बुधवार, 1 अप्रैल 2020

जयपुर के आठों शेल्टर्स में श्रमिकों के भोजन, ठहराव, सेनेटाइजेशन, हैल्थ चैकअप समेत सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुचारू...

संवाददाता  : जयपुर राजस्थान


      जयपुर उपखण्ड में सभी आठों शेल्टर होम में श्रमिकों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है और उनके ठहराव, भोजन आदि की समुचित व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली गई हैं। इन सभी शेल्टर होम को श्रमिकों को लाने से पहले भी सेनेटाइज कराया गया था और अभी दिन मे कई बार सेनेटाइजेशन की प्रक्रिया की जा रही है। सभी जगह भामाशाहों ने इन श्रमिकों के भोजन की जिम्मेदारी ले ली है। जिला प्रशासन और भामाशाहों के सहयोग से इन्हें सुबह नाश्ता और दिन में एवं शाम को भोजन दिया जा रहा है। आने के साथ ही सभी श्रमिकों की चिकित्सकीय जांच कर ली गई थी और इनकी स्क्रीनिंग भी की जा चुकी है। 

 


 

एसडीएम जयपुर युगान्तर शर्मा ने बताया कि जयपुर में वर्तमान में कमला देवी बुधिया राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, हीरापुरा, आदर्श सीनियर सैकण्डरी विद्यालय आदर्श नगर, सीनियर सैकण्डरी विद्यालय गांधीनगर (ओल्ड),  बालिका सीनियर सैकण्डरी स्कूल मालवीय नगर, सीनियर सैकण्डरी स्कूल मोती कटला सुभाष चौक, गीता भवन आदर्श नगर एवं आनन्दम जनोपयोगी भवन, शास्त्रीनगर में ये कैम्प संचालित हैं। इसके अलावा लगभग 10 शेल्टर होम अभी ‘रेडी टू मूव’ हैं। 

 

उन्होंने बताया कि यहां इनको सुबह चाय नाश्ता, दिन में भोजन और रात को भोजन की व्यवस्था है। यहां पीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता समग्र प्रभारी हैं एवं दो पटवारी,  एलडीसी राउण्ड द क्लॉक ड्यूटी पर हैं। ये सभी राजकर्मी इन श्रमिकों की समझाइश भी कर रहे हैं और उन्हें कोरोना प्रिवेंंशन, डिस्टेंस मेंटेन करने, साफ सफाई के बारे में बता रहे हैं। 

 

शर्मा ने बताया कि अभी यहां 100 लोग और शिफ्ट किए जा सकते हैं। इसी प्रकार अजमेर रोड पर श्रीमती कमला देवी बुधिया विद्यालय में भी 187 श्रमिकों की व्यवस्था है। यहां अन्दर हर तल पर छह शौचालय वर्किंग में हैं। इसके अलावा 10 चल शौचालय भी यहां रखवाए गए हैं। यहां भी बिछाने, ओढने, नहाने के लिए साबुन तेल, तीन समय भोजन जैसी सभी व्यवस्थाएं जिला प्रशासन एवं भामाशाहों के सहयोग से की गई हैं। 

 

शर्मा ने श्रमिकों के लिए व्यवस्थाओं में जिला  प्रशासन का सहयोग करने पर सभी भामाशाहों, जैन समाज बाड़ा पदमपुरा, खण्डेलवाल समाज, माहेश्वरी समाज और अन्य सहयोगियों का धन्यवाद ज्ञापित किया है।

लेबल: