मंगलवार, 22 सितंबर 2020

आईटीबीपी ईमानदारी और बहादुरी के साथ कर रही है राष्ट्र सेवाः मुख्यमंत्री

संवाददाता : शिमला हिमाचल


      मुख्यमंत्री ने कहा कि आइटीबीपी के पास एक विशेष पर्वतारोही बल है और यह बल विशेषकर अधिकारियों और जवानों को पर्वतारोहण और स्कीइंग में प्रशिक्षित करता है। उन्होंने आईटीबीपी की उस टीम को बधाई दी जिसने 22,222 फीट की ऊँचाई पर पर्वतारोहण अभियान ‘लियो पारगिल चोटी-2020’ कोड ‘नाम-योद्धा’ को फतह किया था। यह अभियान 17वीं वाहिनी रिकांगपिओं द्वारा 20 अगस्त 2020 से 5 सितम्बर 2020 तक चलाया गया था।

 

जय राम ठाकुर ने कहा कि इस तरह के अभियानों से जवानों में नेतृत्व अनुशासन और आत्मविश्वास विकसित होता है। इसके अतिरिक्त बहादुरी और साहस के साथ अनिश्चित और विशेष परिस्थितियों का सामना करने की क्षमता में वृद्धि होती है।

 

मुख्यमंत्री ने अभियान के दौरान आईटीबीपी के स्वच्छता अभियान की सराहना की, जिस दौरान बल ने लगभग 50 किलोग्राम नाॅन बायोडिग्रेडेबल कचरा एकत्र किया और वहां की स्वच्छता बनाए रखने में अपना योगदान दिया।

 


 

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार स्थानीय लोगों और सशस्त्र बलों की सुविधा के लिए सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़कों के बुनियादी ढांचे और संचार के अन्य साधनों को मजबूत करने पर विशेष बल दे रही है। उन्होंने कहा हिमाचल प्रदेश की चीन के साथ 260 किलोमीटर सीमा लगती है, जिसकी सुरक्षा का महत्वपूर्ण कार्य आईटीबीपी कर रहा है।

 

मुख्यमंत्री को इस अवसर पर आईटीबीपी द्वारा लियो पारगिल ध्वज व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

 

बाद मेें मुख्यमंत्री ने आईटीबीपी द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का भी दौरा किया। सैक्टर हैड क्वाटर शिमला के उप महानिरीक्षक प्रेम सिंह ने मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्यों का स्वागत कर उप कमाण्डेंट कुलदीप सिंह और धर्मेन्द्र ठाकुर की अगुवाई में सफलतापूर्वक पूरे किए गए माउंट लियो पारगिल अभियान के बारे में अवगत करवाया। इस अभियान में हेड कांस्टेबल प्रदीप नेगी, काकू कदरेटा, कांस्टेबल आशीष नेगी और अन्य भी टीम का हिस्सा रहे।

 

उन्होंने आईटीबीपी की विभिन्न गतिविधियों का ब्यौरा देते हुए कहा कि आईटीबीपी भविष्य में युवाओं में इस प्रकार के अभियानों के प्रति रूचि उत्पन्न करने के उद्देश्य से ऐसे साहसिक खेलों का आयोजन करता रहेगा।

 

50वीं आईटीबीपी बटालियन के कमाण्डेंट विजय देशवाल ने इस अवसर पर आभार व्यक्त किया।

लेबल: