रविवार, 11 अक्तूबर 2020

बेटी बड़े सौभाग्य से मिलती है,नियोजन अपनाने वाले दंपती सम्मानित...

 संवाददाता : जयपुर राजस्थान

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर रविवार को जिला परिषद सभागार में “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ“ योजना के तहत सम्मान समारोह आयोजित किया गया। जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने एकल या दो बालिकाओं के बाद परिवार नियोजन अपनाने तथा बालिकाएं गोद लेने वाले 43 दंपतियों को सम्मानित किया।
 

इस अवसर पर जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने कहा कि वर्तमान में लोगों की सोच में बदलाव आया है। एक पढ़ी-लिखी बेटी दो परिवारों का भला करती है। बेटी का जन्म बड़े सौभाग्य की बात होती है। बेटियों को खूब पढ़ाया-लिखाया जाना चाहिए एवं उन्हें आगे बढ़ने का अवसर प्रदान करना चाहिए। महिला अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक डॉ. राजेश डोगीवाल ने कहा कि सम्मानित होने वाले दंपती समाज के लिए रोल मॉडल बने हैं।
 
उन्होंने कहा कि भविष्य में भी बालिकाओं-महिलाओं को प्रोत्साहित करने वाले कार्यक्रम किए जाएंगे जिससे एक संवाद कायम हो सके। समारोह में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी सम्मानित किया गया।
 
साथ ही महिला उत्थान के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले राहुल गुप्ता, प्रवीण सिन्हा, रामअवतार सहित अन्य लोगों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सम्मानित नव दंपतियों के साथ महिला अधिकारिता विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे

लेबल: