शनिवार, 19 सितंबर 2020

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन ,लोकार्पण, कार्यारम्भ और शिलान्यास किया गया...

संवाददाता : पटना बिहार


बिहार एक झलक में, बिहार की प्रमुख खबरें  :



      मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नगर विकास एवं ग्रामीण विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन ,लोकार्पण, कार्यारम्भ और शिलान्यास किया गया। राज्य के विभिन्न नगर निकायों द्वारा राज्य योजना मद एवं अन्य मद अंतर्गत कुल राशि 67.64 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 177 योजनाओं का उद्घाटन किया गया। पटना स्मार्ट सिटी अंतर्गत 15.97 करोड़ की लागत से इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर भवन का भी कार्यारम्भ किया गया। वहीं गांधी मैदान में स्थित 75X42 फीट की मेगास्क्रीन का भी उद्घाटन किया।

 



महात्मा गांधी नरेगा एवं लोहिया स्वच्छ अभियान अंतर्गत पूर्ण योजनाओं 6097 तालाब/पोखर आहर-पईन का जीर्णोद्धार, 1701 छोटी नदियों-नालों पर चेक डेम, 1328 सरकारी भवनों में छत वर्षा जल संचयन हेतु संरचनाएं, 85233 सार्वजनिक चापाकलों के किनारे सोख्ता निर्माण, 3166 सामुदायिक स्वच्छता केन्द्र का उद्घाटन एवं लोकार्पण भी मुख्यमंत्री ने किया।

 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर बाढ़ एवं कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर बिहार सरकार पूरी तत्परता से सभी आवश्यक कदम उठा रही है। आज की तिथि में बेड की पर्याप्त व्यवस्था है लेकिन बेड ओकुपेंसी कम है। कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर में लगातार कमी हो रही है। बिहार का रिकवरी रेट 91.55 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 13 प्रतिशत से अधिक है।

 



कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 1,678 लोग स्वस्थ हुए हैं और अब तक 1,51,400 लोग कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं। विगत 24 घंटे में कोविड-19 के 1,147 नये मामले सामने आये हैं। वर्तमान में बिहार में कोविड-19 के 13,111 एक्टिव मरीज हैं। अब तक की गयी कुल जांच की संख्या 53,99,493 है।

 



सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों पर भी लगातार कार्रवाई की जा रही है। पिछले 24 घंटे में मास्क नहीं पहनने वाले 3,213 व्यक्तियों से 01 लाख 60 हजार 650 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। इस प्रकार 01 सितंबर से अब तक मास्क नहीं पहनने वाले 91,978 व्यक्तियों से 45 लाख 98 हजार 900 रूपये की जुर्माना राशि वसूल की गयी है।

 



वहीं रोजगार सृजन पर सरकार का पूरा ध्यान है और लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 05 लाख 60 हजार 736 योजनाओं के अंतर्गत 15 करोड़ 49 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है।यही वजह है कि आज की तारीख में लोगों को काम मिल रहा है।

 


 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमारा की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कुल 61 एजेंडा पर मुहर लगी। कोरोना के मद्देनजर नीतीश सरकार ने स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर बिहार मोटरगाड़ी नियमावली में संशोधन प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी। वहीं आंगनबाड़ी सेविका का भत्ता 1150 से बढ़ाकर 1450 किया गया। जबकि तालीमी मरकज वालों को 1000 की बढ़ोतरी इपीएफ में भी वृद्धि की गयी है

 



बेगूसराय जिला पदाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा द्वारा जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना अंतर्गत बैग निर्माण तथा वुडेन फर्नीचर निर्माण से संबंधित दो क्लस्टर्स का उद्घाटन किया गया। इस क्लस्टर्स के बन जाने से लोगों को रोजगार मिलने में मदद मिलेगी।

 



बेतिया जिलाधिकारी ने समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित बाल गृह, झिलिया का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि यहां पर रह रहे बच्चों की देखभाल अच्छे तरीके से करें। किसी भी बच्चे को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो, इस बात का विशेष ध्यान रखें।

 



जहानाबाद समाहरणालय स्थित ग्राम प्लैक्स भवन में जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक की संयुक्त अध्यक्षता में पदाधिकारियों एवं थाना प्रभारियों के साथ भूमि विवाद एवं अतिक्रमण से संबंधित मामलों के निष्पादन हेतु मासिक बैठक की गई। बैठक में जिला पदाधिकारी ने सभी अंचल अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में भूमि विवाद एवं अतिक्रमण से संबंधित मामलों का निष्पादन आपस में समन्वय स्थापित कर शीघ्र समाप्त करें।

 



बक्सर जिले में 16 से 29 सितंबर तक सघन दस्त नियंत्रण कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत जिले की सभी 1429 आशा वैसे सभी घरों में जाकर ORS के माध्यम से दस्त प्रबंधन से संबंधित जागरूकता का संचार करेंगी। कार्यक्रम के दौरान जिंक और ओ आर एस के माध्यम से डायरिया ग्रस्त बच्चों का इलाज भी किया जाएगा, इसके लिए जिले के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, अनुमंडल अस्पताल एवं जिला अस्पताल सहित कुछ सब्सेन्टर मिलाकर 45 ओआरएस जिंक कॉर्नर स्थापित किए गए हैं।

 



सारण बिहार विधानसभा निर्वाचन हेतु प्रमंडलीय आयुक्त के द्वारा विधि-व्यवस्था की समीक्षा की गई। उन्होंने पदाधिकारियों को सभी कार्यों को गम्भीरता से लेने और अपना शत-प्रतिशत योगदान देने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि सीमावर्ती क्षेत्र के थाना द्वारा पूरी चौकसी रखी जाय।


लेबल: