शनिवार, 5 सितंबर 2020

मुख्यमंत्री ने अनुसूचित जाति/जनजाति परिवार के किसी सदस्य की हत्या पर पीड़ित परिवार को नौकरी देने के प्रावधान...

संवाददाता : पटना बिहार


बिहार एक झलक में, बिहार की प्रमुख खबरें  :


      मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अनुसूचित जाति/जनजाति परिवार के किसी सदस्य की हत्या हो जाने पर पीड़ित परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने के प्रावधान के लिए संबंधित अधिकारियों को तत्काल नियम बनाये जाने का निर्देश दिया है। गौरतलब हो कि शुक्रवार को अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति कल्याण (अत्याचार निवारण) अधिनियम 1995 के तहत गठित राज्यस्तरीय सतर्कता और मॉनिटरिंग समिति की बैठक की गई है।

वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति कल्याण (अत्याचार निवारण) अधिनियम 1995 के तहत गठित राज्यस्तरीय सतर्कता और मॉनिटरिंग समिति की बैठक में लम्बित कांडों का निष्पादन 20 सितंबर 2020 तक कराने का निर्देश दिया। साथ ही विधि विभाग द्वारा अनन्य विशेष न्यायालयों में अनन्य विशेष लोक अभियोजकों की नियुक्ति की प्रक्रिया में तेजी लाने का भी निर्देश दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि अनुसूचित जाति/जनजाति के उत्थान के लिए तथा उन्हें मुख्य धारा में जोड़ने के लिए कई योजनायें चलाई जा रही है तथा अन्य संभावनाओं/योजनाओं पर भी विचार किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिक्षक दिवस के अवसर पर महान शिक्षाविद् एवं देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधकृष्णन के चित्र पर माल्यार्पण कर नमन करते हुए शिक्षकों और प्रदेशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने अपने शुभकामना संदेश में कहा कि समाज एवं राष्ट्र के निर्माण में शिक्षकों का बहुत बड़ा योगदान है। शिक्षक समाज के मेरूदण्ड हैं। इनको हर स्तर पर आदर एवं सम्मान मिलना चाहिए।





मुख्यमंत्री के निर्देश पर कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार सभी आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। कोविड-19 की स्थिति में उतरोत्तर सुधार हो रहा है। शुक्रवार को टेस्ट की संख्या डेढ़ लाख से ज्यादा हो गई है। बिहार की रिकवरी रेट बढ़कर 88 प्रतिशत के करीब हो गयी है। पर्याप्त संख्या में बेड्स उपलब्ध हैं। पूरी स्थिति में निरंतर सुधार हो रहा है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर बिहार की विभिन्न नदियों के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है। नदियों के बढ़ते जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,333 पंचायतें प्रभावित हुई है, जहां आवश्यकतानुसार राहत शिविर चलायी जा रही है। स्थिति में निरंतर सुधार हो रहा है। सारण जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों में 5 कम्युनिटी किचेन चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन 22,710 लोग भोजन कर रहे हैं। अब तक प्रभावित इलाकों से NDRF/SDRF और बोट्स के माध्यम से 5,50,792 लोगों को निष्क्रमित किया गया है। अब बाढ़ की स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है।

सामाजिक सुरक्षा अंतर्गत क्रियान्वित योजनाओं को शत-प्रतिशत पूरा करने हेतु बेतिया जिला प्रशासन कृत संकल्पित है। इसी कड़ी में जिलाधिकारी ने क्रियान्यवित योजनाओं की कार्य प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि जिले में क्रियान्वित सभी योजनाओं का लाभ पात्र लाभुकों को हर हाल में मुहैया करायी जाय। साथ ही कहा कि सामाजिक सुरक्षा अंतर्गत विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन मिशन मोड में पूर्ण किया जाय ताकि विभिन्न सहायता राशि से पात्र लाभुक लाभान्वित हो सके।

दरभंगा जिलाधिकारी ने जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत कार्यान्वित योजना की समीक्षा की। ग्रामीण क्षेत्र में 3318 सोख्ता निर्माण करने के लक्ष्य के विरुद्ध अभी तक 3209 सोख्ता का निर्माण कराया गया है। लघु सिंचाई विभाग के द्वारा बताया गया कि 5 बियर/चेकडेम बनवाया जाएगा। जिसमें केवटी में 02 बियर एवं 02 चेकडेम तथा मनीगाछी में 01 चेकडेम बनाया जाना है।

सहरसा जिलाधिकारी ने सोनवर्षा बाजार से माली चौक तक NH-107 निर्माण कार्य का स्थल निरीक्षण किया। साथ ही जिलाधिकारी ने सड़क निर्माण हेतु भू-अर्जन में मुआवजा के सम्बंध में कई रैयतों की आपत्ति के संदर्भ में उनके साथ बैठक की। उन्होंने संबंधित अंचलाधिकारी एवं थाना प्रभारी को निर्देश देते हुए कहा कि सड़क निर्माण में किसी प्रकार के विवाद या समस्या है तो उसका शीघ निराकरण कराते हुए निर्माण कंपनी को सहयोग करें।

मुजफ्फरपुर जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी ने आगामी बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर गठित कोषांगों के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि ससमय कोषांग से संबंधित कार्य रिपोर्ट तैयार करें और प्रतिदिन नियमित रूप से अपने कोषांगों से संबंधित कार्यों की समीक्षा करें। इस बार के चुनाव में कोविड-19 के प्रोटोकॉल तथा भारत निर्वाचन आयोग एवं समय-समय पर सरकार द्वारा दिए जा रहे मार्गदर्शन का पूरी तरह अनुपालन करें।

सीतामढ़ी जिले के डुमरा प्रखंड के राघोपुर बखरी में 5 करोड़ की लागत से मत्स्य ब्रूड बैंक बनेगा। वहीं बखरी में बंद पड़े मलबरी केंद्र पुनः शुरू होगा। इसी कड़ी में जिलाधिकारी ने डीडीसी सहित वरीय पदाधिकारियों के साथ स्थल निरीक्षण किया। साथ ही जिलाधिकारी ने पुनौराधाम में बन रहे यात्री निवास, विवाह मंडप आदि के कार्यों का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने निर्मित होने वाले अर्बन हाट का स्थल निरीक्षण भी किया एवं वरीय पदाधिकारियो से विचार विमर्श भी किया।

गया जिला पदाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग की महत्वपूर्ण योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने संस्थागत प्रसव, नियमित टीकाकरण, विटामिन ए की छमाही गहन खुराक कार्यक्रम, डायरिया की रोकथाम हेतु घर-घर ओआरएस घोल का वितरण, राज्य टीवी उन्मूलन कार्यक्रम, कृमिनाशक एलबेंडाजोल का वितरण, स्लम एरिया को यूपीएचसी में मर्ज किया जाना सहित अन्य महत्वपूर्ण कार्यों पर विचार विमर्श करते हुए सिविल सर्जन, अन्य पदाधिकारी तथा प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को आवश्यक निर्देश दिया।

पूर्णिया जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी ने आगामी बिहार विधानसभा चुनाव-2020 की तैयारी को लेकर सभी कोषांग के नोडल पदाधिकारी के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने PWD व महिला वोटरों के नाम जोड़ने हेतु विशेष अभियान चलाने हेतु निर्देश दिया।


लेबल: