बुधवार, 9 सितंबर 2020

कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार द्वारा पूरी तत्परता के साथ लगातार सभी आवश्यक कार्रवाई की जा रही...

संवाददाता : पटना बिहार


बिहार एक झलक में, बिहार की प्रमुख खबरें  :



      मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार द्वारा पूरी तत्परता के साथ लगातार सभी आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। बिहार का रिकवरी रेट 88.98 प्रतिशत हो गया है, जो राष्ट्रीय औसत से 11 प्रतिशत से भी अधिक है।

 



मुख्यमंत्री द्वारा मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जल-जीवन-हरियाली अभियान की समीक्षा की गयी। इस समीक्षा बैठक से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सभी प्रमंडलीय आयुक्त एवं जिलाधिकारी भी जुड़े थे। समीक्षा के क्रम में मुख्यमंत्री ने जल-जीवन-हरियाली अभियान की योजनाओं पर तेजी से काम करने का निर्देश दिया। इन योजनाओं के क्रियान्वयन से काफी संख्या में श्रमिकों को रोजगार मिल रहा है।

 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोलर एनर्जी विशेषकर स्ट्रीट लाइट में सौर ऊर्जा का उपयोग करने के लिए कहा है। तालाबों या सार्वजनिक जल संरचनाओं को अतिक्रमणमुक्त कराने के क्रम में जितने भूमिहीन परिवार बेघर हुए हैं, उन्हें जल्द से जल्द जमीन उपलब्ध कराकर बसाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि रोजगार सृजन पर सरकार का विशेष ध्यान है और लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 05 लाख 60 हजार 252 योजनाओं के अंतर्गत 14 करोड़ 84 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है।

 


 



मुख्यमंत्री के निर्देश पर आवागमन को सुगम और सुरक्षित बनाने को लेकर पथ निर्माण विभाग हर स्तर पर काम कर रहा है। अब सड़कें इतनी अच्छी बन गई है कि राज्य के किसी कोने से 6 घंटे से कम समय में राजधानी पटना पहुंचा जा सकता है। सड़कों की लगातार मरम्मती भी होती रहती है। 5 घंटे में राजधानी पटना पहुंचने के लक्ष्य पर काम तेजी से चल रहा है। वर्ष 2005 में पथ निर्माण विभाग के अंतर्गत पथों की कुल लम्बाई 11,069 किलोमीटर थी जो अब बढ़कर 17,504 किलोमीटर हो गई है। वहीं राष्ट्रीय उच्च पथों की लम्बाई जो वर्ष 2005 में 3,624 कि.मी. थी वो 2019 में बढ़कर लगभग 5 हजार कि.मी. हो गयी है।

 



मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में जल-जीवन-हरियाली अभियान की समीक्षा राज्य स्तरीय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की गयी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मधुबनी जिला से जिला पदाधिकारी डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे, उप विकास आयुक्त, जिला शिक्षा पदाधिकारी समेत अन्य विभागों के नोडल पदाधिकारी ने भाग लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कई दिशा-निर्देश दिया।

 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल-जीवन-हरियाली अभियान को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की | इस मौके पर पूर्णिया में जल संचयन स्रोतों का जीर्णोद्धार,सोलर ऊर्जा का बढ़ावा देने तथा रैन वाटर हार्वेस्टिंग के कार्यों का ससमय पूरा करने निर्देश दिया ।

 



कोविड-19 की रोकथाम को लेकर गया जिला प्रशासन पूरी तरह सजग और सतर्क है। इसी कड़ी में जिलाधिकारी ने कोविड-19 से संबंधित विषयों पर विचार विमर्श किया। साथ ही उन्होंने कंटेनमेंट जोन से संबंधित रिपोर्ट समय पर उपलब्ध कराने का निर्देश संबंधित पदाधिकारी को दिया। उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन वाले व्यक्तियों की शत प्रतिशत सैम्पल जांच कराएं तथा इसकी निगरानी संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं थानाध्यक्ष भी करें। इस कार्य में जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लें।

 



कृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित पटना के सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं थानाध्यक्षों ने प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लिया। इस मौके पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी कुमार रवि ने सभी को कई आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

 



मुंगेर जिला पदाधिकारी ने स्थानीय इंडोर स्टेडियम के पास पोषण परामर्श केंद्र का उद्घाटन किया। पोषण माह कई विभागों के समन्वय से संचालित हो रहा है। जिला कार्यक्रम कार्यालय इसके नोडल बनाये गये हैं। पोषण माह का उद्देश्य बच्चों में 2 प्रतिशत कुपोषण दर को कम करना तथा एनीमिया में 3 प्रतिशत की कमी करना है।

 



सीतामढ़ी जिला पदाधिकारी ने परिचर्चा भवन में राष्ट्रीय पोषण माह 2020 पर आयोजित कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर शुभारम्भ किया। साथ ही उन्होंने जिला एवं प्रखंड में एक साथ पोषण परामर्श केंद्र का ऑनलाइन उद्घाटन किया। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सभी प्रतिभागियों को घर-घर जागरूक करने हेतु शपथ दिलायी। जिलाधिकारी ने व्यापक जन जागरूकता हेतु जिला स्तर पर पोषण रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

 



उन्नयन बिहार कार्यक्रम के तहत बेतिया के विपिन हाईस्कूल परिसर में कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर डिजिटल लर्निंग के माध्यम से फेसबुक, यूट्यूब, प्लेटफॉर्म पर लाइव क्लासेज का शुभारम्भ जिलाधिकारी ने किया। इसके तहत विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ शिक्षकों द्वारा फेसबुक, यू-ट्यूब प्लेटफॉर्म पर निर्धारित शिड्यूल के अनुसार लाइव क्लासेज चलाया जायेगा।

 



आगामी बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारी में सहरसा जिला प्रशासन जुट गई है। शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान कराने को लेकर केंद्रीय विद्यालय में महिला मतदान कर्मियों की द्वितीय रिफ्रेशर ट्रेनिंग जिला निर्वाचन पदाधिकारी कौशल कुमार की उपस्थिति में शुरू की गयी है।


लेबल: