बुधवार, 6 मई 2020

मुंगेली वनमंडल के खुड़िया वन परिक्षेत्र में खुलेआम जेसीबी और ट्रेक्टर से ठेकेदार द्वारा बेखौफ अवैध मुरुम उत्खनन...

संदीप सिंह ठाकुर @ मुंगेली छत्‍तीसगढ़


      मुंगेली वनमंडल के खुड़िया वन परिक्षेत्र के कक्ष क्रमांक 492 में खुलेआम जेसीबी और ट्रेक्टर से ठेकेदार द्वारा बेखौफ अवैध मुरुम उत्खनन किया जा रहा है। जिसपर जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा कोई कार्यवाही नही की जा रही है।



मामले में खुड़िया वन परिक्षेत्र के चचेड़ी वन समिति के सदस्यों ने आरोप लगाते हुए कहा है कि जंगल में मुरुम के अवैध उत्खनन और परिवहन का गोरखधंधा खुड़िया रेंजर के के डड़सेना के संरक्षण में चल रहा है। जहां चचेड़ी वन प्रबंधन समिति के सदस्यों ने जंगल में बिना अनुमति के अवैध मुरुम उत्खनन करते हुए एक जेसीबी सहित चार मुरुम लदी ट्रेक्टर को पकड़ा है। जिसको लेकर वन समिति के सदस्यों ने कड़ी कार्यवाही करने की मांग उच्च अधिकारियों से की है। इस दौरान वन समिति के सदस्यों ने रेंजर पर मनमर्जी करते हुए खुड़िया क्षेत्र में सड़क निर्माण में लगे ठेकेदार को लाभ पहुँचाने जंगल से ही मुरुम की सप्लाई करने का आरोप लगाया है।



जबकि मीडिया के सवाल पर रेंजर के के डड़सेना ने नरवा विकास प्राधिकरण के तहत स्टाफ डेम निर्माण के लिए खुदाई कराने की बात कहने लगे। जबकि मौके पर मौजूद पीएमजीएसवाई योजना के तहत करोड़ो रुपए की लागत से चल रहे सड़क निर्माण कार्य के ठेकेदार विनोद अग्रवाल के ट्रैक्टर ड्राइवर पवन ने बताया कि जेसीबी और चारो ट्रेक्टर सड़क ठेकेदार की है। जिनके द्वारा जंगल से मुरुम का उत्खनन करते हुए परिवहन का कार्य ट्रेक्टर से किया जा रहा है।



वहीं जंगल के रक्षक खुद अवैध मुरुम उत्खनन करवाने में लगे हुए हैं ऐसे में जंगल की सुरक्षा भगवान भरोसे है। क्योंकि रेंजर साहब तो ठेकेदारों को लाभ पहुँचाने में मशगूल हैं। वहीं खुड़िया वनपरिक्षेत्र के जंगल मे चल रहे अवैध उत्खनन को लेकर रेंजर के के डड़सेना बचते हुए नजर आए। तो एसडीओ सुनील कुमार बच्चन ने जांच के बाद उचित कार्यवाही करने की बात कही है।


बहरहाल देखना होगा कि जंगल में चल रहे खुलेआम अवैध उत्खनन पर विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा कब तक कार्यवाही की जाएगी। ताकि जंगल मे चल रहे अवैध उत्खनन पर अंकुश लगाई जा सके।



लेबल: