शनिवार, 29 अगस्त 2020

मानसून में रहना है फिट तो डाइट में जरूर कर लें ये बदलाव, जानें क्या खाएं क्या नहीं...

रेनू डबराल  @ नई दिल्ली


      खुद को सेहतमंद बनाए रखने के लिए डॉक्टर हर व्यक्ति को मौसम के अनुसार अपनी डाइट रखने की सलाह देते हैं। मौसम और अपने क्षेत्र के अनुसार आहार ग्रहण करना स्वस्थ रहने की सबसे बड़ी कुंजी है। अगर आप भी सेहतमंद रहते हुए मानसून का मजा लेना चाहते हैं तो बदलते मौसम के साथ करें अपने आहार में भी ये जरूरी बदलाव।


सब्जियां-
बारिश के समय में हरी पत्तेदार सब्जियों को उगाने के लिए मिट्टी सही नहीं मानी जाती है। इस दौरान व्यक्ति को बेल पर लगने वाली सब्जियां जैसे लौकी, कद्दू, करेला, गिलका और जड़ वाली सब्जियां जैसे शकरकंद, सुरान, कोंफल, अरबी, आलू आदि सब्जियों का सेवन करना चाहिए। 



मोटे और छोटे अनाज-
मोटे और छोटे अनाज का सेवन सेहत के लिए फायदेमंद माना गया है। बारिश के मौसम में आप दलिया, राजगीरा,  मक्की,समा, कुट्टू या मंडुआ खा सकते हैं। हालांकि इस मौसम में मल्टीग्रेन ब्रेड या बिस्कुट का सेवन करने से बचें।


दालें-
इस मौसम में अक्सर लोग मांस-मछली का सेवन करने से परहेज करते हैं। ऐसे में प्रोटीन के साथ विटामिन, खनिज और फाइबर की कमी पूरी करने के लिए लोग दालों का सेवन कर सकते हैं। इस मौसम में व्यक्ति को डाइट में दो तरह की दालें जरूर शामिल करनी चाहिए- पहली, कुलिथ और दूसरी अल्साने । ये दोनों ही दालें त्वचा और बालों के लिए बेहद फायदेमंद होती हैं।


खास वस्तुएं-
हर मौसम का अपना एक खास फल होता है। गर्मियों में आम तो बारिश के मौसम में गहरी तली हुई भजिया। भजिया तलने के लिए फिल्टर्ड मूंगफली,सरसों, नारियल तेलों का प्रयोग करें। याद रखें भजिया फ्राई करने के बाद तेल का उपयोग दोबारा न करें। आहार में आवश्यक वसा के बिना, शरीर को विटामिन डी नहीं मिल सकता है। इसलिए बिना डरे और पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी पसंद के पकौड़े खाएं।


लेबल: