मंगलवार, 15 सितंबर 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बिहार को 541 करोड़ की तीसरी सौगात दी...

संवाददाता : पटना बिहार


बिहार एक झलक में, बिहार की प्रमुख खबरें  :



      प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बिहार को 541 करोड़ की तीसरी सौगात दी। उन्होंने वर्चुअल माध्यम से 7 परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया। इनमें जल आपूर्ति, सीवरेज ट्रीटमेंट और रिवर फ्रंट डेवलपमेंट से संबंधित परियोजनाएं शामिल हैं। इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाग लेते हुए सभी योजनाओं पर विस्तार से अपनी बात रखी।

 



बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर पूरे तौर पर सरकार सजग और सतर्क है। रिकवरी रेट आज की तिथि में लगभग 91 प्रतिशत हो गया है, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 13 प्रतिशत से अधिक है।

 



कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 1,966 लोग स्वस्थ हुए हैं और अब तक 1,45,019 लोग कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं। विगत 24 घंटे में कोविड-19 के 1,137 नये मामले सामने आये हैं। वर्तमान में बिहार में कोविड-19 के 13,675 एक्टिव मरीज हैं। और अब तक की गयी कुल जांच की संख्या 49,86,747 है।

 


 



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का रोजगार सृजन पर विशेष ध्यान है और लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 05 लाख 60 हजार 490 योजनाओं के अंतर्गत 15 करोड़ 22 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है। जो कि अपने आप में एक मिसाल है।

 



बाढ़ की स्थिति अब पूरी तरह से लगभग सामान्य हो चुकी है। जल संसाधन विभाग द्वारा लगातार तटबंधों पर नजर रखी जा रही है और पूर्वानुमान को ध्यान में रखते हुए सभी लोग अलर्ट हैं। अन्य सभी नदियों कमला बलान, भुतही बलान, घाघरा, पुनपुन और गंगा के सभी गेज स्थलों पर जलस्तर स्थिर रहने या घटने की प्रवृत्ति है।

 



मधेपुरा जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी ने हरी झंडी दिखाकर मतदाता जागरूकता रथ को समाहरणालय परिसर से रवाना किया। जागरूकता रथ दोनों अनुमंडलो में निर्धारित रूट चार्ट के अनुसार अगले तीन दिन तक गतिशील रहेगा। इस दौरान मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक किया जाएगा।

 



मोतिहारी जिलाधिकारी के निर्देश पर आईसीडीएस के माध्यम से बंजरिया प्रखंड में मतदाता जागरूकता रथ को रवाना किया गया। मतदाता जागरूकता रथ लोगों को वोटर लिस्ट में नाम लिखाने एवं वोट देने के लिए प्रेरित करेगा। इस अवसर पर सीडीपीओ बंजरिया, पदाधिकारी और कर्मचारीगण मौजूद थे।

 



अररिया जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में तकनीकी टास्क फोर्स की बैठक की गई। समीक्षा के दौरान कार्यपालक अभियंता बाढ़ नियंत्रण द्वारा बताया गया कि पडरिया बांध का निर्माण अगली बरसात आने के पूर्व तैयार कर लिया जाएगा साथ ही साथ सिंधिया बांध को भी पूर्ण रूप से ठीक कर लिया जाएगा। कार्यपालक अभियंता पीएचईडी द्वारा बताया गया कि हर घर नल का जल में 2992 स्थलों पर बोरिंग कराने का लक्ष्य निर्धारित था। जिसमें से 2968 स्थलों पर बोरिंग का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। शेष भी यथाशीघ्र पूरा कर लिया जाएगा।


लेबल: