रविवार, 30 अगस्त 2020

कोविड-19 की वर्तमान स्थिति में प्रतिदिन एक लाख से अधिक सैम्पल्स की जांच हो रही है...

संवाददाता : पटना बिहार


बिहार एक झलक में, बिहार की प्रमुख खबरें  :



      कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार सभी बिन्दुओं पर समुचित कार्रवाई की जा रही है। प्रतिदिन एक लाख से अधिक सैम्पल्स की जांच हो रही है और अन्य पैरामीटर्स में भी काफी सुधार हुआ है। स्वास्थ्य विभाग निरंतर क्वालिटी इम्प्रूवमेंट एवं बेहतर इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए काम कर रहा है। क्वालिटी इम्प्रूवमेंट एवं बेहतर इलाज की व्यवस्था का ही परिणाम है कि रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है और आज बिहार का रिकवरी रेट 86.56 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय औसत से 10 प्रतिशत अधिक है।



 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर बिहार की विभिन्न नदियों के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है। नदियों के बढ़ते जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,333 पंचायतें प्रभावित हुई हैं, जहाँ आवश्यकतानुसार राहत शिविर चलाई जा रही हैं। बाढ़ प्रभावित इलाकों में 68 कम्युनिटी किचेन चलाये जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन 62,138 लोग भोजन कर रहे हैं। सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में NDRF/SDRF की टीमें प्रतिनियुक्त हैं और अब तक प्रभावित इलाकों से NDRF/SDRF और बोट्स के माध्यम से 5,50,792 लोगों को निष्क्रमित किया गया है। अब बाढ़ की स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है।

 



वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर अभी तक बाढ़ प्रभावित 13,22,691 परिवारों के बैंक खाते में प्रति परिवार 6,000 रुपये की दर से कुल 793.61 करोड़ रुपये जी.आर. की राशि भेजी जा चुकी है। सभी लाभान्वित परिवारों को SMS के माध्यम से सूचित भी किया गया है।

 


 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुहर्रम की 10वीं तारीख के अवसर पर कर्बला के शहीदों एवं हजरत इमाम हुसैन की कुर्बानियों को नमन किया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैदान-ए-कर्बला में अन्याय, जुल्म, अहंकार के विरुद्ध हक और सच्चाई के लिए हजरत इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों द्वारा दी गयी कुर्बानी अमर है। इसे कमायत तक याद किया जाएगा। इससे प्रेरणा लेकर हमें इंसानियत, सच्चाई और भलाई के लिए बड़ी सी बड़ी कुर्बानी देने के लिए सदैव तत्पर रहना चाहिए।

 



आगामी बिहार विधानसभा चुनाव-2020 की तैयारियां बक्सर जिला प्रशासन द्वारा तेज कर दी गयी है। इसी क्रम में जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से बाजार समिति प्रांगण स्थित बनाए जाने वाले मतगणना केंद्र एवं स्ट्रांग रूम का निरीक्षण किया एवं संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिया।

 



बाहर से आए कामगारों को आत्मनिर्भर बनाने हेतु जिला प्रशासन कृत संकल्पित है। इसी क्रम में पूर्णिया जिलाधिकारी द्वारा श्रमिकों को रोजगार देने व स्वरोजगार (सूक्ष्म लघु उद्योगों की स्थापना) के विकास एवं बढ़ावा देने के उद्देश्य से जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना अंतर्गत सीमांचल टेलरिंग क्लस्टर टौली डगरूआ एवं A R गारमेंट्स क्लस्टर एकंबा जलालगढ़ का उद्घाटन किया गया।

 



आगामी बिहार विधानसभा चुनाव-2020 की तैयारियों में बेगूसराय जिला प्रशासन जुट गया है। इसी क्रम में जिला निर्वाचक पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी द्वारा आसन्न बिहार विधानसभा निर्वाचन, 2020 के मद्देनजर गठित विभिन्न कोषागों के कार्यों की समीक्षा की गई तथा संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए।

 



कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार की रोकथाम हेतु सीतामढ़ी जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। इसी कड़ी में जिलाधिकारी द्वारा परिहार प्रखंड के सोनापट्टी चौक, एकडण्डी, लहेरिया आदि स्थलों पर पहुंचकर मास्क पहनने को लेकर मास्क फ़ोर्स अभियान के तहत सघन जांच किया गया एवं मास्क नहीं पहनने वालों से जुर्माना राशि भी वसूला गया, वहीं दूसरी तरफ डीएम ने मास्क एवं सामाजिक दूरी को लेकर लोगों को जागरूक भी किया।

 



कोरोना संक्रमितों को हरसंभव चिकित्सा सुविधा देने हेतु नालंदा जिला प्रशासन प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में जिलाधिकारी ने जीवन रक्षक टीम द्वारा संचालित टेली काउंसिलिंग कार्यालय, राजगीर का औचक निरीक्षण किया। ये टेली काउंसिलिंग कार्यालय नालंदा जिला में कोविड 19 के पॉजिटिव मरीजों, जो घर में आवासित हैं, उनके स्वास्थ्य की देखभाल सुबह शाम फोन के माध्यम से करती है। इस मौके पर जिलाधिकारी ने टेली काउंसिलिंग कार्यालय में उपस्थित सभी लोगों से करीब 45 मिनट तक बातचीत की और उनके कार्यकलापों के बारे में भी जाना।

 



कोविड-19 की रोकथाम हेतु गया जिला प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है। इसी के अंतर्गत जिलाधिकारी ANMMCH के अधीक्षक तथा सिविल सर्जन गया को निर्देश दिया कि जिले में जहां अधिक कोरोना के केस आ रहे हैं, उस क्षेत्र में शत प्रतिशत लोगों की जांच रैपिड एंटीजन टेस्ट से करावें। उन्होंने कहा कि नगर क्षेत्र में कार्यपालक पदाधिकारी तथा ग्रामीण क्षेत्र में अंचलाधिकारी कंटेनमेंट जोन के अंदर सभी हाउसहोल्ड की सूची तैयार कर उसमें संबंधित व्यक्तियों के सैंपल कलेक्शन कर जांच कराना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि कंटेनमेंट जोन में एक भी व्यक्ति जांच से वंचित ना रहे इसे सुनिश्चित करें। ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक जांच कराने पर उन्होंने जोर दिया।

 



आगामी बिहार विधानसभा चुनाव-2020 को देखते हुए कैमूर जिला प्रशासन द्वारा कार्रवाई तेज कर दी गयी है। इसी कड़ी में जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह- जिलाधिकारी द्वारा सभी 04 विधानसभा क्षेत्र के लिए मतदाता जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने बताया कि विधानसभा चुनाव हेतु विशेष अभियान चलाकर छूटे हुए मतदाता/दिव्यांगजन/प्रवासियों के नाम जोड़ने, नाम विलोपन एवं संशोधन का कार्य किया जायेगा।

 



आगामी बिहार विधानसभा चुनाव- 2020 को देखते हुए भोजपुर जिलाधिकरी ने संदेश तथा आरा विधानसभा क्षेत्र के लिए मतदाता जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने बताया कि यह जागरूकता रथ निर्धारित रूट चार्ट पर घूम-घूम कर लोगों को मतदान के संबंध में एवं मतदाता सूची में छूटे हुए नाम को जोड़ने के संबंध में लोगों के बीच जागरूकता फैलाएगी!


लेबल: