शनिवार, 6 जून 2020

टिहरी गढ़वाल जाखनिधार विकासखण्ड के गांव कटुली में धारा सूधार कार्य के अन्तर्गत वृक्षरोपण कार्यक्रम किया गया...

प्रजा दत्त डबराल @ देहरादून उत्तराखंड 


      05 जून विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में "डालियों का दगरीया" संस्था द्वारा जाखनिधार विकासखण्ड टिहरी गढ़वाल के गांव कटुली में धारा सूधार कार्य के अन्तर्गत वृक्षरोपण कार्यक्रम किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए ग्राम प्रधान अनुराग भूषण ने कहा कि यह संस्था समय समय पर गांव में खेती,पशुपालन और कौशल विकास के कार्य करती आई है ।


गांव में 100 वर्ग मीटर के तीन बड़े पोली हाउस लगाए गए है ,जिनसे किसान आज अच्छी आमदनी कमा रहे हैं। इसके अलावा गांव में कौशल विकास के द्वारा सिलाई - कढ़ाई और कंप्यूटर का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिसका लाभ गांव के युवाओं के अतिरिक्त  गंडोली,संदना,बिसातली, मुंडाली आदि गांव को भी मिला है। संस्था द्वारा लगभग 22 प्रवासियों के उद्यम हेतु ऑनलाइन फोरम भी भरवाएं गए हैं। जिनको भविष्य में टिहरी मुख्यालय में उद्योग विभाग से जोड़ा जाएगा।



संस्था सचिव डा मोहन सिंह पंवार ने बताया कि धारा पुनर्निर्माण के दौरान गांव में आम का एक बड़ा पेड़ काटना पड़ा और महिलाओं ने सोच बनाई थी कि इसके एवज में फिर आम का पेड़ लगे जिसके बदले आज पुनः आम का पेड़ लगाया जा रहा है।


इस पेड़ को बचाना और पालन हम सब की जिम्मेदारी है। डाक्टर पंवार ने कहा कि शीघ्र ही कथुली में एक कम्यूनिटी कॉलेज कि स्थापना होगी जिसमें लोगों को स्वरोजगार के प्रशिक्षण दिए जाएंगे। अनेक युवा वर्ग और प्रवासी इसका लाभ उठा सकते हैं। प्रयास होगा कि इस के पाठ्यक्रमों को मान्यता प्रदान की जाए।


कृषक समूह की अध्यकचा मीना देवी ने कहा कि यह गांव सारे इलाके में एक उदाहरण है जहां के किसान ओरिगैनो जरी बूटी उगाते हैं और प्रति वर्ष एक फसल से 30 से 35,000 रूपए तक  नकदी कमाते है।आगे भी हम नए नए प्रयोग कर रहे है और हमारा लक्ष्य आमदनी को दोगुना करना है। इस कोराना काल ने हमको सिखाया है अगला आने वाला समय किसानों का होगा।



डी के डी के फील्ड समन्वयक आशाराम ममगाईं ने संस्था का परिचय बताते हुए कहा कि इस इलाके में संस्था द्वारा कृषि यंत्र,मशरूम उत्पादन,जल सरांकचन स्वयं सहायता समूहों का निर्माण उन्हे विकासखण्ड से जोड़ना,सब्जी उत्पादन,फल और बागवानी आदि के कार्य किए जा रहे हैं। लगभग 800 सीमांत और लघु किसान सीधे तौर पर संस्था से जुड़े हैं और लाभ अर्जित कर रहे हैं। संस्था द्वारा इस वर्षा कल में भी वृक्षरोपण कार्य करना प्रस्तावित है। गांव वालों ने कथल के पेड़ मांगे है जिन्हे इस बरसात में देने पर विचार किया जाएगा।


इस अवसर पर सीमा,मोटी खत्री,शिवचरण गोस्वामी,राकेश कुमार,विनय पंवार, शिवदयाल, आंचल, अनीता,प्रिंस, कृष,आयुष, अरविंद कुमार उपस्थित थे।


इसके साथ साथ " डालियों का दगरीया " संस्था द्वारा दिब्यांगजन,असहाय,निराश्रित,अशक्त जनों को राशन वितरित की गई।राशन प्राप्त करने वालों में चंदन सिंह पंवार,कुशल सिंह खरोला,मकानी देवी अनु जाति महिला,पंकज,रघुवीर,सब्बल्सिंह आदि प्रमुख थे। इस अवसर पर गांव के अनेक प्रबुद्धजन उपस्थित थे।


 


 


लेबल: