या हमारे लिए एक लाभ है। यह हमारे लिए अवसर का साधन भी है।” सुश्री चौधरी ने सभी प्रतिभागियों को इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए बधाई दी और तथा साथ ही नेहरू युवा केंद्र संगठन को इस वृहत कार्यक्रम के आयोजन के लिए भी बधाई दी। इस कार्यक्रम का उद्देश्य युवाओं में राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावना को मजबूत करना है।


इस समारोह का उद्घाटन कल युवा मामलों एवं खेल तथा सूचना एवं प्रसारण मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौर ने किया। प्रतिभागियों को एक निर्णायक मंडल, जिसमें प्रसार भारती की सलाहकार सुश्री स्मिता मिश्रा, दिल्ली विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर सुश्री मोबिन जाहरा, एमडीयू गुड़गांव की एसोसिएट प्रोफेसर सुश्री प्रियंका लांबा, वरिष्ठ पत्रकार श्री विनोद शुक्ला, सेवानिवृत प्रोफेसर श्री सुरिन्दर सिंघल तथा यूजीयी के वरिष्ठ सलाहकार श्री डी जे सिंह शामिल हैं, द्वारा परखा गया।


नरेंद्र मोदी गरीबों के साथ पूरी ताकत से खड़ा रहेगा : प्रधानमंत्री

संवाददाता : तमिलनाडु चेन्नई 



            प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद के खिलाफ लड़ाई के अपनी सरकार के संकल्प को दोहराते हुए रविवार को जनता को आश्वासन दिया कि आर्थिक अपराधियों को कानून के हवाले किया जाएगा। उन्होंने अपने राजनीतिक विरोधियों पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी मुहिम के कारण ही विपक्षी पार्टियां महागंठबंधन बनाने को विवश हुई हैं।


उन्होंने यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की एक रैली को यहां संबोधित करते हुए कहा, ‘‘देश को लूटने और धोखा देने वाला हर व्यक्ति चाहे वह देश में हो या विदेश में, न्याय के समक्ष खड़ा किया जाएगा।’’ प्रधानमंत्री विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे आर्थिक अपराधियों की ओर इशारा कर रहे थे। इन सभी की बैंकों के कर्ज के साथ हेराफेरी के मामलों में तलाश है तथा ये इस समय भारत से भाग कर अन्य देशों में रह रहे हैं।


उन्होंने सभा में उपस्थित विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार देश को भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद से छुटकारा दिलाने के लिये प्रभावी कदम उठा रही है। मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई से चेन्नई से लेकर दिल्ली तक खलबली मच गयी है। उन्होंने कहा कि सरकारी ठेकों और समाज कल्याण योजनाओं में अलग अलग तरह के बिल बनाने वाले लोग अब मुश्किल में हैं।


उन्होंने विपक्षी दलों के प्रस्तावित महागठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि इसी कारण (भ्रष्टाचार के खिलाफ केंद्र सरकार की कार्रवाई के कारण) वे एक साथ जमा हो रही हैं।प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘वे कहते हैं कि इस चौकीदार को हटाने के लिये उन्हें तमाम विरोधों को त्यागकर एकजुट होना पड़ेगा। वे डर और विरोधभाव में कितना ही बड़ा समूह क्यों नहीं बना लें, नरेंद्र मोदी गरीबों के साथ पूरी ताकत से खड़ा रहेगा।’’ उन्होंने तमिलनाडु के युवाओं और मदुरई के लोगों से इन नकारात्मक ताकतों को खारिज करने की अपील की।


उल्लेखनीय है कि तमिलनाडु में एम.के.स्टालिन के नेतृत्व वाली डीएमके भी भाजपा विरोाी गठबंधन में सक्रिय भूमिका निभा रही है। स्टालिन ने पिछले महीने एक सार्वजनिक रैली में प्रधानमंत्री पद के लिये राहुल गांधी का नाम प्रस्तावित किया था।


राजस्थान में ‘मिशन 25’ पर काम कर रही कांग्रेस...

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 


                             आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए राजस्थान में ‘मिशन 25’ पर काम कर रही कांग्रेस उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया को तेजी से आगे बढ़ा रही है और 20 फरवरी तक सभी सीटों पर प्रत्याशियों के नाम की घोषणा करने की तैयारी में है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि कुछ दिनों के भीतर ही संभावित उम्मीदवारों के नाम अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) के पास भेज दिए जाएंगे।



कांग्रेस महासचिव और राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे ने इसकी पुष्टि की है कि राज्य की सभी 25 लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया तेजी से चल रही है और अगले महीने नामों की घोषणा की जा सकती है।पांडे ने कहा, ‘हाल ही में हमने छह दिनों के भीतर हजारों कार्यकर्ताओं से संवाद किया। सबकी राय ली गयी। इस गहन विचार-विमर्श के साथ ही हमने लोकसभा चुनाव प्रचार की बड़े पैमाने पर शुरुआत कर दी है।’ उन्होंने कहा, ‘सभी जिला मुख्यालयों पर 13 जनवरी को बैठकें हुई थीं। इसकी रिपोर्ट मेरे पास आ गयी है।


प्रदेश चुनाव समिति इसे देखेगी और उसके जो भी सुझाव होंगे वो हम जल्द से जल्द केंद्रीय चुनाव समिति को भेजेंगे।’ यह पूछे जाने पर कि उम्मीदवारों की घोषणा कब तक हो सकती है, कांग्रेस प्रभारी ने कहा, ‘पूरी संभावना है कि 20 फरवरी तक उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी जाएगी।’ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच समन्वय की कमी सबंधी खबरों पर पांडे ने कहा, ‘यह बिल्कुल गलत है। अफवाह है। भाजपा को अफवाह फैलाने से बाज आना चाहिए। मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री मजबूती के साथ, मिल-जुलकर काम कर रहे हैं।’ गौरतलब है कि राजस्थान में लोकसभा की 25 सीटें हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिल पाई थी। हालांकि हालिया विधानसभा चुनाव में कांग्रेस जीतकर राज्य में सरकार बनाने में सफल रही।


जीआई वस्‍त्र प्रदर्शित करने के लिए एलीफेंटा गुफाओं में ‘आर्टिजन स्‍पीक’ का आयोजन किया जाएगा...


संवाददाता : नई दिल्ली 





                                       भारत के हस्‍तकरघा और वस्‍त्र क्षेत्र को और सुदृढ़ बनाने के लिए भारत सरकार का वस्‍त्र मंत्रालय एक अनूठा कार्यक्रम ‘आर्टिजन स्‍पीक’ का आयोजन करने जा रहा है, जो भारत के समृध हस्‍तकरघा और वस्‍त्र परंपरा को प्रदर्शित करेगा। इसका कार्यक्रम का आयोजन 28 जनवरी 2019 को मुंबई के निकट यूनेस्‍को विश्‍व धरोहर स्‍थल, एलीफेंटा गुफा में किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री श्रीमती स्‍मृति जुबिन ईरानी इस अवसर पर उपस्थित रहेंगी। मेसर्स अरविन्‍द ट्रू ब्‍लू लिमिटेड की तरफ से पूर्व भारतीय क्रिकेटर श्री सचिन तेंदुलकर भी इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे।


यह ऐतिहासिक अवसर भारतीय हस्‍तकरघा के विकास की दिशा में निजी क्षेत्र द्वारा की जा रही बड़ी प्रतिबद्धताओं की एक नई शुरुआत का भी साक्षी बनेगा। सरकार एवं अग्रणी रिटेलर तथा टेक्‍सटाइल ब्रांडों के बीच सहयोग समझौतों से हस्‍तकरघा संवर्द्धन को बढ़ावा मिलेगा। वस्‍त्र मंत्रालय के विकास आयुक्‍त कार्यालय (हस्‍तकरघा) एवं वस्‍त्र कंपनियों और विकास आयुक्‍त कार्यालय (हस्‍तकरघा) के तहत बुनकर सेवा केंद्र’ (डब्‍ल्‍यूएससी) के बीच हस्‍ताक्षर किए जाने वाले समझौते सुगमकर्ता का कार्य करेंगे और कपड़ा कंपनियों तथा हैंडलूम क्‍लस्‍टरों को आपस में जोड़ेंगे। डब्‍ल्‍यूएससी कपड़ा कंपनियों को निर्धारित गुणवत्‍ता, लागत एवं समय सीमा के अनुरूप अपनी आवश्‍यकता के लिहाज से सीधे हैंडलूम क्‍लस्‍टरों से मंगाने में सक्षम बनाएंगे। इसके फलस्‍वरूप बुनकरों को बेहतर मूल्‍य भी प्राप्‍त होगा तथा उनकी बाजार समझ में भी सुधार आएगा।


इस अवसर पर नि‍म्‍नलिखित कपड़ा कंपनियां वस्‍त्र मंत्रालय के साथ समझौतों पर हस्‍ताक्षर करेंगी: 



  • अरविन्‍द ट्रू ब्‍लू लिमिटेड (श्री कुलीन लाल भाई, कार्यकारी निदेशक)

  • रेमण्‍ड लिमिटेड (श्री गौरव महाजन, अध्‍यक्ष – ग्रुप अपैरल्‍स)

  • वेलस्‍पन इंडिया लिमिटेड (श्री अनिल चन्‍ना, कार्यकारी निदेशक परिचालन)

  • टाइटन कंपनी लिमिटेड (श्री अजॉय चावला, वरिष्‍ठ उपाध्‍यक्ष)

  • रिलायंस रिटेल लिमिटेड (श्री अखिलेश प्रसाद, अध्‍यक्ष एवं मुख्‍य कार्यकारी)  


बडे ब्रांडो एवं हैंडलूम क्‍लस्‍टरों के बीच कार्यनीतिक साझेदारी का उद्देश्‍य एक तरफ प्रमुख कंपनियों और हस्‍तकरघा बुनकरों के बीच दीर्घकालिक बाजार संपर्क की स्‍थापना करना है तथा दूसरी तरफ यह क्षेत्र का स्‍थाई विकास भी सुनिश्चित करेगा, जिससे बुनकरों के लिए आय के टिकाऊ और बढ़े अवसर प्राप्‍त होंगे।


यह कार्यक्रम अग्रणी डिजाइनरों की प्रतिभागिता के साथ एक मोहक सांस्‍कृतिक शो के जरिए भारतीय वस्‍त्रों को बड़े पैमाने पर प्रदर्शित करेगा। कारीगरों के साथ स्‍थापित एवं उभरते डिजाइनरों की प्रस्‍तुति भारत के विभिन्‍न क्षेत्रों से संबंधित जीआई (भौगोलिक संकेतक) पर आधारि‍त होगी। यह जीआई वस्‍त्रों की क्षमता को प्रदर्शित करेगा, जिससे कि ऐसे उत्‍पादों का निर्माण किया जा सके एवं उनके बारे में जागरूकता फैलाई जा सके। साथ ही, यह जमीनी स्‍तर के हितधाराकों, की आपूर्ति श्रृंखला क्षमता और कौशलों को भी सुदृढ बनाएगा।


प्रस्‍तुति में भाग लेने वाले कुछ प्रमुख डिजाइनर एवं कारीगर निम्‍नलिखित हैं:



  • डिजाइनर राहुल मिश्रा चिकनकारी प्रदर्शित करेंगे।

  • डिजाइनर पायल खंडवाला बनारसी जरी वस्‍त्र प्रदर्शित करेंगी।

  • उस्‍ताद बुनकर शांतिलाल भांगडे पैठानी प्रदर्शित करेंगे।

  • केरल की डॉ. ऊषा देवी बालकृष्‍णन अंका के जरिए बलरामपुरम साडि़यां प्रस्‍तुत करेंगी।

  • डिजाइनर करिश्‍मा शहानी खान कोटा डोरिया/चंदेरी वस्‍त्र प्रदर्शित करेंगी।

  • डिजाइनर मीरा मुज्‍जफर अली चिकनकारी प्रस्‍तुत करेंगी।

  • डिजाइनर पद्मजा महेश्‍वरी वस्‍त्र प्रदर्शित करेंगी।

  • कारीगर राजीब देबनाथ (वर्धवान) जामदानी साडि़यां प्रदर्शि‍त करेंगे।

  • डिजाइनर अब्राहम एवं ठाकुर हथकरघा कपास पर हैंड-ब्‍लॉक प्रिंट प्रदर्शित करेंगे।


 इस दौरान संगीत एवं नृत्‍य समेत सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाएगा।



उपनिदेशक चौहान के नेतृत्व में उत्तराखण्ड के कलाकारों ने की राष्ट्रपति से भेंट...

प्रजा दत्त डबराल : देहरादून उत्तराखंड 


                    राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से राष्ट्रपति भवन में रविवार को उत्तराखण्ड सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग के उपनिदेशक एवं झांकी के टीम लीडर के0एस0 चौहान के नेतृत्व में 26 जनवरी को राजपथ पर प्रदर्शन हेतु चयनित “अनासक्ति आश्रम” पर आधारित उत्तराखण्ड की झांकी के कलाकारों ने भेंट की।



राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द द्वारा उत्तराखण्ड की लोक संस्कृति एवं वेश-भूषा की प्रशंसा की गयी। गौरतलब है कि 26 जनवरी को राजपथ पर प्रदर्शन के लिए चयनित विभिन्न राज्यों की झांकियों के कलाकरों के साथ ही उत्तराखण्ड की झांकी के कलाकारों को भी राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में आमंत्रित किया गया था।


प्रधानमंत्री द्वारा तमिलनाडु के मदुरै में एम्‍स के शिलान्‍यास समारोह में दिए गए भाषण का मूल पाठ...


संवाददाता : नई दिल्ली 





मैं मीनाक्षी- सुंदरेश्‍वर मंदिर के लिए विख्‍यात और एक ऐसा स्‍थान, जिसका नाम भगवान शिव के शुभ आशीर्वाद से जुड़ा है- मदुरै में आकर प्रसन्‍न हूं।


      देश ने कल गणतंत्र दिवस मनाया। एक प्रकार से आज मदुरै में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान का शिलान्‍यास ‘एक भारत श्रेष्‍ठ भारत’ के हमारे विजन को परिलक्षित करता है।


मित्रों,


हम सभी जानते हैं कि दिल्‍ली में एम्‍स ने स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल में अपने लिए एक ब्रांड नाम स्‍थापित कर लिया है।


मदुरै में एम्‍स के साथ हम यह कह सकते हैं कि स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल के इस ब्रांड को अब देश के सभी कोनों में – कन्‍याकुमारी से कश्‍मीर से मदुरै और गुवाहाटी से गुजरात तक विस्‍तारित कर दिया गया है। मदुरै में एम्‍स का निर्माण 1600 करोड़ रुपए से अधिक की लागत के साथ किया जाएगा। इससे तमिलनाडु के सभी लोगों को लाभ पहुंचेगा।


मित्रों,


एनडीए सरकार स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र को काफी प्राथमिकता दे रही है जिससे कि हर व्‍यक्ति स्‍वस्‍थ रहे  और स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल किफायती हो।


प्रधानमंत्री स्‍वास्‍थ्‍य सुरक्षा योजना के तहत हमने भारतभर में सरकारी चिकित्‍सा महाविद्यालयों के उन्‍नयन  का समर्थन किया है।


आज मैं मदुरै के सुपर स्‍पेशिएलिटी ब्‍लॉक्‍स, तंजावुर एवं तिरुनेलवेल्‍ली चिकित्‍सा   महाविद्यालयों का उद्घाटन कर प्रसन्‍न हूं।


जिस गति एवं परिमाण से मिशन इंद्रधनुष कार्य कर रहा है, वह बचाव संबंधी स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल में एक नया उदाहरण प्रस्तुत कर रहा है। प्रधानमंत्री मातृत्‍व वंदना योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्‍व अभियान सुरक्षित गर्भावस्‍था को एक जन आंदोलन बना रहे हैं।


पिछले साढे चार वर्षों में पूर्व स्‍नातक मेडिकल सीटों की संख्‍या में लगभग 30 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। आयुष्‍मान भारत की शुरुआत भी एक बडा कदम है।


हमारे देश के लिए सार्वभौ‍मिक स्‍वास्‍थ्‍य कवरेज की उपलब्धि सुनिश्चित करना हमारा एक सुविचारित दृष्टिकोण है। आयुष्‍मान भारत स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के समग्र समाधान में पथ प्रदर्शक कदम उठाता है। व्‍यापक प्राथमिक देखभाल एवं बचाव संबंधी स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं उपलब्‍ध कराने के लिए वन प्‍वाइंट पांच लाख स्‍वास्‍थ्‍य एवं कल्‍याण केंद्रों की स्‍थापना की जा रही है।


प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना अस्‍पताल में भर्ती होने की ि‍स्‍थति में 10 करोड़ से अधिक जरूरतमंद परिवारों को प्रतिवर्ष प्रत्‍येक परिवार पांच लाख रुपए तक की वित्‍तीय सुरक्षा उपलब्‍ध कराती है।


यह विश्‍व में सबसे बड़ी स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना है।


मुझे यह जानकर प्रसन्‍नता हुई है कि तमिलनाडु के 1 करोड़ 57 लाख व्‍यक्ति इस योजना के तहत शामिल हैं।


तीन महीनों की अवधि के भीतर ही लगभग 89 हजार लाभार्थियों को भर्ती किया गया और तमिलनाडु में भर्ती मरीजों के लिए 200 करोड़ रुपए से अधिक की राशि अधिकृत की गई है। मुझे यह जानकर भी प्रसन्‍नता हुई है कि तमिलनाडु में पहले ही 1320 स्‍वास्‍थ्‍य एवं कल्‍याण्‍ केंद्र आरंभ कर दिए हैं।


रोग नियंत्रण मोर्चे पर हम राज्‍यों को तकनीकी एवं विततीय सहायता प्रदान कर रहे हैं। हमारी सरकार 2025 तक तपेदिक उन्‍मूलन के लिए प्रतिबद्ध है। मुझे यह जानकर प्रसन्‍नता हुई है कि राज्‍य सरकार तपेदिक मुक्‍त चेन्‍नई पहल को बढ़ावा दे रही है और 2023 तक ही राज्‍य से तपेदिक उन्‍मूलन की कोशिश कर रही है।


मैं राज्‍य के संशोधित राष्‍ट्रीय तपेदिक नियंत्रण कार्यक्रम के सभी पहलुओं के कार्यान्‍वयन की दिशा में उसकी प्रतिबद्धता के लिए सराहना करता हूं।


मैं आश्‍वस्‍त करता हूं कि भारत सरकार इन रोगों से निपटने में राज्‍य के प्रयासों को सभी आवश्‍यक सहायता देने के लिए प्रतिबद्ध है।


आज मैं तमिलनाडु में 12 डाकघर पासपोर्ट सेवा केंद्रों को समर्पित करके भी प्रसन्‍न हूं।


यह पहल हमारे नागरिकों के ‘जीवन की सुगमता’ को बेहतर बनाने का एक और उदाहरण है।


मैं एक बार फिर से आश्‍वस्‍त करना चाहता हूं कि हमारी सरकार सर्वभौमिक स्‍वास्‍थ्‍य कवरेज सुनिश्चित करने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल में उठाए गए कदमों को सुदृढ़ बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।


 



उत्तराखण्ड के लिए 108-एम्बुलेंस सेवा जीवन दायिनी साबित हुई : मुख्यमंत्री

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 


                             मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को महात्मा गांधी शताब्दी नेत्र चिकित्सा विज्ञान केंद्र में 108-आपातकालीन एम्बुलेंस की 26 एम्बुलेंस का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर महात्मा गांधी शताब्दी नेत्र चिकित्सालय को हंस फाउंडेशन द्वारा उपलब्ध कराए गए रु 2.00 करोड़ की लागत के उपकरणों का भी लोकार्पण किया।




इस अवसर पर मीडिया से अनौपचारिक वार्ता करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड के लिए 108-एम्बुलेंस सेवा जीवन दायिनी साबित हुई है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार के लिए राज्य सरकार लगातार प्रयासरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को और मजबूती प्रदान करते हुए नवंबर माह में 61 बी.एल.एस. एम्बुलेंस वाहनों को पुरानी एम्बुलेंस से प्रतिस्थापित किया गया था, आज 26 अन्य एम्बुलेंस वाहनों को प्रतिस्थापित किया गया है। इस प्रकार कुल 87 बी.एल.एस. एम्बुलेंस को प्रतिस्थापित कर दिया गया है। शीघ्र ही नई 34 बी.एल.एस. एम्बुलेंस और 16 ए.एल.एस. एम्बुलेंस राज्य की जनता के सेवार्थ उपलब्ध करा दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी से एयर एम्बुलेंस सेवा भी शुरू कर दी गई है, जो आपातकालीन स्थिति में मरीजों के लिए वरदान सिद्ध हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हंस फाउंडेशन भी राज्य के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी शताब्दी नेत्र चिकित्सालय को हंस फाउंडेशन द्वारा रु0 2.00 करोड़ की लागत के उपकरण उपलब्ध कराए गए हैं, जिनका आज लोकार्पण किया गया है।


शहरी गरीब युवाओं के लिये शुरू होगी युवा स्वाभिमान योजना : मुख्यमंत्री कमल नाथ

संवाददाता : भोपाल मध्यप्रदेश



                                            मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि शहरी क्षेत्र के गरीब युवाओं को अस्थायी रोजगार देने के लिये युवा स्वाभिमान योजना लागू की जा रही है। इसमें शहरी क्षेत्र के गरीब युवाओं को एक साल में 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।


गणतंत्र दिवस पर नागरिकों के नाम अपने संदेश में नई योजना की चर्चा करते हुए श्री कमल नाथ ने कहा कि युवा शक्ति के हाथ में प्रदेश का भविष्य है। उन्होंने कहा कि युवाओं में प्रतिभा की कमी नहीं है। जरूरत केवल युवा प्रतिभाओं को निखारने की है ताकि वे राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्ध रोजगार के अवसरों का पूरा-पूरा लाभ उठा सकें।


पंजीयन 10 फरवरी से होगा प्रारंभ


मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि रोजगार के दौरान युवाओं को उनके पसंद के क्षेत्र में कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा। उनके हाथ में कौशल होगा, तो वे विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्ध रोजगार के अवसरों का पूरा-पूरा लाभ उठा सकेंगे। उन्होंने कहा कि योजना में 10 फरवरी से युवाओं का पंजीयन प्रारंभ होगा और फरवरी माह में ही रोजगार और कौशल देने का काम शुरू हो जायेगा।


मुख्यमंत्री ने नागरिकों को गणतंत्र दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने संविधान के निर्माण से जुड़ी सभी महान विभूतियों एवं स्वतंत्रता संग्राम के  बलिदानियों का स्मरण किया। उन्होने छिन्दवाडा में गणतंत्र दिवस परेड की सलामी ली।


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने काम शुरू करते ही पात्र किसानों का दो लाख रूपये तक का कर्ज माफ कर दिया है। उन्होंने कहा कि औद्योगिक नीति में बदलाव करते हुए शासन की सहायता लेने वाले उद्योगों में कम से कम 70 प्रतिशत रोजगार प्रदेश के ही लोगों को दिया जायेगा।


वृद्धजनों, दिव्यांगों कल्याणियों की पेंशन बढ़ेगी


मुख्यमंत्री ने कहा कि वृद्धजनों, दिव्यांगों एवं कल्याणियों को दी जाने वाली सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि 300 रूपये से बढ़ाकर 1000 रूपये कर दी जायेगी। इसे पूरा करने में पहला कदम बढ़ाते हुए अप्रैल के पहले सप्ताह से मिलने वाली पेंशन की राशि बढ़ाकर 600 रूपये प्रतिमाह कर दी जाएगी। हर साल इसमें बढ़ोत्तरी होगी।  


तेन्दूपत्ता  मजदूरी होगी 2500 रुपये प्रति मानक बोरा


मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले तेन्दूपत्ता सीजन से तेन्दूपत्ता मजदूरी और बोनस का नकद भुगतान होगा। तेन्दूपत्ता की मजदूरी दर 2000 रूपये प्रति मानक बोरा को बढ़ाकर 2500 रूपये प्रति मानक बोरा की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आवारा पशुओं के लिये गौशाला खोलने की योजना पर काम शुरू हो गया है। फरवरी माह में योजना को अंतिम रूप देकर क्रियान्वयन शुरू कर दिया जाएगा।


जनजातीय कल्याण की चर्चा करते हुए श्री कमल नाथ ने कहा कि जनजातीय भाइयों के पास जमीनों का सबसे बेहतर उपयोग करने के लिये जनजातीय कल्याण मंत्री की अध्यक्षता में अनुसूचित जनजाति के सांसदों और विधायकों की एक समिति बनाई गई है। इस समिति की अनुशंसा पर सरकार काम करेगी।


अध्यात्म विभाग के गठन की चर्चा करते हुए श्री कमलनाथ ने कहा कि भारत की आध्यात्मिक विरासत एवं दर्शन प्रणाली एक वैश्विक धरोहर है। इस धरोहर के संरक्षण, संवर्धन और वर्तमान परिप्रेक्ष्य में देश-विदेश की बहुलतावादी संस्कृति के विकास को नये आयाम देने का काम यह विभाग करेगा।


वचन पूरा करने में नहीं आयेगी वित्तीय बाधा


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने विषम वित्तीय परिस्थितियों में कार्य संभाला है लेकिन जनता से किये गये वादों को पूरा करने में वित्तीय बाधा आड़े नहीं आने दी जायेगी। वित्तीय प्रबंधन को मजबूत बनाने के अनेक कदम उठाये जायेंगे। करों की चोरी की रोकथाम और राजस्व बढ़ाने की व्यवस्था को पुख्ता कर एवं आय के नए साधनों को लागू कर वित्तीय संसाधन जुटाये जायेंगे। सरकार ऐसी योजनाओं को बदलेगी या समाप्त करेगी, जो आम लोगों के लिये अब जरूरी नहीं रह गई हैं।


अधोसंरचना विकास पर विशेष ध्यान


मुख्यमंत्री ने कहा कि अधोसंरचना विकास के कार्य जैसे सड़क, बिजली, सिंचाई, जल-प्रदाय, नगरीय अधोसंरचना आदि विकसित करने के लिये अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थाओं से धनराशि जुटाई जाएगी। इन क्षेत्रों में कार्यों को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी।


सामाजिक क्षेत्र की प्राथमिकताओं की चर्चा करते हुए श्री कमल नाथ ने कहा कि स्कूलों में गुणवत्तापूर्ण पढ़ाई, अस्पतालों में बेहतर इलाज और कुपोषण के विरूद्ध समाज के साथ मिलकर व्यापक अभियान चलाया जाएगा।


समृद्ध गांव बनायेंगे


मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव में शिक्षा, स्वास्थ्य, पानी, बिजली, सड़क, स्वच्छता और कुटीर तथा ग्रामोद्योगों से स्थानीय स्तर पर रोजगार जैसी बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा कर गांवों को समृद्ध और स्वावलम्बी बनाया जायेगा। इसके लिये ग्राम पंचायतवार योजनाएं बनाकर स्थानीय लोगों की भागीदारी से उन पर अमल किया जायेगा। 'लोगों की सरकार' के स्थान पर 'लोग ही सरकार' के सिद्धांत पर त्रि-स्तरीय पंचायत राज संस्थाओं को सशक्त बनाया जायेगा। ग्राम सभाओं को और अधिक सशक्त बनाते हुए विशेष महिला ग्राम सभाएं आयोजित की जायेंगी।


परिवर्तन के साथ नई कार्य संस्कृति जरूरी


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशासन में नयी कार्य-संस्कृति लाना जरूरी है। नये नजरिये और दृष्टिकोण के साथ परिवर्तन आयेगा। उन्होंने सभी शासकीय और पुलिस कर्मचारियों तथा अधिकारियों से अपेक्षा की कि वे जन सेवा का कार्य पूरी ईमानदारी के साथ करेंगे। सरकारी विभागों और सरकारी अमले के कामों का मूल्यांकन जनता करेगी। जनता का मूल्यांकन ही सही माना जायेगा। मध्यप्रदेश शासन-प्रशासन और आम लोगों के बीच समन्वय का उदाहरण पेश करेगा। सरकार हर वर्ग की चिंता करेगी।


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार से लोगों को नाउम्मीदी नहीं होगी। प्रचार कम, काम ज्यादा होगा। आने वाले पांच सालों में प्रदेश को पूरी तरह विकसित प्रदेश बनाने की राह पर तेजी से काम करने के लिये राज्य सरकार संकल्पित है।