रविवार, 27 सितंबर 2020

उचित दूरी सुनिश्चित करना,‘गांधीगिरी’ सेे लोगों को जागरूक करें ः मुख्यमंत्री

संवाददाता  : जयपुर राजस्थान


      प्रदेश में आम लोगों द्वारा सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनने में लापरवाही तथा हेल्थ प्रोटोकॉल की पालना में अनुशासनहीनता के प्रति राज्य सरकार गंभीर है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों को इसके लिए जागरूक करने के लिए बड़े स्तर पर जन आंदोलन चलाने का निर्णय लिया है। उन्होंने अधिकारियों को विस्तृत कार्ययोजना बनाकर जागरूकता अभियान शुरू करने के निर्देश दिए हैं। 

 

गहलोत रविवार को मुख्यमंत्री निवास पर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति एवं बचाव के उपायों पर उच्चस्तरीय बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि महामारी विशेषज्ञों एवं चिकित्सकों द्वारा मास्क पहनने और उचित दूरी जैसे हेल्थ प्रोटोकॉल को ही कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव का सबसे बड़ा उपाय बताने के बावजूद आम लोग इसके प्रति लापरवाह हैं। ऎसे में, राज्य सरकार विभिन्न संस्थाओं, संगठनों और जन प्रतिनिधियों आदि के सहयोग से अभियान शुरू कर लोगों को जागरूक करेगी।

 


 

गांवों और शहरों में मोहल्ला समितियां बनाकर देना होगा संदेश

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेशभर के एनसीसी, एनएसएस, स्काउट एण्ड गाइड, नेहरू युवा केन्द्रों जैसे संगठनों से जुड़े विद्यार्थियों तथा युवाओं, अध्यापकों को इस आंदोलन का हिस्सा बनाया जाए। उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टरों के माध्यम से लेकर गांव स्तर तथा शहरी तथा कस्बाई क्षेत्राें में मोहल्ला समितियां बनाकर लोगों को हेल्थ प्रोटोकॉल की पालना का संदेश देना होगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्वायत्त शासन, पंचायती राज विभागों, नगर निगम, नगर पालिका सहित विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं, संगठनों आदि के सहयोग से अभियान को संचालित करने के लिए योजना शीघ्र तैयार करें।

 

सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी सार्वजनिक स्थान पर बिना मास्क ना रहे

 

गहलोत ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जागरूकता के इस जन आंदोलन में शामिल कार्यकर्ता सार्वजनिक जगहों पर बिना मास्क पहने लोगों को अपनी तरफ से मास्क वितरित कर इसे पहने रखने की अपील करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि प्रदेश में कोई भी व्यक्ति बाजार, कार्यस्थल, सार्वजनिक परिवहन सहित भीड़-भाड़ वाली जगहों पर बिना मास्क नहीं रहें। उन्होंने कहा कि अभियान की अगुवाई जन प्रतिनिधियों, वर्तमान तथा पूर्व पार्षदों एवं विधायकों, विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा की जाए। इससे लोगों में अपने और स्वजनों के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने का सकारात्मक संदेश जाएगा। 

 

बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा, चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप, पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह, प्रमुख सचिव गृह अभय कुमार, अति. पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था सौरभ श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अखिल अरोरा, सचिव चिकित्सा शिक्षा वैभव गालरिया सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

लेबल: