रविवार, 31 मई 2020

केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ रुपये मांगे कहा कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट...

प्रदीप महाजन @ नई दिल्ली 


      दिल्ली सरकार ने वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण को चिट्ठी लिखकर केंद्र सरकार से 5000 करोड़ रुपये मांगे हैं,दिल्ली सरकार के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्‍ली सरकार को हर महीने अपने कर्मचारियों को 3500 रुपये वेतन देना होता है, लेकिन सरकार के पास सिर्फ 1725 करोड़ रुपए ही हैं।


सिसोदिया ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण देशभर में लॉकडाउन लागू है इस लॉकडाउन की वजह से उद्योग-धंधे बंद रहे हैं जिससे सरकार की आय पर भी प्रतिकूल असर पड़ा है। इस कारण दिल्‍ली सरकारनके सामने कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट पैदा हो गया है।



सिसोदिया ने बताया कि पिछले दो महीने में कर वसूली के तौर पर सरकार के पास कुल एक हजार करोड़ का राजस्‍व आया है. वहीं, अन्‍य स्रोतों से 725 करोड़ रुपए खजाने में आए हैं डिप्टी सीएम सिसोदिया ने बताया कि दिल्‍ली सरकार को प्रतिमाह 3500 रुपए अपने कर्मचारियों को वेतन देना होता है, लेकिन सरकार के पास सिर्फ 1725 करोड़ रुपए हैं इसलिए केंद्र सरकार आर्थिक मदद करे।


उन्होंने बताया कि आपदा प्रबंधन का रुपया भी दिल्ली सरकार को नहीं मिला है। मौजूदा समय मे दिल्ली सरकार ने 5 हज़ार करोड़ की मदद मांगी है। गौरतलब है कि दिल्ली की वित्तीय हालत सही करने के लिए केजरीवाल सरकार ने शराब पर 70 प्रतिशत कोरोना टैक्स भी लगाया हुआ है।


लेबल: