सोमवार, 4 मई 2020

तीन बातों का रखें ख्याल,हमेशा माॅस्क पहन कर घर से निकले,सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और बार-बार हाथ धोएं : अरविंद केजरीवाल

संवाददाता : नई दिल्ली


      दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लोग डेंगू की तरह ही अब कोरोना को भी हराएंगे। अकेले सरकार कुछ नहीं कर सकती है, लेकिन सभी के सहयोग से यह संभव है। 2015 में डेंगू के 16 हजार केस हुए थे और 60 से अधिक लोगों की मौत हुई थी। पिछले साल दिल्ली के लोगों ने 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट कार्यक्रम चला कर डेंगू को हरा दिया था।

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना को हराने के लिए हमें तीन बातों का ध्यान देना होगा, इसमें घर से बाहर निकलने के दौरान मास्क अवश्य पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग और बार-बार हाथ धोना शामिल है। इन बातों का ध्यान रखते हैं, तो हम कोरोना से बच जाएंगे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कुछ जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होता देख कर मुझे काफी दुख हुआ। भविष्य में ऐसी शिकायतें मिलती है, तो हमें कड़ाई करनी पड़ेगी और दी गई रियायतों को वापस लेने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। उस दुकान या क्षेत्र को हम सील कर देगे।

 


 

केंद्र सरकार की गाइड लाइंस के अनुसार दिल्ली में भी दी गई हैं रियायतें- अरविंद केजरीवाल

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि डेढ़ महीने तक लाॅकडाउन के बाद आज से केंद्र सरकार ने देश के अलग-अलग हिस्सों में कुछ छूट दी है। पूरे देश को रेड, आॅरेंज और ग्रीन जोन में बांटा गया है। ग्रीन जोन में काॅफी रियायतें दी गई है, तो आॅरेंज जोन में थोड़ी कम रियायतें दी गई हैं और रेड जोन में काफी कम रियायतें दी गई हैं। हम सभी जानते हैं कि केंद्र सरकार ने पूरी दिल्ली को रेड जोन में रखा है। रेड जोन में शामिल पूरी दिल्ली के लिए काफी कम रियायतें दी गई है और केंद्र सरकार की गाइड लाइंस के विपरित कोई भी नहीं जा सकता है। कोई भी राज्य सरकार केंद्र सरकार के विपरित नहीं जा सकती है।

 

केंद्र सरकार ने जिन गतिविधियों में ढील दी है, उन सभी को हमने दिल्ली में अनुमति दी है। अकेले में स्थित कुछ किस्म की दुकानें खुल सकती हैं। मार्केट, मार्केट काॅम्प्लेक्स और माॅल्स खोलने की अनुमति नहीं है। कुछ इंडस्ट्रीयल एरिया खुल सकते हैं। आवासीय क्षेत्रों में कुछ दुकानें खुल सकती हैं। उसी तरह स्वरोजगार करने वाले टेक्निशिन, प्लम्बर व आया आदि लोग अपना काम कर सकते हैं।

 

दिल्ली के लोगों ने बड़े-बड़े काम कर के दिखाएं हैं, अब धीरे-धीरे कोरोना को भी हराना है- अरविंद केजरीवाल

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब हमें धीरे-धीरे कोरोना को हराना है। कोरोना को केवल सरकार नहीं हरा सकती है, जब तक लोगों का साथ नहीं मिलेगा। दिल्ली के लोगों ने आज तक बहुत बड़े-बड़े काम करके दिखाए हैं। दिल्ली के लोगों ने सबसे बड़ा काम 5 साल पहले करके दिखाया था, जब डेंगू को हराया था। 2015 में दिल्ली में डेंगू के 16 हजार केस हुए थे और 60 से अधिक लोगों की मौत हुई थी। पिछले साल, आप लोगों ने 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट, कार्यक्रम किया था और डेंगू को हराया था। पिछले साल करीब डेढ़ हजार केस आए थे और एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई थी। आप लोगों ने गजब का काम करके दिखाया था। अब हमें कोरोना को हराना है। हम जिन्दगी भर लाॅकडाउन में नहीं जी सकते हैं।

 

ऐसे लाॅकडाउन कब तक चलेगा। कोरोना को हराएंगे, तभी लाॅकडाउन खत्म होगा। अभी दिल्ली के अंदर कुछ गतिविधियां शुरू हुई हैं। अब धीरे-धीरे कोरोना को हराएंगे, तो दिल्ली को और खोला जाएगा और सारी गतिविधियां शुरू की जाएंगी। पूरी दुनिया डेंगू के आगे झुक गई थी, लेकिन आप लोगों ने हराया था। अब हमें कोरोना को भी हराना है और हम सभी मिल कर इसे हरा सकते हैं। कोरोना को हराने के लिए केवल तीन चीजों का ध्यान रखना है। पहला, जब भी आप घर से बाहर जाएं, तब हर हालत में मास्क पहन कर रखना है। यह सबसे बड़ा सुरक्षा उपाय है। दूसरा, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है।

 

आपको दूसरे लोगों से कम से कम दो से तीन गज की दूरी बना कर रखनी है। किसी भी हालत में लोगों के करीब नहीं जाना है। पूरी दुनिया में देखने को मिल रहा है कि जहां भी लोगों ने इसका ख्याल रखा, वहां पर लोग बच गए। तीसरी बात, अपने हाथ को धोना है। उसे सैनिटाइज करना है। हर आधे-आधे घंटे में साबुन से हाथ धो लीजिए या सैनिटाइजर से हाथ साफ कर लीजिए। इन तीन बातों का ख्याल रखते हैं, तो आप लोग कोरोना से बच जाएंगे। आपको कोरोना होगा या नहीं होगा, यह 90 प्रतिशत आप पर निर्भर करता है। अगर आप इन तीन चीजों का ख्याल रखेंगे, तो कोरोना आपको नहीं होगा। मुझे अपने दिल्ली के लोगों पर भरोसा है कि हम सभी लोग मिल कर कोरोना को हरा सकते हैं।

 

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर आप अपना नुकसान कर रहे, कोरोना को दावत दे रहे- अरविंद केजरीवाल

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार की गाइड लाइंस के मुताबिक हमने भी छूट दी है। लेकिन आज मुझे थोड़ा सा दुख हुआ। मैने देखा कि कुछ दुकानों के सामने काफी भीड़ लग गई। दिल्ली के लोग बहुत अच्छे हैं, लेकिन कुछ जगहों पर कुछ लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किए और भगदड़ मच गई। इससे किसका नुकसान हो रहा है।

 

इससे आपका ही नुकसान हो रहा है और आप ही बीमार होंगे। आप सोच कर देखिए कि अगर आप उस भगदड़ में थे, उसमें दो-चार लोगों को कोरोना था, तो आपको भी हो जाएगा। इससे क्या फायदा मिलेगा। आपकी जिंदगी खतरे में पड़ जाएगी और उसके बाद आपके परिवार के लोगों को भी हो जाएगा। तो क्यूं इस तरह की आप लोग खतरे ले रहे हैं और इस तरह की गतिविधि कर रहे हैं। आज जहां-जहां लोगों ने इस तरह की हरकत की है, वह सही नहीं हैं।

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी से अपील करते हुए कहा कि आप सभी कसम खाएं कि कल से इस तरह की हरकत नहीं करेंगे और कल से इस तरह की भगदड़ नहीं करेंगे। अभी से सभी सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करेंगे। यह मैं अपने लिए नहीं कह रहा हूं। यह आपकी सेहत और जिंदगी के लिए कह रहा हूं। आपके परिवार की खुशी के लिए कह रहा हूं। अपने दिल्ली के लोगों की सेहत के लिए कह रहा हूं। इसका पालन करना कोई बड़ी बात नहीं र्है। कोई दुकान नहीं बंद हो रही है।

 

ऐसा नहीं कि एक घंटे के लिए दुकानें खुल रही हैं। कल भी खुलेंगी और आगे भी खुलेंगी। फिर इस तरह की भगदड़ करने की क्या जरूरत है। मुख्यमंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा कि लेकिन अगर अब हमें पता चला कि कहीं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है तो हमें उस क्षेत्र को सील करना पड़ेगा। फिर सरकार ने जो भी वहां पर रियायतें दी हैं, वह सभी रियायतें वापस ले ली जाएंगी। मेरे पास कोई विकल्प नहीं बचेगा। आप लोगों की सेहत के लिए कड़े कदम उठाने पड़े, तो हम उठाएंगे। यह रियायतें इसलिए दी गई हैं, ताकि अब धीरे-धीरे हम अपनी दिल्ली को खोलते जाएं। गतिविधियां शुरू करते जाएं। दिल्ली की अर्थ व्यवस्था को खोलते जाएं।

 

यदि हम जिम्मेदार नागरिक बन कर काम नहीं करेंगे, तो फिर से कड़ाई करनी पड़ेगी। कब तक हम लाॅकडाउन में रहेंगे। हम जिंदगी भर लाॅकडाउन में नहीं रह सकते हैं। डेढ़ माह लाॅकडाउन में रहते हुए हो गए हैं। अब तो हमें दिल्ली को खोलना चाहिए और हम सभी को जिम्मेदारी के साथ काम करना चाहिए। जिम्मेदारी केवल इसलिए, ताकि हम और हमारा परिवार सुरक्षित रहे।

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मेरी आप सभी से हाथ जोड़ कर विनती है कि हम नहीं चाहते हैं कि और कड़े कदम उठाए जाएं। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने पर उस दुकानदार को जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी और उस दुकान को सील कर दी जाएगी। अगर किसी क्षेत्र के अंदर निर्देशों का पालन नहीं हो रहा है, तो उस एरिया को सील कर देंगे। यह सब हमें आपके लिए करना पड़ेगा। मुझे अपने दिल्ली के लोगों पर गर्व है, भरोसा और विश्वास है कि हम बड़े-बड़े काम करके दिखा सकते हैं। हमने बड़े-बड़े काम करके दिखाया है। जब पूरी दुनिया डेंगू से जूझ रही थी, तब हमने डेंगू को हरा कर दिखाया था। अब हम कोरोना को हरा कर दिखाएंगे।

लेबल: