शुक्रवार, 21 अगस्त 2020

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कृषि विभाग ने अपना प्रस्तुतीकरण दिया...

संवाददाता : पटना बिहार 




बिहार एक झलक में, बिहार की प्रमुख खबरें  :





      मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कृषि विभाग ने अपना प्रस्तुतीकरण दिया। इस दौरान कृषि सह पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग के सचिव ने बताया कि प्रथम फेज में राज्य में 8 जिलों में जलवायु के अनुकूल कृषि कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। शेष सभी जिलों में भी इसे शुरू किया जाएगा। चार संस्थानों बोरलॉग इंस्टीच्यूट फॉर साउथ एशिया, पूसा, डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा, बिहार कृषि विस्विद्यालय, सबौर तथा भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद पूर्वी क्षेत्र पटना के द्वारा कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से इस योजना को संचालित किया जा रहा है।

 



वहीं मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुए कहा कि लोगों को फसल अवशेष प्रबंधन के बारे में जागरूक करें। पराली जलाने से हो रहे नुकसान के बारे में बताएं। फसल अवशेष प्रबंधन के लिए सहायक कृषि यंत्रों के उपयोग के बारे में भी जानकारी दें। साथ ही जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए लोगों को प्रेरित करें इससे न सिर्फ उनकी आमदनी बढ़ेगी बल्कि पर्यावरण का संरक्षण भी होगा।

 



मुख्यमंत्री के समक्ष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पर्यटन विभाग के द्वारा प्रस्तुतीकरण दिया गया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में पर्यटकों की संख्या बढ़ी है। राज्य में आने वाले पर्यटकों की संख्या 3 करोड़ से ज्यादा है। रोजगार सृजन में पर्यटन की महत्वपूर्ण भूमिका है। यहां धार्मिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक एवं अन्य बेहतर स्पॉट हैं, जिन्हें चिह्नित कर लोगों को जानकारी उपलब्ध करायी जाय। इको टूरिज्म को लेकर भी कई कार्य किये जा रहै हैं। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग इसके लिए अलग सोसायटी बनाकर इसका संरक्षण करेगा।

 


 



वहीं पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग ने काष्ठ आधारित उद्योग के संबंध में तथा कृषि विभाग ने बिहार एग्री इंवेस्टमेंट प्रमोशन पॉलिसी-2020 का प्रस्तुतीकरण मुख्यमंत्री के सामने दिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पॉलिसी के लागू होने पर बिहार में काष्ठ आधारित छोटे-छोटे उद्योग लगाए जाएंगे, जिससे रोजगार की सम्भावना बढ़ेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार एग्रो इंवेस्टमेंट पॉलिसी से बिहार में जिन प्रमुख उत्पादों को प्रमुखता में रखते हुए उद्योग को विकसित किया जाएगा उससे यहां के लोगों को रोजगार के साथ-साथ उत्पादों का उचित मूल्य भी मिल सकेगा।

 



मुख्यमंत्री के निर्देश पर सड़कों के मेंटेनेंस के लिए नई अनुरक्षण नीति बनायी गई है। नई अनुरक्षण नीति को लोक शिकायत निवारण कानून के दायरे में लाया गया है ताकि लोगों की शिकायतों पर सड़कों के उचित रख-रखाव के लिए त्वरित कार्रवाई हो सके और इसके लिए जवाबदेह लोगों पर कार्रवाई की जा सके।

 



वहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि टोला संपर्क निश्चय योजना के तहत 4,400 के करीब टोलों को पक्की सड़क से जोड़ने के लिए चिह्नित किया गया था जिनमें अधिकांश टोले जुड़ गये हैं। साथ ही उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि बचे 182 टोलों को जोड़ने का कार्य भी विभाग शीघ्र पूरा करे। टोला सम्पर्क निश्चय योजना के लिए संसाधनों की कमी नहीं होने दी गई है।

 



माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के कर-कमलों द्वारा आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कैमूर के मोहनिया जीटी रोड स्थित रानी देवी मेमोरियल हॉस्पिटल एंड ट्रॉमा सेंट्रर एवं अन्य सुविधाओं का उद्घाटन किया गया।

 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हरितालिका तीज के अवसर पर बिहारवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। हरितालिका तीज पर आज के दिन महिलाएं अखंड सुहाग के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। इस अवसर पर व्रती महिलाएं भगवान शिव और पार्वती का विधिविधान से पूजन करती हैं।



 

कोविड-19 की रोकथाम को लेकर नवादा जिला प्रशासन सजग और सतर्क है। जिला पदाधिकारी ने रजौली प्रखंड क्षेत्र का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने मुरहेना पंचायत में कोविड-19 की सैम्पल का कलेक्शन रैपिड एंटीजन किट एवं आरटीपीसीआर द्वारा लिये जाने के कार्य की जानकारी एएनएम और आशा कार्यकर्ता से ली। साथ ही अनुमंडल अस्पताल रजौली में आवश्यक दवा, ऑक्सीजन सिलेंडर, बेड की उपलब्धता का भी जायजा लिया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।



 

कोविड-19 संक्रमण से बचाव को लेकर गया जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। जिलाधिकारी ने मुहर्रम एवं गणेश चतुर्थी के अवसर पर कोविड-19 के मद्देनजर धार्मिक आयोजन से संबंधित महत्वपूर्ण बैठक की। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि मुहर्रम एवं गणेश चतुर्थी पर्व के अवसर पर गृह मंत्रालय भारत सरकार तथा गृह विभाग (विशेष) बिहार सरकार के द्वारा किसी प्रकार के धार्मिक आयोजन में लोगों के जमावड़े पर रोक लगाई गई है।

 




 

अररिया जिला पदाधिकारी ने कोविड-19 संक्रमण की वर्तमान स्थिति के मद्देनजर सभी संबंधित जिला स्तरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने सिविल सर्जन को 171 कंटेनमेंट जोन में बैरिकेडिंग को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। साथ ही साथ कंटेनमेंट जोन के सभी हाउसहोल्ड का पूर्ण रूप से टेस्टिंग कराने का भी निर्देश दिया।



 

आगामी बिहार विधानसभा निर्वाचन के मदेद्नजर बेगूसराय जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी ने विभिन्न विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाता जागरूकता के उद्येश्य से 2 मतदाता जागरूकता रथों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।



 

सीतामढ़ी जिला पदाधिकारी ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर उठाये गए कदमों एवं उसके परिणाम की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कंटेनमेंट जोन में पूरी सख्ती से दिशा-निर्देशों का पालन करने, मास्क फोर्स अभियान, जुर्माने की वसूली, लॉकडाउन का पूरी सख्ती से अनुपालन, कोरोना संक्रमण की जांच में तेजी, पीएचसी लेवेल पर रैपिड एंटीजेन टेस्ट की स्थिति एवं प्रगति की समीक्षा की।


लेबल: