गुरुवार, 23 अप्रैल 2020

एफसीआई ने खाद्यान्न रैकों की लदाई में नया कीर्तिमान स्थापित किया...

संवाददाता : नई दिल्ली


      भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) ने 22.04.20 को लगभग 2.8 लाख मीट्रिक टन (2.8 एलएमटी) खाद्यान्न ले जाने वाली 102 रेल खेपों को स्थानांतरित करने के साथ ही एक नया बेंचमार्क स्थापित कर लिया है। सबसे अधिक पंजाब में 46 ट्रेन लोद की लदाई हुई दूसरे नंबर पर 18 ट्रेन के साथ तेलंगाना हैं।


गेहूं और कच्चे चावल को पंजाब और हरियाणा से देश के विभिन्न हिस्सों में ले जाया गया, जबकि उबले हुए चावल को तेलंगाना से केरल, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल ले जाया गया। इस स्थानांतरण के साथ ही, लॉकडाउन अवधि के दौरान भारतीय खाद्य निगम द्वारा स्थानांतरित की गई खाद्यान्न भंडार की कुल सीमा 5 एमएमटी पार कर गई, जबकि इसका दैनिक औसत 1.65 लाख मीट्रिक टन है।



इसी अवधि के दौरान, भारतीय खाद्य निगम ने देशव्यापी लॉकडाउन और देश के कई हिस्सों को संरोधन क्षेत्र घोषित किए जाने के कारण कठिन चुनौतियों का सामना करने के बावजूद 4.6 एमएमटी स्टॉक उतारा और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) सहित विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत राज्य सरकारों को 9.8 एमएमटी वितरित किया। पीएमजीकेएवाई के अंतर्गत, भारतीय खाद्य निगम ने पहले ही राज्य सरकारों को लगभग 80 करोड़ लाभार्थियों को 5 किलोग्राम/ व्यक्ति की दर से निःशुल्क वितरण करने के लिए 4.23 एमएमटी खाद्यान्न सौंप दिया है।


जबकि राज्यों द्वारा उपभोग करने और सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) की नियमित आपूर्ति को सुनिश्चित करने के लिए स्टॉक को समय पर स्थानांतरित करने की दिशा में प्रयासों को केंद्रित किया गया है। सभी प्रमुख उत्पादक राज्यों में गेहूं की खरीद का अभियान शुरू करने के साथ ही, 15.04.2020 के बाद से गेहूं की खरीद ने रफ्तार पकड़ ली है।


22.04.2020 तक, केंद्रीय पूल के लिए 3.38 एमएमटी गेहूं की खरीद की जा चुकी है, जिसमें अकेले पंजाब का योगदान 2.15 एमएमटी है। इस मौसम के दौरान, गेहूं की खरीद का लक्ष्य 40 एमएमटी निर्धारित किया गया है। केंद्रीय पूल में इस प्रकार के मजबूत प्रवाह के साथ, मौजूदा संकट के दौरान लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए अनाज की किसी भी अतिरिक्त आवश्यकताओं को पूरा करने के बाद भी, एफसीआई अपने भंडार को नए स्टॉक के साथ भरने में जल्द से जल्द सक्षम हो जाएगा।


लेबल: